बेतिया : भूमि चिन्हित करने की प्रगति की समीक्षा की गई - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शुक्रवार, 18 फ़रवरी 2022

बेतिया : भूमि चिन्हित करने की प्रगति की समीक्षा की गई

  • * मेगा इण्टीग्रेटेड टेक्सटाईल रिजन एण्ड एपरील पार्क स्कीम के तहत जिले में 1000 एकड़ में टेक्सटाईल मेगा पार्क के निर्माण के लिए किया जा रहा प्रयास
  • * जिले के बगहा-1, मधुबनी एवं भितहां अंचल में समेकित रूप से चिन्हित की जा रही है 1000 एकड़ जमीन
  • * जिलाधिकारी द्वारा टेक्सटाइल मेगा पार्क निर्माण के लिए चिन्हित भूमि का किया गया निरीक्षण
  • * ब्रांड वेस्ट चम्पारण की ख्याति देश-विदेश में पहुंचाने एवं जिले को प्रोडक्शन हब बनाने का सपना होगा साकार : जिलाधिकारी
  • * रोजगार सृजन के साथ ही जिले का होगा सर्वांगीण विकास

betiya-dm-inspact-land-aquiring
बेतिया । जिले में एक हजार एकड़ क्षेत्र में टेक्सटाईल मेगा पार्क का निर्माण किया जाना है। टेक्सटाईल मेगा पार्क का निर्माण हो जाने के उपरांत रोजगार सृजन को बल मिलेगा। स्थानीय लोगों को रोजगार उपलब्ध हो सकेगा। साथ ही जिले की आर्थिक स्थिति सुदृढ़ होगी। एक हजार एकड़ भूमि की तलाश बगहा-1, मधुबनी एवं भितहां अंचल में समेकित रूप से चिन्हित कर ली गई है। जिलाधिकारी द्वारा उपयुक्त भूमि की तलाश के लिए लगातार उक्त क्षेत्रों का भ्रमण किया गया तथा अधिकारियों के साथ समीक्षात्मक बैठक भी की गई। इसी परिप्रेक्ष्य में आज पुनः जिलाधिकारी कुदंन कुमार के द्वारा बगहा-1 प्रखंड के रतवल स्थित विभिन्न स्पॉटों का निरीक्षण किया गया तथा संबंधित अधिकारी, कार्यपालक अभियंता आदि के साथ बैठक की गई। पिछले छह माह से युद्धस्तर पर चल रहा है भूमि का सीमांकन एवं अन्य कार्य। पश्चिम चम्पारण के जिलाधिकारी कुदंन कुमार ने अधिकारियों से कहा कि टेक्सटाईल मेगा पार्क का निर्माण अत्यंत ही महत्वपूर्ण कार्य है। सरकार के स्तर से टेक्सटाइल पार्क का निर्माण 1000 एकड़ भूमि पर कराया जाना प्रस्तावित है, जिसको लेकर उपयुक्त जमीन की खोज की जा रही थी।  मेगा इण्टीग्रेटेड टेक्टसाईल रिजन एण्ड एपरील पार्क स्कीम के तहत पुरे देश में 07 टेक्स्टाईल मेगा पार्क के निर्माण की कार्ययोजना है। वर्तमान बजट सत्र में इसके लिए कुल 4445 करोड़ रूपए का प्रावधान भी किया गया है। इसके तहत लेटेस्ट टेक्नोलॉजी की मशीने अधिष्ठापित कराई जाएंगी। इसके क्रियान्वयन के लिए एस.पी.वी. (स्पेशल परपस वेहिकल) का गठन कराया जाएगा।  उन्होंने कहा कि सरकार द्वारा इसके लिए डेवलेपमेंट कैपिटल सपोर्ट भी पार्क के एसवीपी को उपलब्ध कराया जाएगा, ताकि त्वरित गति से क्रियान्वयन हो सके। डीसीएस का उपयोग आंतरिक संसाधनों के सुदृढ़ीकरण, पावर डिस्ट्रीब्यूशन, वाटर वेस्ट प्रबंधन, प्लग एण्ड प्ले मोड में आधारभूत संरचना, टेक्स्टाईल डिजाईन के लिए भी किया जाएगा। इसके अतिरिक्त पार्क में इनक्यूबेशन सेन्टर भी बनाया जाएगा, ताकि नए उद्यमियों को बेहतर तरीके से प्रशिक्षित किया जा सके। साथ ही अन्य संसाधन भी उपलब्ध कराया जाएगा।


जिलाधिकारी ने कहा कि टेक्स्टाईल मेगा पार्क के लिए पिछले छह माह से 1000 एकड़ भूमि की तलाश के लिए अनवरत प्रयास किया जा रहा था। इसके लिए 07 अमीन, 03 अंचल अधिकारी एवं अन्य कर्मियों के साथ भूमि सुधार उप समाहर्ता, बगहा एवं अपर समाहर्ता, पश्चिम चम्पारण, बेतिया के द्वारा प्रयास किया जा रहा था। सभी ने समन्वित प्रयास करते हुए बगहा-1, मधुबनी एवं भितहां अंचल में समेकित रूप से उपयुक्त भूमि को चिन्हित कर लिया है। आगे इस भूमि का ले-आउट तैयार किया जाएगा एवं उसके उपरांत एक सुदृढ़ मास्टर प्लान भी तैयार कराया जाएगा। उन्होंने कहा कि यह एक अत्यंत ही महत्त्वाकांक्षी योजना है। जिले में स्टार्टअप जोन की सफलता के कारण पश्चिम चम्पारण जिले में टेक्स्टाईल एण्ड एपरील क्षेत्र में असीम संभावनाओं को देखते हुए पश्चिम चम्पारण जिले में टेक्स्टाईल मेगा पार्क के निर्माण के लिए विशेष प्रयास किये जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि पश्चिम चम्पारण जिले के सर्वांगीण विकास में यह एक महत्त्वपूर्ण कदम है। आने वाले भविष्य में यह मील का पत्थर साबित होगा। उन्होंने कहा कि इससे ब्रांड वेस्ट चम्पारण की ख्याति देश-विदेश में पहुंचेगी तथा जिले को प्रोडक्शन हब बनाने का सपना साकार हो सकेगा। जिलाधिकारी द्वारा चिन्हित स्थल के निरीक्षण के उपरांत अपर समाहर्ता, पश्चिम चंपारण को निदेश दिया गया कि सभी स्तर के पदाधिकारी/कर्मी के साथ समीक्षा करते हुए अविलंब अभिलेख की कार्रवाई सुनिश्चित करा लें ताकि विभाग को शीघ्र प्रतिवेदन भेजा जा सके।  जिलाधिकारी के द्वारा जमीन चिन्हित करने की दिशा में कई गयी प्रगति पर संतोष व्यक्त किया गया एवं निर्देश दिया गया कि अभिलेख इत्यादि तुरन्त तैयार कर लें। निरीक्षण के क्रम में भूमि सुधार उप समाहर्ता, बगहा के द्वारा बताया गया कि चिन्हित भूमि का अग्र भाग 01 कि.मी. लम्बा है एवं यह 05 कि.मी. अंदर तक फैला हुआ है। इस अवसर पर अपर समाहर्त्ता, श्री नंदकिशोर साह, प्रबंधक, बेतिया राज, श्री विनोद कुमार सिंह, एसडीएम, बगहा, श्री दीपक कुमार मिश्रा, डीसीएलआर, बगहा, मो0 इमरान सहित अन्य संबंधित अधिकारी उपस्थित रहे।

कोई टिप्पणी नहीं: