बिहार : संसार में व्याप्त अंधेर नगरी को प्रकाशमय कर देंगे - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

बुधवार, 20 अप्रैल 2022

बिहार : संसार में व्याप्त अंधेर नगरी को प्रकाशमय कर देंगे

world-wih-ligh
पटना. संत माइकल हाई स्कूल के सामने है रोमन कैथोलिक समुदाय का चर्च. इस चर्च का नाम है प्रेरितों की रानी ईश मंदिर कैथेड्रल.यहां के प्रधान पल्ली पुरोहित हैं फादर पीयूस प्रशांत माइकल ओस्ता.संत माइकल हाई स्कूल के प्राचार्य फादर एडिसन आम्रस्टॉग के नेतृत्व में पास्का जागरण के अवसर पर धार्मिक कार्यक्रम किया गया. यहां पर आग और पानी कार्यक्रम किया जा रहा है. अंधेरे पर प्रकाश की जीत दर्शाया जाता है. प्रकाश के रूप में प्रभु येसु ख्रीस्त को दिखाया जाता है.जो संसार में व्याप्त अंधेर नगरी को प्रकाशमय कर देंगे. इस अवसर पर ईसाई समुदाय बपतिस्मा संस्कार की प्रतिज्ञा दुहराते हैं. बारह बजने के बाद जीवित होने वाले प्रभु येसु ख्रीस्त के मौत पर विजयी होने पर पास्का का मिस्सा चढ़ाया जाता है. शुरू में नई आग की आशीष मुख्य अनुष्ठाता के कर कमलों से हुआ.ज्योति की घोषणा एंव ज्योति गुणगान फादर आमस्टाग के द्वारा किया गया.धार्मिक समारोह में धर्मग्रंथ से सात पाठ पढ़े गए. पुनर्जीवित येसु ख्रीस्त ने अपने शिष्यों एवं प्रेरितों तथा अपने अपनों को कई बार दर्शन देकर शांति, भाई चारे एंव प्रेम का संदेश दिया. कैथोलिक विश्वासिययों ने 40 दिनों तक विनती, प्रार्थना, त्याग तपस्या तथा दान देकर अपने जीवन को सुंदर बनाया है. सभी को जल की आशीष में भाग लेते हुए मोमबत्ती जला कर अपने बपतिस्मा के प्रतिज्ञा का दुहरावा किया. सब पर पवित्र जल का छिड़काव किया गया। शनिवार रात के साथ ही रविवार सुबह में मिस्सा किया जाएगा.

कोई टिप्पणी नहीं: