अमृतसर शिविर में बीएसएफ कर्मी ने की गोलीबारी, पांच जवानों की मौत - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

रविवार, 6 मार्च 2022

अमृतसर शिविर में बीएसएफ कर्मी ने की गोलीबारी, पांच जवानों की मौत

bsf-jawan-firing-in-amritsar
अमृतसर, छह मार्च,  पंजाब के सीमावर्ती शहर अमृतसर में सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) के शिविर में एक कर्मी ने रविवार को कथित रूप से गोलीबारी कर दी, जिसमें बीएसएफ के कम से कम चार कर्मियों की मौत हो गई तथा एक अन्य घायल हो गया। इस दौरान गोलीबारी करने वाले कर्मी की भी मौत हो गई। अधिकारियों ने यह जानकारी दी। इस संबंध में एक अधिकारी ने बताया कि यह घटना पूर्वाह्न साढ़े नौ से पौने 10 बजे के बीच उस समय हुई, जब कांस्टेबल सातेप्पा एस. के. ने अपनी सर्विस राइफल से अपने पांच कर्मियों पर कथित रूप से गोलीबारी कर दी और इस दौरान आरोपी सातेप्पा की भी मौत हो गई। उन्होंने बताया कि यह घटना भारत-पाकिस्तान अंतरराष्ट्रीय सीमा के पास अटारी-वाघा सीमा चौकी से करीब 12-13 किलोमीटर दूर खासा इलाके में 144वीं बटालियन के परिसर में हुई। बहरहाल, अभी यह स्पष्ट नहीं हो पाया है कि आरोपी ने स्वयं को गोली मारी या वह किसी अन्य की गोलीबारी में मारा गया। अधिकारियों ने बताया कि आरोपी अपने काम के घंटों को लेकर स्पष्ट रूप से गुस्से में थे और उसने परिसर में खड़े कमांडिंग ऑफिसर के वाहन पर भी गोलियां चलाईं। बीएसएफ के एक प्रवक्ता ने बताया कि अमृतसर में बल के एक शिविर पर एक जवान की गोलीबारी में पांच बीएसएफ कर्मियों की मौत की दुर्भाग्यपूर्ण घटना हुई। गोलीबारी में घायल हुए छठे जवान की स्थिति गंभीर है और वह अस्पताल में भर्ती है। गोलीबारी की चपेट में आने वालों में कांस्टेबल और हेड कांस्टेबल रैंक के कर्मी शामिल हैं। प्रवक्ता ने बताया कि इस मामले की ‘कोर्ट ऑफ इन्क्वायरी’ का आदेश दिया गया है। उन्होंने बताया कि सीमा सुरक्षा बल और पंजाब पुलिस के वरिष्ठ अधिकारी घटनास्थल पर पहुंच गए हैं।

कोई टिप्पणी नहीं: