झाबुआ (मध्य प्रदेश) की खबर 28 मार्च - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

सोमवार, 28 मार्च 2022

झाबुआ (मध्य प्रदेश) की खबर 28 मार्च

 भरी दोपहरी में मांगों को लेकर पेंषनर्स उतरे सडकों पर रैली निकाल कर कलेक्टर को मुख्यमंत्री के नाम सौपा ज्ञापन

  • प्रदेष सरकार के सौतेले व्यवहार को लेकर पेंषनरों ने दी आन्दोलन की चेतावनी

झाबुआ । भरी दोपहरी में सूरज कीलपटो के बीच अपनी मांगों को लेकर जिला पेंशनर्स एसोसिएशन झाबुआ द्वारा प्रदेश की शिवराजसिंह सरकार द्वारा प्रदेश के पेंशनरों के साथ भेदभाव पूर्ण व्यवहार अपनाने तथा प्रदेश के शासकीय कर्मचारियों की तरह ही महंगाई राहत नही दिये जाने को लेकर सोमवार 28 मार्च को जिलेभर के पेंशनरों एवं पदाधिकारियों द्वारा जिला संगठन के जिलाध्यक्ष रतनसिंह राठौर के नेतृत्व में जंगी रैली निकाल कर कलेक्टर सोमेश मिश्रा को  6 सूत्रीय मांगों के साथ ही प्रदेश के कर्मचारियों की तरह ही 31 प्रतिशत महंगाई राहत दिये जाने को लेकर ज्ञापन सौपा । जिला पेंशनर्स एसोसिएशन के प्रचार सचिव राजेन्द्र सोनी ने जानकारी देते हुए बताया कि इसके  पूर्व जिले के पेटलावद, थांदला, मेघनगर, रानापुर एवं जिला मुख्यालय के पेंशनरों एवं पदाधिकारियों ने आम्बेडकर पार्क में एकत्रित होकर पेंशनरों की समस्याओं एवं प्रदेश सरकार की हठधर्मिता को लेकर अपने विचार व्यक्त किये । जिला पेंशनर्स एसोसिएशन के जिलाध्यक्ष रतनसिंह राठौर ने अपने संबोधिन में पेंशनरा की विभिन्न  समस्याओं के बारे मे विस्तारसे बाते हुए कहा कि जिले के चारों तहसीलों के अध्यक्ष काफी उर्जावान है तथा हर समय पेंशनरों के हित में दिन रात अपनी सक्रिय एवं सकारात्मक भूमिका निभा रहे है। उन्होने प्रदेश सरकार द्वारा धारा 49 की आड लेकर प्रदेश के साढे चार लाख पेंशनरों के साथ किये जारहे सौतेलापन का जिक्र करते हुए चेतावनी दी कि यदि एक माह में ज्ञापन के अनुसार मागों का निराकरण नही किया तो सभी पेंशनर्स सडकों पर उतर कर आन्दोलन को बाध्य होगें । पेंशनरों को संबोधित करते हुए थांदला शाखा के अध्यक्ष जगमोहनसिंह राठोर ने मुख्यमंत्री से मांग की कि मध्यप्रदेश एवं छत्तीसगढ विभाजन के समझौते की संवेधानिक धारा 49-6 को विलोन पर त्वरित निर्णय हो । केन्द्र के अनुरूप् ही प्रदेश सरकार भी पेंशनर्स को महंगाई राहत प्रतिवर्ष जनवरी और जुलाई में ही स्वीकृत कर एक साथ भुगतान करें , किन्तु-परन्तु के बहाने बनाकर पेंशनर्स के प्रति उपेक्षापूर्ण आचरणों से वृद्धो एवं वयोवृद्ध पेंशनर्स के मान सम्मानकोठेंस नही पहूंचाई जावे । पर्यटन सुविधा, चिकित्साभत्ता, अन्तिम संस्कार एक्सग्रेशिया राशि आदि प्रावधानों के आदेशों पर समुचित प्रक्रियायें निष्पादित हो। वर्तमान में औसत आयु चिन्हित कर 75 एवं 85 वर्ष की आयु होने पर क्रमशः 20 प्रतिशत एवं 100 प्रतिशत डीआर स्वतः लागू होने का प्रावधान हो ।परिवार पेंशन की प्रक्रिया का सरलीकरण हो तथा महिनों लंबित प्रतीक्षा का समुचित समाधान सहज सुलभ हो । शासकीय सेवा से सेवा निवृत्ति के उपरान्त पेंशनर्स के समस्त देयकों का एवे पेंशन प्रदाय का प्रबंध अधिकतम एक माह की समयावधि से अधिक नही हो । वर्तमान में ऐसे प्रकरण वर्षो तक अटकाए-लटकाये-भटकाये जारहे हे उन जिम्मेदारों पर दण्डात्मक कार्यवाही हो । श्री अरविन्द व्यास ने भी धारा 49 के बारे मे विस्तार से छत्तीसगढ एवं मध्यप्रदेश के बंटवारें के बारे में जानकारी देते हुए पेंशनरों के हित मे सरकार को त्वरित निर्णय लिये जाने का आव्हान किया । पेटलावद के अध्यक्ष एनएल रावल ने भी अपने जोशीले भाषण में  कमलनाथ सरकार से वर्तमान सरकार तक पेंशनरों की अनदेखी किये जाने तथा सौतेला व्यवहार अभी तक होने की बात कहीं तथा उन्होने सभी पेंशनरों को एकजूट रह कर आगे भी अपने हक्को के लिये लडाई लडने का आव्हान किया । वही रानापुर संगठन के अध्यक्ष एमएल दुर्गेश्वर ने भी प्रदेश सरकार द्वारा पेंशनरों के साथ कियेजारहे दोयम व्यवहार को लेकर आक्रोश व्यक्त किया । तथा जिला स्तर पर पेंशनरों के हितार्थ समिति कागठन करने तथा उसके माध्यम से पेंशनरों की समस्याओ के निराकरण करने का सुझाव दिया ।ं इस  डिग्री कालेज के सेवा निवृत प्राचार्य डा. प्रदीप संघवी ने भी सरकार के रवैये का जिक्र करते हुए सरकार से मांग की कि पेंशनर प्रदेश के वरिष्ठजन होने के साथ ही अपने अनुभवों से प्रदेश के विकास में हमेशा अग्रणी रहे हे । सरकार को कर्मचारियों को डीए देने के पूर्व पेंशनरों को महंगाइ्र राहत देना चाहिये । सरकार जानबुझ कर पेंशनरों के मामलों में देरी करती है इसे त्यागना चाहिये । उन्होने सभी पेशनरों को एकजूट रह कर संगठन में शक्ति निहीत है इस भावना से संगठन को मजबुत बनाना चाहिये । सभी पेंशनर्स आम्बेडकर पार्क से नारे बाजी करते हुए कलेक्टर कार्यालय पहूंचे जहां  अरविन्द व्यास ने ज्ञापन का वाचन किया किया । तथा संगठन के जिलाध्यक्ष रतनसिंह राठौर के नेतृत्व में कलेक्टर सोमेश मिश्रा को दो ज्ञापन सौपे गये । ज्ञापन के अनुसार राज्य के कर्मचारियों की तरह ही पेंशनरों को भी मार्च से 31 प्रतिशत के मानसे महंगाई राहत दिये जाने की मांग के अलावा छटवे वेतनमान के 32 माह एवं 7 वें वेतनमान के 27 माह के एरियर का भुगतान करने, सभी पेंशनरों को 1000 रुपया प्रतिमाह चिकित्सा भत्ता देने,वर्तमान में 80 वर्ष की आयु पूर्ण होने पर 20 प्रतिशत की अतिरिक्त राहत दी जाती है उसे 70 वर्ष की आयु में दिये जाने, पुरानी पेंशन को बहाल करने, धारा 49 विलोपित करने की मांगी के अलावा एक अन्य ज्ञापन में  मुख्यमंत्री द्वारा उनके जन्म दिवस पर राज्य के कर्मचारियों को 1 मार्च 2022 से 31 प्रतिशत महंगाई भत्ता दिया गया उसी अनुरूप पेंशनरों को भी 1 मार्च 22 से 31 प्रतिशत महंगाई राहत दिये जाने की माग की गई । कार्यक्रम का संचालन पीडी रायपुरिया ने किया तथा आभार प्रदर्शन कार्यवाही अध्यक्ष बालमुकुन्दसिंह चौहान ने व्यक्त किया ।

जैनाचार्य पूज्य श्रीउमेशमुनिजी की 10वीं पुण्य स्मृति दिवस पर विविध कार्यक्रम आयोजित


jhabua news
थांदला। जैन धर्म में महापुरूषों के पावन स्मरण दिवस तप त्याग और उनके गुणगान कर पुण्य कार्य करते हुए मनाए जाते है इसी तारतम्य में स्थानीय थांदला स्थानकवासी जैन श्री संघ एवं अधीनस्थ संस्थाओं ने विभिन्न कार्यक्रम आयोजित कर जैनाचार्य जिन शासन गौरव पूज्य श्रीउमेशमुनिजी म.सा. की 10वीं पुण्य तिथि पर विविध कार्यक्रम आयोजित किये। स्थानीय पौषध भवन पर विराजित साध्वी मण्डल पूज्या श्रीनिखिलशीलाजी म. सा. आदि ठाणा - 4 के पावन सानिध्य में गुणानुवाद सभा का आयोजन किया गया। गुणानुवाद सभा को सम्बोधित करते हुए पूज्या श्रीनिखिलशीलाजी म. सा. ने कहा कि जिज्ञासु की चाह होती है कि जिन महापुरुषों का जन्म अथवा पुण्य स्मरण दिवस मना रहे है उनका ज्ञान दर्शन शील कैसा रहा होगा ....? तब उनकी जीवन गाथा सुनाई जाती है जिससे उनके जैसे गुण ग्रहण करने की योग्यता का विकास हो सके। पूज्या श्री ने कहा कि सुदेव सुगुरु व सुधर्म पर चलकर आत्मा भव सागर पार हो जाता है वही सत्ता, सम्पत्ति व सुरा से वह भव भव भटकता है वैसे ही सद्गुरु अर्थात गॉड रुट कि तरह आचार्य श्री का हमें भगवान बनने का मार्ग बताते है। उन्होने कहा कि आज के दिन गुरु हमसे विदा हो गए लेकिन उन्होंने अंतिम समय में भी अपना अंतिम मनोरथ पदोपगमन संथारा कर के सभी को धर्म मार्ग दृढ़ता से आगे बढ़ने का संदेश दिया है। आज उनका साहित्य व उनके शिष्य सम्पदा का आलंबन लेकर अनेक आत्मा साधना मार्ग पर अग्रसर हो रही है वैसे ही हम भी जिन शासन के मार्ग पर दृढ़ता से आगे बढ़ेंगे यही उनके प्रति हमारी सच्ची श्रद्धांजलि होगी। इस अवसर पर पूज्या श्रीप्रियशीलाजी म. सा. ने कहा कि जिस प्रकार समर भूमि में योद्धा शत्रुओं को परास्त करने का लक्ष्य लेकर चलता है वैसे ही पूज्य गुरुदेव ने कर्म रुपी शत्रुओं को परास्त करने का प्रबल पुरुषार्थ किया है व एकांत मोक्ष लक्ष्य लेकर साधना की है व ऐसी ही साधना करने की प्रेरणा अन्य को भी दी है इस हेतु उन्होने 12 प्रकार के तप को गुरुदेव में घटित करके बताया। इस अवसर पर दीप्तिश्रीजी म.सा. ने कहा की हर माता पिता की चाह होती है कि संतान उनका नाम रोशन करें लेकिन विरली आत्मा होती है जिनके नाम से माता पिता की पहचान होती है। गुरुदेव का जीवन भी कुछ इसी प्रकार का रहा है। उन्होने संयम मार्ग पर चलकर जिन शासन को अपने दिव्य गुणों से और अधिक प्रकाशित किया है। निंदा-प्रसंशा से परे होकर राग-द्वेष जीतने का प्रबल पुरुषार्थ किया है। आज उनके द्वारा दी गई शिक्षाओं से अनेक आत्माओं ने अपने जीवन को रूपांतरित कर लिया है। गुणानुवाद सभा में श्रीसंघ अध्यक्ष जितेंद्र घोड़ावत ने गुरुदेव के जन्म से लेकर उनके उपकारों का विस्तृत वर्णन करते हुए उन्हें सकल संघ कि ओर से श्रद्धासुमन अर्पित किए वही अणु आराधना मण्डल व मास्टर नीर जैन तथा महावीर जैन पाठशाला के बच्चों ने स्तवन के माध्यम से अपनी भावांजलि प्रस्तुत की। अखिल भारतीय चन्दना श्राविका मण्डल ने तीन दिवसीय विविध कार्यक्रम आयोजित किये  वही धर्मलता महिला मंडल ने अखंड महामंत्र नवकार के जाप का आयोजन किया जिसके लाभार्थी मयूर वर्धमान तलेरा रहे। इस अवसर पर सामूहिक तेले तप का आह्वान किया गया था जिसमें करीब 35 से अधिक संख्या में तेले व बेला तप की आराधना हुई वही अनेक श्रवाक - श्राविकाओं ने उपवास, आयम्बिल, निवि एकासन व बियासन तप की आराधना भी की वही रोजाना तीन तीन सामयिक करके गुरदेव को भेंट दी। सभी तपस्वियों के बहुमान का लाभ सुंदरलाल भरत, अनिल, ललित भंसाली परिवार ने लिया। गुणानुवाद सभा का संचालन संघ सचिव प्रदीप गादिया ने किया।

आचार्यश्री के स्मृति दिवस पर संस्थाओं के पुण्य कार्य

जानकारी देते हुए संघ प्रवक्ता पवन नाहर ने बताया कि जैनाचार्य पूज्य श्री उमेशमुनिजी म. सा. ‘‘अणु‘‘ की दसवीं पुण्य तिथि पर श्री ललित जैन नवयुवक मंडल ने स्थानीय सिविल अस्पताल व संत तेरेसा मिशन अस्पताल पहुँचकर संतरा, केले, अंगूर व बिस्किट का पैकेट वितरण किये। वही अखिल भारतीय चन्दना श्राविका मण्डल ने बामनिया गौशाला पहुँच कर पशुओं को गुड़ लापसी खिलाई। गुरुदेव के पावन स्मरण दिवस पर जैन सोशल ग्रुप ने नेत्र शिविर का आयोजन किया जिसमें करीब 30 से अधिक मोतियाबिंद के निःशुल्क ऑपरेशन की व्यवस्था दृष्टि नेत्रालय दाहोद पर करवाई वही शिविर में करीब 300 मरीज लाभान्वित हुए जरूरतमंद को संस्था ने निःशुल्क चश्मों का वितरण भी किया। अन्य संस्थाओं ने भी पुण्य कार्य कर गुरुदेव का स्मृति दिवस मनाया। इन पुनीत कार्यों में ललित जैन नवयुवक मंडल अध्यक्ष रवि लोढ़ा, सचिव संदीप शाहजी, कोषाध्यक्ष अखिलेश श्रीमाल, जैन सोशल ग्रुप के हितेश शाहजी, महावीर गादिया, अमित शाहजी, मिलिंद कोठारी के साथ डॉ मनीष दुबे व सीस्टर दिव्या का सहयोग  सराहनीय रहा।


समयावधि पत्रों की समीक्षा बैठक आयोजित, सीएम हेल्पलाईन समाधान शिकायत लंबित होने पर सख्त कार्यवाही -कलेक्टर


झाबुआ । कलेक्टर श्री सोमेश मिश्रा की अध्यक्षता में समयावधि पत्र (टीएल) की बैठक आयोजित की गई। कलेक्टर महोदय द्वारा बैठक में निर्देश दिए कि सीएम हेल्पलाईन के प्रकरणो में यदि कोई भी शिकायत विभाग में समाधान पोर्टल पर लंबित रहती है तो इसके लिए सख्त कार्यवाही की जावेगी। आज बैठक मंे संबंधित के विरूद्ध नोटिस (एस.सी.एन.) जारी करने के निर्देश दिए। सीएम हेल्पलाइन में एल-1 एल-2 पर हि निराकरण संतुष्टिपूर्वक कर देवें। सीएम हेल्पलाईन के प्रकरणों का निराकरण अधिकतम 07 दिवस के अन्दर किया जाना सुनिश्चित किया जावे। आगामी दो दिवस में समाधान के अंदर प्राप्त शिकायतों का निराकरण सुनिश्चित करें इसके अतिरिक्त जनसुनवाई, माननीय मुख्यमंत्री जी को प्रस्तुत आवेदन पत्रों कि समीक्षा कि जावेगी। सभी जिला अधिकारियों को निर्देश दिये कि आगामी सप्ताह मे सभी प्रकरणों का संतुष्टिपूर्वक निराकरण किया जाना सुनिश्चित करें। बहादुर सागर तालाब को पूर्ण स्वच्छ करने के लिए आगामी दो-तीन दिन में कार्यवाही पूर्ण करने के निर्देश दिए गए थे। आज कलेक्टर महोदय सायं बहादूर सागर तालाब में साफ-सफाई की व्यवस्था का जायजा लेने पहुचेंगे। कलेक्टर महोदय इस सप्ताह से निरंतर शहर के वार्डो का निरीक्षण एवं व्यवस्था का जायजा लेगें। अनुविभागीय अधिकारी राजस्व एवं नगर पालिका अधिकारी शहर मे हो रहे अतिक्रमण पर तत्काल कार्यवाही करे। कृषि विभाग फसल बीमा की राशि के भुगतान में प्राप्त सीएम हेल्पलाइन का निराकरण तत्काल किया जाना सुनिश्चित करें। जिले में संजीवनी हेल्थ कैंप लगाया जाएगा जो बुधवार और शनिवार को लगाए जाएंगे, व्यवस्था ऐसी सुनिश्चित की जाए कि आसपास की 4 ग्राम पंचायत इसमें शामिल हो इसमें सभी प्रकार की जांच वहां के लोगों की की जाए जिसमें सिकल सेल, एनीमिया, मलेरिया, हेपिटाइटिस, ब्लड टेस्ट, ब्लड प्रेशर ,टीका लगाया या नहीं, गर्भवती माताओं को समय पर टीका लगा या नहीं, किशोरी बालिकाओं के स्वास्थ्य के संबंध में यह आयोजन किया जाएगा। इसकी व्यापक रूप से मुनादी भी की जाएगी। जिस परिवार में एक आयुष्मान कार्ड है, वहां पर सभी सदस्यों के आयुष्मान कार्ड बनवा दिए जाएं। सभी जगह आदर्श खरीदी केंद्र बनाया जाए जहां उपार्जन के संबंध में सभी सुविधा उपलब्ध हो, बैठने की बेहतर व्यवस्था हो ,शुद्ध पेयजल भी उपलब्ध हो। गर्मी को देखते हुए पीएचई  देखें कि जहां पर वाटर लेवल कम हुए वहां पर हैंडपंप का खनन पर प्रतिबंध लगा दिया गया है। इसकी सतत मानिटरिंग करें। अवैध अतिक्रमण के लिए एक दस्ता प्रथक से बनाया जाए। ग्रामीण क्षेत्रों में सीईओ जनपद पंचायत को बनाया जाए और शहरी क्षेत्र में मुख्य का नगर पालिका अधिकारी के निर्देश में बनाया गया है। जिस पर राजस्व अमला तत्काल कार्यवाही भी करें। जिले में जो भी जर्जर मकान हो चुके हैं उन्हें तत्काल डिस्मेंटल किया जाए। बरसात के पूर्व यह कार्यवाही पूरा हो जाना चाहिए। दुकानों के बाहर सामग्री रखे जाने पर तत्काल कार्यवाही करें ,इससे सड़क बाधित होती है, इसके अतिरिक्त बस स्टेशन एवं आवागमन रोड पर अवैध रूप से सब्जी या फल विक्रेता अपनी दुकान लगाए रहते हैं, जिससे आवागमन बाधित होता ही है साथ ही दुर्घटना का खतरा बना रहता है। इसलिए यहां के अतिक्रमण तत्काल हटाए जाएं और जो लगा रहे हैं, उन पर कार्रवाई करें जुर्माना जी करें। मेरे भ्रमण के दौरान यदि इस तरह की अव्यवस्था दिखती है तो संबंधित सीईओ जनपद पंचायत या नगरपालिका अधिकारी के विरुद्ध कार्रवाई की जाएगी। न्यायालय प्रकरण में समय सीमा में विभाग अपना जवाब प्रस्तुत कर दें। पिटोल बैरियर से लेकर  मछलियां  घाट तक टैंकर से सीधे डीजल की बिक्री होगी तो संबंधित के विरुद्ध सख्त कार्रवाई की जाएगी। सीएम हेल्पलाईन के यदि 500 दिवस से उपर एवं 300 दिवस एवं 100 दिवस से अधिक लंबित प्रकरणों का तत्काल निराकरण सुनिश्चित करे। लंबित प्रकरणों की जानकारी भी अनिवार्य रूप से लावे एवं प्रतिवेदन को पोर्टल पर दर्ज करे। सीएम हेल्पलाईन के प्रकरणों में पूर्ण गम्भीरता का पालन करते हुए एल-1 पर ही सात दिवस के अंदर निराकरण किये जाने के निर्देश दिए गए। आगंनवाडी केन्द्रो को जिन विभाग के अधिकारियों के द्वारा गोद लिया गया है वहां पर बच्चों के पोषण का विशेष ध्यान रखें। भू-माफिया, शराब माफिया एवं मिलावट खोरों, खनिज माफिया के लिए निरंतर छापामार कार्यवाही की जावे। फसलों को किसान के आधार से लिंक करवाए। जिससे किसानों को अपनी फसल को बचने में सुविधा हो यह कार्य गिरधावर एवं पटवारी प्रथम प्राथमिकता से करें। यह उनकी व्यक्तिगत जवाबदारी है। दतिया मॉडल पर कार्यवाही सुनिश्चित करें। कड़कनाथ मुर्गो की आनलाइन खरीदी का पोर्टल व्यवस्थित करें। केवीके से सम्पर्क करें। इसमें वेंडर को भी जोडे एवं डिस्टीबुटर से भी समन्वय करें। बैठक में पोषण पुर्नवास केन्द्र (एन.आर.सी.) पर बच्चों की भर्ती शतप्रतिशत हो जिला कार्यक्रम अधिकारी महिला एवं बाल विकास विभाग इसकी सतत समीक्षा करें एवं जिला अधिकारी भी अपने भ्रमण के दौरान इन एन.आर.सी. सेंटर का अवलोकन करें। बच्चों की माता को भी उचित पोषण आहार उपलब्ध हो, ऐसी सुविधा सुनिश्चित करें। किसी भी प्रकार की लापरवाही होने पर सख्त कार्यवाही की जाएगी। जल जीवन मिशन के अंतर्गत कार्यो की सतत समीक्षा की जावे। अनुविभागीय अधिकारी राजस्व एवं तहसीलदार कार्यो का सत्यापन करे। सत्यापन करते समय यह देखे की जल जीवन मिशन का जहां पर कार्य लिया गया है। वहां पर जल स्त्रोत बेहतर हो, पानी की टंकी को देखे, पाईप लाईन को देखे, नल से पानी दिया जा रहा है या नहीं घरो में नल पर टोटी लगी हो, पानी व्यर्थ नहीं बह रहा हो, बिजली की पर्याप्त व्यवस्था हो। स्कूल वैक्सीनेशन की स्थिति अत्यन्त खराब है। राणापुर क्षेत्र में अच्छा काम हुआ है। 12 से 14 वर्ष के बच्चों को आगामी दो दिवस में कम से कम 50 प्रतिशत टीकाकरण हो जाए। जिले में संजीवनी हेल्प कैंप का आयोजन किया जाए। 375 ग्राम पंचायतों में लगभग 45 दिवस में हेल्थ कैंप पूर्ण हो जाए। बैठक में मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत श्री सिद्धार्थ जैन, अपर कलेक्टर श्री जे.एस.बघेल, संयुक्त कलेक्टर श्री सुनील झा, अनुविभागीय अधिकारी राजस्व पेटलावद श्री शिशिर गेमावत, अनुविभागीय अधिकारी राजस्व झाबुआ श्री एल.एन.गर्ग, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. श्री जे.पी.एस.ठाकुर, अतिरिक्ति मुख्य कार्यापालन अधिकारी जिला पंचायत श्री दिनेश वर्मा, एवं समस्त जिला अधिकारी उपस्थित थे। थांदला श्री अनिल भाना, मेघनगर श्रीमती अंकिता प्रजापति ,समस्त मुख्य कार्यपालन अधिकारी जनपद पंचायत समस्त तहसीलदार समस्त बीएमओ समस्त सीएमओ, समस्त जिला अधिकारी वीडियो कान्फ्रेेसिंग के माध्यम जनपद स्तर के अधिकारी जुडे थे।

 

सर्प काटने से मृत्यु हो जाने पर मृतक के परिजन को आर्थिक अनुदान सहायता राशि स्वीकृत

 

झाबुआ। अनुविभागीय अधिकारी (रा.) अनुविभाग मेघनगर के आदेशानुसार मृतिका चम्पा पिता मईड़ा निवासी सेमलिया व मृतक विजय पिता रतनसिंह चारेल निवासी रूपाखेड़ा तहसील मेघनगर की सर्प काटने से मृत्यु हो जाने पर मृतक के परिजन को अर्थिक सहायता राशि स्वीकृत की गई है। मृतक चम्पा पिता कालिया मईड़ा के वारिसान उसके पिता कालिया पिता हरसिंह मईड़ा निवासी सेमलिया तहसील मेघनगर को राजस्व के प्रावधानों के तहत 4 लाख रूपए मात्र की आर्थिक सहायता राशि स्वीकृत की जाती है। मृतक विजय पिता रतनसिंह चारेल के वारिसान उसके पिता रतनसिंह पिता हुकिया चारेल निवासी रूपाखेड़ा तहसील मेघनगर को राजस्व के प्रवधानों के तहत 4 लाख रूपए मात्र की आर्थिक अनुदान सहायता राशि स्वीकृत की जाती है।


अनुसूचित जाति एवं जनजातिय अत्याचार निवारण अधिनियम के अंतर्गत अत्याचार से पीडित व्यक्तियों को राहत राशि 4 लाख रूपए स्वीकृत

 

झाबुआ। जिला स्तरीय समीति के अनुमोदन के आधार पर सहायक आयुक्त जनजातीय कार्य विभाग जिला झाबुआ के आदेशानुसार म.प्र. शासन आदिम जाति अनुसूचित जाति कल्याण विभाग के द्वारा प्रसारित आकस्मिकता योजना के प्रावधानों के अनुसार कार्यालय सहायक आयुक्त अनुसूचित जाति एंव जनजातीय कार्य विभाग,जिला भोपाल म.प्र. से प्राप्त प्रतिवेदन अनुसार जिला स्तरीय समिति की अनुशंसा पर अनुसूचित जाति एवं जनजातिय अत्याचार निवारण अधिनियम के अंतर्गत अत्याचार से पीडित व्यक्तियों को आकस्मिकता योजना नियम 1995 के नियम 10 एवं संशोधित नियम 2014-15 तथा संशोधित नियम 2016 अंतर्गत प्रदत्त शक्तियों का उपयोग करते हुए पीड़ित व्यक्ति सेमिका कटारा पिता प्रसाद कटारा निवासी बैरागढ़ भोपाल ;म.प्र.द्ध एवं मूल निवासी ग्राम झावलिया पोस्ट मोहनकोट,तहसील पेटलावद जिला झाबुआ को 4 लाख रूपए की राहत राशि स्वीकृत की गई है। पीड़िता को माननीय न्यायालय में आरोप पत्र ;चालानद्ध भेज दिए जाने पर 25 प्रतिशत द्वितीय किश्त 1 लाख रूपए संबंधित पीड़ित के बैंक खाते में ई-पेमेन्ट के माध्यम से स्वीकृती प्रदान की जाती है।


संजीवनी हेल्थ कैम्प लगाए जाएगें, जिले की सभी ग्राम पंचायतों में कलस्टर स्तर पर यह कैंप आयोजित होंगे

  • आरोग्य झाबुआ एक अभिनव पहल- कलेक्टर

झाबुआ। आदिवासी बाहुल्य जिला जहां 90 प्रतिशत आदिवासी जनसंख्या निवास करती है। जिले में स्वास्थ्य सूचकांको की स्थिति अत्यंत चिंताजनक है। इसे सुधार हेतु ‘‘संजीवनी हेल्थ कैम्प‘‘ कलेक्टर श्री सोमेश मिश्रा के द्वारा एक अभिनव पहल प्रारंभ की है जिसके तहत हितग्राहियों की समस्याओं को दूर करते हुए प्रत्येक गांव में शिविर का आयोजन किया जागकर अन्य सहायक सेवाओं का भी समेकित संजीवनी हेल्थ कैंप में किया जाएगा। शासन की महत्वपूर्ण योजना आयुष्मान निराम्य भारत को हितग्राही का चिन्हांकन इस कैम्प की विशेषता रहेगी। वैक्सीनेशन तथा आयुष शिविर की उपलब्धता रहेगी। इस कैम्प में संजीवनी कार्ड का वितरण होगा। जिले में प्रत्येक बुधवार एवं शनिवार को आयोजित किए जाएगे। जिसमें एम.बी.बी.एस. तथा सी.एच. आफिसर उपस्थित रहेंगे। प्रत्येक विकास खंड में एक दिवस में 4 कैम्प कुल 24 कैम्प आयोजित होगें। प्रत्येक सप्ताह में कुल 48 ग्राम पंचायतों में कैम्प का आयोजन किया जाएगा। कैम्प अंतर्गत 0-6 वर्ष के बच्चे एवं उनकी माताओं, गर्भवती माताओं तथा किशोर बालक, बालिकाओं का स्वास्थ्य परिक्षण किया जाएगा। इस कैम्प में स्वास्थ्य परिक्षण अंतर्गत एच.बी. की जांच, हेपेटाईटीस-बी, आयरन की कमी, शुगर, सिकलसेल एनीमिया, ब्लड प्रेसर आदि की जांच की जाएगी। ग्राम पंचायत स्तर पर संजीवनी रजिस्टर का संधारण होगा। इसके अंतर्गत स्वास्थ्य विभाग, महिला एवं बाल विकास विभाग, पंचायत विभाग, आदिवासी विकास विभाग, राजस्व विभाग को दायित्व सौपा गया है। कलेक्टर स्वयं संजीवनी कैम्प की सतत मानिटरिंग एवं व्यवस्था का जायजा लेगें। विभागों के अधिकारियों एवं कर्मचारियों का स्वास्थ्य परीक्षण के लिए भी यह कैम्प आयोजित होगा।


 संजीवनी हेल्थ कैम्प में पत्रकारों का स्वास्थ्य परीक्षण होगा, जिला स्तर, विकास खण्ड स्तर एवं ग्राम पंचायत स्तर पर पत्रकारों के स्वास्थ्य परीक्षण के निर्देश जारी किए गए

  • आरोग्य झाबुआ एक अभिनव पहल- कलेक्टर

झाबुआ। ‘‘संजीवनी हेल्थ कैम्प‘‘ कलेक्टर श्री सोमेश मिश्रा के द्वारा एक अभिनव पहल प्रारंभ की है जिसके तहत जिला स्तर, विकास खण्ड स्तर एवं ग्राम पंचायत स्तर पर पत्रकारों के स्वास्थ्य परिक्षण के निर्देश जारी किए गए है। शुक्रवार दिनांक 1 अप्रैल 2022 को प्रातः 10 बजे से दोपहर 2 बजे तक जिला स्तर पर जिला अस्पताल झाबुआ में, विकास खण्ड स्तर पर सिविल अस्पताल में एवं ग्राम पंचायत स्तर पर पीएससी सेंटर पर प्रिन्ट मीडिया एवं इलेक्ट्रानिक मीडिया से जुडे प्रतिनिधियों का स्वास्थ्य परीक्षण हेतु संजीवनी कैम्प लगाया जा रहा है। कलेक्टर महोदय द्वारा आज टीएल की बैठक में यह निर्देश दिए है। स्वास्थ्य विभाग से इस संबंध में निर्देश जारी किए गए है। इस कैम्प में स्वास्थ्य परीक्षण अंतर्गत एच.बी. की जांच, हेपेटाईटीस-बी, आयरन की कमी, शुगर, सिकलसेल एनीमिया, ब्लड प्रेसर आदि की जांच की जाएगी। कलेक्टर स्वयं संजीवनी कैम्प की सतत मानिटरिंग एवं व्यवस्था का जायजा लेगें। इस संबंध में सभी पत्रकारगणों से अनुरोध है कि अपना निःशुल्क स्वास्थ्य परीक्षण इस दिनांक को उपस्थित रहकर करवाए।


श्रीमती सब्बु पति श्री गेंदालाल डामोर,प्रधान प्रशासकीय समिति ग्राम पंचायत,काकनवानी,ज.प.थांदला जिला झाबुआ को पद से पृथक किया गया।


झाबुआ। कलेक्टर श्री सोमेश मिश्रा के आदेशानुसार माननीय मुख्यमंत्री जी म.प्र. शासन,निवास कार्यालय से प्राप्त शिकायत के माध्यम से शिकायतकर्ता श्री मकन पुत्र सुरपाल डामोर निवासी काकनवानी तहसील थांदला जिला झाबुआ द्वारा ग्राम पंचायत, काकनवानी से वर्तमान सरपंच द्वारा किये जा रहे भ्रष्टाचार एवं अनियमितता की जांच की मांग किए जाने पर शिकायत की जांच मुख्य कार्यपालन अधिकारी, जनपद पंचायत ,थांदला से कराई गई। जिसमें श्रीमती डामोर को कारण बताओं सूचना पत्र जारी किया गया था। श्रीमती डामोर द्वारा प्रस्तुत प्रतिउत्त्र, असामाधानकारक एवं असंतोषजनक पाये जाने पर उन्हें पदीय कर्तव्य के निर्वहन का दोषी पाये जाने से तत्काल प्रभाव से प्रधान, प्रशासकीय समिति, ग्राम पंचायत काकनवानी, जनपद पंचायत थांदला,जिला झाबुआ के पद से पृथ्क किया जाता है। उक्त आदेश तत्काल प्रभाव से लागू।


अब व्यवसाय एवं वाहन सेवा हेतु योजना प्रारंभ, शिक्षित बेरोजगार युवाओं हेतु नवीन योजना

  • मुख्यमंत्री उद्यम क्रान्ति योजना अंतर्गत आवेदन आंमत्रित

झाबुआ। मध्यप्रदेश शासन द्वारा शिक्षित बेरोजगार युवाओं को स्वंय का उद्योग/सेवा/व्यवसाय स्थापित कर आत्मनिर्भर बनने हेतु ‘‘मुख्यमंत्री उद्यम क्रान्ति योजना‘‘ का प्रारम्भ की किया गया है। योजना अंतर्गत विनिर्माण हेतु 1.00 लाख से 50.00 परियोजना लागत के तथा सेवा एवं व्यवसाय गतिविधियों हेतु 1.00 से 25.00 लाख रूपये तक का ऋण बैकों के माध्यम से उपलब्ध कराया जा सकेगा ।  मध्यप्रदेश का मूल निवासी, 12 वी कक्षा उतीर्ण, 18 से 40 वर्ष तक की आयु वर्ग, परिवार की वार्षिक आय 12.00 लाख से अधिक न हो आवेदक योजना अंतर्गत पात्र होगें । योजना अंतर्गत वितरित ऋण पर 3 प्रतिशत ब्याज अनुदान एवं गांरटी शुल्क की प्रतिपुर्ति अधिकतम 7 वर्षो तक देय होगी । इच्छुक आवेदक ीजजचेरूध्ध्ेंउंेजण्उचवदसपदमण्हवअण्पदपोर्टल पर अपना आवेदन ऑनलाईन कर सकते है । अधिक जानकारी के लिए कार्यालय जिला व्यापार एवं उद्योग केन्द्र, झाबुआ में स्वयं अथवा दूरभाष क्रंमाक 07392-243659 पर सम्पर्क कर सकते है । 


कलेक्टर श्री सोमेश मिश्रा के द्वारा आज दिनंाक 28 मार्च 2022 को रबी विपणन वर्ष 2022-23 में गेहूॅ, चने की खरीदी हेतु वेयरहाउस झाबुआ स्थित केन्द्र का निरीक्षण किया गया एवं आवश्यक तेैयारियो की समीक्षा की गई


झाबुआ । कलेक्टर श्री सोमेश मिश्रा के द्वारा आज दिनंाक 28 मार्च 2022 को रबी विपणन वर्ष 2022-23 में गेहूॅ, चने की खरीदी हेतु वेयरहाउस झाबुआ स्थित केन्द्र का निरीक्षण किया गया एवं आवश्यक तेैयारियो की समीक्षा की गई, निरीक्षण के समय केन्द्र पर विक्रय करने आये 02 कृषको का हार पहनाकर स्वागत किया गया, झाबुआ जिले में दिनांक 25 मार्च 2022 से चने की एवं 28 मार्च से गेहुॅ की खरीदी प्रारंभ कर दी गई है । आज दोपहर तक 06 कृषको द्वारा उपार्जन केन्द्र पर गेहुॅ बेचा गया । किसानों को गेहूॅ खरीदी एवं भुगतान में किसी प्रकार की कोई कठिनाई ना हो इस हेतु संबंधित अधिकारियों को दायित्व सौंपे गये इस वर्ष झाबुआ जिले में गेहूॅ खरीदी हेतु 23 उपार्जन केन्द्र निर्धारित किए गये है एवं 9753  कृषको द्वारा गेहूॅ खरीदी एवं 915 चना खरीदी हेतु पंजीयन कराया गया सभी उपार्जन केन्द्रो पर कृषकों की सुविधा हेतु आवश्यक व्यवस्थाए की गई है। सभी कृषकों से अनुरोध किया गया है। उपार्जन केन्द्रो पर गुणवत्तापूर्ण एवं साफ-सुथरा गेहूॅ विक्रय हेतु लाये ताकि अनावश्यक असुविधा ना हो। प्रत्येक उपार्जन केन्द्र पर गेहूॅ की गुणवत्ता परिक्षण एवं किसानों को कोई असुविधा ना हो इस व्वस्था हेतु केन्द्रवार नोडल अधिकारी की व्यवस्था की गई। गेहु के परिक्षण के पश्चात ही खरीदी कि जावेगी निरीक्षण समय कलेक्टर महोदय के साथ श्री एल.एन. गर्ग अनुविभागीय अधिकारी राजस्व, जिला आपूर्ति अधिकारी एम.के. त्यागी, जिला सहकारी बैंक झाबुआ महा प्रंबधक श्री वसुनिया, उपायुक्त सहकारिता श्री अम्बरिश वैद्य तथा जिले में उर्पाजन के नोडल अधिकारी श्री बवन मोर्य खाद्य विभाग के कनिष्ट आपुर्ति अधिकारी आशिष आजाद, शंकाष परमार  एवं नागरीक आपुर्ति निगम के प्रबन्घक श्री सुशील दलाल  उपस्थित रहे। कलेक्टर महोदय के द्वारा सभी कृषको से अपील की है कि राज्य शासन की किसान कल्याणकारी योजना का लाभ लेते हुये अपने गेहु का बिक्रय उपार्जन केन्द्रो पर करे।


बहादुर सागर तालाब एवं स्लाटर हाउस के लिए कलेक्टर पहुंचे


झाबुआ। कलेक्टर श्री सोमेश मिश्रा बहादुर सागर तालाब के दूषित जल निकासी के लिए आज बहादुर सागर तालाब का जायजा लिया। यहां पर कार्यापालन यंत्री लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी श्री जितेन्द्र मावी, एसडीओ पीएचई एवं मुख्य नगरपालिका अधिकारी श्री एल.एस.डोडिया, अनुविभागीय अधिकारी राजस्व श्री एल.एन.गर्ग, तहसीलदार श्री आशिष राठौर उपस्थित थे। जिसमें तालाब का सम्पूर्ण दूषित जल को तत्काल हटाए जाने के निर्देश दिए। कलेक्टर महोदय द्वारा स्लाटर हाउस के लिए स्थान का निरीक्षण करने रतनपुरा भी पहुंचे यहां पर पहाडी एवं समीप कॉलेज एवं हाउसिंग बोर्ड कॉलोनी के कारण यह स्थान उपयुक्त नहीं होने के कारण सीएमओ को निर्देश दिए की अन्य जगह की तलाश की जाए।


प्रधानमंत्री श्री मोदी 29 मार्च को प्रदेश के 5.5 लाख हितग्राहियों को वर्चुअली कराएँगे गृह प्रवेश

  • मुख्यमंत्री श्री चौहान छतरपुर से होंगे कार्यक्रम में शामिल, आवासों के गृहप्रवेशम् कार्यक्रम में मंत्री, सांसद, विधायक, स्थानीय जनप्रतिनिधियों सहित हितग्राही उपस्थित रहेंगे

झाबुआ। प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी 29 मार्च को प्रदेश के प्रधानमंत्री आवास योजना (ग्रामीण) के 5.5 लाख हितग्राहियों को वर्चुअली गृह प्रवेश कराएँगे। कार्यक्रम का आयोजन वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से वर्चुअली होगा। मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान छतरपुर में गृह प्रवेश कार्यक्रम में शामिल होंगे तथा वर्चुअली वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से जुड़ेंगे। इसके साथ ही जिले में मंत्री, सांसद, विधायक, स्थानीय जनप्रतिनिधी मौजूद रहेंगे।     कार्यक्रम का सीधा प्रसारण दूरदर्शन, अन्य चैनल्स, वेब कास्टिंग एवं सोशल मीडिया के प्लेटफार्म्स के माध्यम से दोपहर 12.30 बजे से होगा। इस अवसर पर प्रधानमंत्री आवास (ग्रामीण) से संबंधित एक डॉक्यूमेंट्री फिल्म का प्रदर्शन भी किया जाएगा। इस संबंध में जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री सिद्धार्थ जैन द्वारा जिले के सभी ग्राम स्तरिय अधिकारी, कर्मचारी, ग्रामीणजन, पंचायत पदाधिकारीयों, जनप्रतिनिधियों का अधिक से अधिक रजिस्ट्रेशन कराए जाने का अनुरोध किया गया है। इस संबंध में कार्यालय जिला पंचायत झाबुआ का आदेश दिनांक 28 मार्च को जिला स्तर का कार्यक्रम स्थल जिला पंचायत नवीन सभागृह जिला न्यायालय के सामने झाबुआ नियत किया गया है। कार्यक्रम 29 मार्च को प्रातः 11 बजे से गृहप्रवेश कार्यक्रम प्रारम्भ होगा।

कोई टिप्पणी नहीं: