मुरैना : राष्ट्रीय युवा सम्मेलन का उद्घाटन - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

बुधवार, 13 अप्रैल 2022

मुरैना : राष्ट्रीय युवा सम्मेलन का उद्घाटन

naio-nal-youh-seminar
मुरैना.(मध्य प्रदेश) मुरैना जिले में संचालित है महात्मा गांधी सेवा आश्रम, जौरा.यहां पर राष्ट्रीय युवा सम्मेलन में भाग लेने 30 राज्यों से 650 नौजवान आये हैं.आज राष्ट्रीय युवा सम्मेलन का विधिवत प्रारंभ कर दिया गया है.बागी आत्मसमर्पण के 50वीं वर्षगांठ समारोह के अंतर्गत महात्मा गांधी सेवा आश्रम जौरा तथा राष्ट्रीय युवा योजना द्वारा आयोजित राष्ट्रीय युवा सम्मेलन का उद्घाटन डा.एस.एन.सुब्बाराव के छाया चित्र पर सूत माला अर्पण व दीप प्रज्जवलित कर किया गया. जौरा में आयोजित राष्ट्रीय युवा सम्मेलन के उद्घाटन के अवसर पर सर्वोदय मण्डल उत्तरप्रदेश के अध्यक्ष और प्रख्यात गांधीवादी रामधीरज भाई ने कहा कि स्वयं के लिए जीवन जीने की सोच और कार्य से समाज में अन्याय, हिंसा, असमानता जैसी बुराईयां बढ़ती हैं. इसलिए यदि युवा पीढ़ी को बेहतर समाज चाहिए तो परहित के लिए कार्य करना होगा और परहित के लिए सोच और कार्य ही सर्वोदय की परिकल्पना है. उन्होंने कहा कि जलवायु परिवर्तन का असर आम जन जीवन पर सबसे अधिक है, असमय और अतिवृष्टि, सूखे के कारण खेती किसानी पर निर्भर बहुसंख्यक समाज और गरीब, मजदूरों को चुनौतियों का सामना करना पड़ रहा है.मानव समाज को चेतने की आवश्यकता है, वृक्षारोपण से धरती माता को हरा-भरा और जल संरक्षण व संचयन से पर्यावरण को समृद्व किया जा सकता है. बागी आत्मसमर्पण के 50वीं वर्षगांठ समारोह के अंतर्गत महात्मा गांधी सेवा आश्रम जौरा तथा राष्ट्रीय युवा योजना द्वारा आयोजित राष्ट्रीय युवा सम्मेलन का उद्घाटन सत्र में महात्मा गांधी सेवा आश्रम जौरा के अध्यक्ष श्री रनसिंह परमार ने देश भर से आये सभी नवजवानों को स्वागत करते हुए कहा कि नयी पीढ़ी के कंधो पर समाज और राष्ट्र का भार है.हर एक नवजवान को डा.एस.एन.सुब्बाराव, भाई जी के जीवन से प्रेरणा लेकर ‘एक घंटा देह को-एक घंटा देश को’ पर कार्य करना चाहिए. राष्ट्रीय युवा सम्मेलन में त्रिवेन्द्रम से आये  सुनील   ने कहा कि बागी आत्मसमर्पण के बारे में सुना और पढ़ा था किंतु यहां पर आत्मसमर्पित बागी बहादुर सिंह से मिलकर उनके विचारों से अवगत होना मेरे लिए गौरव की बात है. पश्चिम बंगाल से आयी कल्याणी सरकार ने कहा कि भाई जी के जीवन से प्रेरणा लेकर समाज के लिए कुछ कर सकूं तो जीवन धन्य हो जाएगा.राष्ट्रीय युवा योजना के न्यासी केरल के सुकुमारन ने बताया कि युवाओं के साथ जुड़कर समाज परिवर्तन के कार्य से जुड़ने की प्रेरणा भाई जी से मिली थी. न्याय एवं शांति के लिए युवा विषय पर आयोजित इस पांच दिवसीय युवा सम्मेलन के प्रारंभ में युवा सामाजिक कार्यकर्ता और रायुयो के न्यासी श्री मधुसुदन दास जी ने ‘हिंदी है हम करोडों-करोड़’ नामक सामूहिक गीत का गान किया जिसे सभी भागीदारों ने दोहराया. युवा सम्मेलन में प्रातःकाल में योग, सामूहिक श्रम दान और राष्ट्र/ध्वजारोहण जुड़े कक्षाओं में युवाओं ने बढ़चढ़कर हिस्सा लिया. ध्वजारोहण से जुड़े महत्वपूर्ण तथ्यों की जानकारी महराष्ट्र से आये नरेन्द्र बडगांवकर ने दी. बागी आत्मसमर्पण दिवस पर हो रहे सम्मेलन में जवाहर लाल नेहरू के प्रोफेसर आनंद कुमार, प्रख्यात समाजवादी चिंतक व पूर्व सांसद श्री रघु ठाकुर शरीक होंगे और विचारों को प्रस्तुत करेंगे. गांधी आश्रम के प्रबंधक श्री प्रफुल्ल श्रीवास्ताव ने कहा कि समारोह के भागीदारों के पंजीयन, भोजन, आवास, पण्डाल, सुरक्षा, स्वच्छता इत्यादि से जुड़े सभी कार्यो के लिए जवाबदेह साथियों को जिम्मेवारी दी गयी है. पंजीयन कक्ष में आनंद सोनी, श्याम यादव, भोजन व्यवस्था सुनील शर्मा, जय सिंह, सुरक्षा व आवास श्री डोंगर शर्मा, संतोष भाई, पानी की व्यवस्था रितेश बैरागी स्वच्छता व साफ सफाई की व्यवस्था मदुरै से आये श्री अब्दुल भाई, सोशल मीडिया अनीश भाई देख रहे हैं.

कोई टिप्पणी नहीं: