मधुबनी : किसान भागीदारी प्राथमिकता हमारी" अभियान का होगा आयोजन - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शुक्रवार, 22 अप्रैल 2022

मधुबनी : किसान भागीदारी प्राथमिकता हमारी" अभियान का होगा आयोजन

  • 24 अप्रैल से 1 मई तक चलेगा अभियान।  26 अप्रैल 2022 को जिले के कृषि विज्ञान केंद्र , चांनपुरा ,बेनीपट्टी एवं कृषि विज्ञान केंद्र ,सुखेत, झंझारपुर के प्रांगण में आयोजित होगा किसान मेला। । 

kisan-mela-madhubani
मधुबनी, कृषि एवं किसान कल्याण मंत्रालय , भारत सरकार से प्राप्त निर्देश के आलोक में आजादी के अमृत महोत्सव के अवसर पर " किसान भागीदारी प्राथमिकता हमारी अभियान"  के अंतर्गत 24 अप्रैल 2022 से 01 मई 2022 तक  हर पंचायतों में शिविर लगाकर प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना से लाभान्वित वैसे  किसानों  को  किसान क्रेडिट कार्ड से लाभान्वित करनी है जो अभी तक इसके लाभ से वंचित है। इसको लेकर शिविर का भी आयोजन किया गया है । जिलाधिकारी अमित कुमार ने किसान भाइयों से अनुरोध है कि अपने अपने पंचायत के किसान सलाहकार/ कृषि समन्वयक से संपर्क स्थापित कर अवश्य आवेदन करे।  उक्त शिविर का मुख्य उद्देश्य है कि किसान क्रेडिट कार्ड योजना के अंतर्गत सभी किसानों को केसीसी प्राप्त हो सके, ताकि रियासत ऋण की सहायता से उन्हें  ससमय इनपुट खरीदारी में मदद मिल सके ।इस शिविर में सभी तरह के किसान चाहे वह पशुपालन , दुग्ध उत्पादन एवं मत्स्य पालन करते हो उन्हें केसीसी सुविधा प्रदान की जाएगी महोत्सव के अवसर पर दिनांक 26 अप्रैल 2022 को जिला के अंतर्गत आत्मा के सहयोग से जिले के कृषि विज्ञान केंद्र , चांनपुरा ,बेनीपट्टी एवं कृषि विज्ञान केंद्र ,सुखेत, झंझारपुर के प्रांगण में किसान मेला का आयोजन किया जा रहा है । जिसमें कृषि वैज्ञानिकों के द्वारा किसान वैज्ञानिक वार्तालाप के माध्यम से किसानों के  ज्ञान वर्धन एवं लाभ हेतु प्राकृतिक खेती , कृषि यंत्रीकरण,  उत्कृष्ट तकनीक का प्रदर्शन एवं इमर्जिंग टेक्नोलॉजी पर विशेष प्रदर्शनी लगाया जाएगा तथा किसानों के ज्ञान वर्धन हेतु तकनीकी जानकारी उपलब्ध कराई जाएगी कार्यक्रम  के माध्यम से किसान उत्पादक संगठन ,कृषक हित समूह , महिला खाद्य सुरक्षा समूह के निर्माण एवं उससे होने वाले लाभों के बारे में विस्तृत रूप से किसानों को अवगत कराया जाएगा तथा जैविक खेती की ओर अग्रसर होने हेतु वैज्ञानिक तकनीक से अवगत कराया जाएगा ,तथा कृषि के साथ-साथ पशुपालन , मत्स्य पालन, बकरी पालन , मशरुम उत्पादन, एवं अन्य संबद्ध विषयों के बारे में जानकारी उपलब्ध कराई जाएगी। कार्यक्रम के दौरान कृषि विभाग भारत सरकार एवं राज्य सरकार द्वारा संचालित कार्यक्रम एवं योजनाओं से संबंधित जानकारी भी किसानों के बीच साझा की जाएगी ।जिलाधिकारी ने जिले वासियों से अनुरोध किया है कि उपरोक्त दोनों कृषि विज्ञान केंद्रों में आत्मा के माध्यम से भाग लेकर भारत सरकार एवं बिहार सरकार के माध्यम से कृषि विभाग के द्वारा संचालित योजनाओं का अवश्य लाभ उठाये।

कोई टिप्पणी नहीं: