सीहोर (मध्य प्रदेश) की खबर 17 फ़रवरी - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

गुरुवार, 17 फ़रवरी 2022

सीहोर (मध्य प्रदेश) की खबर 17 फ़रवरी

मां ने कहा मेरा बेटा तडफ़ रहा है उसको छुरा मारा है ईलाज होने दो, डयूटी डॉक्टर गार्ड से बोला समान सहित अस्पताल से बाहर फेक दो


sehore news
सीहोर। ट्रामा सेंटर के डॉक्टरों की मनमानी और दादागिरी थमने का नाम नहीं ले रहीं है। डॉक्टरों के द्वारा अपराधिक मामलों में अब एक पक्ष के कहने पर दूसरे पक्ष पर समझोता करने का दबाव डालने का काम भी खौफ होकर किया जा रहा है। समझौता नहीं करने पर अस्पताल से पीडि़तों की बिना ईलाज के हीं जबरन छुटटी दी जा रही है। एैसा हीं मामला गुरूवार को जिला अस्पताल से सामने आया है। जिला अस्पताल में पदस्थ डॉक्टर के द्वारा आरोपी पक्ष से समझोता नहीं करने और कोतवाली से रिपोर्ट वापस नहीं लेने पर गोहापुरा कस्बा में सोमवार की रात हुई छुरेबाजी की घटना में गंभीर रूप से घायल युवक की जबरन छुटटी कर दी गई। पीडि़त मां ने जब डॉक्टर से कहा की मेरा बेटा तडफ़ रहा है उसको छुरा मारा है सही तरह से ईलाज होने दो अभी उसके घाव भी ठीक नहीं हुए टांके टूट रहे है उसके शरीर पर कई जगह छुरे से मारे गए घाव है वह दर्द से तडफ़ रहा है इस पर निर्दय डयूटी डॉक्टर फैसल खां ने अस्पताल के सर्जिकल वार्ड में तैनात गार्डो से कहा की इनके बेटे और इनको समान सहित अस्पताल से बाहर फेक दो।


यह है पूरा मामला

गोहापुरा कस्बा पुख्तामस्जिद के पास रहने वाले जुबेर पुत्र इमरान अंसारी पर पुराने विवाद को लेकर पल्टन एरिया लाल मस्जिद के पास निवासरत शहादत कुरैशी ने चाकू से जानलेवा हमला कर दिया था इस घटना में जुबेर गंभीर रूप से घायल हो गया था जुबेर के शरीर पर कई जगह चाकू से वार किए गए थे परिजनों और मोहल्ले वालों ने सोमवार की रात घायल जुबेर को अस्पताल में ईलाज के लिए भर्ती कराया था कोतवाली पुलिस के द्वारा जुबेर की शिकायत पर आरोपी के खिलाफ धारा 307 के तहत मामला दर्ज किया गया है। पुलिस के द्वारा आरोपी को गिरफतार कर जेल भी भेज दिया था।  जेल में तबीयत खराब होने पर आरोपी को भी अस्पताल के सर्जिकल वार्ड में भती करा गया है। इधर जुबेर की माता शन्नो बी ने घटना में शामिल अन्य चार लोगों को गिरफतार करने और अभ्रता सहित धमकी देने वाले डॉक्टर पर सख्त कर्रवाहीं कराने की मांग जिला कलेक्टर को आवेदन देकर की है।


आज से आरंभ होगी इंटर कॉलेज फुटबॉल प्रतियोगिता


सीहोर। शहर के प्रतिभाशाली खिलाड़ियों को मंच देने के लिए इंटर कॉलेज फुटबॉल टूर्नामेंट का आयोजन शुक्रवार से आईटीसी चौपाल सागर के समीपस्थ आईईएस यूनिवर्सिटी के तत्वाधान में फुटबॉल मैदान में किया जाएगा। इस मौके पर मुख्य अतिथि के रूप में पुलिस अधीक्षक मयंक अवस्थी रहेंगे। प्रतियोगिता में सम्राट अशोक कालेज, स्वामी विवेकांनद कालेज, महात्मा गांधी कालेज, सीहोर कालेज, पीजी कालेज, इछावर कालेज, आष्टा कालेज के अलावा कोठरी कालेज की टीमों को शामिल किया गया है। आईईएस यूनिवर्सिटी द्वारा आयोजित इस टूर्नामेंट में अभी तक कई टीम अपना रजिस्ट्रेशन करा चुकी है। आईईएस यूनिवर्सिटी भोपाल द्वारा टूर्नामेंट में विजेता टीम को कैश 2100 के साथ ट्रॉफी एवं मेडल वही उपविजेता टीम को कैश 1100 के साथ ट्रॉफी एवं मेडल प्रदान किए जाएगा। गत दिनों इंटर स्कूल फुटबाल और क्रिकेट प्रतियोगिता का आयोजन किया गया था। जिसमें बड़ी संख्या में खिलाड़ी शामिल थे। आयोजन की सफलता को लेकर गु्रप के चेयरमैन इंजीनियर बीएस यादव सहित समस्त स्टाफ के सहयोग आगामी दिनों में अनेक खेल प्रतियोगिता का आयोजन किया जाना है। 


sehore news
घाटपलासी के किसानों को नहीं मिला पर्याप्त बीमाधन, कलेक्टर को किसान स्वराज संगठन ने सौपा ज्ञापन


सीहेर। श्यामपुर के ग्राम घाटपलासी किसानों में भारी आका्रेश बना हुआ है। खरीफ फसल सोयाबीन की बीमा दावा राशी किसानों को काफी कम मिली है। किसानों के द्वारा कलेक्ट्रेट पहुंचकर स्वराज किसान संगठन के जिलाध्यक्ष विनय सिंह दांगी के नेतृत्व में जिला कलेक्टर को ज्ञापन दिया गया है। किसानों ने पर्याप्त बीमा राशि दिलाने की मांग की है। किसान स्वराज जिलाध्यक्ष विनय सिंह दांगी ने कहा की ग्राम के दोनों तरफ  पारवां नदी और पार्वती नदी है। पूर्ण रूप से सिंचित जमीन है। किसानों के खेतों में अधिक वर्षा की वजह से सोयाबीन की फसल को 80 प्रतिशत से अधिक नुकसान हुआ था इस के बावजूद काफी कम राशि दी गई है। किसानों ने बताया खराब हुई फसल का आंकलन करने पहुंचे पटवारी व कृषि अधिकारी के द्वारा बनाया गया पंचनामा भी सहीं बनाकर 85 प्रतिशत नुकसान लिखा था इस बाद भी राशि कम दी गई है। किसानों ने पुन: जांच करवाकर उचित राशी दिलाने की मांग की है।


तीन पंडाल बन रहे, इनमें भव्यता के साथ इनोवेशन का संगम

दस हजार वर्ग फीट क्षेत्र में बंधा पंडाल, दस एकड़ विशाल क्षेत्र में सुबह से देर रात्रि तक जारी रहेगें अनेक धार्मिक कार्यक्रम

sehore news
सीहोर। लगातार दूसरी साल जिला मुख्यालय के समीपस्थ चितावलिया हेमा स्थित निर्माणाधीन मुरली मनोहर एवं कुबेरेश्वर महादेव मंदिर में भागवत भूषण पंडित प्रदीप मिश्रा के सानिध्य में इस वर्ष भी सभी की सुख-समृद्धि की कामना और धर्म को जन-जन तक पहुंचाने के लिए सात दिवसीय भव्य रुद्राक्ष महोत्सव का आयोजन किया जाएगा। इस मौके पर आयोजित शिव महापुराण कथा के दौरान कई अन्य कार्यक्रम होंगे और प्रतिदिन हजारों श्रद्धालु इसमें भाग लेंगे। कथा आयोजन के लिए दस हजार वर्गफीट के क्षेत्र में पंडाल बांधा गया है। महोत्सव में करीब 11 लाख से अधिक रुद्राक्षों को सात दिवस के अंदर वितरित किया जाएगा। गुरुवार को आयोजन की तैयारियों को लेकर पंडित श्री मिश्रा ने पहुंचकर सभी का उत्साहवर्धन किया। विठलेश सेवा समिति के मीडिया प्रभारी प्रियांशु दीक्षित ने बताया कि आगामी 28 फरवरी से होने वाले सात दिवसीय भव्य रुद्राक्ष महोत्सव और शिव महापुराण की तैयारियों को लेकर  दस एकड़ के मंदिर परिसर क्षेत्र में तीन भव्य पंडालों का निर्माण किया जा रहा है। भव्य पंडाल में शिव पुराण का प्रतिदिन आयोजन किया जाएगा, इसके अलावा हर रोज आने वाले  श्रद्धालुओं के रहने आदि की नि:शुल्क व्यवस्था भी की जा रही है।


दो दर्जन से अधिक महिला मंडलों की बैठक होगी

जिला मुख्यालय के समीपस्थ चितावलिया हेमा स्थित निर्माणाधीन मुरली मनोहर एवं कुबेरेश्वर महादेव मंदिर में आगामी सात दिवसीय भव्य रुद्राक्ष महोत्सव का आयोजन को लेकर शहर सहित आस-पास के महिला मंडलों की बैठको का आयोजन भी किया जा रहा है। आगामी 20 फरवरी को शहर के बड़ा बाजार स्थित अग्रवाल पंचायती भवन में दो दर्जन से अधिक महिला मंडलों की बैठक का आयोजन किया जाएगा। महिला मंडलों को भव्य कार्यक्रम के लिए जिम्मेदारी भी सौंपी जाएगी। कार्यक्रम के दौरान श्रीमती ज्योति अग्रवाल, भावना परिहार आदि विशेष रूप से उपस्थित रहेगी। वहीं तितावलिया हेमा के आस-पास के ग्रामीणों ने भी गत दिनों बैठक कर आयोजन शुरू होने से समाप्ति तक अपनी सेवाएं देने का निर्णय लिया है। पूरे क्षेत्र में उत्साह का वातावरण बना हुआ है। 


जिले में 17 फरवरी को 20 व्यक्ति कोरोना पॉजिटिव मिले


मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी से प्राप्त जानकारी अनुसार जिले में 17 फरवरी को प्राप्त रिपोर्ट में 20 व्यक्तियों की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई। वर्तमान में एक्टिव पॉजिटिव केस की संख्या 330 रह गई है।


आपराधिक गतिविधियों में लिप्त 11 आरोपियों को जिला बदर


जिला दंडाधिकारी श्री चंद्र मोहन ठाकुर ने पुलिस अधीक्षक श्री मयंक अवस्थी के प्रतिवेदन पर विभिन्न आपराधिक गतिविधियों में लिप्त 11 आरोपियों को जिला बदर के आदेश जारी किये गये है। जिला दंडाधिकारी श्री चंद्र मोहन ठाकुर ने जिन 11 आरोपियों को जिले के आम नागरिकों की सुरक्षा और लोक शांति को दृष्टिगत रखते हुए जिला बदर किया है। जिला बदर किये गये उनमें दशहरा मैदान आष्टा निवासी अकील आ. हबीब उल्लाह पठान को 22 अपराधों में लिप्त पाए जाने पर सीहोर जिला एवं सीहोर जिले की सीमावर्ती जिलों की राजस्व सीमाओं से 3 माह के लिए जिला बदर का आदेश जारी किये है। ग्राम दीपाखेड़ा थाना रेहटी निवासी जितेंद्र आ. निर्भय सिंह  को 26 अपराधों में लिप्त पाये जाने के कारण सीहोर जिले की राजस्व सीमा से 3 माह के लिए निष्कासित करने का आदेश पारित किया गया है। सीहोर के लुनिया मोहल्ला गंज निवासी कुंदन आत्मज पतिराम लुनिया को 29 अपराधों में लिप्त पाए जाने पर 3 माह के लिए सीहोर जिले की राजस्व सीमा से निष्कासित करने का आदेश जारी किया गया है। नसरुल्लागंज निवासी पप्पू उर्फ सचिन आत्मज शंकरलाल को 10 अपराधिक गतिविधियों में लिप्त पाए जाने पर 3 माह के लिए सीहोर जिले की सीमा से जिला बदर का आदेश पारित किया गया है। ग्राम बाबरी थाना रेहटी निवासी नारायण आत्मज बोंदर सिंह जाट को 16 आपराधिक प्रकरणों में लिप्त पाए जाने पर 3 माह के लिए जिला बदर किया गया है। ग्राम बिलकिसगंज निवासी राधे किशन आत्मज कनीराम को 12 अपराधिक गतिविधियों में लिप्त पाए जाने पर 3 माह के लिए जिला बदर किया गया है। ग्राम बिलकिसगंज निवासी रमन साहू आत्मज बाबूलाल साहू को 16 आपराधिक गतिविधियों में लिप्त पाए जाने पर 3 माह के लिए जिला बदर किया गया है। इसी प्रकार ग्राम सामरदा आष्टा निवासी राधेश्याम आत्मज आत्माराम मेवाड़ा को 11 आपराधिक गतिविधियों में लिप्त पाए जाने पर 3 माह के लिए जिला बदर किया है। ग्राम अतरालिया नसरुल्लागंज निवासी गब्बर यादव उर्फ रामस्वरूप आ. सुभाष चन्द्र यादव को 8 आपराधिक गतिविधियों में लिप्त पाए जाने पर 3 माह के लिए जिला बदर किया है। ग्राम जोगला थाना नसरुल्लागंज निवासी मुकेश शर्मा आत्मज नारायण प्रसाद शर्मा को 22 आपराधिक गतिविधियों में लिप्त पाए जाने पर 3 माह के लिए जिले की राजस्व सीमा से निष्कासित किया गया है। इंदिरा कॉलोनी मंडी सीहोर निवासी राजकुमार आत्मज मुन्ना लाल राठौर को 22 आपराधिक गतिविधियों में लिप्त पाए जाने पर 3 माह के लिए जिला बदर किया गया है। जिन्हें जिला बदर किया गया है उन आरोपियों को 48 घंटे के भीतर सीहोर जिले की राजस्व सीमा से बाहर जाना होगा तथा जहां भी रहेंगे वहां के पुलिस अधीक्षक एवं उस क्षेत्र के थाना प्रभारी को उपस्थिति की निरंतर सूचना देते रहने का आदेश दिया गया है। इन्हें सीहोर जिला एवं उसके सीमावर्ती भोपाल रायसेन होशंगाबाद हरदा देवास शाजापुर तथा राजगढ़ जिले की राजस्व सीमाओं से निष्कासित करने का आदेश जारी किया गया है।


कार्याशाला से सीएम हेल्पलाइन की शिकायतों के निराकरण में आई गति, आयोजित कार्यशाला में 431 शिकायतों का हुआ निराकरण


sehore news
कलेक्टर श्री चन्द्र मोहन ठाकुर के निर्देश पर सीएम हेल्पलाइन की शिकायतों के निराकरण के लिए कार्यशाला आयोजित की जा रही है। ताकि शिकायतों का त्वरित और संतुष्टि पूर्वक निराकरण किया जा सके। कलेक्टर श्री ठाकुर न सभी अधिकारियों को हिदायत दी है कि निराकरण में लापरवाही बरतने वाले अधिकारियों के विरूद्ध सख्त कार्रवाई की जाएगी। कार्यशाला आयोजित कर शिकायतों के निराकरण में आ रहे गतिरोध को दूर करने तथा संबंधित अधिकारी को शिकायत के संतुष्टि पूर्वक निराकण के लिए मार्गदर्शन दिया जा रहा है। विगत कुछ दिनों से आयोजित होने वाली सीएम हेल्पलाइन कार्यशाला के सार्थक परिणाम दिखाई देने लगे हैं। सीएम हेल्पलाइन की शिकायतों के निराकरण दुत गति से हो रहा है। अब सीहोर जिला सीएम हेल्प लाइन के निराकरण में प्रदेश में पॉचवें पायदान पर आ गया है। सीएम हेल्प लाइन की नोडल अधिकारी श्रीमती ममता पाण्डे ने जानकारी दी कि आज आयोजित सीएम हेल्पलाइन कार्यालय में कुल 431 शिकायतों का निराकरण किया गया। जिसमें पंचायत विभाग द्वारा 86 शिकायतें, राजस्व विभाग द्वारा 129 शिकायत, ओबीसी कल्याण विभाग द्वारा 28 शिकायत , खाद्य आपूर्ति विभाग द्वारा 28 शिकायत, नगर पालिका परिषद द्वारा 26 शिकायत, संस्थागत वित्त द्वारा 23 शिकायतें, लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण  द्वारा 19 शिकायतों का निराकण किया गया।    इसी प्रकार जिला अस्पताल द्वारा 19 शिकायते, ऊर्जा विभाग द्वारा 18 शिकायते, लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी द्वारा 14 शिकायतें, जल संसाधन विभाग द्वारा 8 शिकायतें, महिला बाल विकास विभाग द्वारा 7 शिकायतें, स्कूल शिक्षा द्वारा 5 शिकायतें, किसान क्रेडिट कार्ड द्वारा 4 शिकायत , लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी द्वारा 14 शिकायतें, ऊर्जा विभाग द्वारा 18 शिकायत तथा जल संसाधन विभाग द्वारा आज 8 शिकायतों का निराकरण किया गया।


फोटो मीटर रीडिंग के लिए मीटर रीडर को उपभोक्ता परिसर में जाना अनिवार्य, अब नहीं भर सकेंगे आंकलित खपत


मध्य क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी ने मैदानी अधिकारियों और कर्मचारियों को स्पष्ट निर्देश जारी किये हैं कि किसी भी स्थिति में मीटर रीडरों द्वारा कार्यालय में बैठकर उपभोक्ताओं की आंकलित खपत दर्ज नही कि जाना चाहिए। साथ ही यदि ऐसा पाया गया कि मीटर रीडर द्वारा मीटर रीडिंग उपभोक्ता के परिसर में जाकर नहीं ली गई है तो संबंधित के खिलाफ सख्त कार्यवाही की जाएगी। मध्य क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी ने एनजीबी प्रणाली की समीक्षा में यह पाया है कि मैदानी कार्मिकों द्वारा उपभोक्ताओं के परिसरों में स्थापित मीटरों के चालू हालत में होने के बावजूद भी आंकलित खपत दर्ज की जा रही है जो किसी भी प्रकार से बर्दाश्त नहीं की जाएगी। कंपनी ने यह भी निर्णय लिया है कि उपभोक्ताओं के परिसर में जाए बिना एनजीबी प्रणाली में खपत दर्ज करने की सुविधा बिलिंग प्रणाली में बंद कर दी गई है और कंपनी कार्यक्षेत्र के सभी महाप्रबंधक, उपमहाप्रबंधक, प्रबंधक, सहायक प्रबंधक सहित मीटर रीडरों को इस बारे में निर्देश जारी कर दिये गए हैं। कंपनी ने कहा है कि मीटर वाचन की निगरानी, मीटर वाचकों के कामकाज की साप्ताहिक समीक्षा के चलते कंपनी कार्यक्षेत्र में बिलिंग संबंधी शिकायतें वर्तमान में आधी रह गईं है। कंपनी द्वारा उपभोक्ताओं के परिसर की फोटो मीटर रीडिंग में शुद्धता (एक्युरेसी) के साथ ही बिलिंग संबंधी शिकायतों को शून्य करने एवं कंपनी के राजस्व में वृद्धि करने की दिशा में निरंतर कार्य किया जा रहा है। 


उत्साह के साथ छात्रों ने दी हायर सेकेंडरी की परीक्षा

  • 16 हजार 559 छात्र-छात्राओं परीक्षा में शामिल हुए, परीक्षा में 358 परीक्षार्थी रहे अनुपस्थित

कोरोना कॉल के बाद पहली बार आयोजित हाईस्कूल एवं हायर सेकेण्डरी परीक्षा 2022 में छात्र एवं छात्राओं में भारी उत्साह देखा गया। माध्यमिक शिक्षा मंडल म.प्र. भोपाल द्वारा वर्ष 2021-22 में आयोजित हायर सेकण्डरी अंग्रेजी विषय का प्रश्नपत्र जिले के निर्धारित 89 परीक्षा केंद्रों पर आयोजित किया गया। परीक्षा केन्द्रों का सघन निरीक्षण जिला स्तरीय एवं विकासखंड स्तरीय निरीक्षण दलों द्वारा किया गया। सभी परीक्षा केंद्रों पर परीक्षा सुगमता पूर्ण संचालित की गई । जिला शिक्षा अधिकारी श्री उदय उपेन्द्र भिड़े ने परीक्षा केन्द्र शासकीय उमावि उलझावन, गुडभेला, निपानिया कला, जिला परियोजना समन्वयक अनिल श्रीवास्तव ने एमएलबी कन्या उमावि सीहोर था हाईस्कूल पचामा का निरीक्षण किया। 18 फरवरी को कक्षा 10 वीं हिन्दी का प्रश्नपत्र आयोजित होगा। जिले में छात्र-छात्राओं दर्ज संख्या 16917 में से 16559 परीक्षार्थी शामिल हुए। परीक्षा में 358 छात्र-छात्राएं अनुपस्थित रहें।


जिला विधिक सेवा प्राधिकरण द्वारा जेल में वैक्सीनेशन शिविर आयोजित, शिविर में 71 जेल बंदियों को वैक्सीनेटेड किया गया


जिला विधिक सेवा प्राधिकरण द्वारा जिला जेल में वैक्सीनेशन तथा विधिक जागरूकता शिविर आयोजित किया गया। शिविर में 71 जेल बंदियों को वैक्सीनेटेड किया गया।प्रधान जिला न्यायाधीश एवं अध्यक्ष जिला विधिक सेवा प्राधिकरण श्री आर एन चंद के निर्देशन में 17 फरवरी को जिला जेल परिसर में आयोजित किया गया । शिविर में 40 जेल बंदियों को कोविड-19 वैक्सीनेशन का द्वितीय डोज एवं 31 जेल बंदियों को प्रथम डोज लगाया गया। शिविर के दौरान जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के सचिव श्री मुकेश कुमार दागी द्वारा जेल में निरुद्ध बंदियों को शिविर के दौरान कहा कि आम व्यक्ति हो या जेल बंदी सभी को अपने स्वास्थ्य के प्रति जागरूक रहना चाहिए। शिविर में जेल बंदियों की समस्याओं को सुनकर उनका समाधान करते हुए विभिन्न कानूनी पहलुओं की जानकारी दी एवं कहा कि अपराध की पुनरावृत्ति न करें, आप जेल में यह दृढ संकल्प लें कि अपराध की पुनरावृत्ति नहीं करेंगे और यहां से बाहर जाकर अच्छे नागरिक की तरह जीवन यापन करेंगे और अपने बच्चे एवं परिवार को भी सम्मानजनक आचरण एवं व्यवहार करने के लिए प्रेरित करेंगे अपनी मानसिक और शारीरिक शक्ति को अपने बच्चों की शिक्षा और विकास के लिए लगाना है। शिविर में जेल बंदियों को वैक्सीनेशन सह विधिक जागरूकता शिविर का आयोजन के अवसर पर जिला विधिक सहायता अधिकारी श्री अनीस अब्बासी एवं जेल अधीक्षक श्री संजय सहलाम उपस्थित रहे।


बिजली कर्मियों की वार्षिक गोपनीय चरित्रावली पोर्टल में अपलोड


मध्य क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी द्वारा अपने नियमित प्रथम, द्वितीय, एवं तृतीय श्रेणी कार्मिकों की वार्षिक गोपनीय चरित्रावली वर्ष 2020-21 को कंपनी के आंतरिक प्रयास पोर्टल में अपलोड कर दिया है। गौरतलब है कि पोर्टल में लॉगिन करने के लिए कंपनी के प्रत्येक कर्मचारी का एक व्यक्तिगत लॉगइन आईडी एवं पासवर्ड है। कंपनी ने कार्मिकों से आग्रह किया गया है कि वे अपनी वार्षिक गोपनीय चरित्रावली की ग्रेडिंग में एडवाइजरी अथवा प्रतिकूल टिप्पणी अंकित है तो उसमें सुधार अथवा ग्रेडिंग अपग्रेड कराने के संबंध में प्रयास पोर्टल पर लॉगइन  कर ऑनलाइन माध्यम से से 14 फरवरी 2022 से तीन माह की अवधि के भीतर आवेदन प्रस्तुत करना होगा। कंपनी ने स्पष्ट किया है कि किसी भी स्थिति में आवेदन करने की निर्धारित तिथि 14 फरवरी से तीन माह की अवधि के बाद अथवा ऑफलाइन माध्यम से भेजे गये लिखित आवेदन को स्वीकार नहीं किया जाएगा।


बिजली कर्मियों से अभद्रता एवं शासकीय कार्य में बाधा डालने पर एफ.आई.आर दर्ज


मध्य क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी द्वारा सीहोर वृत्त अंतर्गत भोपाल नाका, कोतवाली सीहोर निवासी श्रीमती हेमलता तोमर के परिसर में स्थापित बिजली कनेक्शन की जांच के दौरान बिजली कंपनी के अधिकारी/कर्मचारी से अभद्र व्यवहार, मीटर की जांच करने से रोकने के साथ ही शासकीय कार्य में बाधा डालने के आरोप में एफ.आई.दर्ज. कराई गई है। कंपनी की सहायक यंत्री श्रीमती शिवानी गुप्ता, कनिष्ठ यंत्री सुश्री रश्मि बाथम द्वारा कर्मचारियों के साथ सीहोर भोपाल नाका क्षेत्र निवासी श्रीमती हेमलता तोमर के परिसर में स्थापित बिजली कनेक्शन की जांच की जा रही थी। इस दौरान श्री हेमेन्द्र तोमर द्वारा मीटर की जांच करने से रोकते हुए शासकीय कार्य में बाधा डालने के साथ ही बिजली कंपनी के अधिकारी एवं कर्मचारियों से दुर्व्यवहार एवं सहायक यंत्री का मोबाइल छीन लिया गया। कंपनी द्वारा घटना में शामिल आरोपी श्री हेमेन्द्र तोमर पर थाना कोतवाली सीहोर में शासकीय कार्य में बाधा डालने, एवं अधिकारी/कर्मचारी से मारपीट तथा दुर्व्यवहार करने पर एफ.आई.आर. दर्ज कराई गई है। थाना नूराबाद द्वारा आरोपी के विरूद्ध भारतीय दंड संहिता 1860 अधिनियम की धारा 353 में अपराध पंजीबद्ध कर विवेचना प्रारंभ कर दी गई है। कंपनी ने कहा है कि प्रायः देखने में आ रहा है कि बिजली कर्मियों से ड्यूटी के दौरान असामाजिक तत्वों द्वारा मारपीट/दुर्व्‍यवहार किया जा रहा है। चूंकि ऐसी घटनाएं विद्युत अधिकारियों और कर्मचारियों का मनोबल गिरता हैं, इसलिए कंपनी के कार्यक्षेत्र में कार्यरत सभी नियंत्रणकर्ता अधिकारियों को निर्देशित किया गया है कि मैदानी अधिकारियों/कर्मचारियों के साथ होने वाली दुर्व्यवहार या मारपीट की घटनाओं को पूरी गंभीरता से लिया जाए। प्रमुख सचिव ऊर्जा श्री संजय दुबे एवं मध्य क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी के प्रबंध संचालक श्री गणेश शंकर मिश्रा ने ड्यूटी पर तैनात अधिकारियों/कर्मचारियों से दुर्व्यवहार या मारपीट के मामलों को शासकीय कामकाज में बाधा डालने के तौर पर लिया जाकर तुरंत कानूनी कार्यवाही के निर्देश दिए हैं। कंपनी ने मैदानी अधिकारियों/कर्मचारियों से कहा है कि विद्युत आपूर्ति की स्थिति पर लगातार नजर रखें और जिले के कलेक्टर/पुलिस अधीक्षक से संपर्क कर किसी भी अप्रिय स्थिति में उनसे आवश्यक सहयोग प्राप्त करें।


स्मार्ट सैंपलिंग तकनीक से फसल कटाई के लिए सीहोर जिले का चयन, प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के अन्तर्गत रवी वर्ष 2021-22 में


प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के अंतर्गत मौसम रवी वर्ष २०२१-२२ मे की फसल कटाई प्रयोग स्मार्ट सैंपलिंग तकनीक से कराने के लिए सीहोर जिले का चयन किया गया है। इस संबंध में कलेक्टर श्री चन्द्र मोहन ठाकुर ने जिले के सभी तहसीलदार एवं किसान कल्याण एवं कृषि विकास विभाग के उप संचालक को कृषि मंत्रालय भारत सरकार के दिशा निर्देशानुसार कार्यवाही सुनिश्चित करने को कहा है। साथ ही जिले के सभी अनुविभागीय अधिकारी राजस्व को भी निर्देश जारी किये गये है।


किसानों में जनजागरूकता के लिए नैनो यूरिया रथ रवाना


sehore news
किसानों में जागरूकता के लिए इफको द्वारा विकसित नैनो यूरिया (तरल) रथ जिले के गाँव-गाँव में पहुंचेगी। किसानों को नैनो यूरिया के उपयोग एवं उसके फायदे के लिए जनजागरूकता फैलाने अपर कलेक्टर श्रीमती गुंचा सनोबर द्वारा हरी झंडी दिखाकर नैनो यूरिया रथ को रवाना किया। इस अवसर पर कृषि विभाग के उपसंचालक श्री रामशंकर जाट, इफको के क्षेत्रीय अधिकारी श्री कुमार मनेन्द्र एवं अन्य अधिकारीगण उपस्थित थे। यह नैनो यूरिया रथ 30 दिवस के लिए जिले के विभिन्न ग्रामों में भ्रमण करेगा एवं नैनो यूरिया के उपयोग तथा लाभ के बारे में किसानों को जानकारी देगा। नैनो यूरिया (तरल) सभी फसलों के लिए आवश्यक पोषक तत्व नाइट्रोजन की पूर्ति करता है। नैनो यूरिया की एक बोतल (500 एस.एल.) एक बैग यूरिया (45 कि.ग्रा.) के बराबर है। यह पर्यावरण को यूरिया उर्वरक के अधिक प्रयोग से होने वाले कुप्रभाव से बचाता है। जिससे मृदा वायु और जल प्रदूषित होने से बच सकें। नैनो यूरिया कम पानी की दशा में भी अच्छा कार्य करती है। इस में खास बात यह है कि नाइट्रोजन कण पौधे के ऊपर से नीचे फ्लोएम के माध्यम से प्रवाह करते हैं। जमीन में अगर कम पानी है तो भी फसल पर विपरीत प्रभाव नही पड़ता है। नैनो यूरिया में मौजूद नाइट्रोजन के कणों का आकार 20-50 मीटर है। तथा भार के आधार पर नाइट्रोजन की कुल मात्रा 4 प्रतिशत है। किसी भी फसल की शुरुआती अवस्था में पारम्परिक यूरिया के अनुसंश्त्‍ि मात्रा का 50 प्रतिशत उपयोग के उपरान्त नैनो यूरिया (तरल) की 2-4 एमएल मात्र एक लीटर पानी में घोल कर नाइट्रोजन की आवश्यकतानुसार छिडकाव करना चाहिए। अच्छे परिणाम के लिए 2 छिडकाव आवश्यक होते है। पहला छिडकाव कल्ले शाखाएं निकलने के समय अंकुरण के 30 से 35 दिन बाद या रोपाई के 20 से 25 दिन बाद तथा दूसरा छिड़काव फूल आने के 07 से 10 दिन पहले करना चाहिए। एक एकड जमीन के लिए 125 लीटर पानी की मात्रा पर्याप्त होती है। पर्णीय छिड़काव के बाद नेगी यूरिया के कण स्टोमेटा एवं अन्य छिद्रों के माध्यम से आसानी से पौधों में प्रवेश कर जाते हैं और कोशिकाओं द्वारा अवशोषित कर लिए जाते है। पौधों के उपयोग की बाद बची हुई नाइट्रोजन रिक्तिकाओं में जमा हो जाती है और आवश्यकतानुसार धीरे धीरे मुक्त होकर पौधे की वृद्धि एवं विकास में योगदान देती है। नैनी यूरिया की एक बोतल (500 एम.एल) की कीमतगात्र 240 रूपये निर्धारित कि गई है। पारम्परिक यूरिया से 10 प्रतिशत सस्ता होने के साथ ही यह प्रयोग करने वाले व्यक्ति पर्यावरण,वनस्पति एवं मृदा में पाये जाने वाले सूक्ष्म एवं अन्य जीव जन्तुओं के लिए भी सुरक्षित है। नैनो यूरिया एक गैर अनुदानित उत्पाद है। जिसके प्रयोग से दानेदार यूरिया पर होने वाले भारत सरकार के अनुदान के रूप में हो रहे भारी भरकम खर्च को भी कम किया जा सकती है। और किसानों एवं फसल के लिए भी फयदेकारी है।


कॉलोनाइजर्स को बड़ी राहत, एक ही रजिस्ट्रेशन पर कर सकेंगे पूरे प्रदेश में काम

  • नगरीय विकास एवं आवास मंत्री श्री भूपेन्द्र सिंह ने ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन का किया लोकार्पण

नगरीय प्रशासन ने कॉलोनाइजर्स को बड़ी राहत दी है। अब कॉलोनाइजर्स एक ही रजिस्ट्रेशन पर पूरे प्रदेश में निर्माण कार्य कर सकेंगे। नगरीय विकास एवं आवास मंत्री श्री भूपेन्द्र सिंह ने  मंगलवार को रजिस्ट्रेशन के लिए ऑनलाइन पोर्टल का लोकार्पण किया। कॉलोनाइजर्स को अब अलग-अलग नगरीय निकायों में रजिस्ट्रेशन कराने से निजात मिलेगी। सारी प्रक्रिया ऑनलाइन होने के साथ 30 दिन की समय-सीमा में प्रमाण-पत्र जारी किए जाएँगे। मंत्री श्री भूपेन्द्र सिंह ने कहा कि ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन से प्रक्रिया सरल होगी और प्रदेश के विकास में तेजी आएगी। मध्यप्रदेश नगर पालिका कॉलोनी विकास नियम 2021 के जरिए हमने अवैध कॉलोनियों के नियमितीकरण के भी प्रावधान किए हैं। सुधार की यह प्रक्रिया निरंतर जारी रहेगी।


पोर्टल पर हो सकेंगे सभी काम

आवेदन की सुविधा ई-नगरपालिका पोर्टल, एमपी अर्बन वेबसाइट, ई-सर्विस पोर्टल पर उपलब्ध रहेगी। इसमें रजिस्ट्रीकरण शुल्क का ऑनलाइन भुगतान, आवेदन की स्थिति ट्रेक करने, ऑनलाइन दस्तावेज अपलोड करने, ऑनलाइन अनुमोदन प्रक्रिया, डिजिटल रूप से हस्ताक्षरित प्रमाण-पत्र, SMS एवं WhatsApp के जरिए आवेदक को सूचना, WhatsApp के जरिए सर्टिफिकेट प्रदान की जाने की सुविधा और संचालनालय के लिए मॉनीटरिंग के उद्देश्य से विभिन्न रिपोर्ट्स की सुविधा रहेगी। कॉलोनाइजर के नए एकीकृत रजिस्ट्रीकरण अब संचालनालय स्तर पर ऑनलाइन किये जाएँगे, जो सभी नगर निकायों के लिए मान्य होंगे।

कोई टिप्पणी नहीं: