सीहोर (मध्य प्रदेश) की खबर 28 मार्च - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

सोमवार, 28 मार्च 2022

सीहोर (मध्य प्रदेश) की खबर 28 मार्च

फुटबॉल की प्रतिभाओं ने देश में सीहोर जिले को गौरवान्वित किया-कलेक्टर चंद्रमोहन ठाकुर


sehore news
सीहोर। सोमवार को जिला फुटबाल एसोसिएशन के तत्वाधान में शहर के चर्च मैदान पर फुटबाल प्रशिक्षण शिविर का शुभारंभ कलेक्टर चंद्रमोहन ठाकुर के द्वारा किया गया। इस मौके पर उन्होंने कहा कि सफलता का कोई शार्टकट नहीं होता है, सफलता कठिन परिश्रम के बाद ही मिलती है। शहर की अनेक प्रतिभाओं ने कठिन परिश्रम से हमारे जिले का नाम रोशन किया है। फुटबॉल ग्राउंड को देखकर प्रसन्न हुए, इस प्रशिक्षण शिविर का पूरी तैयारी के साथ शुभारंभ किया, कलेक्टर श्री ठाकुर ने पूर्व जिला खेल अधिकारी स्वर्गीय आनंद स्वामी के चित्र पर पुष्प एवं दीप प्रज्वलित किया,उसके पश्चात नेशनल बालिका खिलाड़ियों द्वारा तिलक कर पुष्प गुच्छ भेंट किया। उन्होंने अपने उद्बोधन मैं खिलाड़ियों को संबोधित करते हुए फुटबाल के इस प्रसिद्ध ग्राउंड पर छोटे-छोटे से खिलाड़ियों को देखकर मुझे बहुत प्रसन्नता हो रही है जिला फुटबाल एसोसिएशन खिलाड़ियों को निरंतर तराश रहा है मुझे गर्व है हमारे जिले की बालिका खिलाड़ी ने जिले को गौरवान्वित किया है ललिता सैनी, शिवांग्नी गौर कोच एवं नेशनल रेफरी ज्योति गौर, रूपा सैनी ने शहर को गौरवान्वित किया है, फुटबॉल की इंटरनेशनल एवं नेशनल खिलाड़ी इस ग्राउंड पर  तराशे से जाते हैं, आप सब इस कैंप को शुरू से आखरी तक ज्वाइन करें और जिले को गौरवान्वित करें जिला फुटबॉल एसोसिएशन के उपाध्यक्ष सुदीप व्यास, प्रशिक्षक अताउल्लाह खान, जिला फुटबॉल संघ के सचिव मनोज कनौजिया, राष्ट्रीय खिलाड़ी आनंद उपाध्याय, संजय कर्मा दीपक वैष्णव  वरिष्ठ फुटबॉल खिलाड़ी दीपक बाथम,राष्ट्रीय फुटबॉल खिलाड़ी लक्ष्मी नारायण यादव, नेशनल रेफरी जोती गौर कोच मनोज अहिरवार ,शिवांगी गौर, विपिन पंवार, विजेंद्र परमार, वरिष्ठ पत्रकार प्रदीप चौहान ने पूरे कार्यक्रम का संचालन किया। 


उत्साह के साथ मनाया जा रहा गणगौर का पर्व


sehore news
सीहोर। हर साल की तरह इस साल भी शहर सहित आस-पास के क्षेत्र में समस्त समाज की महिलाओं के द्वारा सामूहिक रूप गणगौर उत्सव व पूजन अग्रवाल पंचायती भवन में कि या जा रहा है। सोमवार को क्रम अनुसार शाम को गणगौर का चल समारोह शहर के अग्रवाल पंचायती भवन से निकाला गया, जो शहर के प्रमुख मार्गों से होते हुए  अमर टाकिज स्थित चांडक परिवार के निवास पर पहुंचा। इस मौके पर महिलाओं ने झाले दिए। अग्रवाल महिला मंडल की अध्यक्ष ज्योति अग्रवाल अखंड सौभाग्य की कामना का पर्व गणगौर उत्सव का सिलसिला शुरू हो गया है। श्रीमती अग्रवाल ने बताया कि गणगौर पर्व का काफी महत्व है। इस दिन कु वांरी लड़कियां व विवाहित महिलाएं शिवजी और पार्वती जी की पूजा करती हैं। सुबह शहर के बड़ा बाजार में स्थित अग्रवाल धर्मशाला में विशेष पूजा अर्चना की जाती है। वहीं शाम को उत्साह के साथ चल समारोह निकाला जाता है। मंगलवार को शहर के पारस-गलाब विहार कालोनी में अंजू पिंटू अग्रवाल के निवास पर सामूहिक रूप से कार्यक्रम का आयोजन किया जाएगा। सोमवार को पूर्व जिला सहकारी केन्द्रीय बैंक अध्यक्ष श्रीमती उषा सक्सेना के अलावा पूर्व नगर पालिका अध्यक्ष श्रीमती अमिता अरोरा आदि उपस्थित थी। 150 से अधिक अग्रवाल महिला मंडल का विशेष आयोजन अग्रवाल महिला मंडल की अध्यक्ष श्रीमती अग्रवाल ने बताया कि रविवार की शाम को महिला मंडल की एक विशेष गोट का आयोजन किया गया था। कार्यक्रम में करीब 150 से अधिक महिलाओं ने पूरे उत्साह के साथ गोट मनाई। 


देशव्यापी हड़ताल के तहत टाउन हॉल के सामने दिया गया संयुक्त धरना , आशा उषा एवं पर्यवेक्षकों संयुक्त मजदूर एकता यूनियन एलआईसी यूनियन जीआईसी 

  • निजी करण की मुहिम तुरंत रोकने  देने की मांग       
                          

sehore news
सीहोर । सीटू की आशा उषा एवं पर्यवेक्षकों संयुक्त मजदूर एकता यूनियन एलआईसी यूनियन जीआईसी के साथियों ने मिलकर संयुक्त धरना दिया । धरने में मजदूर कर्मचारी विरोधी काले श्रम कानूनों को तत्काल वापस लो, गुलामी बनाने वाले कानून नहीं चलेंगे, आशा उषा आशा पर्यवेक्षकों को सरकारी कर्मचारी घोषित करो, जीने लायक न्यूनतम वेतन 26000 देना होगा,देश की सार्वजनिक नवरत्न कंपनियों का निजीकरण बंद करो, बैंकों का निजीकरण बंद करो, रेलवे का निजीकरण बंद करो, कोल इंडिया का निजीकरण बंद करो, निजी करण की मुहिम बंद करो, भीषण महंगाई पर रोक लगाओ,  महंगा डीजल महंगा पेट्रोल नहीं चलेगा, गैस की बढ़ी हुई कीमतें वापस लो, आदि गगनभेदी नारों से धरना स्थल पूरे दिन गुंजायमान रहा। सीटू यूनियन के जिला संयोजक राजीव कुमार गुप्ता ने कहा कि सरकार जनविरोधी मजदूरों की कर्मचारी विरोधी नीतियों को तत्काल वापस  ले । सरकार एलआईसी का आईपीओ लाकर जनता पालिसी धारकों कर्मचारियों के साथ धोखा कर रही है । सरकार को निजी करण की मुहिम तत्काल रोकनी चाहिए । देश भीषण बेरोजगारी से अभिशप्त है और ऐसे में सरकार चार काली श्रम संहिताएं लाकर देश की जनता को गुलामी के दलदल में ले जाने का काम किया है।  इन कानूनों को सरकार को वापस लेना ही होगा ।  मजदूर यूनियन के दिनेश मालवीय ने कहा कि कोरोनावायरस मजदूरों की कमर टूट गई और केंद्र सरकार राज्य सरकार ने मजदूरों को एक रुपए की भी सहायता नहीं दी जबकि हमारी मांग थी कि प्रतिमाह  ₹7500 मजदूरों को दिया जाए । किराए से रहने वाले मजदूरों को प्रधानमंत्री आवास योजना का लाभ देकर उनका घर बनाया जाना चाहिए ।  आशा उषा आशा पर्यवेक्षक यूनियन की शकुन पाटिल ने कहा कि हम आशाओं को जीने लायक वेतन भी मयस्सर नहीं हैं । कम से कम सरकार को हमें जीने लायक वेतन देना चाहिए । हमने कोरोना काल  में स्वास्थ्य सेवाएं देकर जनता की सबसे ज्यादा सेवा की और हम लोग ही वेतन के लिए दर-दर की ठोकरें खाने को मजबूर हैं । अन्य राज्यों में सरकार अपनी ओर से वेतन मिला कर देती है लेकिन मिशन संचालक के निर्णय को भी सरकार लागू नहीं कर रही है । हमारी मांग है कि हम पूरा काम सरकारी करते हैं और स्थाई प्रकृति का काम है इसलिए हमें सरकारी कर्मचारी घोषित किया जाए । साथ ही न्यूनतम वेतन ₹26000 किया जाए । सरकार काले कानूनों को तत्काल वापस ले ।  जब तक हमारी मांगे पूरी नहीं होंगे इंकलाब का नारा लगाते रहेंगे और संघर्ष जारी रहेगा ।  धरने में प्रमुख रूप से दिनेश मालवीय नरेश राय लखनलाल बाबूलाल गौर शकुन पाटिल कला सिलोरिया ससुखवती वर्मा हीरामणि सीता मेहरा ललिता बकोरिया शीला सुनीता कटारे अमरावती स्मिता तेकाम मनीषा मेहरा बिजली बसु सीमा अनुसूया वर्मा राजमणि सीमा नर्मदा कुशवाहा ओम प्रकाश भारती जीवन सिंह कटारे करण सिंह प्रजापति बालमुकुंद मिश्रा उमेश कुशवाहा सहित काफी संख्या में मजदूर वह कर्मचारी साथी मौजूद थे ।   


सीहोर शहर में तीन-तीन जैनाचार्यों का 50 साधु-साध्वीजी भगवंतो के साथ पदार्पण हुआ

  • ‘‘संत और संस्कृति का सदैव सम्मान होता रहा है’’- जैनाचार्य श्री मुक्तिप्रभसूरिजी

sehore news
सीहोर। मध्य प्रदेश प्रांत का सुप्रसिद्ध सीहोर शहर में श्री सीहोर जैन संघ की आग्रहपूर्ण विनंति से जिनशासन ज्योतिर्धर परमशासनप्रभावक, बीसवीं सदी के सुप्रसिद्ध महान जैनाचार्य श्री विजय रामचन्द्रसूरीश्वर जी महाराजा के संप्रदाय के तेजस्वी सितारे वरिष्ठ जैनाचार्य श्री विजयमुक्तिप्रभसूरिजी म.सा., जैनाचार्य श्री विजय अक्षयभद्र सूरिजी म.सा. एवं आचार्य श्री विजयपुण्यप्रभसूरिजी म.सा.आदि ठाणा 50 जैन साधु संत आज सोमवार 28 मार्च को मंगल आगमन निमित्त सीहोर पहुॅचा। आज सुबह इन्दौर नाका से भव्य मंगल आगवानी प्रारंभ हुई जो बस स्टेण्ड होती हुई सरस्वती विद्या मंदिर नवीन भवन में समाप्त हुई। आज सीहोर पधारे आचार्य श्री मुक्तिप्रभसूरिजी ने कहा कि आपका यह विद्या मंदिर राष्ट्रीय स्वयं संघ संचालित करता है। संघ को संत और संस्कृति दो चीज पसंद है। संत और संस्कृति का सदैव सम्मान करना चाहिये। जहॉ संत नहीं जाते वहॉ संस्कृति नहीं रहती और जहॉ संस्कृति नहीं वहॉ शांति नहीं है।


प्रभुदर्शन से परमपद मिलता है- श्री पुण्यरक्षित विजयजी

सुबह 9 बजे सरस्वती विद्या मंदिर के प्रार्थना कक्ष में पूज्य पन्यासप्रवर श्री पुण्यरक्षितविजयजी म.सा. ने प्रवचन में कहा कि अपना मंगल प्रभात प्रभुदर्शन से ही शुरु होना चाहिये। प्रभुदर्शन मंगलकारी है। प्रभुदर्शन से पाप नष्ट होता है, इसी से स्वर्ग के सुख मिलते हैं और इसी से मोक्ष की प्राप्ति होती है। उन्होने कहा कि परमात्मा का स्मरण, दर्शन सिर्फ दुख में नहीं बल्कि सुख में भी करना चाहिये। प्रभुभक्ति से आपके जीवन में शांति, मरण में समाधि, परलोक में सदगति एवं परमपद प्राप्त होता है। उन्होने कहा कि श्रावक का गुडमॉर्निंग प्रभुदर्शन से एवं गुडनाईट भी प्रभु की आरती से ही होनी चाहिये। आज प्रवचन के दौरान पूज्य गुरुभगवंत ने जैनो का शाश्वत श्री शत्रुंजय महातीर्थ में कभी भी रात्रिभोजन नहीं करना चाहिये का उपदेश दिया। इस पर सीहोर जैन संघ के उपस्थित सभी श्रावक-श्राविकाओं करबद्ध खड़े होकर सहर्ष स्वीकार करते हुए गुरुभगवंत के श्रीमुख से रात्रिभोजन त्याग का नियम स्वीकार किया। श्री सीहोर जैन संघ ने मुमुक्षु भाईयों व बहनों का सम्मान किया था तथा संघपतियों का बहुमान किया गया। ज्ञातव्य है कि यह संघ अहमदाबाद से कोलकत्ता की 2 हजार किलो मीटर की पैदल यात्रा कर रहा है। जिसके आयोजक श्री नंदप्रभा परिवार का भी सीहोर जैन संघ के सदस्यों ने बहुमान किया साथ ही नंदप्रभा परिवार की और से सीहोर संघ का अभिवादन किया। सीहोर श्रीसंघ में लगभग 12 साल बाद जैनाचार्यों का इतना विशाल परिवार एक साथ आने से सकल जैन समाज में अभूतपूर्व उत्साह है। आज बाहर से पधारे संघ ने सीहोर के सभी प्राचीन जैन मंदिरों के दर्शन किये। 30 मार्च तक संघ भोपाल श्री महावीर गिरी तीर्थ में मंगल प्रवेश करेगा। 


लंबित पेंशन प्रकरणों के शीघ्र निराकरण के कलेक्टर ने दिए निर्देश


कलेक्टर श्री चंद्र मोहन ठाकुर ने जिले के समस्त आहरण एवं संवितरण अधिकारियों को अपने डीडीओं अंतर्गत सभी लंबित पेंशन प्रकरण नियमानुसार तत्काल जिला पेंशन कार्यालय को प्रस्तुत करने के निर्देश दिए है। साथ ही उन्होंने जिला पेंशन कार्यालय से नियमित संपर्क बनाकर लंबित पेंशन प्रकरणो का निराकरण शीघ्र सुनिश्चित करने के निर्देश दिए है। कलेक्टर श्री ठाकुर ने निर्देश दिए है कि लंबित पेंशन प्रकरणों का निराकरण 31 मार्च 2022 तक नही कराए जाने पर आगामी माह का वेतन रोकने की कार्यवाही एवं कारण बताओं नोटिस जारी किया जाएगा।



खाद्य लायसेंस पंजीयन शिविर आष्टा में 16 मार्च, बुदनी और नसरूल्लागंज में 29 मार्च को


खाद्य सुरक्षा एवं मानक अधिनियम के तहत जिले में खाद्य लाइसेंस एवं पंजीयन शिविर आयोजित कर व्यापारियों का खाद्य सामग्री विक्रय के लिए पंजीयन किया जा रहा है। खाद्य लाइसेंस एवं पंजीयन शिविर 16 मार्च को कम्युनिटी हॉल आष्टा में, 29 मार्च को भागलपुरी धर्मशाला वार्ड नंबर-3 विपिन किराना के पीछे बुदनी में तथा मिलन मैरिज गार्डन वार्ड नंबर-7 अग्रवाल कॉलोनी नसरूल्लागंज में आयोजित किया जाएगा। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. सुधीर कुमार डेहरिया ने जानकरी दी कि इस शिविर में व्यापारी खाद्य सामग्री विक्रय पंजीयन के लिए दो फोटो, आधार कार्ड की फोटो एवं पंजीयन के लिए लगने वाले सभी जरूरी दस्तावेजों के साथ शिविर स्थल पर उपस्थित होकर पंजीयन करवा सकेंगे। खाद्य सुरक्षा एवं मानक अधिनियम 2006 एवं विनिमय 2011 के अंतर्गत समस्त प्रकार के छोटे-बडे़ कारोबारियों को खाद्य लायसेंस एवं पंजीयन लेना अनिवार्य है। 


टीकाकरण जागरूकता के लिए टीका रथ, बच्चों तथा गर्भवती माताओं को टीकाकरण के लिए किया जा रहा जागरूक


sehore news
बच्चों के नियमित टीकाकरण के लक्ष्य को पूरा करने तथा परिजनों को टीकाकरण के लिए प्रेरित करने टीका रथ संचालित किया जा रहा है। टीका रथ के द्वारा वैक्सीन परिवहन के दौरान लोगों को जागरूक किया जाएगा। जिला टीकाकरण अधिकारी डॉ. एमके चंदेल ने बताया कि बच्चे के जन्म के समय 3 टीके लगाए जाते हैं जिसमे पोलियो, बीसीजी और हेपेटाइटिस बी शामिल है। डेढ़ माह पर 5 टीके पोलियो-1, रोटा-1, एफआईपीवी-1, पीसीवी-1, पेंटावेलेंट 1 लगाया जाता है। ढाई माह पर 3 टीके पोलियो-2, रोटा-2, पेंटावेलेंट-2 लगाया जाता है। साढे़ 3 माह पर 5 टीकें पोलियो-3, रोटा-3, एफआईपीवी-2, पीसीवी 2, पेंटावेलेंट 3 लगाया जाता है। 09 माह पर 3 टीके जिसमें एमआर-1, पीसीवी बूस्टर तथा जेई -1 का टीका लगाया जाता है।  बारह माह के पश्चात 16 से 24 सप्ताह पर पोलियो बूस्टर, विटीमिन ए, एमआर-2, डीपीटी बूस्टर -1, जेई 2 लगाया जाता है। पाँच वर्ष की अवधि पूर्ण होने पर डीपीटी बूस्टर -2 लगाया जाता है। दस वर्ष की अवधि पूर्ण होने पर टीडी तथा 16 वर्ष की अवधि पूर्ण होने पर टीडी का टीका लगाया जाता है। पोलियो का टीका पोलियो की बीमारी से बचाव करता है। बीसीजी बचपन का क्षय रोग, हेपेटाईटिस पीलिया, रोटा का टीका रोटा वायरस दस्त, एफआईपीवी पोलियो से बचाव करता है। पीसीवी निमोनिया, पेंटावेलेंट गलघोंटू, काली खांसी, टिटनेस हिब संक्रमण एवं पीलिया, जेई दिमागी बुखार, एमआर खसरा रूबेला, डीपीटी काली खांसी, गलघोंटू, टिटनेस तथा टीडी टिटनेस व गलघोंटू की बीमारी से बचाव करता है। गर्भवती महिलाओं के लिए टीडी-1 का टीका गर्भावस्था का पता लगने पर लगाया जाता है। टीडी-2 टीडी-1 का टीका लगने के 4 सप्ताह बाद तथा टीडी बूस्टर एक खुराक यदि पिछले 3 वर्षो में गर्भावस्था के दौरान टीडी की खुराक दी गई हो तब लगाया जाता है।



फुटबॉल की प्रतिभाओं ने देश में जिले को गौरवान्वित किया-कलेक्टर श्री ठाकुर


sehore news
कलेक्टर श्री चंद्र मोहन ठाकुर ने नगर के चर्च मैदान पर फुटबॉल प्रशिक्षण शिविर का शुभारंभ किया। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि सफलता का कोई शॉर्टकट नहीं होता है, सफलता कठिन परिश्रम के बाद ही मिलती है। शहर की अनेक प्रतिभाओं ने कठिन परिश्रम से हमारे जिले का नाम रोशन किया है। उन्होंने जिला खेल अधिकारी स्व. श्री आनंद स्वामी के चित्र पर पुष्प अर्पित किया। तत्पश्चात नेशनल बालिका खिलाड़ियो ने उन्हें तिलक कर पुष्प गुच्छ भेंट किए। कलेक्टर श्री ठाकुर ने कहा कि फुटबाल के इस प्रसिद्ध ग्राउंड पर नन्हे मुन्ने प्रतिभाओं को देखकर मुझे बहुत प्रसन्नता हो रही है। जिला फुटबाल एसोसिएशन खिलाड़ियों को निरंतर तराश रहा है। मुझे गर्व है हमारे जिले की बालिका खिलाड़ियों ललिता सैनी, शिवांग्नी गौर, कोच एवं नेशनल रेफरी ज्योति गौर, रूपा सैनी ने जिले को गौरवान्वित किया है। उन्होंने कहा कि फुटबॉल के इंटरनेशनल एवं नेशनल खिलाड़ी इस ग्राउंड पर तराशे से जाते हैं, आप सब इस कैंप को शुरू से आखरी तक ज्वाइन करें। इस अवसर पर जिला फुटबॉल एसोसिएशन के उपाध्यक्ष श्री सुदीप व्यास, प्रशिक्षक अताउल्लाह खान, जिला फुटबॉल संघ के सचिव श्री मनोज कनौजिया उपस्थित थे।



नरवाई जलाने पर प्रतिबंधात्मक आदेश जारी


अपर कलेक्टर श्रीमती गुंचा सनोबर ने जिले में फसल कटाई के बाद खेतो में नरवाई जलाने पर तत्काल प्रभाव से रोक लगाई है। यह आदेश 1973 की धारा 144 के अंतर्गत जारी किया गया है। जारी आदेशानुसार संपूर्ण जिले के लिए यह प्रतिबंधात्मक आदेश जारी किया गया है कि कोई भी व्यक्ति नरवाई नहीं जलाएगा अथवा खेत में आग नहीं लगाएगा। यह आदेश संपूर्ण जिले में निवास करने वाली सभी व्यक्तियों तथा अस्थायी तौर से आने जाने वाले समस्त व्यक्तियों पर लागू होगा। यदि कोई व्यक्ति इस आदेश का उल्लंघन करता है तो उसके विरूद्ध आपराधिक प्रकरण कायम कर वैधानिक कार्यवाही की जाएगी। उल्लेखनीय है कि किसानों द्वारा फसल काटने के बाद खेत को साफ करने की दृष्टि से खेतों में आग लगा दी जाती है, जिसे नरवाई जलाना कहते है। यह चलन कई बार लोक परिशांति भंग करने की स्थिति उत्पन्न करता है तथा मानव जीवन और स्वास्थ्य पर भी प्रतिकूल प्रभाव डालता है। साथ ही इससे आसपास की फसलों और मकानों को आग के कारण नुकसान पहुंचता है। नरवाई जलाने से आसपास के खेतों में भी फसल एवं निकट के आबादी वाले क्षेत्रों में संपत्ति का नुकसान होने की संभावना भी रहती है।

 

अग्नि की घटनाओं की रोकथाम एवं नियंत्रण के लिए अधिकारियों की ड्यूटी


जिले में अग्नि की घटनाओं की रोकथाम एवं नियंत्रण तथा वन सम्पदा को अग्नि से बचाने के लिए वनमंडल अधिकारी ने जिले के समस्त वन परिक्षेत्र अधिकारियों की ड्यूटी लगाई है। जिले में अग्नि घटनाओं की रोकथाम एवं नियंत्रण के लिए वन परिक्षेत्र अधिकारियों से संपर्क कर सकते है। सीहोर परिक्षेत्र में परिक्षेत्राधिकारी श्री हरिओम सेतु 9424790852, इछावर में श्री राजकुमार शिवहरे 9827755977, आष्टा में श्री राजेश चौहान 9424700892, वीरपुर में श्री जितेन्द्र तोमर 8109557093, बुधनी में श्री रामकुमार 9826509081, लाड़कुई में श्री नवनीत झा 7772904940, रेहटी में श्री रितु‍ तिवारी 9926299879 से संपर्क कर सकते है।


एशियन चैम्पियनशिप में कावेरी ने जीता कांस्य पदक


sehore news
थाईलैण्ड में 24 से 27 मार्च तक एशियन कैनो स्प्रींट एंड अंडर-18 चैम्पियनशिप आयोजित की गई। इस चैंपियनशिप में महिलाओं की सी-200 मीटर रेस में कोवरी ढीमर ने कांस्य पदक जीता। इस प्रतियोगिता में मध्यप्रदेश के 9 खिलाड़ी शामिल रहे, जिसमें ग्वालियर के 5 और भिंड के 4 खिलाड़ी शामिल थे। प्राची यादव ने भारतीय टीम का प्रतिनिधित्व किया। महिलाओं की सी-4, 200 मीटर रेस में भारतीय टीम ने कांस्य पदक पर कब्जा जमाया। इस टीम में कावेरी ढ़ीमर, शिवानी वर्मा, नमिता चंदेल तथा अंजली वशिष्ट शामिल थीं। इस टीम में मध्यप्रदेश राज्य वॉटर स्पोर्ट्स अकादमी की तीन खिलाड़ी कावेरी ढ़ीमर, शिवानी वर्मा, नमिता चंदेल शामिल थीं। 


29 मार्च को भी जारी रहेगा नीलामी कार्य


कृषि उपज मंडी में 29 मार्च को बैंको की हड़ताल अवधि में मण्डी में नीलामी कार्य जारी रहेगा एवं व्यापारी संघ द्वारा किसानो को नगद भुगतान किया जाएगा। दि ग्रेन मर्चेंट एसोसिएशन मंडी सीहोर ने जानकारी दी कि मंडी में कृषि उपज की नीलामी का कार्य जारी रहेगा। समस्त किसान से अधिक से अधिक मात्रा में उपज मण्डी में विक्रय के लिए लाएं।


कलेक्टर श्री ठाकुर ने मेघा को ट्राफी तथा साल-श्रीफल भेंट कर सम्मानित किया
  • लड़कियॉं पढ़ाई के साथ-साथ खेलों में भी भाग लेना चाहिए - मेघा

sehore news
तीन साल पहले माउंट एवरेस्ट फतह करने वाली मध्य प्रदेश की बेटी मेघा परमार ने हाल ही में स्कूबा डाइविंग में विश्व रिकार्ड बनाया है। कलेक्टर श्री चन्द्र मोहन ठाकुर ने मेघा को स्कूबा डाइविंग में विश्व कीर्तिमान बनाने पर बधाई देते हुए उज्जवल भविष्य की शुभकामनाएं दी। श्री ठाकुर ने ट्रॉफी तथा साल-श्रीफल भेंट कर सम्मानित किया। मेघा सीहोर जिले के एक छोटे गांव भोजनगर की रहने वाली है। मेघा ने सभी बालिकाओं से कहा कि पढ़ाई के साथ-साथ खेलों भी हिस्सा लेना चाहिए। मेघा ने कहा कि असंभ कुछ भी नहीं है। कठिन परिश्रम और मार्गदर्शन की जरूरत होती है। मेघा अब नॉर्थ पोल पर स्काई डाइविंग करना चाहती है।    मेघा ने माउंट एवरेस्ट पर फतह और स्कूबा डाइविंग से जुड़े अनुभव साझा करते हुए बताया कि 147 फीट की टेक्निकल स्कूबा डाइविंग कर नया विश्व रिकॉर्ड बनाने वाली वह विश्व की पहली महिला हैं। मेघा ने बताया कि भारत में स्कूबा डाईविंग कोच नहीं होने के कारण अर्जेंटीना से कोच वॉल्टर को भारत बुलाया गया। उन्होंने बताया कि पहले मुझे स्वीमिंग तक नहीं आती थी । सबसे पहले मुझे स्वीमिंग की ट्रैनिंग लेनी पड़ी। फिर उसके बाद लगातार डेढ साल तक हर दिन 8 घंटे ट्रेनिंग की। स्कूबा डाइविंग के सभी कोर्स  किए इस दौरान 134 डाइव की।   स्कूबा डाइविंग में जान जाने का जोखिम बना रहता है। जो ऑक्सीजन धरती पर इंसान के लिए प्राण वायु है, वहीं समुद्र में शरीर के अंदर ज्यादा मात्रा में जाने पर जान के लिए खतरा बन जाती है। जिससे इंसान पैरालिसिस जैसी अन्य गंभीर बीमारी का शिकार हो सकता है और जान भी जा सकती है। इस खेल में शारीरिक रूप से ज्यादा मानसिक तौर पर ज्यादा मजबूत होना पड़ता है। कई बार डाइव की तैयारी में मेरे पैरों पर 11-11 किलो के सिलेंडर गिरे जिससे गंभीर चोटों का सामना करना पड़ा। मेरे लिए सबसे मुश्किल पूरे सफर में पढ़ाई कर टेक्निकल डाइविंग का एग्जाम पास करना था जिसमें फिजिक्स एवं मैथ्स के जटिल सवालों का अध्ययन करना पड़ता था। कलेक्टर से भेट के दौरान  जिला खेल अधिकारी श्री अरविन्द इलयाजर भी उपस्थित थे।

कोई टिप्पणी नहीं: