बिहार : यूक्रेन से बिहार के सात विद्यार्थी लौटे - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

रविवार, 27 फ़रवरी 2022

बिहार : यूक्रेन से बिहार के सात विद्यार्थी लौटे

7-student-return-bihar-from-ukraine
पटना, 27 फरवरी, युद्ध ग्रस्त यूक्रेन से बिहार के सात विद्यार्थियों का पहला जत्था रविवार को पटना पहुंचा। सुबह यहां जयप्रकाश नारायण अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर जब ये विद्यार्थी अपने परिवार से मिले तो परिजनों ने राहत की सांस ली। इन विद्यार्थियों ने उनकी सुरक्षित वापसी सुनिश्चित करने के लिए केंद्र एवं बिहार सरकार को धन्यवाद दिया। मोतिहारी के मेडिकल छात्र आशीष गिरि ने कहा, ‘‘ भारतीय दूतावास ने बहुत सहयोग किया। दूतावास हमें यूक्रेन-रोमानिया सीमा पर ले गया , वहां पासपोर्ट की जांच की गयी और हम रोमानिया में दाखिल हुए एवं हमें भारत भेज दिया गया। ’’ रूस का सैन्य अभियान शुरू होने के बाद 24 फरवरी को यूक्रेन के विमान क्षेत्र को नागरिक विमानों के लिए बंद कर दिया गया था। उसके बाद भारतीय विमानों ने बुखारेस्ट (रोमानिया) एवं बुडापेस्ट (हंगरी) के रास्ते भारतीयों को निकाला। यहां हवाई अड्डे पर बिहार के उप मुख्यमंत्री तारकिशोर प्रसाद, राज्य के मंत्री शाहनवाज हुसैन और संजय झा विद्यार्थियों का स्वागत करने के लिए उपस्थित थे। यूक्रेन से विद्यार्थियों के पहले समूह के पहुंचने पर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने यहां संवाददाताओं से कहा, ‘‘ मैं यूक्रेन में फंसे लोगों के लिए विशेष उड़ानों का इंतजाम करने के लिए केंद्र को धन्यवाद देता हूं।’’ केंद्र ने कहा है कि यूक्रेन से लाये जा रहे विद्यार्थियों से किराया नहीं वसूला जाएगा । साथ ही नीतीश कुमार सरकार ने भी कहा कि वह उनकी यात्रा का बाकी खर्च उठायेगी। प्रसाद ने कहा, ‘‘ सरकार के पास यूक्रेन में फंसे बिहार के 273 विद्यार्थियों की सूची है । यह आंकड़ा बढ़ सकता है। राज्य सरकार इस संबंध में जिला प्रशासनों से ब्योरा जुटा रही है।’’ जनता दल यूनाईटेड के विधायक राजीव कुमार सिंह ने अपनी बेटी को गले लगाया तो उनकी आंखों में खुशी के आंसू छलक आये। वह भी यूक्रेन में मेडिकल की पढ़ाई कर रही है।

कोई टिप्पणी नहीं: