झाबुआ (मध्य प्रदेश) की खबर 12 फ़रवरी - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शनिवार, 12 फ़रवरी 2022

झाबुआ (मध्य प्रदेश) की खबर 12 फ़रवरी

सांसद गुमानसिंह डामोर ने लोकसभा में मनरेगा में जॉब कार्ड पर 200 दिन रोजगार एवं 300 रुपये प्रतिदिन मजदुरी देने की मांग उठाई ।

  • प्रधानमंत्री आवास में शौेचालय निर्माण की आवष्यकता प्रतिपादित की ।

jhabua news
झाबुआ । क्षेत्रीय सांसद गुमानसिंह डामोर रतलाम,झाबुआ एवं आलीराजपुर जिले के विकास के लिये संसद से लेकर विभिन्न मंचों पर समय समय पर आवाज उठा कर इस अंचल की बेहतरी के लिये जो भूमिका का निर्वाह किया जारहा है उसे लेकर समुचे अंचल में उनके प्रयासों की भूरी भूरी प्रसंशा की जारही है। सांसद श्री डामोर ने जहां रेल्वे लाईन के लिये सदन के अलावा मंत्रीस्तर से लेकर आला अधिकारियों तक से भेंट करके विभिन्न विकासोन्मुखी कार्यो के लिये अपने प्रयासों से झाबुआ,रतलाम एवं आलीराजपुर जिले के त्वरित विकास को गति दी है, वही लोकसभा में भी प्रश्नों के माध्यम से अंचल की समस्याओं को लेकर सदन का ध्यान भी आकर्षित करके उल्लेखनीय कदम उठाने मे पीछे नही रहे है। वर्तमान में लोकसभा के सत्र में भी सांसद गुमानसिंह डामोर ने प्रश्नकाल में पूरे संसदीय क्षेत्र को लेकर सरकार का ध्यान आकर्षित करने का सफल कार्य किया है । शुक्रवार को लोकसभा में शून्यकाल के दौरान रतलाम झाबुआ आलीराजपुर के सांसद गुमानसिंह डामोर ने सदन के माध्यम से मंत्री जी से अनुरोध किया कि वे उनके लोकसभा क्षेत्र के सैलाना,पेटलावद, थांदला,अलीराजपुर,जोबट, झाबुआ जो जनजातीय क्षेत्र हैं ,यहां पर छोटे किसान व मजदूर निवासरत है, मध्य प्रदेश में मनरेगा योजना के तहत एक परिवार को औसत 100 दिन की मजदूरी जॉब कार्ड पर दी जा रही है। जो कि गरीब आदिवासी मजदूरों के परिवार संचालन की दृष्टि से अपर्याप्त है क्योकि इस संसदीय क्षेत्र में ऐसे लोग गरीबी रेखा के नीचे जीवन यापन कर रहे हैं और जो भूमिहीन किसान हैं । उनको साल में कम से कम 200 दिन का रोजगार दिया जाए ताकि उनको अन्यत्र पलायन करने या रोजगार के लिये यत्र-तत्र जाना नही पडें । श्री डामोर के अनुसार मजदूरी भी अन्य राज्यों की तरह कम से कम 300 रुपये प्रतिदिन के मान से दी जाना चाहिये ताकि इन गरीब लोगों को जीवन यापन मे परेशानिया नही झेलना पडे ।उन्हाने सदन के माध्यम से मांग की कि सरकार इसे गंभीरता से लेकर ऐसे परिवारों को मनरेगा के तहत 300 रूप्ये प्रतिदिन के मान से मजदुरी तय करके तथा कम से कम 200 दिनों के लिये रोजगार दिये जाने के लिये सहानुभूतिपूर्वक विचार कर मान्य करें। इसके साथ ही संासद गुमानसिंह डामोर ने संसद में कहा कि प्रधानमंत्री आवास में शोैचालयों  के बनाने की अनिवार्यता नहीं है । पहले जिन्हें समग्र स्वच्छता अभियान के तहत शौचालय मिल चुके ह,ैं उनका आवास से स्थान में बदलाव हो रहा है। ऐसे में नवनिर्मत होने वाले प्रधानमंत्री आवास में भवन निर्माण के साथ ही शौचालय का निर्माण भी जनहित में ही होगा । , सांसद डामोर ने कहा कि संसदीय क्षेत्र के झाबुआ जिले को वर्ष 2018 में ओडीएफ घोषित हो गया है किन्तु अभी भी 25 से 30 प्रतिशत आबादी खुले में शौच के लिये जा रही है, इसलिए उन्होने मंत्रीजी से अनुरोध किया कि प्रधानमंत्री आवास के साथ शौचालय निर्माण की अनिवार्यता की जावे । ताकि खुले मे शौच करने की आदत को बदला जासकते तािा समग्र स्वच्छता अभियान में कोई अवरोध नही आवे । सांसद श्री डामोर ने सदन में मांग उठाकर संसदीय क्षेत्र में शत प्रतिशत शौचालय के माध्यम से स्वच्छ भारत मिशन को अमली जामा पहिनाने के लिये सरकार ने अनुरोध किया । उनके इस प्रयास की पूरे संसदीय क्षेत्र में प्रसंशा की जारही है । उक्त जानकारी भाजपा आईटी सेल प्रभारी अर्पित कटकानी ने दी ।


श्री जैन श्वेतांबर मालवा महासंघ का महा-सम्मेलन आगामी 19 एवं 20 फरवरी को नागेश्वर महातीर्थ में , 600 से अधिक श्री संघों के प्रतिनिधि होंगे शामिल, झाबुआ जिले से भी समाजजनों की रहेगी सहभागिता


jhabua news
झाबुआ। श्री जैन श्वेतांबर मालवा महासंघ का महा-सम्मेलन का आयोजन आगामी 19 एवं 20 फरवरी को मप्र एवं राजस्थान की सीमा पर स्थित प्रसिद्ध जैन महातीर्थ नागेश्वर में होगा। जिसमें मालवा, मेवाड़, वागड़, हाड़ोती एवं निमाड़ क्षेत्र के 600 से अधिक श्री संघों के प्रतिनिधि, पदाधिकारी एवं श्री मालवा जैन श्वेतांबर महासंघ के सदस्यगण शामिल होंगे। जानकारी देते हुए मालवा महासंघ के राष्ट्रीय प्रवक्ता यशवंत भंडारी ने बताया कि विगत 12 वर्षों से जिन शासन की सेवा में समर्पित श्री जैन श्वेतांबर मालवा महासंघ का महासम्मेलन का आयोजन पूप आचार्य श्री विश्वरत्न सागरजी  मसा एवं मुनि मंडल के पावन सानिध्य एवं निश्रा में आयोजित हो रहा है। इस बार भी आचार्य श्रीजी की निश्रा में आयोजित सम्मेलन में मुख्य रूप से कोरोना वायरस से बिगड़ती संघ व्यवस्था, धार्मिक परिवारों का उत्थान, साधु-संत, भगवतांे की विहार एवं वैयावच्च सेवा, समाज में बढ़ रही कुरूतियो को रोकना, समाज की चल-अचल संपत्तियों की रक्षा के साथ समस्त  संघो में एकता एवं धर्म प्रभावना कैसे बढ़े, जैसे ज्वलंत विषयों पर खुलकर चर्चा होकर निर्णय लिए जाएंगे।


देशभर के 1200 से अधिक जिनालयों में एकसाथ किया गया शुद्धिकरण

श्री भंडारी ने आगे बताया कि विगत 12 वर्षों से मालवा महासंघ द्वारा कई उल्लेखनीय कार्य निरंतर  किए जा रहे है। जिसमें जिनालय शुद्धीकरण जैसा महत्वपूर्ण कार्य प्रतिवर्ष जारी है जिसमें इस वर्ष देशभर के 1200 से अधिक जिनालयो की एक दिन एक साथ श्री संघ के समस्त सदस्यों द्वारा मिलकर शुद्धिकरण का कार्य किया गया था। जिसकी सारी सामग्री महासंघ एवं नवरत्न परिवार द्वारा सभी संघों को उपलब्ध कराई गई थी। महसंघ द्वारा जिन मंदिरों में प्रतिमाओं के अंग भी उनकी मांग के अनुसार उपलब्ध कराए गए। साथ ही विहार सेवा एवं वैयावच्च के लिए महासंघ सभी संघों को सदैव प्रेरित करता रहा है। आने वाले समय में स्वास्थ एवं शिक्षा क्षेत्र में भी महासंघ महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगा, ऐसे प्रयास किए जाएंगे। आगामी 19 एवं 20 फरवरी को होने वाले मालवा महासंघ के महासम्मेलन में दोनों समय प्रातः की नवकारसी  एवं चारों समय के साधर्मी वात्सल्य के लिए आचार्य श्री विश्वरत्न सागरजी मसा की पावन प्रेरणा से मालवा महासंघ के राष्ट्रीय कोषाध्यक्ष एवं संघपति नागदा(धार) निवासी संतोष मेहता ने लिया।


इनकी रहीं सहभागिता

इस संबंध में नागेश्वर महातीर्थ में आयोजित बैठक में मालवा महासंघ के कार्यकारी अध्यक्ष एवं नागेश्वर तीर्थ के ट्रस्टी बाबूलाल आंचलिया, नागेश्वर तीर्थ के महासचिव धर्मचंद जैन, महासंघ के महासचिव राजेश मानव एवं अभय चोपड़ा, संगठन मंत्री अनिल देसरला, गौतम जैन, मोहन जैन के साथ झाबुआ जिले से बैठक में सुनील संघवी, राजेंद्र जैन ‘शुभम’, रमेशभाई अलीराजपुर, जिले के खट्टाली निवासी रमेश मेहता एवं मुकेश मेहता ने सम्मिलित होकर झाबुआ एवं आलीराजपुर जिले से श्री संघ के सभी अध्यक्ष एवं पदाधिकारियों से महासम्मेलन में पधारने की अपील की गई।


गरीबो का साथ हमेशा कांग्रेस पार्टी ने दिया है.... विधायक वीरसिंह भूरिया 


jhabua news
मेघनगर । मध्य प्रदेश कांग्रेस पार्टी के अध्यक्ष एवं मध्य प्रदेश के पुर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ के निर्देशानुसार अनुसार पार्टी  द्वारा चलाया जा रहा है घर चलो घर घर चलो अभियान के तहत शनिवार के रोज थांदला विधानसभा 194 के मेघनगर विकासखंड  की ग्राम पंचायत उमरादरा व ओचका में घर चलो घर घर चलो अभियान मे विधायक  वीरसिंह भुरिया  द्वारा  ग्रामीणों को  इस अभियान की जानकारी देते हुए अपने कार्यकर्ताओं के साथ कांग्रेस की रीति नीति से अवगत करवाया और कहा कि गरीबों की पार्टी कांग्रेश पार्टी है वर्तमान में जो योजना चल रही है वह कांग्रेस पार्टी द्वारा शुरुआत की गई है। साथी कांग्रेस कार्यकर्ताओं से आह्वान किया की कांग्रेस की सरकार ने जो कार्य हुआ है । वहां कार्य जनता को घर घर जाकर बताएं एवं कांग्रेस पार्टी ने जो गरीबों के लिए योजनाएं लागू की है उनके भी जानकारी आमजन को अवगत कराया जाए । इस अवसर पर कांग्रेस ब्लाक अध्यक्ष यामीन शेख कांग्रेस कार्यकर्ता हीमचंद्र वसुनिया, वालचंद कामलिया, बाबू बारिया, शंभू भूरिया, दुर्बन गढ़वास, खूबचंद वसुनिया, मांगू भाई वसुनिया सहित अनेक कांग्रेसी कार्यकर्ता गण व ग्रामीण जन उपस्थित थे । उक्त जानकारी विधायक मीडिया प्रतिनिधि अली असगर बोहरा द्वारा दी गई है ।


प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना खरीफ 2020 एवं रबी 2020-21 फसल बीमा दावा राशि का भुगतान आज 12 फरवरी को माननीय मुख्यमंत्री जी द्वारा बैतुल से लाईव टेलीकास्ट प्रसारित हुआ

  • फसल क्षति बीमा के झाबुआ जिले के 45666 कृषकों के खाते में रू. 20.49 करोड़ की राशि प्रदेश के मुख्यमंत्री डीबीटी के माध्यम से राशि हितगाहियों के खाते में जारी की गई खेती किसानी के क्षेत्र में ऐतहासिक पहल
  • फसल क्षति बीमा दावा की स्वीकृत प्रदेश के इतिहास में पहली बार
  •  कृषि उपज मण्डी प्रांगण झाबुआ में कार्यक्रम आयोजित-किसानों के खातों में  फसल बीमा दावा राशि जमा की गई

jhabua news
झाबुआ। देश में फसल क्षति की सबसे बड़ी सहायता राशि का वितरण आज 12 फरवरी  को प्रदेश के यशस्वी माननीय मुख्यमंत्री श्री शिवराजसिंह चौहान जी द्वारा बैतूल जिले से प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना अन्तर्गत खरीफ मौसम 2020 एवं रबी मौसम 2020-21 की फसल बीमा दावा राशि का भुगतान सिंगल क्लिक के माध्यम से कार्यक्रम आयोजित है। प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना अन्तर्गत आज माननीय मुख्यमंत्री जी द्वारा प्रदेश के 49 लाख दावों का कृषकों को राशि का भुगतान बैतूल जिले से सिंगल क्लिक के माध्यम से किसानों के खातों में जमा की जा रही है। उक्त कार्यक्रम का लाईव प्रसारण जिला स्तर पर कृषि उपज मण्डी प्रांगण झाबुआ में दिनांक 12 फरवरी 2022 को प्रातः 10ः30 बजे से आयोजित किया गया था। जिला स्तरीय कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में माननीय भाजपा जिला अध्यक्ष श्री लक्ष्मणसिंह जी नायक उपस्थित थे। विशेष अतिथि के रूप में जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री सिद्धार्थ जैन, भाजपा के जिला महामंत्री श्री सोमसिंह जी सोलंकी, कृषि उपज मंडी के अध्यक्ष श्री अजयसिंह डामोर, माननीय सभापति स्थाई समिति जिला पंचायत एवं अध्यक्ष जनपद पंचायत मेघनगर श्रीमती सुशीला प्रेमसिंह भाबर उपस्थित थे। माननीय अतिथियों के द्वारा मॉ सरस्वती की मुर्ति पर माल्यार्पण कर दीप प्रज्जवलित किया। माननीय अतिथियों का पुष्पहार, पुष्पगुच्छ से अभिनंदन किया गया। आयोजन में जिले के अन्य सम्मानीय जनप्रतिनिधिगण एवं जिले के विभिन्न विकासखण्डों से बडी संख्या में अन्नदाता कृषक उपस्थित थे। इस आयोजन की सम्पूर्ण रूपरेखा उप संचालक कृषि श्री नगीन रावत के द्वारा प्रस्तुत की गई। मुख्य अतिथि माननीय श्री लक्ष्मणसिंह जी नायक द्वारा अपने उद्बोधन में कहा कि सरकार वर्ष 2003 से किसानों के हित में एवं किसानों की उन्नती में निरंतर विभिन्न योजनाओं के माध्यम से समृद्ध करने का प्रयास कर रही है। कृषि को लाभ का धंधा बना दिया गया है। जब तक कोई किसान सम्पन्न नहीं हो जाता तब तक देश सम्पन्न नहीं हो सकता। देश में सबसे बडी आबादी किसानों की है। शासन ने किसान सम्मान निधि किसानों के हित में जारी कर उनकी आय दुगनी करने में कोई कसर नहीं छोडी है। शासन ने निःशुल्क गैस कनेक्शन, बीमारी में निःशुल्क ईलाज आयुष्मान कार्ड के माध्यम से 5 लाख तक करवा सकता है। शिक्षा के क्षेत्र में सनराईज स्कूल खेाले जा रहे हैं। जहां पर उच्च प्रकार की सुविधा का लाभ लेकर गरीब के बच्चे भी उच्च शिक्षा प्राप्त कर सकेंगे। जल जीवन मिशन के अंतर्गत हर घर में शुद्धपेय जल नल के माध्यम से दिया जा रहा है। भाजपा पदाधिकारी श्री सोमसिंह जी सोलंकी ने अपने उद्बोधन में कहा की माननीय प्रधानमंत्री एवं माननीय मुख्यमंत्री जी के द्वारा जिले के किसानों को जो राशि दी गई है। झाबुआ के इतिहास में मध्यप्रदेश के इतिहास में इतनी बड़ी राशि देकर झाबुआ को गौरान्वित किया है। झाबुआ के लिए ही नहीं देश एवं प्रदेश के लिए आज का दिन ऐतिहासिक दिन है। माननीय सभापति स्थाई समिति एवं अध्यक्ष जनपद पंचायत मेघनगर श्रीमती सुशीला प्रेमसिंह भाबर द्वारा अपने उद्बोधन में कहा की राज्य शासन द्वारा किसानों के हित में कई योजनाए प्रचलित है। इसका अधिक से अधिक लाभ ले। खेती व्यवसाय में इस तरह की फसले भी लगाए जिससे आपको प्रतिदिन आर्थिक लाभ हो आप खेत में उन्नत गुलाब के फुल, एप्पल बैर आदि से अपनी आय को निरंतर बड़ा सकते है। शासन द्वारा महिलाओं के लिए कई योजनाए के माध्यम से सशक्त किया है। वहीं स्वयं सहायता समूह के माध्यम से महिलाओ को आर्थिक समृद्धि प्राप्त हुई है। कार्यक्रम स्थल पर माननीय मुख्यमंत्री जी मध्यप्रदेश शासन श्री शिवराजसिह जी चौहान, माननीय केन्द्रीय कृषि मंत्री श्री नरेन्द्र सिंह तोमर, किसान कल्याण एवं कृषि मंत्री श्री कमल पटेल द्वारा वर्चुअल रूप से अपना उद्बोधन दिया। आज जिले के लिए ऐतिहासिक निर्णय के रूप में देखा गया जिसमें प्रदेश में प्रथम बार माननीय मुख्यमंत्री जी मध्यप्रदेश शासन श्री शिवराज सिंह जी चौहान के द्वारा प्रदेश में प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना खरीफ 2020 एवं रबी 2020-21 फसल बीमा दावा राशि का भुगतान 12 फरवरी को लाइव टेलीकास्ट के माध्यम से वन क्लिक कर किसानों के खातों में जमा की गई। झाबुआ जिले के कुल दावे प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के अंतर्गत लाभान्वित 45,666 किसानों के खाते में रुपए 20.49 करोड़ जमा हुए। झाबुआ जिले के लिए यह ऐतिहासिक उपलब्धि के रूप में है। समारोह स्थल पर जिन हितग्राहियों को प्रतिकात्मक रूप से माननीय अतिथियों के द्वारा हितग्राहियों को चैक दिए गए है। उनमें श्री रघुपालसिंह जी राठौर बोडायता को रूपए 69.971, श्री कालिया जी पानकी को 71622 रूपए, श्री पन्नालाल पाटिदार अगराल को 70914 रूपए, श्री गिरधारी नानुराम जी रामगढ़ को 80484 रूपए, श्री गोविंद कन्हैयालाल राठौर पेटलावद को 76826 रूपए दिए गए। इस योजना में प्राकृतिक कारणों से फसल का होने वाले नुकसान पर आर्थिक सहायता, किसान को आय में स्थिरता, नवीन तकनीकी को अपनाने का प्रोत्साहन मिलता है, जिससे अगले मौसम में खेती किसानी करने के लिये सुरक्षा कवच का काम करते हुए इस विपत्ति की घडी में वरदान के रूप में साबित होगा। किसानों के कल्याण के प्रति संवेदनशील सरकार द्वारा आयोजित यह कार्यक्रम जिला स्तर और ग्राम पंचायत स्तर पर टी.वी. द्वारा लाईव टेलीकास्ट/रेडियो के माध्यम से सुनने की व्यवस्था की गई है। कार्यक्रम का जीवन्त प्रसारण हमारे अन्नदाता कृषकों क साथ-साथ स्थानीय जनप्रतिनिधियों के लिये भी सुलभ था। कोविड-19 गाईड लाईन का ध्यान में रखते हुए कार्यक्रम में ूूूण्उलहवअण्पद पोर्टल पर त्महपेजमत छवू डायरेक्ट लिंक के माध्यम से अपने रजिर्स्टड एण्ड्रोईड मोबाईल फोन से सेल्फ रजिस्ट्रेशन कर उक्त कार्यक्रम का सीधा प्रसारण अपने घर पर रहकर भी देखा गया। जिले में खरीफ मौसम अन्तर्गत जिला स्तर पर उडद फसल तथा तहसील स्तर पर मूॅगफली, ज्वार एवं कपास फसल अधिसूचित है। पटवारी हल्का स्तर पर सोयाबीन, मक्का, धान फसल अधिसूचित है। मुख्य फसलंे पटवारी हल्का स्तर पर अधिसूचित की जाती है जिसका न्यूनतम रकबा 100 हेक्ट. अधिसूचना के लिए निर्धारित है। अन्य फसलों का रकबा न्यूनतम 500 हेक्ट. होने की स्थिति में तहसील एवं जिला स्तर के लिये फसलों के लिए अधिसूचना जारी की जाती है। इसमें समस्त किसानों को खरीफ फसल में अनाज, तिलहन एवं दलहन फसलों के लिये खरीफ मौसम में फसल बीमा कराने के लिये कृषकों के लिए स्वीकृत ऋणमान का मात्र 2 प्रतिशत प्रीमियम राशि है। चूंकि कपास की फसल नगदी फसल के रूप में मानी जाती है, इसलिए कपास फसल के बीमा हेतु स्वीकृत ऋणमान का मात्र 5 प्रतिशत प्रीमियम है। रबी मौसम की फसलों के लिये स्वीकृत ऋणमान का मात्र 1.5 प्रतिशत प्रीमियम राशि है। फसलों के फसल बीमा के लिए फसल एवं क्षेत्र अधिसूचित होना आवश्यक है। अधिसूचित क्षेत्र के लिए अधिसूचित फसल का ही फसल बीमा किया जाता है। फसल बीमा दावा राशि का आंकलन, बीमित क्षेत्र की पिछले वर्षों की औसत उपज (थ्रेशोेल्ड उपज) से वास्तविक औसत उपज (फसल कटाई प्रयोगों में प्राप्त के आधार पर) अन्तर के आधार पर किया जाता है। अधिसूचित क्षेत्र में औसत उपज (थ्रेशहोल्ड उपज) से वास्तविक उपज कम होने की स्थिति में किसान को फसल बीमा का लाभ देय सुनिश्चित होता है। खेती किसानी का काम अनिश्चितता से भरा होता है। किसानों को कई जोखिमों का सामना करना पड़ता है। समय-प्रतिसमय मौसम की विषमताओं से भी फसलों को नुकसानी की आशंका रहती है। कई बार व्यापक क्षेत्र में अचानक कीट व्याधि प्रकोप भी हो जाता है। इन सब परिस्थितियों से खेती किसानी को सुरक्षित रखने के लिए प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना किसानों के लिए एक कवच है। इस संबंध में कलेक्टर श्री सोमेश मिश्रा के द्वारा दिनंाक 10 फरवरी को आदेश जारी किया है। जिसमें इस आयोजन को सफल बनाए जाने हेतु जिला अग्रणी बैंक अधिकारी, वरिष्ठ महाप्रबंध जिला सहकारी केन्द्रीय बैंक, क्षेत्रीय प्रबंधक मध्यप्रदेश ग्रामीण बैंक, मुख्य कार्यपालन अधिकारी जनपद पंचायत समस्त, कार्यपालन यंत्री विद्युत म.प्र.वि.क.लि., सचिव कृषि उपज मंडी, उप संचालक कृषि जिला सूचना अधिकारी, जिला प्रबंधक ई-गर्वनेंस, वरिष्ठ वैज्ञानिक सह प्रमुख्य कृषि विभाग केन्द्र, जिला जनसंपर्क अधिकारी को निर्देश जारी किए गए थे। जिले में इस आयोजन के अतिरिक्त ग्राम पंचायत स्तर,जनपद पंचायत स्तर पर भी वर्चुअल रूप से यह कार्यक्रम को देखने की व्यवस्था सुनिश्चित की गई थी।

कोई टिप्पणी नहीं: