झाबुआ (मध्य प्रदेश) की खबर 01 फ़रवरी - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

मंगलवार, 1 फ़रवरी 2022

झाबुआ (मध्य प्रदेश) की खबर 01 फ़रवरी

सांसद गुमानसिंह डामोर ने सबका साथ सबका विकास सबका विष्वास वाला बजट निरूपित किया

  • बजट नए भारत के निर्माण में क्रांतिकारी कदम,बजट में जो बाते कहीं गई हैं वो भारत को जोड़ने वाली हैं- गुमानसिंह डामोर

jhabua news
झाबुआ । केन्द्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण मंगलवार को लोकसभा में अपना चौथा आम बजट पेश किया। केंद्रीय बजट में पूरी तरह चुनावी नजर आ रहा है। इसमें किसानों, छात्रों और बेरोजगारों का खास ध्यान रखा गया है। उक्त प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए रतलाम-झाबुआ के सांसद गुमानसिंह डामोर ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में वित्त मंत्री श्रीमती निर्मला सीतारमण जी द्वारा पेश किया गया बजट देश में आधुनिक इन्फ्रास्ट्रक्चर को बढ़ावा देने वाला बजट है, जो नए भारत की नींव रखेगा और 130 करोड़ भारतवासियों की जिंदगी बेहतर करेगा। उन्होने कहा कि मोदी सरकार द्वारा लाया गया ये बजट, एक दूरदर्शी बजट है, जो भारत की अर्थव्यवस्था का स्केल बदलने वाला बजट साबित होगा। ये बजट भारत को आत्मनिर्भर बनाने के साथ स्वतंत्रता के 100वें वर्ष के नए भारत की नींव डालेगा। इसके लिए नरेंद्र मोदी जी और निर्मला सीतारमण जी बधाई के पात्र है । श्री डामोर के अनुसार नरेंद्र मोदी जी के मार्गदर्शन और केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण जी के नेतृत्व में तैयार 2022-23 का बजट आम आदमी की आकांक्षाओं और आशाओं को पूरा करने वाला सिद्ध होगा। संांसद गुमामनसिंह डामोर के अनुसार बजट नए भारत के निर्माण में क्रांतिकारी कदम है। बजट में जो भी बातें कहीं गई हैं वो भारत को जोड़ने वाली हैं। इस बजट में किसानों की आय 2022 तक दोगुनी करने का लक्ष्य है। ये निर्यात बढ़ाने वाला बजट है। बजट में हर वर्ग का ध्यान रखा गया है। यह बजट भारत के विकास का बजट है। श्री डामोर के अनुसार बजट में कई नए कदमों का ऐलान किया है इस बजट में कौशल विकास पर बल दिया गया है, निर्यात बढ़ाने के लिए नई घोषणाएं की गई और इफ्रास्ट्रक्चर के लिए 2 लाख करोड़ रुपए से रोजगार बढ़ेगा । यह बजट ग्रोथ को रफ्तार देने और राजकोषीय खर्चों में संतुलन बनाने वाला है। पर्सनल इनकम टैक्स रेट में कटौती से ​कंज्यूमर डिमांड को बढ़ाने में मदद​ मिलेगी. सोलश सेक्टर के साथ फि​जिकल इंफ्रा पर सरकार ने फोकस किया है। इससे मीडियम टर्म में ग्रोथ की क्षमता बेहतर होगी.। श्री डामोर ने बताया कि कम आय कर दरों के विकल्प पर वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा,कि हम लोगों के हाथ में पैसा रखना चाहते थे, खासकर मध्यम वर्ग और निम्न मध्यम वर्ग. हम आयकर प्रक्रिया को आसान बनाना चाहते थे और अनुपालन को बढ़ाना चाहते थे। कॉरपोरेट टैक्स में कटौती और नई कंपनियों को दिए जाने वाले लाभ के साथ-साथ जीएसटी संग्रह में सुधार से राजस्व सृजन में सुधार होगा। इससे अगले साल राजकोषीय घाटे को कम करने में मदद मिलेगी और विनिवेश में भी सुधार आएगा। श्री डामोर के अनुसार निर्मला सीतारमण जी ने जो बजट पेश किया , उसके लिए मैं उनको और पीएम मोदी जी को बहुत-बहुत धन्यवाद देता हूं ये बहुत ही प्रगतिशील बजट है, देश के सामने जो चुनौतियां थी उन चुनौतियों को समझकर अगले दशक का एक प्रकार से रोड मैप इस बजट में दिया हुआ है। सांसद डामोर के अनुसार इंडस्ट्री के लिए एक ऐतिहासिक बजट है। आज एंटी डंपिंग जो एमएमएफ सेक्टर की बहुत बड़ी चुनौती थी उसका समाधान देने के लिए धानमंत्री और वित्त मंत्री जी का आभार व्यक्त करता हूं । करों में राहत मध्यमवर्गीय परिवारों के लिए दिवाली से कम नहीं। उन्होने कहा कि मोदी सरकार ने टैक्स सिस्टम को तर्कसंगत बनाने, बुनियादा ढांचा को बूस्ट देने, बैंकिंग सिस्टम को मजबूत बनाने, बिजनेस करना आसान बनाने और निवेश बढ़ाने के लिए प्रभावकारी कदम उठाए गए हैं. यह भारत के 5 लाख करोड़ डॉलर इकोनॉमी बनने के रास्ता तय होगा। ग्रामीण विकास मंत्रालय को आवंटित किए जाने वाले 1,22,000 करोड़ रुपयों (जिसमें मनरेगा यानी महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी एक्ट के तहत एक बड़ी रकम 61,500 करोड़ भी शामिल है) के माध्यम से मोदी सरकार ने जो संकेत दिया है वह बताता है कि दक्षिणपंथी अर्थव्यवस्था का मॉडल मार्केट फंडामेंटलिज्म से केनेसियन मल्टीप्लायर की ओर जा रहा है। श्री डामोर ने कहा कि ग्रामीण भारत की खुशहाली के मकसद से समाज कल्याण योजनाओं पर भी सरकार ने पूरा ध्यान दिया है। वर्ष 2020 के बजट में अनुसूचित जातियों और अनुसूचित जनजातियों की महिलाओं के कल्याण के लिए किया गया 53,700 करोड़ रुपये का प्राविधान और अनुसूचित जाति एवं अन्य पिछड़ा वर्गो के लिए किया गया 85,000 करोड़ रुपये का प्राविधान तथा महिलाओं के उत्थान से जुड़े खास कार्यक्रमों के लिए किया गया 28,600 करोड़ रुपये का प्राविधान व सुपोषण योजनाओं के लिए किया गया 35,600 रुपये का प्राविधान, यह दर्शाता है कि देशवासियों के भूखे पेट को भरने में सक्षम होगा। ग्रामीण विकास मंत्रालय की योजनाओं के अलावा मोदी सरकार ने स्वास्थ्य मंत्रालय के तहत हेल्थ इंश्योरेंस स्कीम का जो प्रावधान किया है वह भी गरीबों के हित में एक बड़ा कदम है। इसे भी दक्षिणपंथी कल्याण अर्थशास्त्र का हिस्सा कहा जा सकता है। सरकार ने स्वास्थ्य क्षेत्र के लिए लिए वर्ष 2019-20 के बजट में 62,500 करोड़ रुपये देने प्राविधान किया था, जो उसके पिछले दो वित्तीय वर्षो में उच्चतम रही थी, उसे बढ़ाकर इस बार 69,000 करोड़ रुपये कर दिया गया है। वही गरीब घरों तक एलपीजी गैस पहुंचाने वाली सरकार की लोकप्रिय उज्ज्वला योजना के लिए 1,118 करोड़ रुपये का आवंटन किया गया है। सांसद  गुमानसिंह डामोर ने प्रस्तुत बजट को कल्याणकारी बजट बताते हुए भारत के सभी वर्गो के लिये इसमें दिये गये हित लाभो कोे ’’सबका साथ, सबका विकास, सबका विश्वास वाला ’’ बजट निरूपित किया ।


परिवार पेंशन अब


झाबुआ । जिला पेंशनर्स एसोसिएशन के जिलाध्यक्ष रतनसिंह राठौर, प्रचार सचिव राजेन्द्र कुमार सोनी, कार्यकारी अध्यक्ष बालमुकुन्दसिंह चौहान, सचिव पीडी रायपुरिया, एवं कोषाध्यक्ष भेरूसिंह चौहान ने संयुक्त रूप  से जानकारी देते हुए बताया कि संचालनालय कोष, पेंशन एवं बीमा द्वारा पूर्व प्रसारित आदेश में परिवर्धन करते हुए मध्यप्रदेश कोषालय संहिता 2020 जो 1 जुलाई 2020 से लागू की गई है के सहायक नियम 201 में प्रावधानानुसार पेंशनर जिस माह में शासकीय सेवा से सेवा निवृत हुआ है, प्रतिवर्ष उन्हे उसी माह में अपना जीवन प्रमाणपत्र संबंधित बैंक शाखा में प्रस्तुत करने के आदेश जारी किये थे । इसी क्रम में परिवार पेंशन के प्रकरण में भी परिवार पेंशन भोगी भी उसी माह में जीवन प्रमाणपत्र प्रस्तुत करेगें जिस माह में उनकी परिवार पेंशन प्रारंभ हुई है । तदनुसार आयोजित बैठक में लिये गये निर्णय के अनुसार बैक द्वारा पेंशनर को प्रतिमाह इस आशय की सूचना ई-मेल, एसएमएस,वाईसकाल या व्यक्तिगत रूप  से दी जायेगी। शासन ने बंेको को भी निर्देशित कर दिया है कि पेंशनरों से निरन्तर संपर्क कर उन्हे अवगत कराया जावे एवं नवीन प्रावधानों के अनुसार जीवन प्रमाणपत्र प्राप्त करें । जिला पेंशनर एसोसिएशन ने जिले के सभी पेंशनरों एवं परिवार पेंशन प्राप्त करने वालो से अनुरोध किया है कि शासन के नवीन नियमों के अनुसरण में पेंशनर अपने सेवा निवृत्ति के माह में तथा परिवार पेंशन प्राप्त करने वाले पेंशनर्स जिस माह में पेंशन प्रारंभ हुई है, उसी माह में संबंधित बेंक में जाकर अपना जीवन प्रमाणपत्र अनिवार्य रूप से समयावधि में प्रस्तुत करने की पाबंदी रखे तथा उनको आगामी माहों की पेंशनर निर्बाध रूप से नियमित रूप से प्राप्त होती रहें ।


ग्राम रोटला में होगी श्रीमद्भागवत कथा  फहराई धर्म ध्वजा


jhabua news
पारा । समीपस्थ ग्राम रोटला में धर्म रक्षक द्वारा श्रीमद्भागवत कथा का आयोजन प्रति वर्षानुसार इस वर्ष भी माह फरवरी में  किया जा रहा है। धर्म रक्षक प्रमुख वालसिह मसानिया ने बताया कि प्रतिवर्ष के अनुसार इस वर्ष भी श्रीमद् भागवत कथा का आयोजन ग्राम रोटला में रखा गया जिसमें श्रीमद् भागवत कथा को लेकर ध्वजारोहण का कार्यक्रम आज दिनांक को रखा गया जिसमें  श्रीमद्भागवत कथा महामंडलेश्वर 1008 स्वामी श्री प्रणवानन्द जी महाराज वृंदावन धाम’ द्वारा की जाएगी कथा संगीतमय रहेगी दिनांक 22 फरवरी से 28 फरवरी 2022 तक रहेगी जिसमें महायज्ञ भी रहेगा प्रतिदिन महा प्रसादी भी ग्रामीण द्वारा कराई जाएगी आप सभी आमंत्रित है इस आयोजन में श्री केसर भाई भूरिया वाह सभी रोटला के धर्म प्रेमी द्वारा बढ़-चढ़कर के इस आयोजन में भाग लेते हैं आप सभी आमंत्रित है।


डॉ रामशंकर चंचल ने , कलेक्टर सोमेस मिश्रा को भेंट की मां सरस्वती वंदना


jhabua news
झाबुआ। प्रख्यात साहित्यकार डॉ रामशंकर चंचल ने 31जनवरी को   झाबुआ जिले के कलेक्टर श्री सोमेस मिश्रा से शाम पांच बजे एक मुलाकात करते कलेक्टर मिश्रा जी को अपनी स्व रचित मां सरस्वती वंदना जो मां सरस्वती के बेहद खूबसूरत चित्र के साथ है भेंट की और बताया कि विगत  दस साल से वो प्रतिवर्ष मां सरस्वती जयंती  पर स्कूल ओर  कालेज में मां सरस्वती की चित्र भेंट करते आए हैं। इस बार डॉ रामशंकर चंचल ने अपनी मौलिक ताजा मां सरस्वती वंदना भी चित्र के साथ ली है। कलेक्टर झाबुआ को प्रथम प्रति भेंट करने के बाद डॉ रामशंकर चंचल ने अन्य शालाओं के शिक्षक को प्रतिवर्ष अनुसार मां सरस्वती वंदना सहित चित्र  को भेंट किया। कैथोलिक मिशन स्कूल ( रूपी त्रिवेदी), केशव इंटरनेशनल  स्कूल(ऐश्वर्या त्रिवेदी) लियो स्कूल(बेला संकेत नगर) माध्यमिक शाला वसुरिया( जयेश त्रिवेदी) माध्यमिक शाला तिकड़ीमोती (संतोष त्रिवेदी) कन्या आश्रम शाला तलावली (मुकेश नीमा) आदि शालाओं को डॉ चंचल ने मां सरस्वती की वंदना भेट की। डॉ रामशंकर चंचल ने कहा कि  यह कार्य करते हुए मुझे बहुत सुकुन मिलता है ।आज लाखों शालाएं है जहां मां सरस्वती वंदना तो दूर की बात , मां  के चित्र भी देखने नही  मिलते हैं।  शासन को चाहिए की सभी स्कूलों और कॉलेजों में मां सरस्वती का चित्र और मां की वंदना को अनिवार्य किया जाए । विध्या मंदिर में मां सरस्वती चित्र नहीं होना मन को बहुत दुःख पहुंचाता है। ये सभी चित्र और मां सरस्वती वंदनाउषा राज साहित्य अकादमी के बैनर तले वितरण किए गए है।


मगंलवार को जनसुनवाई में 53 आवेदन प्राप्त हुए आवेदनों का तत्काल निराकरण सकारात्मक रूप से करें-कलेक्टर

        

jhabua news
झाबुआ। कलेक्टर श्री सोमेश मिश्रा के द्वारा जनसुनवाई में प्राप्त आवेदन का निराकरण सकारात्मक रूप से किए जाने के निर्देश दिए है। आज अपर कलेक्टर श्री जे.एस.बघेल, डिप्टी कलेक्टर डॉ. श्री अभयसिह खराडी द्वारा मंगलवार को जनसुनवाई में 53 आवेदन प्राप्त किए। जिसमें प्रार्थी श्री काना पिता शम्भु बबेरीया निवासी ग्राम गामडी तहसील पेटलावद के द्वारा प्रस्तुत आवेदन जिसमें प्रधानमंत्री आवास योजना के अंतर्गत मकान स्वीकृत कर प्रदान करने हेतु आवेदन प्रस्तुत किया गया। इसी तरह प्रार्थी श्री राकेश पिता श्री बाबु गरवाल निवासी ग्राम खेडी बरोड़ तहसील झाबुआ द्वारा प्रस्तुत आवेदन जिसमें मोबेलाइजर की वरीयता सूची में एक नम्बर पर नाम दर्ज होने पर नियुक्ति आदेश प्रदान करवाने हेतु आवेदन प्रस्तुत किया है। प्रार्थी श्री लक्की गिदवानी पिता श्री तिरू गिदवानी निवासी मेघनगर के द्वारा प्रधानमंत्री आवास योजना के अंतर्गत आवास हेतु भुखण्ड आवंटित करने के संबंध में आवेदन प्रस्तुत किया है। इसी तरह प्रार्थी श्री मती मधुबाला श्रीवास्तव के देहांत के उपरांत कार्यालय मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी झाबुआ द्वारा सम्पूर्ण लाभ की अदायगी नहीं किये जाने के संबंध में आवेदन प्रस्तुत किया, प्रार्थी श्रीमती विद्याबाई चौहान द्वारा जिला अस्पताल में रोगी कल्याण में कार्य करने पर वेतन के भुगतान नहीं होने पर वेतन भुगतान करवाने के संबंध में आवेदन प्रस्तुत किया गया है। आज जनसुनवाई में अपर कलेक्टर श्री जे.एस.बघेल द्वारा निर्देश दिए गए कि सर्वोच्च प्राथमिकता के आधार पर 7 दिवस के अन्दर प्राप्त प्रकरणों का निराकरण करे एवं इन आवेदन पत्रों की समीक्षा टीएल की बैठक में होगी। जनसुनवाई में जिला अधिकारी एवं शेष एस.डी.एम. राजस्व एवं मुख्य कार्यपालन अधिकारी जनपद पंचायत, समस्त तहसीलदार, वीडियो कांफ्रेनिं्सग के माध्यम से जुडे़ थे। 


मुख्यमंत्री राशन आपके ग्राम योजना, कलेक्टर महोदय द्वारा 13 वाहनों को हरी झंडी देकर रवाना किया

 

jhabua news
झाबुआ। कलेक्टर श्री सोमेश मिश्रा, मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत श्री सिद्धार्थ जैन एवं अपर कलेक्टर श्री जे.एस.बघेल के द्वारा कलेक्टर कार्यालय परिसर में  आज प्रातः मुख्य मंत्री राशन आपके द्वार योजना अंतर्गत 13 वाहनों को कलस्टर स्तर पर खाद्यान वितरण हेतु भेजे जाने के लिए हरी झंडी देकर रवाना किया। राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम, 2013 के तहत सम्मिलित पात्र परिवारों को खाद्यान्न,शक्कर ,नमक का वितरण उचित मूल्य दुकानों से प्रतिमाह किया जा रहा है। ग्राम पंचायत स्तर पर उचित मूल्य दुकान संचालित करने का प्रावधान होने से दुकान के मुख्यालय ग्राम को छोडकर शेष आश्रित ग्रामों के पात्र परिवारों को परिवहन के सुगम साधन न होने के कारण अधिक दूरी तय करना पडती है। दिव्यांग,वृद्ध,केवल महिलाओं एवं बच्चों का परिवार, शारीरिक रूप से असक्षम व्यक्ति को दुकान से राशन सामग्री प्राप्त करने में कठिनाई उत्पन्न होती है एवं गरीब परिवारों को मजदूरी का नुकसान भी होता है। इन तथ्यों को दृष्टिगत रखते हुए, राज्य शासन द्वारा गरीब आदिवासी परिवारों की सुविधा के लिए प्रदेश के 20 जिलों के 89 आदिवासी विकासखंडों की उचित मूल्य दुकानों के आश्रित ग्रामों के पात्र परिवारों को उनके ही ग्राम में राशन सामग्री वितरण की व्यवस्था की है। झाबुआ जिले में समस्त 6 विकासखण्डों में 32 सेक्टरों का चयन कर वही के बेरोजगार आदिवासी युवकों के माध्यम से खाद्यान्न का ग्रामवार परिवहन कराया जाएगा, इस हेतु राज्य शासन द्वारा उन्हें अपनी गारंटी पर बैंक से आसान किश्तों में ऋण उपलब्ध कराकर परिवहन हेतु वाहन प्रदान किये जा रहे है। इस दौरान मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. श्री जे.पी.एस.ठाकुर, अनुविभागीय अधिकारी राजस्व झाबुआ श्री एल.एन.गर्ग, खाद्य विभाग से कनिष्ठ आपूर्ति अधिकारी श्री संजय पाटिल एवं कनिष्ठ आपूर्ति अधिकारी श्री आशिष आजाद उपस्थित थे।


स्वच्छ सर्वेक्षण 2022 जिला स्तरीय कार्यशाला सम्पन्न, हमारा झाबुआ स्टार झाबुआ स्वच्छता सर्वेक्षण माह 1 फरवरी से 28 फरवरी तक में मनाया जाएगा-कलेक्टर


 

jhabua news
झाबुआ,। कलेक्टर श्री सोमेश मिश्रा की अध्यक्षता में स्वच्छ सर्वेक्षण 2022 के संबंध में जिला स्तरीय कार्यशाला सम्पन्न हुई। अनुविभागीय अधिकारी राजस्व पेटलावद श्री शिशिर गेमावत, अनुविभागीय अधिकारी राजस्व झाबुआ श्री एल.एन.गर्ग, अनुविभागीय अधिकारी राजस्व थांदला श्री अनिल भाना, शहरी विकास अभिकरण के परियोजना अधिकारी एवं मुख्य नगरपालिका अधिकारी श्री एल.एस.डोडिया की उपस्थिति में झाबुआ जिला स्वच्छ सर्वेक्षण 2020 के अंतर्गत व्क्थ़् ़ स्टार रेटिंग तथा स्वच्छ सर्वेक्षण के संबंध में की जाने वाली तैयारियों के संबंध में समस्त नगर निकाय के मुख्य नगर पालिका जिला अधिकारियों की उपस्थिति में एक कार्यशाला का आयोजन किया गया। जिला स्तरीय कार्यशाला में सर्वप्रथम जिला शहरी विकास अभिकरण झाबुआ द्वारा स्वच्छ सर्वेक्षण 2022 की संक्षिप्त जानकारी दी गई। तत्पश्चात इंदौर से पधारे ज्ञच्डळ टीम के प्रभारी श्री अंकित कानूनगो व श्री तिरुमाला कुमार द्वारा स्वच्छ सर्वेक्षण 2022 के पैरामीटर पर की जाने वाली कार्रवाई का विवरण दिया गया। कलेक्टर महोदय द्वारा इस संबंध में हमारा झाबुआ स्टार झाबुआ के तहत 1 फरवरी से 28 फरवरी स्वच्छता के लिए विभिन्न कार्य वार्डो में जनसहयोग, जनप्रतिनिधियों के माध्यम से किए जाएगें। प्रयास यह होगा जिले के सभी नगरपालिका क्षेत्र के सभी वार्ड, ग्रामीण क्षेत्रों के ग्राम पंचायतों के सभी वार्डो में स्वच्छता के लिए हर संभव प्रयास किए जाएगें। जिससे जिले में स्वच्छता के प्रति जागरूकता आए एवं जिससे झाबुआ स्चस्थ झाबुआ, सुंदर झाबुआ के रूप में अपनी अलग पहचान बनाए। कलेक्टर महोदय द्वारा निर्देश दिए की प्लास्टिक के उपयोग से झाबुआ शहर एवं जिले के हर वार्ड मुक्त हो ऐसा अभियान चलाया जाए। जिले के समस्त अनुविभागीय अधिकारी एवं मुख्य नगर पालिका अधिकारियों समस्त मुख्य कार्यपालन अधिकारी जनपद पंचायत एवं जिला प्रबंधक आजीविका परियोजना के माध्यम से जिले के सभी अधिकारी के  समन्वय से सभी पैरामीटर पर कार्य करने के निर्देश दिए गए हैं। कलेक्टर महोदय द्वारा छोटे-छोटे कार्य जैसे नगर में एक फव्वारा चालू किए जाने, एक उत्कृष्ट रोड, नालियों पर जाली लगाने, डिवाइडरो की व्यवस्था करने, ब्-क् की व्यवस्था कर प्लेटफार्म बनाने एवं उसका विभाजन करने तथा उसका बोर्ड लगाने जैसे निर्देश दिए गए।


जिला पंचायत के कर्मचारी की सेवानिवृति पर बिदाई समारोह आयोजित किया गया


झाबुआ। जिला पंचायत झाबुआ के कर्मचारी श्री रेवला जुकाटिया की 32 वर्ष की सेवा जिला पंचायत झाबुआ में होने पर आज उनके सेवानिवृति के अवसर पर जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री सिद्धार्थ जैन, अतिरिक्त मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री दिनेश वर्मा एवं जिला पंचायत के सभी अधिकारी, कर्मचारियों द्वारा बिदाई दी गई एवं सभी के द्वारा पुष्पमाला से अभिनंदन किया गया। इस अवसर पर मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत के द्वारा श्री जुकाटिया को शाल श्रीफल एवं स्मृति चिन्ह देकर सम्मान किया। इस अवसर पर श्री जुकाटिया का पूरा परिवार भी उपस्थित था। इस अवसर पर परियोजना अधिकारी श्री राजेन्द्र माथुर, श्री मनोज बारस्कर, श्रीमती संगीता गुंडिया, लेखा अधिकारी श्री पंकज डावर, श्री सुहेल अहमद, श्री जे.एल. केलवा, श्री विवेक पेंटर, श्री आरिफ खान, श्री चौहान, श्री सुनिल सक्सेना, श्रीमती कुसुम डावर, श्री दिलीप राठौर, श्री सुधीर तिवारी, श्री मनोहर सोलंकी आदि उपस्थित थे। कार्यक्रम का संचालक श्री सुधीर कुशवाह के द्वारा किया गया ।


ग्रामीण विकास योजनाओं की समीक्षा बैठक सम्पन्न

  • विकास योजना के सफल संचालन के लिए साप्ताहिक प्लान आपके पास होना चाहिए एवं सतत मानिटरिंग प्रधानमंत्री आवास योजना के संबंध में होना चाहिए -कलेक्टर

झाबुआ,। कलेक्टर श्री सोमेश मिश्रा के द्वारा 31 जनवरी 2022 को पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग की योजनाओं की सघन समीक्षा की जिसमें निर्देश दिए कि निर्धारित समयावधि में प्रधानमंत्री आवास (ग्रामीण) पूर्ण करें। किसी भी स्थिति में लापरवाही के लिए जिला प्रशासन को सक्त कदम उठाने पडेंगे। इसके लिए आप स्वयं जिम्मेदार होंगे। विकास योजनाओं के सफल संचालन एवं लक्ष्य प्राप्ति के लिए साप्ताहिक प्लान आपके पास होना चाहिए। कलेक्टर महोदय द्वारा निर्देश दिए की माह फरवरी में 4500 आवास एवं मार्च में 5000 आवास पूर्ण होना चाहिए। जो अच्छा कार्य करेगा उसे जिला स्तर पर पुरस्कृत किया जाएगा। यदि आवास हितग्राही पूर्ण नहीं कर रहा है या लापवाही कर रहा है तो उसके विरूद्ध भी कार्यवाही सुनिश्चित करें। बैठक में जो अनुपस्थित थे उनके विरूद्ध दण्डात्मक कार्यवाही की जाए। बैठक में कलेक्टर ने निर्देश दिए कि जिले में ग्रामीण विकास योजनाओं की प्रगति अत्यन्त कम है। प्रदेश स्तर पर भी इसे गम्भीरता से लिया गया है। जिला स्तर पर जो समीक्षा होगी उसमें सबसे अधिक उत्कृष्ट कार्य करने वाले टॉप 5 एवं बाटम 5 की रैकिंग की जाएगी। जो निरंतर टॉप 5 में रहते हैं उन्हें उत्कृष्ट कार्य करने पर पुरस्कृत किया जाएगा एवं निरंतर बॉटम 5 में रहने पर उनके विरूद्ध दण्डात्मक कार्यवाही की जावेगी। उन्हें निलंबित भी किया जा सकता है। मंशा यह है कि जो कार्य का लक्ष्य निर्धारित है वह निर्धारित समय सीमा में पूर्ण हो। आवास योजना के अंतर्गत जो आवास लिए गए हैं उन्हें तत्काल पूर्ण करवाए। जिन आवास योजनाओं की किस्त नहीं मिली है उस पर तत्काल कार्यवाही करें। स्वच्छ भारत मिशन के अंतर्गत सामूदायिक शौचालय एवं व्यक्तिगत शौचालय का समय सीमा में लक्ष्य पूर्ण करें। मनरेगा योजना में लेबर बजट के अनुसार तत्काल कार्यवाही कर लक्ष्य को प्राप्त करें। प्रयास यह हो की अधिक से अधिक श्रमिको को रोजगार मिले एवं कार्य समय पर पूर्ण हो। बैठक में जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री सिद्धार्थ जैन उपस्थित थे। बैठक में पीपीटी के माध्यम से प्रस्तुतिकरण वरिष्ट डाटा मेनेजर श्री धीरज ठाकुर के द्वारा प्रस्तुत किया गया। बैठक में अतिरिक्त मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत श्री दिनेश वर्मा, समस्त मुख्य कार्यपालन अधिकारी जनपद पंचायत, कार्यपालन यंत्री ग्रामीण यांत्रिकी सेवा, सहायक यंत्री, ग्रामीण यांत्रिकी सेवा, उप यंत्री, परियोजना अधिकारी मनरेगा, आवास एवं एसबीएम, परियोजना अधिकारी पंचायत प्रकोष्ट, जिला आडिटर, समस्त एपीओ मनरेगा, ब्लाक समन्वयक आवास योजना, लेखाअधिकारी मनरेगा आदि उपस्थित थे।

कोई टिप्पणी नहीं: