विदिशा (मध्य प्रदेश) की खबर 25 अप्रैल - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

विजयी विश्व तिरंगा प्यारा , झंडा ऊँचा रहे हमारा। देश की आज़ादी के 75 वर्ष पूरे होने पर सभी देशवासियों को अनेकानेक शुभकामनाएं व बधाई। 'लाइव आर्यावर्त' परिवार आज़ादी के उन तमाम वीर शहीदों और सेनानियों को कृतज्ञता पूर्ण श्रद्धासुमन अर्पित करते हुए नमन करता है। आइए , मिल कर एक समृद्ध भारत के निर्माण में अपनी भूमिका निभाएं। भारत माता की जय। जय हिन्द।

सोमवार, 25 अप्रैल 2022

विदिशा (मध्य प्रदेश) की खबर 25 अप्रैल

शिवराज सरकार में जिला सहकारी बैंक द्वारा संचालित प्राथमिक कृषि साख सरकारी समितियों द्वारा किसानों के साथ छल - विधायक शशांक भार्गव


vidisha news
विदिशाः- प्राथमिक कृषि साख सरकारी समिति मर्यादित भदारबडागांव के किसान कोक ंिसंह पुत्र खूबसिंह निवासी ग्राम खरी द्वारा सोसायटी में के.सी.सी ़ऋण दो लाख 17 हजार 928 रूपये लिया गया था। सरकार द्वारा ऋण अदायगी की अंतिम तिथि 15 अप्रेल 2022 तय की गई हैं। आज 25 अप्रेल 2022 को किसान कोकसिंह द्वारा ऋण की आदायगी की गई तो समिति द्वारा 12160 रूपये ब्याज की वसूली की गई जो कि सर्वथा अनुचित है। एक और तो मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान द्वारा जीरो प्रतिशत ब्याज का ढिढोरा चारो ओर पीटा जा रहा है। दूसरी ओर किसानो द्वारा सरकारी तौल कांटे पर उनकी उपज गंेहू चने की विक्री 4 अप्रेल 2022 से लेकर आज तक की जा रही हैं। उसका भुगतान 20 दिन पश्चात भी किसानो के खाते में नही डाला जा रहा है तो यह कैसे संभव है कि 15 अप्रेल को किसान अपनी ऋण अदायगी कर देगा। किसान कोकसिंह द्वारा फसल का पैसा प्राप्त ना होने के कारण ओवरडयू होने के डर से साहूकारो से ब्याज पर पैसा लेकर मात्र 10 दिन बाद जमा किया गया तो बड़ी राशि ब्याज के रूप में वसूल की गई। आश्चर्यजनक बात यह है कि जो रसीद समिति द्वारा दी गई है उसमें ब्याज की रािश नही दर्शाई गई है। विधायक भार्गव ने कहा शासन से हमारी मांग है कि जब तक किसानो का गंेहू चने का भुगतान सरकार द्वारा नही किया जाता तब तक किसानो से केसीसी ऋण पर ब्याज की राशि ना वसूली जाए एवं जिन किसानो से ब्याज की राशि वसूल कर ली गई है वह राशि किसानो के खाते में वापिस लौटाई जाए।


लंबित आवेदनों की समीक्षा


कलेक्टर श्री उमाशंकर भार्गव ने सोमवार को विभिन्न विभागों में लंबित आवेदनों की समीक्षा की। नवीन कलेक्ट्रेट के बेतवा सभागार कक्ष में आयोजित इस बैठक में समस्त एसडीएम सहित अन्य खण्ड स्तरीय अधिकारी भी वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से संवाद किया जा रहा था। कलेक्टर श्री भार्गव ने इस दौरान सीएम हेल्पलाइन, समाधान ऑनलाइन तथा कलेक्टर, कमिश्नर कॉन्फ्रेंस की बिन्दुओं के क्रियान्वयन पर प्रकाश डालते हुए संबंधितों को शीघ्र कार्यवाही संपादित करने के निर्देश दिए हैं। कलेक्टर श्री भार्गव ने कहा कि सीएम हेल्पलाइन के आवेदनों के निराकरण मामलों में प्रदेश स्तरीय जारी सूची में विदिशा छठवें स्थान पर है, उन्होंने निराकरण के मामलों में यही गति बनाए रखने के निर्देश समस्त विभागों के जिलाधिकारियों व खण्ड स्तरीय अधिकारियों को दिए हैं। कलेक्टर श्री भार्गव ने कहा कि अब अप्रैल माह में प्राप्त होने वाली सीएम हेल्पलाइन के आवेदनों को सर्वोच्च प्राथमिकता से निराकृत कराया जाना सुनिश्चित करें। ताकि निर्धारित मापदण्डों के अनुरूप जिले की रैंक में गिरावट ना आए। उन्होंने 100 दिवस के लंबित आवेदनों पर भी विशेष जोर देते हुए कहा है कि इन आवेदनों के निराकरण हेतु संबंधित विभाग एसडीएम की मौजूदगी में आवेदक की उपस्थिति सुनिश्चित कराएं ताकि निराकरण की विशेष पहल हो सके। जिला पंचायत सीईओ डॉ योगेश भरसट ने बीस अप्रैल को गत माह मार्च की जारी रैंकिंग की जानकारी पावर प्रेजेन्टेशन के माध्यम से दी। उन्होंने बताया कि जिले के कई विभागों के द्वारा उत्कृष्ट प्रदर्शन कर जिले को टॉप-10 की पॉजिशन में लाया गया है, वहीं कुछ विभाग अभी भी बी-ग्रेड की सूची में शामिल हैं। इन विभागों के द्वारा विशेष पहल की जाती तो निश्चित ही जिला टॉप-5 में शामिल होता। उन्होंने सीएम हेल्पलाइन के आवेदनों के निराकरण हेतु निर्धारित मापदण्डों पर प्राप्त होने वाले अंकों व वैटेज की विस्तृत जानकारी दी है। उपरोक्त बैठक में डिप्टी कलेक्टर द्वय श्रीमती अनुभा जैन, श्रीमती अमृता गर्ग के अलावा विदिशा एसडीएम गोपालसिंह वर्मा समेत समस्त विभागों के जिलाधिकारी मौजूद थे।


पेयजल की समस्याओं का शीघ्र समाधान करें- कलेक्टर


कलेक्टर श्री उमाशंकर भार्गव ने आज जिलाधिकारियों के साथ-साथ खण्ड स्तरीय अधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि भ्रमण के दौरान कहीं भी पेयजल की समस्या संज्ञान में आती है तो अविलम्ब संबंधित एसडीएम व लोक स्वास्थ्य यांत्रिकीय विभाग की जानकारी में जरूर लाएं ताकि ग्रामीण क्षेत्रों में पेयजल की समस्या विकराल रूप ना ले पाए। कलेक्टर श्री भार्गव ने समस्त एसडीएम को निर्देश दिए हैं कि सप्ताह में दो दिन स्थानीय स्तर पर पेयजल आपूर्ति कार्यों की समीक्षा अवश्य करें। साथ ही लोक स्वास्थ्य यांत्रिकीय विभाग द्वारा संचालित कंट्रोल रूम में पेयजल से संबंधित कुल कितनी समस्याएं प्राप्त हुई हैं और उनका निराकरण कितनी अवधि में किया गया है इत्यादि पर सतत नजर रखें। बैठक में बताया गया कि विदिशा शहर में पेयजल आपूर्ति के लिए हलाली डेम से पानी छोड़ा गया है ततसंबंध में कलेक्टर श्री भार्गव ने लंबित राशि का भुगतान शीघ्र कराने के निर्देश मुख्य नगर पालिका अधिकारी को दिए हैं। बैठक में अनुविभागवार पेयजल आपूर्ति के संबंध में किए जाने वाले प्रबंधों की समीक्षा की गई थी। 


गौशाला में चारा भण्डारित कराना सुनिश्चित करें-कलेक्टर


कलेक्टर श्री उमाशंकर भार्गव ने लंबित आवेदनों की समीक्षा बैठक के दौरान समस्त एसडीएमों को निर्देश दिए हैं कि उनके कार्य क्षेत्रों की सभी शासकीय गौशालाओं में पशुओं के लिए चारा (भूसा) भण्डारित कराएं। उन्होंने कहा है कि जिले में भूसा परिवहन पर प्रतिबंध लगाया गया है इसके बावजूद भूसा परिवहन होने की खबरें अखबारों में प्रकाशित हो रही हैं। उन्होंने उपरोक्त जारी आदेश का कड़ाई से पालन सुनिश्चित कराने के निर्देश दिए हैं। कलेक्टर श्री भार्गव ने कहा है कि जांच, पड़ताल के दौरान जहां भी भूसा परिवहन करता पाया जाता है उसे जप्त कर नजदीक की गौशाला में भण्डारित कराएं। ततसंबंध में पशु चिकित्सा सेवाएं विभाग के उप संचालक श्री ओमप्रकाश गौर को निर्देश दिए गए हैं कि जिले की प्रत्येक शासकीय गौशाला में अब तक कितना चारा भण्डारित कराया गया है कि जानकारी स्थानीय अवलोकन कर प्राप्त करें और उक्त जानकारी से संबंधित क्षेत्र के एसडीएम व जिला कार्यालय को उपलब्ध कराएं।


जल संरचना स्थलों से अतिक्रमण हटाने की कार्यवाही करें


कलेक्टर श्री उमाशंकर भार्गव ने सोमवार को जलाभिषेक अभियान के कार्यों की समीक्षा करते हुए समस्त एसडीएमों को निर्देश दिए हैं कि जिन क्षेत्रों में नवीन तालाबों का खनन कार्य किया जाना है उन क्षेत्रों पर कहीं भी अतिक्रमण ना हो यह सुनिश्चित करें। यदि किसी के द्वारा तालाब खनन भूमि परिसर पर अतिक्रमण किया गया है अथवा पूर्व से है। ऐसे अतिक्रमणकारियों को शीघ्र पृथक करने की कार्यवाही करें। साथ ही दोबारा कोई अतिक्रमण ना करे इसके लिए स्थानीय जनप्रतिनिधियों व गणमान्य नागरिकों को संयुक्त रूप से जिम्मेदारी सौंपे। जिला पंचायत सीईओ डॉ योगेश भरसट ने जलाभिषेक अभियान के तहत संपादित किए जाने वाले कार्यों पर गहन प्रकाश डालते हुए बताया कि जिला ग्राम एवं निकाय क्षेत्रों के लिए जलाभिषेक अभियान के तहत पृथक-पृथक कार्ययोजना तय की गई है। उन्होंने बताया कि जिले में अमृत सरोवर के तहत सौ तालाबो का निर्माण कराया जाएगा वहीं विभिन्न स्थलों पर बोल्डर चैक, गली प्लग के कुल 975 कार्य किए जाएंगे। 23 स्थलों पर कंटूर टें्रच के अलावा 380 गेवियन संरचनाएं, 18 परकुलेशन तालाब, 280 चेक डेम, 90 स्टाफ डेम, 42 तालाब, 165 भूमिगत डाईक, 400 रिचार्ज शाफ्ट, 2150 खेत तालाब, 810 रूटवाटर हार्वेस्टिंग के कार्य किए जाने है। जलाभिषेक अभियान के तहत 691 पुष्कर धरोहर अभियान के अंतर्गत पुराने तालाबों, चेक डेमों का जीर्णोद्वार अथवा नवीनीकरण किया जाएगा। इसके अलावा रिचार्ज पिट, शोक पिट, कूप, ट्यूब बैल रिचार्ज, वाटर मैनेजमेंट हेतु विकेन्द्रीकृत संरचनाएं, बावडियों का जीर्णोद्वार, बलराम तालाब व मत्स्य पालन तालाब में जलाभिषेक के कार्य संपादित किए जाएंगे।


नामांतरण प्रकरणों के निराकरण में विदिशा अव्वल


कलेक्टर श्री उमाशंकर भार्गव ने आज लंबित आवेदनों की समीक्षा बैठक के दौरान बताया कि नामांतरण के प्रकरणों के निराकरण मामलों में विदिशा जिला प्रदेश में अव्वल है। उन्होंने जिले में शेष 22 नामांतरण के प्रकरण शीघ्रतिशीघ्र निराकरण करने के निर्देश संबंधित एसडीएमों को देते हुए कहा कि विदिशा जिले में एक भी प्रकरण नामांतरण का लंबित ना रहें यह हमारा ध्येय होना चाहिए। कलेक्टर श्री भार्गव ने कहा कि सीमांकन के प्र्रकरणों का भी शत प्रतिशत निराकरण कराया जाना सुनिश्चित हो। वर्तमान में अधिकांश खेतों में फसल काटी जा चुकी हैं अतः सीमांकन के कार्य 15 जून के पहले शत प्रतिशत करना सुनिश्चित करें। ततसंबंध में उन्होंने एसडीएमवार जानकारियां प्राप्त की। उपार्जन कार्यो की समीक्षा बैठक के दौरान कलेक्टर श्री भार्गव ने कहा कि एक भी दाना बारिश में भीगना नहीं चाहिए। यदि कहीं ऐसा पाया गया तो संबंधित समिति के साथ-साथ ट्रांसपोर्टर और अन्य विभागों के अधिकारियों के खिलाफ कार्यवाही की जाएगी। नोडल अधिकारी श्रीमती रश्मि साहू ने बताया कि जिले में 95 प्रतिशत गेंहू का परिवहन कर वेयर हाउसों में भण्डारित कराया जा चुका है। इस दौरान क्रियान्वित भुगतान प्रक्रिया की भी जानकारी दी गई।


दिव्यांग खिलाड़ियों के मध्य क्रिकेट मैच


vidisha news
कुशाभाऊ ठाकरे खेल परिसर कनारा मैदान में आज सोमवार को डिस्ट्रिक्ट क्रिकेट एसोसिएशन एवं कनारा क्रिकेट क्लब विदिशा के तत्वाधान में दिव्यांग क्रिकेट मैच का आयोजन किया गया था। मध्यप्रदेश टाइगर्स बनाम मध्यप्रदेश सूरमा के मध्य होने वाले मैच शुभांरभ से पहले कलेक्टर श्री उमाशंकर भार्गव, जिला क्रिकेट संघ के अध्यक्ष श्री मुकेश टंडन, भारतीय उद्योग व्यापार मंडल के प्रदेश अध्यक्ष श्री राजेश जैन, श्री दिनेश कुशवाह, श्री छत्रपाल शर्मा, नेशनल कैप्सूल प्राइवेट लिमिटेड के डायरेक्टर श्री राकेश शर्मा, सामाजिक कल्याण विभाग के श्री पीके मिश्रा, श्री नरेन्द्र रघुवंशी, श्री अमित बंसल ने दोनों टीमो के खिलाड़ियों से परिचय प्राप्त कर उनका हौंसला अफजाई किया। इस अवसर पर कलेक्टर श्री भार्गव ने आयोजन को सुव्यवस्थित रूप से सम्पन्न कराने हेतु जिला दिव्यांग पुनर्वास समिति की ओर से 25 हजार रुपये की राशि मैच आयोजकों को उपलब्ध कराने की व्यवस्था सुनिश्चित कराई है। 


लटेरी में आयोजित हुआ स्वास्थ्य मेला, दो हजार से अधिक हितग्राहियों को मिला स्वास्थ्य लाभ, आयुष्मान कार्ड और हेल्थ आईडी भी बनाईं


vidisha news
आजादी का अमृत महोत्सव के उपलक्ष्य में राज्य शासन से प्राप्त दिशा निर्देशों पर विकासखंड लटेरी के उच्चतर माध्यमिक विद्यालय में खंड स्तरीय स्वास्थ्य मेला का आयोजन किया गया। मेला के शुभारंभ अवसर पर जनपद अध्यक्ष श्री माखन सिंह यादव, श्री राम मोहन शर्मा, जिला उपाध्यक्ष लक्ष्मण सिंह बघेल, विजय भूषण चौहान, अंत्योदय समिति के अध्यक्ष श्री रामगुलाम राजोरिया, महाराज सिंह राजपूत, सरदार सिंह कुशवाह के अलावा मुख्य चिकित्सा स्वास्थ्य अधिकारी डॉक्टर एपी सिंह, एसडीएम श्री बृजेंद्र रावत, खंड चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ सुरेंद्र धाकड़, एसडीओपी श्री एसके तोमर सहित अन्य जनप्रतिनिधियों एवं गणमान्य नागरिकों की उपस्थिति में मां सरस्वती जी की पूजन अर्चना के साथ माल्यार्पण कर दीप प्रज्वलित कर किया गया। स्वास्थ्य मेले में सभी प्रकार की जांच हेतु काउंटर लगाए गए थे। जांच उपचार हेतु स्थानीय स्तर के साथ साथ विदिशा, बासौदा जिला अस्पताल के विशेषज्ञ डॉक्टरों की ड्यूटी लगाई गई थी। जिनके द्वारा हितग्राहियों की जांच एवं उपचार किया गया। साथ ही मेले में पात्र हितग्राहियों जिनके आयुष्मान कार्ड नहीं बने थे उनके आयुष्मान कार्ड बनाए गए एवं हेल्थ आईडी भी बनाई गई है। स्वास्थ्य मेला में संभाग से डिप्टी डायरेक्टर डॉ सुरेश कुमार ने भी मेले का निरीक्षण किया। सभी अधिकारियों एवं अतिथियों द्वारा मेले में लगाए गए काउंटरों का अवलोकन कर सराहना की एवं आवश्यक दिशा निर्देश भी दिए गए। मेले में लटेरी क्षेत्र की आशा सुपरवाइजर श्रीमती राजबाला बघेल को मिशन परिवार विकास पखवाड़ा में उत्कृष्ट कार्य करने पर अधिकारियों एवं अतिथियों द्वारा सम्मानित किया गया। स्वास्थ्य मेला कार्यक्रम के दौरान लटेरी एसडीएम श्री बृजेन्द्र सिंह रावत द्वारा भी अपना ब्लड टेस्ट कराया गया। उनका ब्लड टेस्ट मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ एपी सिंह द्वारा किया गया। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉक्टर एपी सिंह ने बताया कि प्रधानमंत्री जी की मंशा अनुरूप देश की समस्त आबादी को आयुष्मान योजना का लाभ देने की योजना बनाई जा रही है। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ एपी सिंह ने बताया कि विकासखंड लटेरी में आयोजित स्वास्थ्य मेले में कुल 2037 हितग्राहियों का पंजीयन किया गया। जिनमें 1038 पुरुष एवं 999 महिलाएं शामिल हैं। शिविर में 155 हितग्राहियों की हेल्थ आईडी बनाई गई एवं 123 हितग्राहियों के आयुष्मान कार्ड बनाए गए हैं। 147 गर्भवती माताओं की जांच एवं उपचार किया गया। शिविर में 201 हितग्राहियों के गैर संचारी रोगों की जांच के अलावा 171 आरबीएसके के हितग्राहियों की जांच, 75 बच्चों की जांच की गई तथा अन्य सामान्य मरीजों की जांच कर उपचार किया गया है। विकासखंड स्तर पर आयोजित मेले में मुख्य चिकित्सा स्वास्थ्य अधिकारी डॉक्टर एपी सिंह द्वारा सभी काउंटरों का भ्रमण कर सभी से मेले में आए हुए हितग्राहियों के साथ उचित व्यवहार कर स्वास्थ्य जांच उपचार करने के निर्देश दिए।


जिला पुरातत्व पर्यटन संवर्धन समिति की बैठक सम्पन्न


vidisha news
कलेक्टर श्री उमाशंकर भार्गव की अध्यक्षता में सोमवार को जिला पुरातत्व पर्यटन संवर्धन समिति की बैठक आयोजित की गई थी। जिसमें कलेक्टर श्री भार्गव ने जिले की पुरातत्व धरोहरों का अधिक से अधिक हर प्लेटफार्म पर प्रचार प्रसार हो ताकि सांची तक आने वाले पर्यटक विदिशा जिले के पर्यटन स्थलों का भी भ्रमण करें। समिति के सदस्यों द्वारा पर्यटन क्षेत्रों पर आधारित ब्रोसर्स तैयार करने, टूरिस्ट बस चलाने के अलावा पर्यटन स्थलों पर बुनियादी सुविधाओं की पूर्ति के संबंध में सुझाव दिए गए है। इन सुझावों पर शीघ्र ही अमल कराने के निर्देश कलेक्टर ने संबंधितों को दिए है। जिला पंचायत सीईओ डॉ योगेश भरसट ने कहा कि बाहर से आने वाले पर्यटकगणों को जिले की सभी धरोहरों की जानकारी सुगमता से मिलें ताकि क्षेत्र की ख्याति देश ही नहीं बल्कि विदेशों में भी पहुंचे इसके लिए हर संभव प्रयास ग्रामीण विकास विभाग के माध्यम से सुनिश्चित किए जाएंगे। उन्होंने बुनियादी आवश्यकताओं के तहत महिलाओं के लिए प्रसाधन के लिए आवश्यक कार्य शीघ्र ही पंचायतों के माध्यम से संपादित कराने से आश्वस्त कराया है। बैठक के प्रारंभ में समिति के सदस्यों की जानकारी दी गई वहीं महिलाओं हेतु सुरक्षित पर्यटन स्थल परियोजना के तहत आत्म रक्षा के हुनरों पर आधारित पुस्तिका का विमोचन कलेक्टर के द्वारा किया गया। उपरोक्त पुस्तिका के संबंध में समर्थ संस्था की केयर टेकर मंजू शर्मा के द्वारा विस्तृत जानकारी दी गई हैं। बैठक में समिति के सदस्यगणों के अलावा विभिन्न विभागों के अधिकारी मौजूद थे। 


सेटेलाइट के माध्यम से नरवाई जलाने की निगरानी


किसान कल्याण तथा कृषि विकास विभाग के उप संचालक श्री पीके चौकसे ने बताया कि नरवाई नहीं जलाने की अपील सभी कृषकों से पूर्व में ही की गई है। अब प्रदेश में नरवाई जलाने की घटनाओं की निगरानी सेटेलाइट के माध्यम से सीधे की जा रही है। जिसकी जानकारी भी ई-मेल तथा व्हाटसएप के माध्यम से जिलों को प्राप्त हो रही है। कृषक नरवाई में आग लगाते हैं तो उनके विरूद्ध कार्यवाही की जावेगी। म0प्र0 शासन पर्यावरण विभाग के नोटिफिकेशन तथा से पर्यावरण सुरक्षा हेतु नेशनल ग्रीन ट्रिव्यूनल के निर्देशों के  अंतर्गत फसलों की कटाई के उपरांत फसल अवशेषों को खेतों में जलाये जाने को प्रतिबंधित किया गया है। उप संचालक श्री चौकसे ने बताया कि जिले में फसलों की कटाई में कम्बाईन हार्वेस्टर का चलन व्यापक रूप से होता है। कम्बाईन हार्वेस्टर से कटाई के उपरांत फसल अवषेषों में आग लगाने की घटनाओं को देखते हुए, रबी की कटाई में कम्बाईन हार्वेस्टर के साथ स्ट्रा मैनेजमेंट सिस्टम को लगाने की अनिवार्यता सुनिष्चित की गई है। यदि कृषक स्ट्रा मैनेजमेंट सिस्टम का उपयोग नहीं करते है, तो उन्हें स्ट्रारीपर का उपयोग कर के फसल अवशेषों से भूसा प्राप्त करना अनिवार्य है। इसके उपरांत भी यदि कृषक नरवाई में आग लगाते हैं तो उनके विरूद्ध पर्यावरण विभाग द्वारा जारी उपरोक्त नोटिफिकेशन अनुसार नरवाई में आग लगाने की घटनाओं को प्रतिवंधित करके दण्ड अधिरोपित करने का प्रावधान है। नरवाई जलाने से पर्यावरण प्रदूषण, जनहानि, वन सम्पदा एवं अन्य प्रकार की हानियॉ होती है। साथ ही साथ भूमि में उपस्थित लाभदायक सूक्ष्म जीवांणु, कैंचुआ आदि नष्ट हो जाते है और भूमि की उर्वरा शक्ति भी कम हो जाती है। अतः कृषक भाईयों से अपील की जाती है कि खेतों में नरवाई न जलाकर कर उसको रोटावेटर या प्लाऊ के माध्यम जुताई कर खेतो में मिलावें। किसान कल्याण तथा कृषि विकास विभाग के उप संचालक श्री चौकसे ने नरवाई जलाने की सेटेलाईट के माध्यम से प्राप्त रिपोर्ट की जानकारी देते हुए बताया कि प्रदेश के प्रथम पांच जिलो में विदिशा भी शामिल है। सेटेलाईट रिपोर्ट अनुसार सबसे अधिक होशंगाबाद जिले में 5500 नरवाई जलाने की घटनाएं दर्ज हुई हैं जबकि विदिशा में 3017, रायसेन में 2081, सीहोर में 1305 तथा सिवनी जिले में नरवाई जलाने की 1162 घटनाएं सेटेलाईट के माध्यम से दर्ज कर रिपोर्ट की गई है।


लाडली लक्ष्मी उत्सव 2 को


राज्य स्तरीय प्राप्त निर्देशों के अनुपालन में लाडली लक्ष्मी उत्सव दो मई को मनाया जाना है। इस अनुक्रम में इस वर्ष लाडली उत्सव दो मई से 11 मई 2022 तक मनाया जाएगा। जिसमें विभिन्न स्तरों पर अनेकों कार्यक्रम होंगे। लाडली लक्ष्मी उत्सव कार्यक्रम के तहत मुख्य कार्यक्रम मुख्यमंत्री श्री शिवराजसिंह चौहान जी के मुख्य आतिथ्य में भोपाल में आयोजित होगा। जिसमें लगभग 25 हजार प्रतिभागी (लाडलियां, उनके अभिभावक, आंगनबाड़ी कार्यकर्ता, सहायिका, जेण्डर चैंपियंस, शौर्यादल सदस्य) आदि उपस्थित रहेंगे। दो मई को आयोजित उक्त कार्यक्रम में राज्य स्तरीय कार्यक्रम के अतिरिक्त जिला, विकासखण्ड और ग्राम पंचायत स्तर पर भी कार्यक्रम आयोजित होंगे। जिसमें जिले के प्रभारी मंत्री, विधायकगण एवं जनप्रतिनिधिगण भी उपस्थित रहेंगे। 


लाडली लक्ष्मी उत्सव : दो मई से 11 तक होंगे जिला व विकासखण्ड स्तर पर होंगे विभिन्न आयोजन


राज्य स्तरीय प्राप्त निर्देशों के अनुपालन में लाडली लक्ष्मी उत्सव कार्यक्रम के तहत दो मई से 11 मई तक विदिशा जिले में विकासखण्ड एवं ग्राम पंचायत स्तर पर विभिन्न कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे। कार्यक्रम के तहत तीन मई को अक्षय तृतीया के अवसर पर बाल विवाह रोको अभियान चलाया जाएगा इसके अलावा चार मई से छह मई 2022 तक ग्राम पंचायत स्तर पर, सात मई से 09 मई 2022 तक विकासखण्ड स्तर पर तथा दस मई से 11 मई 2022 तक जिला स्तर पर विभिन्न कार्यक्रम क्रियान्वित किए जाएंगे। विकासखण्ड स्तरीय कार्यक्रम अन्तर्गत 07 मई 2022 को कैरियर मार्गदर्शन एवं व्यक्तिगत विकास संबंधी मार्गदर्शन हेतु विषय-विशेषज्ञों का लाडली बालिकाओं से संवाद। विकासखण्ड स्तर की सफल महिला उद्यमी, चिकित्सक, अधिकारी, जनप्रतिनिधि, अशासकीय संगठन की महिलाओं से लाडली बालिकाओं की चर्चा, लाडली बालिकाओं को बैंक की कार्य प्रणाली से अवगत कराने हेतु स्थानीय बैंक का भ्रमण, लाडली बालिकाओं के लिए कम कीमत के रीयूजेबल सैनिटरी पैड के निर्माण एवं उपयोग की जानकारी व्यक्तिगत स्वच्छता जानकारी शामिल हैं। इसके अतिरिक्त 08 मई 2022 को विकासखण्ड स्तर के शासकीय कार्यालय यथा अनुविभागीय अधिकारी कार्यालय, डाकघर, बैंक, पुलिस थाना आदि की कार्यप्रणाली से अवगत कराने हेतु भ्रमण, जिले की सफल महिला उद्यमी, चिकित्सक अधिकारी, जनप्रतिनिधि, अशासकीय संगठन की महिलाओं से लाडली से लाडली बालिकाओं की चर्चा, लाडलियों को ट्रेफिक नियमों की जानकारी संबंधी प्रशिक्षण, विकासखण्ड स्तर पर विभिन्न प्रतियोगिताओं यथा प्रश्न मंच, क्विज रंगोली चित्रकला प्रतियोगिता का आयोजन, विभिन्न स्तरों पर कबड्डी, खो-खो, पिट्टू सितौलिया दौड़ प्रतियोगिताओं का आयोजन तथ बाल उपयोगी फिल्मों का प्रदर्शन किया जाएगा। लाडली लक्ष्मी उत्सव के तहत जिला स्तरीय कार्यक्रम अन्तर्गत 10 मई 2022 को भी विभिन्न कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे, जिनमें बालिकाओं एवं महिलाओं से संबंधित सामाजिक मुद्दों, विषयों पर लाडली बालिकाओं के लिए जिला स्तरीय वाद-विवाद प्रतियोगिता का आयोजन, बालिकाओं के लिए बालिका शिक्षा, महिला सशक्तिकरण लैंगिक समानता आदि विषयों पर संवाद कार्यक्रम, शिक्षा के क्षेत्र में अथवा अन्य किसी क्षेत्र में उत्कृष्ट उपलब्धि प्राप्त करने वाली लाडलउी लक्ष्मी बालिकाओं का सम्मान, बाल उपयोगी फिल्मों का प्रदर्शन, नुक्कड़ नाटक के माध्यम से बालिकाओं से मुद्दों पर जन-जागरूकता प्रदर्शन आदि कार्यक्रम संपादित किए जाएंगे। उक्त कार्यक्रम में 11 मई 2022 को जिला स्तर पर जन्म के समय बेहतर लिंगानुपात के क्षेत्र में उल्लेखनीय कार्य करने वाली ग्राम पंचायत को पुरस्कृत किया जाएगा, विकासखण्ड स्तर पर आयोजित प्रतियोगिता में प्रथम, द्वितीय, तृतीय पुरस्कार प्राप्त बालिकाओं की जिला स्तर पर प्रतियोगिता एवं पुरस्कार वितरण, आश्वासन प्रमाण पत्र वितरण करने के उपरांत उत्सव का समापन होगा। 


रैली से जनजागरूकता का संदेश


विश्व मलेरिया दिवस पर आज सोमवार को जन जागरूकता रैली का आयोजन किया गया था। विदिशा शहर में नर्सिंग ट्रेनिंग सेंटर से जागरूकता रैली को मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ अखण्ड प्रतापसिंह ने हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। जिला मलेरिया अधिकारी श्री बीएम वरूण ने बताया कि मलेरिया की रोकथाम, बचाव हेतु जन जागरूकता अभियान शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्रों में पूरे एक माह तक संचालित किया जाएगा। इस दौरान स्थानीय रहवासियों को मलेरिया से बचाव के उपायों की जानकारी विभिन्न संसाधनों के माध्यम से दी जाएगी। जिसमें मुख्य रूप से मलेरिया रोग क्या है, कैसे फैलता है, इसके लक्षण क्या हैं, इससे कैसे बचा जा सके एवं मलेरिया की जांच तथा उपचार के बारे में आमजनों को गहन जानकारी दी जाएगी। जनजागरूकता रैली जेएनएम ट्रेनिंग सेंटर से शुरू होकर नगर के मुख्य मार्ग से होते हुए वापिस जेएनएम प्रांगण में सम्पन्न हुई है। इस रैली में डॉ भूपेन्द्रसिंह चौहान, जिला टीकाकरण अधिकारी डॉ डीके शर्मा, मीडिया ऑफिसर बीएस दांगी, हेमन्त कुलश्रेष्ठ ने भी सहभागिता निभाई है।


नगर परिषद कुरवाई में प्रदेश में अव्वल


सीएम हेल्पलाइन के तहत दर्ज आवेदनों के निराकरण मामलों में विदिशा जिले की नगर परिषद कुरवाई प्रदेश में अव्वल है कि जानकारी देते हुए जिला शहरी विकास अभिकरण की परियोजना अधिकारी व डिप्टी कलेक्टर श्रीमती अमृता गर्ग ने बताया कि कुरवाई नगर परिषद को कुल 34 शिकायते प्राप्त हुई थी जिनका शत प्रतिशत निराकरण कर सौ प्रतिशत वेंटेज स्कोर हासिल करते हुए ए रेटिंग है। जो प्रदेश में अव्वल है। जिले की अन्य निकायों के द्वारा सीएम हेल्पलाइन के मामलो में की गई निराकरण की कार्यवाही का वेटेंज स्कोर इस प्रकार से है। नगर परिषद शमशाबाद में 89.47, गंजबासौदा में 88.4, लटेरी में 86.96, नगरपालिका विदिशा मेंं 86.46, नगरपालिका सिरोंज 85.42 कुल वेटेंज स्कोर हासिल किया है। गौरतलब हो कि जिले की सभी छह निकायों के द्वारा ए ग्रेडिंग स्कोर हासिल किया गया है।

कोई टिप्पणी नहीं: