सार्वजनिक परिवहन व्यवस्था में सुधार पर ध्यान केंद्रित कर रहा है केंद्र : PM - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

रविवार, 6 मार्च 2022

सार्वजनिक परिवहन व्यवस्था में सुधार पर ध्यान केंद्रित कर रहा है केंद्र : PM

government-focus-public-transport-modi
पुणे, छह मार्च, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने महाराष्ट्र के पुणे शहर में एक मेट्रो रेल परियोजना का उद्घाटन करने के बाद रविवार को कहा कि केंद्र सरकार मेट्रो रेल समेत सार्वजनिक परिवहन व्यवस्था में सुधार करने पर ध्यान केंद्रित कर रही है। पुणे मेट्रो परियोजना की कुल लागत 11,400 करोड़ रुपये से अधिक है। प्रधानमंत्री ने 24 दिसंबर, 2016 को इस परियोजना की आधारशिला रखी थी। मोदी ने शहर में विभिन्न विकास परियोजनाओं की नींव रखने और उनका उद्घाटन करने के बाद यहां एमआईटी कॉलेज मैदान में एक जनसभा में कहा, ‘‘आज मुझे विभिन्न परियोजनाओं का उद्घाटन करने और उनकी आधारशिला रखने का अवसर मिला। यह मेरा सौभाग्य है कि मुझे पुणे मेट्रो की आधारशिला रखने का अवसर मिला था और आज आपने इस परियोजना के उद्घाटन के लिए मुझे आमंत्रित किया।’’ प्रधानमंत्री ने कहा, ‘‘इससे पहले (पूर्ववर्ती सरकारों में) परियोजना की आधारशिला तो रखी जाती थी, लेकिन यह पता नहीं चलता था कि उस परियोजना का उद्घाटन कब हुआ।’’


उन्होंने कहा कि पुणे मेट्रो परियोजना का उद्घाटन यह संदेश देता है कि परियोजनाओं को समय पर पूरा किया जा सकता है। उन्होंने लोगों से मेट्रो से यात्रा करने की अपील की। मोदी ने कहा कि तेजी से शहरीकरण हो रहा है और 2030 तक देश की शहरी आबादी 60 करोड़ से अधिक हो जाएगी। उन्होंने कहा, ‘‘शहरों की बढ़ती आबादी से कई अवसर पैदा होते हैं, लेकिन साथ ही कई चुनौतियां भी खड़ी होती हैं। शहरों में पुल एक सीमित संख्या में बनाए जा सकते हैं। बढ़ती आबादी के साथ कितने पुल बनाए जा सकते हैं और हम सड़कों का चौड़ीकरण कैसे करेंगे?’’ मोदी ने कहा, ‘‘ऐसे में हमारे पास एकमात्र विकल्प सार्वजनिक परिवहन है और इसीलिए हमारी सरकार सार्वजनिक परिवहन एवं मेट्रो रेल कनेक्टिविटी में सुधार को महत्व दे रही है।’’ उन्होंने कहा कि इससे पहले दिल्ली और एक या दो अन्य शहरों में मेट्रो ट्रेन थीं, लेकिन अब देश के दो दर्जन से अधिक शहरों में मेट्रो नेटवर्क विकसित किया जा रहा है। प्रधानमंत्री ने अपने संबोधन से पहले पुणे मेट्रो रेल परियोजना का उद्घाटन किया और एक काउंटर से स्वयं टिकट खरीदकर ट्रेन में यात्रा की। मोदी ने कुल 32.2 किलोमीटर लंबी परियोजना के 12 किलोमीटर के हिस्से का गरवारे मेट्रो स्टेशन पर उद्घाटन किया और इस स्टेशन से करीब पांच किलोमीटर दूर स्थित आनंदनगर स्टेशन तक मेट्रो की यात्रा की। मोदी ने 10 मिनट की इस यात्रा के दौरान मेट्रो के डिब्बे में मौजूद दृष्टिहीन लोगों समेत दिव्यांगजनों से बातचीत की। गरवारे स्टेशन से मेट्रो ट्रेन में सवार होने से पहले मोदी ने वहां लगाई गई एक परियोजना प्रदर्शनी का भी निरीक्षण किया। मेट्रो परियोजना के 12 किलोमीटर लंबे मार्ग में दो मेट्रो लाइन पर गरवारे कॉलेज से वनाज (पांच किमी) तक और पिंपरी चिंचवाड़ नगर निकाय से फुगेवाड़ी (सात किमी) तक प्राथमिकता वाले दो खंड शामिल हैं।

कोई टिप्पणी नहीं: