हुनर हाट में चला सुरेश वाडेकर के ‘चप्पा-चप्पा चरखा’ का जादू - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

रविवार, 24 अप्रैल 2022

हुनर हाट में चला सुरेश वाडेकर के ‘चप्पा-चप्पा चरखा’ का जादू

suresh-wadekar-hunar-haa
मुंबई : हुनर हाट में शुक्रवार की शाम सुरीले गाने के सफर के साथ आगे बढ़ी, बॉलीवुड के मशहूर प्लेबैक सिंगर सुरेश वाडेकर ने एक के बाद एक सुपरहिट सॉन्ग गा कर माहौल को सुरीला बना दिया। सुरेश वाडेकर ने प्रोगाम का श्रीगणेश गजानन महाराज की आरती के साथ किया और इसके बाद एक से बढ़कर एक और 80- 90 के दशक के सुपरहिट गानों को गाकर लोगों को मदमस्त कर दिया। फिल्म प्यासा सावन के सुपरहिट सॉन्ग ‘मेघा रे मेघा’ जिसे दो राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार और पांच फिल्मफेयर अवार्ड से सम्मानित फिल्म परिंदा का यादगार गाना गाया। इसके बाद ‘तुमसे मिलके ऐसा लगा, तुमसे मिलके’ फिल्म प्रेम रोग के गाने ‘ मैं हूं प्रेम रोगी’ जैसे सदाबहार गाने और इस दिल में क्या रखा है’ और चांदनी फिल्म का मशहूर गाना ‘लगी आज सावन की फिर वह घड़ी है’ सहित सदमा फिल्म का  ‘ऐ ज़िंदगी गले लगा ले’ गाकर लोगों झूमने पर मजबूर किया और इसके बाद सत्या फिल्म का मशहूर गाना ‘सपने मैं मिलती हैं, ओ कुड़ी मेरी सपने मैं मिलती हैं’ और माचिस फिल्म का गाना का सुपरहिट गाना ‘चप्पा चप्पा चरखा चले’ और आखिर में राजा मेहदी अली ख़ान का लिखा और लता मंगेशकर की सुरीली आवाज में गाया गाना 'लग जा गले फिर ये हंसी रात हो कि न हो' अपने प्रस्तुति का अंत किया। सुरेश वाडेकर से पहले अंकिता पाठक और सिंगर भूपेंद्र सिंह भूप्पी ने पंजाबी के तड़के के साथ बालीवुड के कई मशहूर गाने विशेषकर किशोर कुमार के ‘हाल क्या है दिलों का न पूछो सनम’  ने सचमुच ग़ज़ब ढा दिया  हुनर हाट के मंच पर शनिवार शाम बॉलीवुड सितारों के साये तले अल्ताफ राजा, शैलेंद्र सिंह और कविता पौडवाल की महफिल सजेगी।

कोई टिप्पणी नहीं: