मधुबनी : जिले को तंबाकू मुक्त करने में आम लोगों की भूमिका अहम : DDC - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

गुरुवार, 31 मार्च 2022

मधुबनी : जिले को तंबाकू मुक्त करने में आम लोगों की भूमिका अहम : DDC

tobacco-free-madhubani
मधुबनी , उप विकास आयुक्त, मधुबनी की अध्यक्षता में जिला तंबाकू नियंत्रण कोषांग, जिला स्वास्थ्य समिति, मधुबनी एवं सोशियो इकोनॉमिक एंड एजुकेशनल डेवलपमेंट सोसायटी, बिहार की संयुक्त बैठक समाहरणालय स्थित सभाकक्ष में संपन्न हुई। बताते चलें कि इस बैठक का मुख्य उद्देश्य जिले में धूम्रपान / तंबाकू के सेवन पर प्रभावी तरीके से रोक लगाने की दिशा में ठोस कदम उठाने को लेकर निर्णय करना था।  इस मौके पर उप विकास आयुक्त ने कहा कि आज देश में सालाना तेरह लाख मौतें केवल तंबाकू के सेवन से हो रही हैं। आज के दौर में बड़ी संख्या में कम आयुवर्ग के बच्चे भी इसके सेवन के आदि हो रहे हैं, जो चिंता की बात है। यदि आज इसपर समुचित कदम नहीं उठाया गया तो इसके बड़े दुष्परिणाम सामने आ सकते हैं। ऐसे में हमें दो स्तर पर काम करने की जरूरत है। पहला, हमें जन जागरूकता का दायरा और भी बढ़ाना होगा और दूसरा इसके बिक्री को हतोत्साहित करना होगा। इन दोनों ही कार्यों के लिए व्यापक कदम उठाने होंगे। उन्होंने कहा कि जिले को धूम्रपान/ तंबाकू मुक्त बनाने के लिए आम लोगों के सहयोग की अपेक्षा है। लोग अपने आस पास में इसके सेवन को हतोत्साहित करें। विशेषकर कम आयु के बच्चों को रोकना और टोकना बहुत जरूरी है। प्रभावी नियंत्रण के लिए उप विकास आयुक्त ने निर्देश देते हुए कहा कि सभी सरकारी व सार्वजनिक स्थानों पर तंबाकू सेवन के निषेध से संबंधित साइन बोर्ड लगाया जाना आवश्यक है।  साथ ही जिले के विद्यालयों को इसके लिए पहल करनी होगी। सभी विद्यालयों में तंबाकू मुक्त क्षेत्र का बोर्ड लगाना है। इसके अतिरिक्त विद्यालयों के सौ गज के दायरे में किसी भी प्रकार के तंबाकू उत्पादों के बिक्री पर सख्त प्रतिबंध लगाए जाएं। उन्होंने तंबाकू सेवन के दुष्परिणामों पर विस्तार से चर्चा की और कहा कि पंचायत स्तरीय नव निर्वाचित जन प्रतिनिधियों को भी इस पर ठोस पहल करने के लिए आगे आना होगा। साथ ही समय समय पर छापेमारी भी आवश्यक है। उन्होंने आने वाली पीढ़ी के हित में आज से ही तंबाकू उत्पादों पर कड़े प्रतिबंध की आवश्यकता पर बल दिया। उक्त बैठक में श्री सुनील कुमार झा, सिविल सर्जन मधुबनी, श्री आर. के. सिंह, अपर मुख्य चिकित्सा पदाधिकारी, मधुबनी, श्री विकास कुमार, वरीय उप समाहर्ता, मधुबनी, श्री शैलेंद्र कुमार, जिला पंचायती राज पदाधिकारी सह सूचना एवं जनसंपर्क पदाधिकारी, मधुबनी, श्री प्रभाकर तिवारी, अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी मुख्यालय, मधुबनी, श्री शोभा कांत, जिला कार्यक्रम पदाधिकारी, मधुबनी, श्री प्रमोद कुमार झा, जिला समन्वयक, यूनिसेफ, श्री दीपक मिश्रा, जिला समन्वयक, सोशियो इकोनॉमिक एंड एजुकेशनल डेवलपमेंट सोसायटी, बिहार के साथ साथ स्वास्थ्य विभाग के अन्य वरीय पदाधिकारी व कर्मी उपस्थित थे।

कोई टिप्पणी नहीं: