बोपन्ना-शरण ने भारत को अजेय बढ़त दिलाकर विश्व ग्रुप एक में बनाये रखा - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

रविवार, 6 मार्च 2022

बोपन्ना-शरण ने भारत को अजेय बढ़त दिलाकर विश्व ग्रुप एक में बनाये रखा

bopanna-sharan-take-india-in-world-group-one
नयी दिल्ली, पांच मार्च, रोहन बोपन्ना और दिविज शरण ने तीन मैच प्वाइंट बचाकर शनिवार को यहां डेनमार्क के फ्रेडरिक नीलसन और मिकेल टॉरपेगार्ड की जोड़ी को हराकर भारत को प्लेऑफ मुकाबले में 3-0 से अजेय बढ़त दिलायी और उसका डेविस कप के विश्व ग्रुप एक में स्थान बरकरार रखा। फरवरी 2019 के बाद अपना पहला डेविस कप मुकाबला खेल रहे शरण और बोपन्ना ने पिछड़ने के बाद वापसी करते हुए एक घंटे 58 मिनट तक चले मैच में 6-7 (4), 6-4, 7-6 (4) से जीत हासिल की। इन दोनों की संघर्षपूर्ण जीत से यह भी सुनिश्चित हो गया कि भारत 2022 के सत्र में विश्व ग्रुप एक में बना रहेगा जबकि डेनमार्क अब फिर से विश्व ग्रुप दो में चला जाएगा। निर्णायक सेट के 12वें गेम में सर्विस कर रहे शरण को तीन मैच प्वाइंट का सामना करना पड़ा, लेकिन भारतीय टीम ने हौसला बनाये रखा और आखिर में जीत दर्ज की। भारत की नवंबर 2019 में पाकिस्तान को 4-0 से हराने के बाद से यह पहली जीत है। तब रोहित राजपाल ने गैर-खिलाड़ी कप्तान के रूप में पद संभाला था। उसके बाद भारत विदेशो में खेले गये मुकाबलों में फिनलैंड (1-3) और क्रोएशिया (1-3) से हार गया था। बोपन्ना और शरण की जीत से उलट एकल औपचारिक बन गये हैं।

कोई टिप्पणी नहीं: