झारखण्ड : लोहरदगा में हिंसा स्लीपर सेल का काम : पुलिस - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

बुधवार, 13 अप्रैल 2022

झारखण्ड : लोहरदगा में हिंसा स्लीपर सेल का काम : पुलिस

lohardagga-violance-by-sleeper-cell-police
लोहरदगा, 13 अप्रैल, पुलिस और प्रशासन ने दावा किया है कि झारखंड के लोहरदगा में रामनवमी के जुलूस पर रविवार को धारदार हथियार से हमले और पथराव के लिए स्लीपर सेल के लोग जिम्मेदार हैं जिनका शीघ्र खुलासा कर दिया जायेगा। लोहरदगा में रामनवमी के अवसर पर रविवार को हिरही भोक्ता बगीचा में हुयी सांप्रदायिक हिंसा की घटना के बाद उत्पन्न स्थिति को सामान्य बनाने के उद्देश्य से अनुमंडल पदाधिकारी अरविंद कुमार लाल ने जिले के प्रबुद्ध लोगों के साथ आज बैठक की और बताया कि जुलूस पर धारदार हथियार से हमले और पथराव के लिए स्लीपर सेल जिम्मेदार हैं जिनका शीघ्र खुलासा कर दिया जायेगा। उन्होंने कहा, ‘‘यहां जो भी घटना घटी है वह दुखद एवं दुर्भाग्यपूर्ण है। उन्होंने कहा कि लोहरदगा में ऐसी घटनाओं को अंजाम देने के लिए स्लीपर सेल काम कर रहा है और पूरी घटना को अंजाम भी स्लीपर सेल के द्वारा ही दिया गया है। उन्होंने कहा, ‘‘इन स्लीपर सेल की शुरूआत कुछ दिन पहले ही हुई थी। स्लीपर सेल के सदस्यों ने लोहरदगा शहर में भी माहौल बिगाड़ने की पूरी कोशिश की थी लेकिन उनकी कोशिश नाकामयाब हो गयी।’’ लाल ने आह्वान किया कि ऐसे लोगों को सभी लोग चिन्हित करें और प्रशासन को सूचित करें। उन्होंने कहा कि प्रशासन पूरी मुस्तैदी के साथ अपना काम कर रहा है लेकिन समाज में अमन, चैन बरकरार रहे इसके लिए समाज के प्रबुद्ध वर्ग के लोगों को भी आगे आना होगा। उन्होंने कहा कि शहर में शांति रहे और जिले में अमन चौन कायम रहे ये जिम्मेदारी सबकी है। बैठक में अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी (एसडीपीओ) वशिष्ठ नारायण सिंह ने कहा कि पुलिस लागातार जांच कर रही है। इस घटना में शामिल लोगों को चिन्हित किया जा रहा है। इस मामले में अबतक आठ लोग जेल भेजे जा चुके हैं। आगे भी अनुसंधान जारी है। उन्होंने कहा, ‘‘मैं विश्वास के साथ कह रहा हूं कि इस मामले में कोई निर्दाेष व्यक्ति नहीं फंसेगा और कोई भी दोषी व्यक्ति नहीं बचेगा।’’

कोई टिप्पणी नहीं: