लोगों पर कर तथा महंगाई की दोहरी मार कर रही है सरकार - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

सोमवार, 28 मार्च 2022

लोगों पर कर तथा महंगाई की दोहरी मार कर रही है सरकार

shakti-gohil-attack-govrnment-in-parliament
नयी दिल्ली 28 मार्च, विपक्ष ने आज राज्यसभा में आरोप लगाया कि सरकार एक तरफ लोगों पर लगातार कर तथा महंगाई की दोहरी मार कर रही है तो दूसरी ओर उद्योगपतियों को फायदा पहुंचा रही है वहीं सत्ता पक्ष ने दावा किया कि सरकार विपरीत परिस्थितियों में प्रतिबद्धता से काम कर देश को निरंतर प्रगति के मार्ग पर अग्रसर कर रही है। कांग्रेस के शक्ति सिंह गोविल ने सोमवार को राज्यसभा में वित्त विधेयक और विनियोग विधेयक पर संयुक्त रूप से चर्चा की शुरूआत करते हुए कहा कि सरकार पेट्रोल, डीजल और अन्य मदों में निरंतर कर बढाकर लोगों पर दोहरी मार मार रही है। उन्होंने कहा कि मध्यम वर्ग को करों में राहत देने के बजाय उनसे कुछ मामलों में पूर्व प्रभाव से कर वसूलने की तैयारी है जो एकदम अनुचित है। सरकार एक हाथ से कुछ छूट देती है तो दूसरे हाथ से उसे वसूल लेती है इससे आम आदमी की हालत में कोई सुधार नहीं हो रहा। उन्होंने आरोप लगाया कि आम आदमी को फायदा पहुंचाने के बजाय सरकार की नीतियां पूंजीपतियों को फायदा पहुंचाने की है। श्री गोविल ने कहा कि संप्रग सरकार के कार्यकाल में पेट्रोल डीजल पर वसूला गया उत्पाद शुल्क एक करोड़ 72 लाख और 65 हजार करोड़ रूपये था जबकि वर्ष 2020-21 में यह बढकर 4 लाख 55 हजार और 69 करोड़ पहुंच गया। रसोई गैस सिलेंडर की कीमत वर्ष 2014 में 410 रूपये थी जो अब 1000 रूपये पहुंच गयी है। उन्होंने कहा कि यह हाल तब है जब अंतर्राष्ट्रीय बाजार में एलपीजी की कीमत घट रही है। उन्होंने कहा कि सरकार ने कोविड 19 की मार से त्रस्त जनता को राहत पहुंचाने के नाम पर खोखले वादे और घोषणाएं मात्र की हैं। भारतीय जनता पार्टी के सुशील मोदी ने विपक्ष के आरोपों को सिरे से खारिज करते हुए कहा कि सरकार तमाम प्रतिकूल परिस्थितियों में अपनी ठोस नीतियों के बल पर प्रतिबद्धता के साथ देश को निरंतर प्रगति के मार्ग पर अग्रसर कर रही है। उन्होंने कहा कि यदि देश की बागडोर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के हाथ मेें नहीं होती तो देश इन विशाल चुनौतियों से निपटने में सफल नहीं हो पाता। उन्होंने कहा कि कोविड महामारी के कारण उत्पन्न विषम चुनौती का जिस तरह से श्री मोदी ने सफलतापूर्वक सामना किया उससे देश में केवल पांच लाख लोगों की जान गयी वरना तो यह आंकड़ा 50 लाख तक पहुंच जाता। उन्होंने कहा कि इस तरह श्री मोदी ने 45 लाख लोगों को मरने से बचा लिया। उन्होंने कहा कि कोरोना महामारी के दौरान सरकार ने देश के 80 करोड़ लोगों को मुफ्त राशन देकर उन्हें बड़ी राहत प्रदान की है। सरकार ने इस योजना को छह और महीने के लिए बढा दिया है जिससे सरकारी खजाने पर करोड़ों रूपये का बोझ बढ गया है। श्री मोदी ने कहा कि सरकार की ठाेस नीतियों का ही परिणाम है कि देश ने 400 अरब डॉलर से ज्यादा का निर्यात किया है और आजादी के बाद से यह अपने आप में एक रिकार्ड है। उन्होंने कहा कि कर के स्तर पर भी सरकार की नीतियों का परिणाम सामने आ रहा है और पिछले वर्ष की तुलना में 38 प्रतिशत अधिक कर संग्रह हुआ है। उन्होंने कहा कि इसकी वजह से देश में आर्थिक विकास पटरी पर लौट रहा है। उन्होंने क्रिप्टो को अर्थव्यवस्था के लिए खतरा बताते हुए कहा कि इस पर अन्य देशों की तरह भारी भरकम कर लगाया जाना चाहिए। उन्होंने ऑनलाइन गेम सिस्टम के विनियमन की भी मांग की। भाजपा सदस्य ने कहा कि सरकार की नीतियों के कारण बैकिंग प्रणाली निरंतर मजबूत हो रही है तथा बैंकों की हालत में बहुत सुधार आया है। उन्होंने कहा कि बैंकिंग प्रणाली को गर्त में ले जाने वाले भगौड़े आर्थिक अपराधियों की अब संपत्ति जब्त की जा रही है। 

कोई टिप्पणी नहीं: