मधुबनी : शहीद-ए- आज़म भगत सिंह ,राजगुरू एवं सुकदेव का श्रद्धांजलि सभा - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

बुधवार, 23 मार्च 2022

मधुबनी : शहीद-ए- आज़म भगत सिंह ,राजगुरू एवं सुकदेव का श्रद्धांजलि सभा

cpi-madhubani-tribute-bhagat-singh
मधुबनी, 23 मार्च 2022, सीपीआई कार्यालय भोगेंद झा भवन , मधुबनी में ए आई वाई एफ एवं ए आई एस एफ , मधुबनी इकाई द्वारा शहीद-ए- आज़म भगत सिंह ,राजगुरू एवं सुकदेव का 91 वें  श्रद्धांजलि सह संकल्प कार्यक्रम आयोजित किया गया । ए आई वाई एफ के जिला सचिव संतोष कुमार झा के अध्यक्षता में श्रधांजलि देते हुए संगठन के पूर्व राज्य महासचिव कृपानंद आजाद ने कहा 23 वर्ष की अवस्था मे अपनी प्राणों की आहुति देने वाले शहीदों को आज की राजनीतिक सामाजिक परिस्थितियों में समझना और उसे अमल में लाना छात्रों एवं नौजवानों के लिए आवश्यक हो गया है । सेंट्रल असेंबली में अहिंसात्मक इरादे से बम फेंकने की सजा फांसी हुई थी । उस  समय भी उनलोगों का मकसद  पूंजीपतियों के द्वारा मजदूरों के शोषण के खिलाफ आवाज बुलंद करना था । देश के आजादी , जातीय एवं छुआछूत प्रथा के समाप्ति , शोषण अत्याचार एवं गुलामी मानसिकता के खिलाफ मार्क्सवादी विचारधारा से क्रांतिकारी आंदोलन में कूद पड़े थे । वे लोग अंग्रेजी हुकूमत से माफी मंगने के पेशकश को कठोरता से ठुकरा दिए ।  जिला सचिव संतोष झा ने कहा आज मधुबनी  भगत सिंह कर विचारधारा को आगे बढ़ने के लिए छात्रों -नौजवानों को एकत्रित होने पड़ेगा । श्रद्धांजलि कार्यक्रम में नौजवान संघ के पूर्व राज्य अध्यक्ष मनोज मिश्रा , लक्ष्मण चौधरी , मिथिलेश झा , शौकत , महताब, सहित कई लोग भाग लिए ।

कोई टिप्पणी नहीं: