मधुबनी : जिलाधिकारी ने किया मुख्य सड़क के निर्माण कार्य का निरीक्षण। - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

बुधवार, 16 फ़रवरी 2022

मधुबनी : जिलाधिकारी ने किया मुख्य सड़क के निर्माण कार्य का निरीक्षण।

dm-inspact-madhubani-main-road
मधुबनी , जिला पदाधिकारी, मधुबनी द्वारा मधुबनी शहर के थाना मोड़ से कोतवाली चौक की सड़क के दोनो तरफ निर्माणाधीन नाले के निर्माण कार्य की प्रगति की समीक्षा करने मंगलवार की देर शाम पैदल सड़कों पर निकले। उनके साथ नाले के निर्माण कार्य से जुड़े विभिन्न विभागों के अधिकारी भी मौजूद थे। शहर के मुख्य मार्ग पर आए दिन होने वाले जलजमाव से लोगों को निजात दिलाने के उद्देश्य से लगभग 3930 मीटर की लंबाई वाले नाले का निर्माण उक्त मुख्य मार्ग के दोनो तरफ करवाया जा रहा है। इस नाले के निर्माण से जहां जल जमाव की परेशानी से लोगों को छुटकारा मिलेगा वहीं अतिक्रमण से भी मुक्ति मिलेगी और सड़क का चौड़ीकरण संभव हो सकेगा।  मधुबनी शहरी क्षेत्र की वर्षों की अपेक्षा वाली इस योजना पर लंबे समय से कार्य किया जा रहा है। परंतु, कोरोना संक्रमण के प्रभाव से इसमें देरी हुई।  अपने निरीक्षण के दौरान जिलाधिकारी ने कहा कि फरवरी चल रही है और मई से वर्षा ऋतु आरंभ हो जाएगी। इससे निर्माण कार्य पुनः प्रभावित हो सकता है। ऐसे में किसी भी परिस्थिति में इसका निर्माण कार्य मानसून से पहले पूरा करना है। थाना मोड़ पर केनाल से जुड़ाव स्थल पर निर्माण का जायजा लेते हुए उन्होंने आ रही कठिनाई की जानकारी ली और कई निर्देश दिए। थाना मोड़ से पैदल कोतवाली चौक की दिशा में बढ़ते हुए रास्ते की हर छोटी बड़ी कठिनाई पर उन्होंने सूक्ष्म जानकारी ली और संबंधित अधिकारी को इसे प्राथमिकता के स्तर पर निपटाने के निर्देश दिए।  कार्य से जुड़े अभियंताओं द्वारा नाले के निर्माण में बाधक जिन दो बड़ी समस्याओं की ओर समाहर्ता महोदय का ध्यान आकृष्ट किया गया, उनमें बिजली के खंभों को स्थापित करना और पेड़ों को काटना शामिल था। समीक्षा के क्रम में पाया गया कि कुछ पेड़ नाले की जद में थे और कुछ सड़क की सीमा के अंतर्गत खड़े थे। जिलाधिकारी ने निर्देश देते हुए कहा कि पेड़ हमारे लिए अमूल्य हैं। इसलिए अत्यंत आवश्यक होने पर ही उन्हें काटा जाए। उन्होंने वन विभाग के अधिकारियों को भी पेड़ों की आवश्यक कटाई के मद्देनजर निर्देश देते हुए कहा कि जिन पेड़ों से नाले के निर्माण और सड़क की यातायात प्रभावित न होती हो, उन्हें केवल छांट कर कार्य संपन्न किया जाए। बिजली के खंभों को उचित जगह लगाने और तारों के बीच पेड़ो के अवरोध को भी समाप्त करने के निर्देश दिए गए। ताकि भविष्य में बिजली के तारों से किसी प्रकार की दुर्घटना की आशंका न रहे। उन्होंने स्पष्ट किया कि निर्माण कार्य में गुणवत्ता से किसी प्रकार का समझौता नहीं किया जाएगा। जनहित को देखते हुए ससमय इसका निर्माण कार्य संपन्न किया जाए। मौके पर श्री अश्वनी कुमार, अनुमंडल पदाधिकारी, सदर, मधुबनी, श्री राकेश कुमार, नगर आयुक्त, मधुबनी, श्री अरुण कुमार, उप नगर आयुक्त, मधुबनी, श्री पंचू पासवान, कार्यपालक अभियंता, वुडको, के साथ साथ कार्यपालक अभियंता, विद्युत, मधुबनी, कार्यपालक अभियंता, पथ निर्माण विभाग, मधुबनी, अंचल अधिकारी, रहिका, प्रोजेक्ट मैनेजर, क्रूशी इंफ्रा इंडिया लिमिटेड कंपनी, हैदराबाद एवं वन विभाग के अधिकारी उपस्थित थे।

कोई टिप्पणी नहीं: