विदिशा (मध्य प्रदेश) की खबर 06 मार्च - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

रविवार, 6 मार्च 2022

विदिशा (मध्य प्रदेश) की खबर 06 मार्च

62 दिन में 216 गांवों में पहुंचे विधायक भार्गव आज हुआ यात्रा का अल्पविराम


vidisha news
विदिशारू आपका विधायक आपके द्वार कार्यक्रम के तहत प्रशासनिक अमले के साथ विधायक शशांक भार्गव ने ग्राम भौंरियाएपरसौराएगेँहूखेड़ी पहुंचकर ग्रामवासियों से मूलभूत समस्याएं सुनी। आपका विधायक आपके द्वार कार्यक्रम के तहत गांव गांव पहुंचकर जनसमस्याएं सुनने का सिलसिला 4 जनवरी से शुरू हुआ था 62 दिन की लंबी अवधि में विधायक शशांक भार्गव ने कांग्रेस नेताओं और प्रशासनिक अमले के साथ विदिशा विधानसभा क्षेत्र के 216 चकएमजरों और ग्रामों का दौरा किया। ग्रामीण दौरे का ये सफर आज दोपहर गेँहूखेड़ी पहुंचकर समाप्त हुआ। इस दौरान जिला कांग्रेस अध्यक्ष निशंक जैनएविधायक शशांक भार्गव ने विदिशा विधानसभा क्षेत्र के अंतर्गत आने वाले ब्लॉक कांग्रेसएउपब्लॉक कांग्रेस अध्यक्षों को नियुक्ति पत्र सौंपे। ग्राम चौपाल को संबोधित करते हुए विधायक शशांक भार्गव ने कहा हमने ग्रामीण जनता जनप्रतिनिधियों के ऑफिस में आकर समस्याएं बताए हमने इस परंपरा को बदलने का नवाचार किया है। 4 जनवरी से आपका विधायक आपके द्वार कार्यक्रम के तहत हमारा ग्रामीण दौरे का सफर शुरु हुआ था। 62 दिनों के सफर में 216 चकएमजरोंए गांवों में जनता की चौपालें लगाकर हमने समस्याओं के समाधान का प्रयास किया। इस दौरान विद्युत आपूर्ति सुनिश्चित करने के लिए विधायक निधि से 21 से अधिक ग्रामों में ट्रांसफार्मर स्थापित करने एवं 12 ग्रामों में ट्रांसफार्मर क्षमता वृद्धि कार्य की स्वीकृति दी है। 20 से अधिक ग्रामों में 40 लाख की विधायक निधि की राशि से विकास कार्य स्वीकृत किए हैं। निजी राशि से 30 से ज्यादा ग्रामों में भजन सामग्रीए60 से अधिक ग्रामों में खेल सामग्री वितरित की है। विभागीय मदों से जिन विकास कार्यो का वायदा किया है पहली प्राथमिकता उन्हें पूर्ण कराने की रहेगी। विधायक भार्गव ने इस दौरान मिले समर्थन के लिए ग्रामीण क्षेत्र की जनता का आभार व्यक्त किया। विधायक भार्गव ने कहा यह यात्रा का समापन नहीं सिर्फ अल्पविराम है। कार्यक्रम के समापन अवसर पर उपस्थित जिला कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि विधायक जी ने जिले के जनप्रतिनिधियों के समक्ष जनसेवा की बड़ी मिशाल प्रस्तुत की है।निश्चित ही इतना सघन कार्यक्रम करने के लिए अथक परिश्रमएसमर्पण भाव की जरुरत होती है। जनपद अध्यक्ष प्रतिनिधि राकेश कटारेएब्लॉक कांग्रेस अध्यक्षगण सुरेश मोतियानीए अजय कटारेएनरेंद्र रघुवंशीए गौरव दांगीएपूर्व ब्लॉक अध्यक्ष दीवान किरार ने कहा ग्रामीण विकास से संबंधित अधिकांश विभागों के अधिकारी कर्मचारियों ने मुस्तेदी से ड्यूटी निभाई। ब्लॉक अध्यक्षों ने कड़कड़ाती ठंडएबारिश और भरी गर्मी में भी यात्रा के दौरान सहभागी रहे कांग्रेस नेताओं कार्यकर्ताओं का आभार ज्ञापित किया। इस अवसर पर कार्यक्रम को प्रभुदयाल यादवएनंदकिशोर शर्माएबाबूलाल वर्माएगोविंद राजपूतए जालम सिंह मीणाएमेहमूद कामिलएसंतोष गुर्जरएडॉ राजेंद्र दांगीए मलखान मीणाएसतेंद्र पंवारएवीरेंद्र राजपूतएधर्मेंद्र सक्सेनाए बृजेन्द्र वर्माएओपी सोनीएवैभव भारद्वाजए संयोग जैनए शिवराज पिपरोदियाएसुमित वैद्यएशिवचरण शर्माएमनोज कुशवाहए भूपेंद्र रघुवंशीएअमित सोनीएरामराज दांगी आदि ने भी संबोधित करते हुए कहा कि कांग्रेस परिवार के लोग खेजड़ा पडरात की जनता के सुख दुख में सदैव साथ खड़े रहेंगे। इस अवसर पर मुआज़ कामिलएरामभरोसे लोधीएअभिराज शर्माए चंद्रपाल रघुवंशीए राकेश ठाकुरएमहेंद्र रघुवंशीए सोमू रघुवंशीए सुरेंद्र दांगी सहित बड़ी संख्या में कांग्रेस कार्यकर्ता एवं ग्रामीणजन उपस्थित रहे।


जिला जनसम्पर्क कार्यालय, विदिशा


मध्यप्रदेश शासन


समाचार


सफलता की कहानी : युवतियों का सपना साकार हुआ

  • आईटीआई से प्रशिक्षण प्राप्ति उपरांत ऊर्जा विभाग में सेवारत

आईटीआई प्रशिक्षण संस्थान से प्रशिक्षण प्राप्ति के उपरांत जिले की युवतियों को विभिन्न विभागों में स्थाई नौकरी की सुविधा प्लेसमेंट ड्राईव के माध्यम से हुई है। कई छात्राएं रोजगार से ही नहीं जुड़ रहीं बल्कि वह नौकरी कर अपने परिवार की आर्थिक स्थिति में सुधार भी कर रही हैं। विदिशा जिले की कई ऐसी छात्राएं हैं जो रोजगार से जुड़ चुकी हैं। जिनमें से एक है गंजबासौदा के बादनखेड़ी अयोध्या बस्ती वार्ड नं चार की निवासी कुमारी प्रियंका दुबे पिता स्व. उमाशंकर दुबे जिन्होंने कोपा ट्रेंड से आईटीआई में किया और वह रोजगार से जुड़ चुकी हैं। वर्तमान में प्रियंका गंजबासौदा के एमपीईबी कार्यालय में कम्प्यूटर ऑपरेटर के पद पर कार्यरत हैं। उन्होंने बताया कि उन्हें 10 हजार रूपये वेतनमान दिया जाता है। शासन की योजनाओं के माध्यम से उन्हें वर्ष 2021 में एमपीईबी में एक अच्छे पद पर नौकरी करने की अवसर मिला है जिसके लिए उन्होंनं आईटीआई विदिशा के शिक्षकों के प्रति आभार व्यक्त किया है। इसी प्रकार विदिशा के ग्राम कतसारा हांसुआ निवासी कुमारी सिमरन किरार पिता श्री केवलसिंह किरार ने कोपा ट्रैंड से आईटीआई किया और आज वह एमपीईबी में कम्प्यूटर आॅपरेटर के पद पर तैनात हैं। उनकी ज्वाइनिंग वर्ष 2021 में हुई थी। आईटीआई विदिशा के अप्रेंटिस ड्राइव में हिस्सा लेकर उन्हें एमपीईबी में नौकरी करने का अवसर मिला। उन्होंने बताया कि उन्हें 7700 रूपये वेतन मिलता है। जिससे उनके परिवार को काफी सहयोग मिलता है। विदिशा के लालधाऊ टीलाखेड़ी निवासी कुमारी रचना चिढ़ार भी फिटर ट्रैंड से आईटीआई करने के पश्चात आईटीआई द्वारा आयोजित प्लेसमेंस्ट ड्राईव में हिस्सा लेने पहुंची जहां से उन्हें नौकरी पाने का सुनहरा अवसर मिला और आज वह ओबेदुल्लागंज में मशीन ऑपरेटर के पद पर नियुक्त हैं जहां से उन्हें 11 हजार रूपये वेतन प्राप्त होता है। आज वह बेहद खुश हैं कि उन्हें शासन की योजनाओं का लाभ मिला और वह एक अच्छे पद पर तैनात हैं। उन्होंने आईटीआई के शिक्षकों और शासन, प्रशासन के प्रति धन्यवाद ज्ञापित किया है। विदिशा के काछी कुंआ निवासी कुमारी प्रियंका कुशवाह पिता श्री घनश्याम कुशवाह ने फिटर ट्रैंड से शासकीय आईटीआई विदिशा से अध्ययन किया और आज वे मंडीद्वीप में टेक्निशियन के पद पर कार्यरत हैं। उन्होंने बताया कि वह अब अपने भाई बहनों का खर्चा वहन करने में सक्षम हैं। उन्होंने आईटीआई भोपाल के प्लेसमेंट ड्राईव में हिस्सा लिया था और आज उन्हें आठ हजार रूपये वेतन मिलता है। उन्होंने शासकीय आईटीआई विदिशा के शिक्षकों का धन्यवाद ज्ञापित किया है। इसी तरह विदिशा के करैयाखेड़ा निवासी कुमारी आरती कुशवाह पिता मूलचंद कुशवाह ने बताया कि उन्होंनने विदिशा के शासकीय आईटीआई से फिटर ट्रैंड से वर्ष 2021 में अपनी पढ़ाई पूर्ण की र्थी उसके बाद उन्हें नौकरी करने का सुनहरा अवसर मिला और आज वह सूखी सेवनिया भोपाल में मशीन आॅपरेटर के पद पर तैनात हैं और उन्हें 12 हजार रूपये वेतन मिलता है। उन्होंने बताया कि वह आज काफी खुश हैं कि उन्हें शासन की जनकल्याणकारी योजनाओं के बलवूते पर नौकरी करने का अवसर मिला और वह अपने परिवार को आर्थिक सहयोग करने में सुक्षम हुई हैं।


मिलावट से मुक्ति अभियान, सांची पार्लरों पर टेस्टिंग किट उपलब्ध


मुख्यमंत्री जी के जन्मदिवस अवसर पर एमपी स्टेट को ऑपरेटिव डेयरी फेडरेशन लिमिटेड द्वारा संपूर्ण मध्यप्रदेश में 1600 सांची मिल्क पार्लरों पर मिलावट से मुक्त अभियान अंतर्गत दूध टेस्टिंग की सुविधा का शुभारंभ किया गया है। विदिशा जिला मुख्यालय पर उपरोक्त कार्यक्रम का शुभारंभ केक काटकर किया गया है। कलेक्टर श्री उमाशंकर भार्गव ने विदिशा शहर में शिवाजी तिराहे के समीप स्थित सांची मिल्क पार्लर पर पहुंचकर इस अभियान का शुभारंभ किया है। इस अवसर पर सहकारिता एवं पंजीयक सहकारी संस्थाओं के आयुक्त एवं प्रबंध संचालक एमपी स्टेट को ऑपरेटिव डेयरी फेडरेशन लिमिटेड के एमडी श्री संजय गुप्ता, पुलिस अधीक्षक डॉ मोनिका शुक्ला, भोपाल शहद दुग्ध संघ मर्यादित के यूआर पीएस तिवारी, कॉपरेटिव बैंक की सीईओ श्री विनय प्रकाश सिंह मौजूद रहे। गौरतलब हो कि दूध टेस्टिंग की सुविधा के तहत मिलावट की जांच हेतु सांची पार्लरों पर टेस्टिंग किट उपलब्ध कराए गए हैं। उपरोक्त टेस्टिंग किट के माध्यम से यूरिया, डिटर्जेंट, साबुन, मालटांस, ग्लूकांस, सुकोज की जांच की जाने हेतु स्ट्रीप्स उपलब्ध कराई गई है। ताकि उपभोक्ता तुरंत ही दूध में की गई मिलावट की जानकारी प्राप्त कर सकेंगे। 


कन्या शिक्षा प्रवेश उत्सव अभियान 7 मार्च से


प्रदेश में शाला त्यागी बालिकाओं को पुनः अपनी शिक्षा नियमित करने के उद्देश्य से महिला-बाल विकास विभाग द्वारा 7 मार्च 2022 से ‘कन्या शिक्षा प्रवेश उत्सव’ अभियान प्रारंभ किया जा रहा है। ‘बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ’ के लिए अभियान का मुख्य उद्देश्य 11 से 14 वर्ष की शाला त्यागी बालिकाओं को पहचान कर उनको स्कूलों में पुनः प्रवेश सुनिश्चित कराना है। उल्लेखनीय है कि वर्ष 2015 में शुरू किए गए ‘बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ’ अभियान का सम्पूर्ण लक्ष्य बालिका के जन्म का उत्सव मनाना और उनको शिक्षित कर सक्षम बनाना है। महिला-बाल विकास विभाग द्वारा शाला त्यागी किशोरियों को तीन सौ दिवस तक प्रोटीन, कैलोरी युक्त टेक होम राशन दिए जाने का भी प्रावधान है। विभाग द्वारा प्रतिवर्ष अप्रैल माह में आँगनवाड़ी केन्द्रों का सर्वे कराया जाता है। इसमें 11 से 14 वर्ष की ऐसी किशोरियों की जानकारी एकत्र की जाती है, जिन्होंने स्कूल छोड़ दिया है शाला में एडमिशन नहीं लिया है, एक बार एडमिशन तो लिया है परंतु शाला नहीं जा रहीं या कुछ समय जाकर शाला जाना बंद कर दिया है। ऐसी हितग्राही बालिकाओं को टेक होम राशन दिया जाता है।


गेंहू के उपार्जन के लिए किए गए नए प्रावधान, किसानों को मिलेगी सुविधा


शासन द्वारा निर्धारित समर्थन मूल्य 2015 रुपए प्रति क्विंटल की दर से किसानों से इस वर्ष गेंहू का उपार्जन किया जाएगा। उपार्जन के लिए किसानों का दस मार्च तक पंजीयन किया जा रहा है। किसान खरीदी केन्द्र जाकर आवश्यक अभिलेख देकर अपना पंजीयन करा सकते हैं। इसके अलावा किसान एप तथा कॉमन सर्विस सेंटर से भी उपार्जन के लिए पंजीयन की सुविधा दी गई है। गेंहू उपार्जन के लिए कई नए प्रावधान इस वर्ष किए गए हैं। इस संबंध में जिला आपूर्ति अधिकारी श्रीमती रश्मि साहू ने बताया कि इस वर्ष किसानों को खरीदी के लिए एसएमएस नहीं भेजा जाएगा। पंजीकृत किसान उपार्जन केन्द्र का स्वयं चयन करके दिन एवं समय का स्लॉट ऑनलाइन बुक करेंगे। इसी के आधार पर किसानों से गेंहू का उपार्जन किया जाएगा। जिन खरीदी केन्द्रों में स्लॉट बुक नहीं होंगे वहाँ से किसानों को एसएमएस से खरीदी की सूचना दी जाएगी। जिला आपूर्ति अधिकारी श्रीमती रश्मि साहू ने बताया कि गेंहू देने के बाद उपार्जन प्रभारी तथा किसान के बायोमेट्रिक सत्यापन के आधार पर खरीदी का बिल जारी होगा। सत्यापन की व्यवस्था पंजीकृत मोबाइल में भेजे गए ओटीपी अथवा बायोमेट्रिक डिवाइस से की जाएगी। वृद्ध एवं शारीरिक रूप से अक्षम किसान गेंहू बेचने के लिए किसी भी व्यक्ति को नामांकित कर सकते हैं। इस वर्ष सभी खरीदी केन्द्र में बायोमेट्रिक उपकरण अनिवार्य रूप से लगाए जा रहे हैं। पंजीयन के समय किसानों से बैंक खाते की जानकारी नहीं ली जा रही है। उनसे बैंक में लिंक मोबाइल नम्बर तथा आधार संख्या की जानकारी दर्ज की जा रही है। आधार लिंक बैंक खाते में ही किसानों को उपार्जन के 48 से 72 घंटे के भीतर भुगतान किया जाएगा।   जिला आपूर्ति अधिकारी श्रीमती साहू ने बताया कि गेंहू का उपार्जन सहकारी समितियों तथा स्वसहायता समूहों के माध्यम से किया जाएगा। इन्हें खरीदी केन्द्र पर अनाज के साफ-सफाई तथा ग्रेडिंग की व्यवस्था आउटसोर्सिंग के आधार पर करनी होगी। अनाज को साफ करने का खर्च किसानों द्वारा वहन किया जाएगा। इसलिए खरीदी के समय किसान अच्छी गुणवत्ता का साफ-सुथरा गेंहू लेकर खरीदी केन्द्र में आएं। शासन द्वारा निर्धारित एफएक्यू गेंहू की ही खरीद की जाएगी। अमानक गेंहू खरीदने वाले केन्द्र प्रभारियों तथा समितियों के विरूद्ध कार्यवाही की जाएगी। 


मुख्यमंत्री की अध्यक्षता में कमिश्नर्स, कलेक्टर्स, पुलिस महानिरीक्षक, पुलिस अधीक्षक कॉन्फ्रेस 12 मार्च को


मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान की अध्यक्षता में कमिश्नर्स, कलेक्टर्स, पुलिस महानिरीक्षक, पुलिस अधीक्षक वीडियो कॉन्फ्रेस 12 मार्च 2022 को पूर्वान्ह 11 बजे से आयोजित होगी। सामान्य प्रशासन विभाग  के उप सचिव ने कॉन्फ्रेस एजेण्डा के बारे बताया कहा कि कॉन्फ्रेस में विगत 20 जनवरी 2022 में प्रदत्त निर्देशों का पालन प्रतिवेदन, कानून व्यवस्था, माफिया के विरूद्ध कार्यवाही एवं महिला अपराध नियंत्रण की स्थिति की समीक्षा, कृषि के विविधीकरण एवं प्राकृतिक खेती को बढ़ावा देने के विषय में रणनीति पर चर्चा, मनरेगा के कार्यो की समीक्षा, प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के अन्तर्गत सड़कों के निर्माण एवं संधारण कार्य की समीक्षा, प्रधानमंत्री आवास योजना (ग्रामीण) एवं प्रधानमंत्री आवास योजना (शहरी) के क्रियान्वयन की प्रगति की समीक्षा, वन भूमि एवं राजस्व भूमि संबंधी विषयों की समीक्षा, एक जिला-एक उत्पाद योजना के क्रियान्वयन की समीक्षा, बेस्ट प्रेक्टिसेस का प्रस्तुतिकरण की समीक्षा की जायेगी।


नलजल प्रदाय योजनाओ के संचालन-संधारण से प्रशिक्षित हुए


vidisha news
जल जीवन मिशन के अन्तर्गत विदिशा जिले में भारत सरकार जल शक्ति मंत्रालय द्वारा सपोर्ट फॉर इम्प्लीमेंटेशन एण्ड रिसर्च के माध्यम से  प्रथम चार दिवसीय आवासीय के आर.सी प्रशिक्षण का आयोजन दो  से पांच मार्च तक किया गया था । प्रशिक्षण में ग्राम पंचायतों के ग्राम पेयजल एवं स्वच्छता समिति (व्ही. डब्लूएस सी) एवं स्वसहायता समितियों के सदस्यगण शामिल हुए थे। प्रशिक्षण का शुभारंभ जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी डॉ. श्री योगेश भरसट द्वारा किया गया। कार्यक्रम की अध्यक्षता श्री संतोष साल्वे कार्यपालन यंत्री लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग के कार्यपालन यंत्री श्री संतोष साल्वे  द्वारा की गई थी। जिपं सीईओ डॉ. श्री भरसट ने प्रशिक्षणार्थियों को संबोधित करते हुए कहा कि ग्राम के स्वसहायता समूह नलजल योजनाओं का संचालन ध् संधारण करेंगे तो ग्राम की नलजल प्रदाय योजना से 100 प्रतिशत घरों को सुचारू रूप से शुद्ध एवं पर्याप्त मात्रा में पेयजल की पूर्ति सुनिश्चित होगा।  उन्होंने कहा कि पेयजल का सबसे ज्यादा कष्ट ग्राम की महिलाओं को ही होता है, अतः महिलाओं की सहभागिता से योजनाऐं अच्छे से संचालित होगी। जब तक ग्राम के निवासियों में नलजल प्रदाय योजना के प्रति स्वामित्व का भाव नहीं होगा नलजल योजना सुचारू रूप से संचालित नहीं की जा सकेगी। प्रशिक्षण के प्रथम दिवस मे जल जीवन मिशन का उद्देश्य उसकी संकल्पना, ग्राम का जल बजट कैसे बनाया जाता है और दूषित पानी से होने वाली बीमारियों के विषय में प्रशिक्षण दिया गया। द्वितीय दिवस में ग्राम कार्य योजना बनाना, ग्राम में पर्याप्त क्षमता के स्रोतों का स्थल चयन करना, एफ टी के (फिल्ड टेस्ट किट) के माध्यम से पेयजल का गुणवत्ता परीक्षण तथा उपयोग के बारे में प्रशिक्षणार्थियों को प्रशिक्षित किया गया। प्रशिक्षण के तृतीय दिवस में व्यवहारिक अभ्यास और ग्रामीण स्थल पर जल आपूर्ति में होने वाली समस्याओं से अवगत होने के लिये क्षेत्र भ्रमण कर व्यवहारिक ज्ञान अर्जित करने के लिये प्रशिक्षण स्थल पर प्रशिक्षण दिया गया।


भ्रमण

प्रशिक्षणार्थियों को बस द्वारा ग्राम सुनपुरा विकासखण्ड विदिशा ले जाया गया। कुल दस-दस लोगो के 06 अलग-अलग समूहों ने ग्राम में भ्रमण कराया गया है ताकि ग्राम की नलजल प्रदाय योजना की बारिकियों से अवगत होने के साथ-साथ ग्रामवासियों के साथ संवाद कर अनुभवों को परस्पर सांझा करने की भी व्यवस्था सुनिश्चित की गई थी। प्रशिक्षण के अंतिम दिवस सभी समूहों द्वारा एक्सरसाईज की गई प्रशिक्षण का फिड बैक प्रशिक्षको द्वारा लिया गया। तत्पश्चात् प्रशिक्षणार्थियों को प्रमाण पत्र का वितरण लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग भोपाल के अधीक्षण यंत्री ( प्रशिक्षण ) श्री सुनील कुमार खरे द्वारा वितरण किए गया। विदिशा शहर के निजी होटल में संपन्न हुए उक्त प्रशिक्षण में सिरोंज लटेरी कुरवाई विकास खंड के पूर्व उल्लेखितों को मास्टर  ट्रेनर्स द्वारा प्रशिक्षित किया गया है।आभार प्रदर्शन प्रशिक्षण संस्थान के डॉ. एस. के श्रीवास्तव, निदेशक सपोट फॉर इम्प्लीमेन्टेशन एण्ड रिसर्च, लखनऊ, के.आर. सी, पेयजल एवं स्वच्छता विभाग जल शक्ति मंत्रालय भारत सरकार द्वारा किया गया।


हस्तशिल्प फूड एवं फन फेयर प्रदर्शनी का आयोजन आठ को


vidisha news
अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस  8 मार्च को विदिशा शहर में हस्तशिल्प प्रदर्शनी का आयोजन किया गया है। शासकीय कन्या महाविद्यालय के परिसर में आयोजित उक्त हस्तशिल्प प्रदर्शनी दोपहर 12 बजे से शुरू होगी। जिसमें हस्त निर्मित कलाकृतियां उत्पाद जूट से बने हुए उत्पाद सुतली से बने हुए उत्पाद कपड़े से बने हुए उत्पाद आनंद लें साथ ही मनोरंजन के साधनों का भी आनंद लें जिसमें आकर्षित गेम्स की व्यवस्था फूड स्टॉल पर स्वादिष्ट व्यंजनों का आनंद लें और इस प्रदर्शनी का उद्देश्य सामाजिक कल्याण और सामाजिक सरोकारों को ध्यान रखते हुए महिला दिवस पर नॉन व्यवसायिक महिलाओं के कल्याण के लिए आयोजन किया जा रहा है। 


अन्नोत्सव सोमवार को


कलेक्टर श्री उमाशंकर भार्गव ने बताया कि 7 मार्च को पीडीएस की दुकान पर अन्नोत्सव का आयोजन होगा। इस दिन शत-प्रतिशत लोगों को अन्न उपलब्ध हो। इसकी तैयारियां नोडल अधिकारी पहले से ही दुकानों पर पहुंचकर स्टॉक आदि की जानकारी सुनिश्चित कर ली जाए। 


निर्माण कार्यों की समीक्षा 9 को


महात्मा गांधी मनरेगा एवं महिला बाल विकास के अभिसरण से जिले में आंगनबाड़ी भवनों का निर्माण कार्य सम्पादित किया जा रहा है। उक्त आंगनबाड़ी केन्द्रों की अद्यतन स्थिति क्या है इत्यादि कार्यों की समीक्षा बैठक जिला पंचायत सीईओ डाॅ योगेश भरसट के द्वारा बुधवार 9 मार्च को आयोजित की गई है। जिला पंचायत के सभागार कक्ष में यह बैठक दोपहर 12 बजे से शुरू होगी। समस्त जनपदों के सीईओ को इस बैठक में समुचित जानकारी सहित उपस्थित होने के निर्देश प्रसारित किए गए हैं। गौरतलब हो कि जिले में शासन द्वारा कुल 395 आंगनबाड़ी केन्द्र स्वीकृत किए गए हैं। इन सभी की प्रगतिरत, भौतिक स्थिति, राशि की मांग व अप्रारंभ भवनों तथा पंचायतों को हस्तांतरित किए गए भवनों की समीक्षा की जाएगी।


ईसीसीई संबंधी प्रशिक्षण आठ से


महिला एवं बाल विकास विभाग के पर्यवेक्षक एवं आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं के लिए प्रारंभिक शिक्षा एवं बाल्य अवस्था देखभाल (ईसीसीई) संबंधी प्रशिक्षण मंगलवार आठ मार्च से आयोजित किया गया है। महिला एवं बाल विकास विभाग के जिला कार्यक्रम अधिकारी श्री ब्रजेश शिवहरे ने बताया कि पांच दिवसीय यह प्रशिक्षण सरस्वती शिशु मंदिर कैशव नगर में आयोजित किया गया है जबकि आवासीय व्यवस्था आशीष मंगल वाटिका में की गई है।। आवासीय प्रशिक्षण में भोजन व रूकने की सुविधाएं मुहैया कराई जाएंगी। विदिशा ग्रामीण परियोजना अन्तर्गत समस्त 275 आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं एवं सात पर्यवेक्षकों को इस प्रशिक्षण में मंगलवार की प्रातः दस बजे से उपस्थित होने के निर्देश प्रसारित किए गए हैं।


जिला टास्क फोर्स समिति की बैठक आज


बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ योजनांतर्गत गठित जिला स्तरीय टास्क फोर्स समिति की बैठक सोमवार सात मार्च को आयाजित की गई है। यह बैठक कलेक्टर श्री उमाशंकर भार्गव की अध्यक्षता में नवीन कलेक्ट्रेट के बेतवा सभागार कक्ष में टीएल बैठक के पश्चात अर्थात दोपहर साढ़े 12 बजे से शुरू होगी। महिला एवं बाल विकास विभाग के जिला कार्यक्रम अधिकारी श्री ब्रजेश शिवहरे ने बताया कि इस बैठक में सीएमएचओ, सीएमओ नगर पालिका, जिला विधिक सेवा प्राधिकरण, सामाजिक न्याय, शिक्षा विभाग, सर्व शिक्षा, सिविल सर्जन, महिला प्रकोष्ठ के प्रभारी, जन अभियान परिषद के जिला समन्वयक, नेहरू युवा केन्द्र के समन्वयक, वन स्टाफ सेंटर के प्रशासक तथा पीसीएनपीएनडीटी एक्ट के क्रियान्वयन प्रभारी मौजूद रहेंगे।


जिला स्तरीय टॉस्क फोर्स (डीटीफ) की बैठक में ऐजेण्डा के बिंदु-

स्वास्थ विभाग-

एचआईएमएस के आधार पर जिले का एसआरबी 31 जनवरी 2022 की स्थिति में, एचआईएमएस के आधार पर ब्लॉकवार एसआरबी 31 जनवरी 2022 की स्थिति में, इंस्टीट्यूशन डिलेवरी 100 प्रतिशत कराना, (पीसीएनपीएनडीटी) एक्ट का सख्ती से पालन कराने संबंधी की गई कार्यवाही से अवगत कराना,


शिक्षा विभाग-

स्कूलों में बालिकाओं के लिए शौचालय की उपलब्धता, प्रत्येक स्कूल में ब्राण्ड एम्बासेडर बनाना।, स्कूलों में बान्सिंग ताइक्वांडो का प्रशिक्षण, शाला त्यागी बालिकाओं का स्कूल में पुनः प्रवेश कराना,


महिला एवं बाल विकास एवं अन्य विभागों से संबंधित-

बेटी बचाओ, बेटी बढ़ाओ योजना का विभिन्न स्तरों पर प्रचार-प्रसार कराना, महिलाओं, बालिकाओं के कल्याणकारी योजनाओं पर समस्त विभागों के माध्य समन्वय की भूमिका निभाना, महिला पंच, संरपंच एवं आंगनबाडी कार्यकर्ता, आशा, एएनएम, आदीवासी छात्रावास, अधीक्षकों का बूथ स्तर पर घटते लिंगानुपात एवं बाल संरक्षण के विषय पर प्रशिक्षण, सुकन्या समृद्धि योजना का प्रचार-प्रसार कराना। 5. बालिका को मारेध् फेंकें नहीं, हमें देदें के बोर्ड लगाना, बेटी बचाओ बेटी पढाओं पर रथ संचालन, बेटी बचाओ बेटी पढाओं पर दीवार लेखन, बेटी बचाओ बेटी पढाओं पर होर्डिग्स लगवाना, बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओं अंतर्गत ग्राम पंचायतोंध्वार्डों में नुक्कड-नाटक के माध्यम से प्रचार-प्रसार कराना, लाडली लक्ष्मी योजना 2.0 के तहत ग्राम पंचायतों को लाडली लक्ष्मी फ्रेण्डली घोषित करने हेतु निम्नानुसार मापदण्ड रहेंगे, पंचायत क्षेत्र में बाल विवाह शून्य प्रतिशत, पंचायत क्षेत्र में समस्त पात्र बालिकाओं का 12वीं कक्षा में शत-प्रतिशत प्रवेश, पंचायत क्षेत्र में पिछले 01 वर्ष में बालक एवं बालका के जन्म में समानता अथवा लिंगानपात में औसत रूप से वृद्धि का मूल्यांकन, पंचायत क्षेत्र में सभी लाडली किशोरी बालिकाओं का रक्त में हीमोग्लोबिन प्रतिशत सामान्य स्तर होना, उपरोक्त मापदण्ड को प्राप्त करने के लिए पंचायतों में निम्नानुसार गतिविधियों का आयोजन किया जायेगा, वर्तमान लिंगानुपात की पंचायतवार समीक्षा, बेटी बचाओ बेटी पढाओं अंतर्गत तैयार कार्ययोजना का क्रियांवयन, पंचायतों में बेटी जन्म पर उत्सव मनाना, बालिका शिक्षा, स्वास्थ, सुरक्षा संबंधित योजनाओं का क्रियांवयन, जून जूलाई माह में स्कूल चलों अभियान हेतु विशेष कैंपेन, आंगनबाडी की 06 वर्ष की बालिका का शाला प्रवेश सुनिश्चित कराना, बाल विवाह के बारे में जागरूकता, प्रत्येक त्रैमास में लिंगानुपात सुधार की पंचायतवार समीक्षा, ऐंसी पंचायतें जिनमें लिंगानुपात में पूर्व की तुलना में सुधार हुआ है, उनको पुरस्कृत किया जाना, बालिकों के लिये जागरूकता सत्रों का आयोजन, कलेक्टर एवं जिला स्तरीय टॉस्क फोर्स के माध्यम से अन्य बिंदुओं पर चर्चा। 


ग्राम सभा का आयोजन आठ को


महिला दिवस आठ मार्च को जिले के सभी ग्राम पंचायतों में ग्राम सभाओं का आयोजन किया जाएगा। जिला पंचायत सीईओ डॉ योगेश भरसट ने पंचायत राज्य संचालनालय के संचालक द्वारा जारी पत्र का हवाला देते हुए उन्होंन जिले के सातों जनपद पंचायतों के सीईओ को आवश्यक कार्यवाही जारी दिशा निर्देशों के अनुसार सम्पादित कराने हेतु ताकीद किया है। जिला पंचायत सीईओ डॉ भरसट ने बताया कि अंतराष्ट्रीय महिल दिवस अर्थात आठ मार्च को आयोजित होने वाली ग्राम सभा में 11 एजेण्डा बिन्दुओं पर चर्चा कर क्रियान्वयन संबधी निर्णय लिए जाएंगे। तदानुसार बाल हितेषी एवं महिला सशक्तिकरण विजन पर चर्चा, ग्राम की महिलाओं एवं किशोरियों में रक्त की जांच द्वारा एनीमिया का आंकलन पर चर्चा, महिलाओं के मध्य स्वच्छता सभा के आयोजन पर चर्चा, शुद्ध पेयजल की नियमित उपलब्धता तथा नल-जल योजना के रख-रखाव की व्यवस्था संबंधी चर्चा, स्कूलों एवं आंगनबाड़ी केन्द्रों पर सुरक्षित जल के उपयोग को बढ़ावा देने पर चर्चा, बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ योजना पर चर्चा, हेल्थ एवं वेलनेस सेंटर (आरोग्यम) में प्रदाय की सेवाओं एवं स्वास्थ्य विभाग संबंधी योजनाओं पर चर्चा, ग्राम गौरव दिवस के आयोजन की तिथि निर्धारण पर चर्चा, कोविड-19 के बचाओ हेतु समस्त सावधानियों का अनुसरण पर चर्चा एवं कोविड-19 के तहत शासन स्तर से जारी निर्देशानुसार प्रभावी कार्यवाही करना, अन्य विषय प्रधान की अनुमति से, ग्राम सभा की वीडियोग्राफी भले ही वह मोबाइल रिकॉर्डिंग के माध्यम से हो सुनश्चित किया जाए, ग्राम सभा के आयोजन में कोविड महामारी की रोकथाम संबंधी मार्ग-दर्शी निर्देशों का पालन सुनिश्चित किया जाए।              


रविवार को एक सैंपल पॉजिटिव प्राप्त हुआ


मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ एके उपाध्याय ने बताया कि 6 मार्च को जिले में कोरोना का एक सैंपल पॉजिटिव प्राप्त हुआ है यह सैंपल विदिशा शहर के अहमदपुर चैराहा क्षेत्र से प्राप्त हुआ है। 


जिला टीकाकरण अधिकारी सम्मानित हुए


vidisha news
कोविड-19 टीकाकरण कार्य में किए गए उत्कृष्ट प्रदर्शन के आधार पर जिले के टीकाकरण अधिकारी डाॅ डीके शर्मा को भोपाल में गत दिवस स्वास्थ्य विभाग के अपर मुख्य सचिव मोहम्मद सुलेमान एवं एमडी एनएचएम प्रियंका दास द्वारा प्रशस्ति पत्र प्रदाय कर सम्मानित किया गया है। डाॅ डीके शर्मा का कहना है कि जिले में कोविड-19 टीकाकरण कार्य में जो उत्कृष्ट प्रदर्शन किया है वह स्वास्थ्य विभाग अन्य सभी विभाग, जन प्रतिनिधि, सामाजिक, व्यापारिक व स्वयंसेवी संघठनों, पत्रकार बंधु एवं प्रत्येक अधिकारी एवं कर्मचारी जिन्होंने कोविड-19 टीकाकरण कार्य में प्रत्यक्ष एवं अप्रत्यक्ष रूप से सहयोग किया उन सभी की मेहनत का परिणाम है।


ई टेंडर के माध्यम से शेष मदिरा दुकानों का निष्पादन 10 को


विदिशा जिले की सिरोंज व लटेरी समूह की संचालित मदिरा दुकानों का निष्पादन कार्य ई टेंडर के माध्यम से संपादित किया जाएगा की जानकारी देते हुए जिला आबकारी अधिकारी श्री शैलेश जैन ने बताया कि ई-टेंडर की प्रक्रिया के लिए 10 मार्च की अपराह्न एक बजे तक ई-टेंडर हेतु ऑनलाइन टेंडर डाउनलोड व ई टेंडर ऑफर सीमित करने का समय नियत किया गया है। प्राप्त ई टेंडर 10 मार्च की अपराह्न 2 बजे से खोलने का कार्य कार्य नवीन कलेक्ट्रेट के बेतवा सभागार में संपादित होगा। के संबंध में अन्य जानकारी के लिए जिला आबकारी अधिकारी के कार्यालय अथवा वेबसाइट www.excise.mp.gov.in  पर प्राप्त की जा सकती है।


निकाय क्षेत्रों में लक्ष्य से अधिक पौधरोपण


पौधरोपण महाअभियान के तहत जिले में अधिक से अधिक पौधों का रोपण कर वायुदूत अंकुर एप पर अपलोड करने के निर्देश कलेक्टर श्री उमाशंकर भार्गव के द्वारा सभी विभागों के जिला अधिकारियों को दिए गए थे। नगरीय निकाय क्षेत्रवार प्रथक से लक्ष्य निर्धारित किए गए थे। डिप्टी कलेक्टर एवं जिला शहरी विकास अभिकरण की नोडल अधिकारी श्रीमती अमृता गर्ग ने बताया कि जिले के सभी छह निकाय क्षेत्रों में 500 पौधे रोपित करने का लक्ष्य प्राप्त हुआ था। पौधरोपण महाअभियान की अंतिम तिथि पांच मार्च तक निकाय क्षेत्रों में कुल 548 पौधे लगाए गए हैं। निकायवार लक्ष्य व लगाए गए पौधों की जानकारी इस प्रकार से है- नगर पालिका विदिशा में 150 लक्ष्यपूर्ति हुई है जबकि गंजबासौदा में 100 के विरूद्ध 108, सिरोंज में 100 का लक्ष्य था जबकि 140 पौधे लगाए गए हैं। इसके अलावा कुरवाई, लटेरी एवं शमशाबाद नगर पंचायत के लिए क्रमशः 50-50 का लक्ष्य निर्धारित किया गया था। उपरोक्त तीनों नगर पंचायतों में लक्ष्य की शत-प्रतिशत पूर्ति हुई है।

कोई टिप्पणी नहीं: