मैंने सौ टेस्ट खेले, अगली पीढ़ी मेरे करियर से यह सीख ले सकती है : कोहली - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शुक्रवार, 4 मार्च 2022

मैंने सौ टेस्ट खेले, अगली पीढ़ी मेरे करियर से यह सीख ले सकती है : कोहली

kohli-played-100-test-cricket
मोहाली, चार मार्च, सौ टेस्ट खेलने वाला सिर्फ 12वां भारतीय क्रिकेटर बनने की उपलब्धि हासिल करने वाले विराट कोहली ने शुक्रवार को कहा कि वह चाहते हैं कि ‘अगली पीढ़ी’ इस तथ्य से प्रेरणा ले कि वह बेहद व्यस्त अंतरराष्ट्रीय कार्यक्रम के बीच तीनों प्रारूपों में खेलने के बावजूद यह उपलब्धि हासिल कर पाए। भारतीय क्रिकेट बोर्ड (बीसीसीआई) ने इस स्टार क्रिकेटर को शुक्रवार को यहां उनके 100वें टेस्ट के मौके पर सम्मानित किया। कोहली ने यहां श्रीलंका के खिलाफ पहले टेस्ट के लिए उतरकर यह उपलब्धि हासिल की। मुख्य कोच राहुल द्रविड़ द्वारा सम्मानित किए जाने के बाद कोहली ने कहा, ‘‘वर्तमान समय में हम तीनों प्रारूपों और आईपीएल में जितना क्रिकेट खेल रहे हैं उसे देखते हुए अगली पीढ़ी मेरे से यह सीख ले सकती है कि मैंने शीर्ष प्रारूप में 100 टेस्ट मैच खेले।’’


जैविक रूप से सुरक्षित माहौल से जुड़ी पाबंदियों के कारण द्रविड़ ने कोहली को स्मारिका कैप और चमचमाता स्मृति चिन्ह सौंपा। इस दौरान कोहली की अभिनेत्री पत्नी अनुष्का शर्मा और भाई विकास कोहली भी स्टैंड में मौजूद थे। कोहली ने कहा, ‘‘यह मेरे लिए विशेष लम्हा है। मेरी पत्नी यहां है और मेरा भाई भी। सभी को काफी गर्व है। यह टीम खेल है और यह आपके बिना संभव नहीं हो पाता।’’ कोहली ने कहा, ‘‘शुरुआत में भारतीय क्रिकेट का प्रतिनिधित्व करने का मौका मुझे देने के लिए बीसीसीआई को भी धन्यवाद और इसके बाद सब कुछ लगातार मजबूत होता चला गया।’’ उन्होंन कहा, ‘‘मैं इसे (सम्मान) इससे बेहतर इंसान से नहीं ले सकता था, मेरे बचपन के नायकों में से एक। मेरे घर में अब भी अंडर-15 के समय की राष्ट्रीय क्रिकेट अकादमी की तस्वीर है जहां मैं आपको देख रहा हूं और आपके साथ तस्वीर खिंचवा रहा हूं और मैंने आज अपनी 100वीं टेस्ट कैप आपसे ली। बेशक यह शानदार सफर रहा और उम्मीद करता हूं कि यह आगे भी जारी रहेगा।’’ बीसीसीआई के पूर्व अध्यक्ष सौरव गांगुली, सचिव जय शाह, कोषाध्यक्ष अरूण धूमल और उपाध्यक्ष राजीव शुक्ला भी इस दौरान मौजूद थे। कोच द्रविड़ ने लंबे समय तक खेलने की कोहली की क्षमता की सराहना की और उसे ‘दोगुना करने’ को कहा।


भारतीय कोच ने कहा, ‘‘विराट, मुझे यकीन है कि जब एक बच्चे के रूप में आपने शुरुआत की होगी तो आप भारत के लिए एक टेस्ट मैच खेलना चाहते होंगे और आज आप 100वें टेस्ट की दहलीज पर खड़े हैं।’’ उन्होंने कहा, ‘‘यह हमारे खेल की महान चीजों पसीना बहाना, अनुशासन, हौसले, कौशल, प्रतिबद्धता, इच्छा, एकाग्रता का साक्षी है, आपमें ये सभी चीजें हैं। आपका सफर शानदार रहा। आपने स्तर और उत्कृष्टता के साथ ऐसा किया।’’ कोहली यह उपलब्धि हासिल करने वाले 12वें भारतीय क्रिकेटर हैं। उनसे पहले पहले सुनील गावस्कर, दिलीप वेंगसरकर, कपिल देव, सचिन तेंदुलकर, अनिल कुंबले, राहुल द्रविड़, वीवीएस लक्ष्मण, वीरेंद्र सहवाग, सौरव गांगुली, हरभजन सिंह और इशांत शर्मा 100 टेस्ट खेलने की उपलब्धि हासिल कर चुके हैं। द्रविड़ ने कहा, ‘‘आपको सिर्फ 100वें टेस्ट मैच में खेलने पर ही नहीं बल्कि अपने शानदार सफर पर भी बेहद गर्व होना चाहिए। इस शानदार उपलब्धि पर आपको और आपके परिवार को बधाई।’’ उन्होंने कहा, ‘‘आप इसके हकदार थे, आपने इसे हासिल किया और उम्मीद करता हूं कि यह आने वाली कई चीजों की सिर्फ शुरुआत होगी। जैसा कि हम ड्रेसिंग रूम में कहते हैं इसे दोगुना करो।’’ पिछले कुछ दिनों से कोहली को बधाई देने वालों का तांता लगा है और शुक्रवार सुबह बीसीसीआई सचिव जय शाह ने ट्वीट करके इस पूर्व कप्तान को ऐसा खिलाड़ी करार दिया जिसने टेस्ट क्रिकेट को नए सिरे से परिभाषित किया। उन्होंने कहा, ‘‘उनकी यात्रा भावना, जज्बे, प्रतिबद्धता और समर्पण का संयोजन है। टेस्ट क्रिकेट को नए सिरे से परिभाषित करने और इसमें नया जीवन डालने वाले व्यक्ति विराट कोहली को एतिहासिक टेस्ट के लिए बधाई। चलिए एक साथ मिलकर जश्न मनाएं। ’’

कोई टिप्पणी नहीं: