झाबुआ (मध्य प्रदेश) की खबर 24 अप्रैल - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

विजयी विश्व तिरंगा प्यारा , झंडा ऊँचा रहे हमारा। देश की आज़ादी के 75 वर्ष पूरे होने पर सभी देशवासियों को अनेकानेक शुभकामनाएं व बधाई। 'लाइव आर्यावर्त' परिवार आज़ादी के उन तमाम वीर शहीदों और सेनानियों को कृतज्ञता पूर्ण श्रद्धासुमन अर्पित करते हुए नमन करता है। आइए , मिल कर एक समृद्ध भारत के निर्माण में अपनी भूमिका निभाएं। भारत माता की जय। जय हिन्द।

रविवार, 24 अप्रैल 2022

झाबुआ (मध्य प्रदेश) की खबर 24 अप्रैल

डि-लिस्टींग को लेकर नगर के हर मोहल्ले, हर वार्ड में पेंपलेंट वितरित कर पैेदा की जारही जनजागृति

  • 30 अप्रेल को जिला मुख्यालय पर होगा इसी मुद्दे को लेकर जंगी प्रदर्षन
  • कन्वर्टेड ईसाई बने लोगों को दोहरे लाभ से वंचित करने की मांग उठी

jhabua news
झाबुआ । जनजाति सुरक्षा मंच मध्यभारत के बैनर तले जनजाति जागरण एवं सुरक्षा मंच झाबुआ द्वारा आगामी 30 अप्रेल को जिला मुख्यालय पर ईसाई धर्म में धर्मान्तरित हुए ऐसे लोगों को डी-लिस्टींग किये जाने की मांग को लेकर जंगी प्रदर्शन किया जावेगा । मनोज अरोडा ने इस बारे में जानकारी देते हुए बताया कि इस मुद्दे को लेकर तथा केन्द्र एवं राज्य सरकार से ऐसे आदिवासी वर्ग के नाम से सरकारी योजनाओं, सरकारी नौकरियों में आरक्षण प्राप्त कर प्रवेश करने वालो, तथा विभिन्न सरकारी कार्यक्रमों का लाभ लेने वाले ऐसे लोगों को ईसाई धर्मावलम्बी मान कर मिलने वाले दोहरे लाभों को समाप्त करने के लिये पूरे अंचल एवं जिले में जनजागृति के माध्यम से वातावरण निर्मित किया जारहा है तथा इसे व्यापक जन समर्थन प्राप्त हो रहा है। मनोज अरोडा ने बताया कि 3 अगस्त 2021 को संसद में एक सवाल का जवाब देते हुए केन्द्र सरकार ने भी यह साफ कर दिया कि कोई भी व्यक्ति जो हिंदू, सिख या बौद्ध धर्म से अलग धर्म का अनुसरण करता है उसे अनुसूचित जाति वर्ग का नहीं माना जाएगा। सरकार ने कहा कि उनकी योजनाओं का उद्देश्य अनुसूचित जाति का कल्याण और विकास है। उनका लाभ कन्वर्टेड ईसाइयों को नहीं दिया जा सकता। उन्होने यह भी बताया कि धर्म परिवर्तन के बाद ईसाई या इस्लाम धर्म अपनाने वाले दलितों के लिये भी सरकारी नौकरियों, शिक्षण संस्थानों और कल्याणकारी योजनाओं में आरक्षण के लाभ का मुद्दा लंबे समय से विवाद का केन्द्र बना हुआ है.। तर्क यह भी है कि अनुसूचित जातियों के लाभ धर्म परिवर्तन करने वाले को देने से देश में धर्मांतरण को बढ़ावा मिलेगा। संविधान के अनुसूचित जाति आदेश, 1950 के तीसरे पैराग्राफ के प्रावधान के तहत हिन्दू धर्म, सिख धर्म और बौध्द धर्म के अलावा किसी अन्य धर्म का पालन करने अथवा धर्म परिवर्तन करने वाला अनुसूचित जाति का सदस्य आरक्षण के लाभ से वंचित हो जाता है । उन्होने बताया कि झाबुआ आलीराजपुर सहित निकटवर्ती जिलों में भी इस तरह ईसाई मिशनरीज द्वारा अनुसूचित जनजाति वर्ग के लोगों को लालच देकर या जबरन धर्मान्तरित किये जाने के बाद भी इन लोगों को अजजा / अजा वर्ग को मिलने वाले लाभ , नौकरियों में आरक्षण एवं सरकारी योजनाओं एवं कार्यक्रमों के लाभ मिलने से पूरे जिले में जनजाति वर्ग के लोगों के हितलाभो पर कुठाराघात हो रहा है। उन्हाने बताया कि इसे लेकर आगामी 30 अप्रेल को जिला मुख्यालय पर जंगी प्रदर्शन एवं डिलिस्टींग रैली का आयोजन करके केन्द्र सरकार एवं राज्य सरकार को जनभावनाओं से अवगत किया जावेगा । इसी कडी में जनजाति सुरक्षा मंच द्वारा शहर के हिन्दु समाज सहित सभी लोगों को मनोज अरोडा, नयन टवली, हेमेन्द्र नाना राठौर, जितेन्द्र पटेल, मनोज साल्वी,धनसिंह बारिया, सुरेश देवडा, दिनेशदेवडा सहित बडी संख्या में कार्यकर्ताओं द्वारा नगर के हर मोहल्लो एवं सभी वार्डो में भ्रमण कर पेम्पलेट का वितरण करके जनजागृति के साथ ही आयोजित होने वाली महारैली में जन समर्थन दिये जाने के लिये अनुरोध किया जारहा हे । इन लोगों का कहना है कि यदि एक आदिवासी परिवार ईसाई बन जाता है तो निश्चित ही हिन्दु समाज में एक परिवार कम हो जाता है। अतः पेंपलेट एवं बेनर्स आदि के माध्यम से प्रत्येक व्यक्ति को डिलिस्टींग जैसे अभियान में पूरी सहभागिता करके हिन्दु धर्म की मजबुती के साथ ऐसे तत्वों को मिलने वाले दोहरे लाभ से वंचित करने के लिये पूरजोर मांग का समर्थन करके केन्द्र एवं प्रदेश सरकार को संविधान में तदनुसार बदलाव करके ऐसे तत्वों को इन लाभो से वंचित करने की मांग करना ही मुख्य उद्देश्य है।


गुरुभगवन्त की निश्रा में सदभावना मैत्री सम्मेलन का आयोजन

 

jhabua news
थांदला। सम्पूर्ण मालवा निमाड़ अंचल में सामाजिक सौहार्द्र, समन्वय, श्रद्धा के प्रतीक रूप माने जाने वालें राष्ट्र संत भक्त मलूकदासजी द्वारा नगर में सामाजिक समरसता का वातावरण निर्मित करते हुए अनेक धार्मिक स्थलों का निर्माण करवाया गया था। लगभग 250 वर्ष पूर्व भगवान ऋषभदेव नरसिंह मंदिर का निर्माण भी उनमें से एक था। उक्त मन्दिर को वर्तमान परिपेक्ष्य में भव्यता प्रदान करने के उद्देश्य से परोपकार सम्राट आचार्य देवेश श्रीमद्विजय ऋषभचन्द्रसुरिश्वरजी म. सा. ने वर्ष 2007 में मंदिर विसर्जन कर इसके जीर्णोद्धार की प्रेरणा दी। वही मन्दिर जीर्णोद्धार को लेकर जैन व हिन्दू समाज में कुछ वैचारिक मतभेद उत्पन्न हुए, जिसके चलते मन्दिर निर्माण कार्य 15 वर्षों तक रुका रहा लेकिन मन्दिर निर्माण की पहल चलती रही जिसे मूर्त रूप देते हुए सभी विचारों पर चिंतन कर सर्वश्रेष्ठ विचार लेकर आचार्य देवेश श्रीमद्विजय ऋषभचन्द्रसुरिश्वरजी म. सा. के वरिष्ठ शिष्य रत्न मुनि पियूषचन्द्रविजयजी म. सा. की प्रेरणा से भक्त मलूकदासजी की भावनाओं के अनुरूप मन्दिर का नक्शा बनाकर दोनों समाज के पक्षकारों को सहमत कर अविलम्ब मंदिर जीर्णोद्धार करने की बात रखी जिसके चलते दोनों ही पक्ष में सामाजिक सौहार्द पूर्ण वातावरण के मध्य सदभावना मैत्री सम्मेलन का आयोजन किया गया है। जानकारी देते हुए संघ अध्यक्ष कमलेश जैन दायजी, प्रफुल्ल पोरवाल, मयूर तलेरा, पवन नाहर, अर्पित लुणावत ने बताया कि गुरुभगवन्त मुनिराज पियुषविजयजी एवं जिनचन्द्रविजयजी मुनिद्वय का भव्य मंगल प्रवेश कुशलगढ़ से थांदला नगर में होकर जैन उपाश्रय में विराजित है। वही सनातन धर्म प्रेरक 1008 श्री दयरामदासजी मजराज (पिपलखुटा) के सानिध्य में दिनांक 25 अप्रेल को प्रातः 9 बजे स्थानीय जिन मन्दिर से भव्य चल समारोह का आयोजन किया गया है जो नगर के सभी प्रमुख मार्गों से होकर पुनः मन्दिर पर आएगी जहाँ विराजित सन्तों की ज्ञान प्रभावना का लाभ उपस्थित परिषद ले सकेगी। आयोजन के पश्चात सभी का स्वामीवत्सल्य का आयोजन श्रीसंघ थांदला द्वारा रखा गया है। संघ के वरिष्ठ सदस्य कमल पीचा, मूलचंद लुणावत, कनकमल भण्डारी, अनोखीलाल मोदी, यतीश छिपानी, समकित तलेरा, आनंदीलाल पोरवाल, उमेश बी पीचा, रमणलाल मुथा, आदि ने कार्यक्रम में पधारकर सामाजिक सौहार्द का परिचय देकर धर्म लाभ लेने का आह्वान किया है।


पुलिस लाईन में की गई बलवा परेड की मॉक ड्रिल


jhabua news
झाबुआ । आगामी त्योहारों व कानून व्यवस्था की ड्यूटियों को दृष्टिगत रखते हुए पुलिस अधीक्षक झाबुआ श्री आशुतोष गुप्ता के निर्देशन पर मॉक ड्रिल, बलवा परेड का आयोजन पुलिस लाईन झाबुआ में स्थित परेड ग्राउण्ड में किया गया। अभ्यास के दौरान दंगा नियंत्रण उपकरण का संचालन किया गया। बलवा ड्रिल के दौरान उपस्थित पुलिस अधिकारियों व कर्मचारियों की अलग-अलग टीम बनाकर बलवा ड्रिल का प्रदर्शन किया गया। इस दौरान पुलिस अधीक्षक महोदय द्वारा दंगा नियंत्रण उपकरण का निरीक्षण भी किया गया।  पुलिस अधीक्षक झाबुआ श्री आशुतोष गुप्ता ने कहा कि आगामी त्योहारों व कानून व्यवस्था के दृष्टिगत सभी प्रकार की चुनौतियों, आपातकालीन परिस्थितियों से निपटने के लिए एवं शांति व्यवस्था बनाए रखने के लिए यह मॉक ड्रिल आयोजित की है। पुलिस टीम को बताया कि अपनी राइट ड्रिल की पूरी सामग्री के साथ हमेशा तैयार रहे एवं निर्देशित किया गया कि आपातकालीन परिस्थियों में जहां भी जाना पड़े हमेशा सतर्क रहकर एक साथ रहे। पुलिस सुरक्षित रहेगी तभी आम जनता की मदद कर सकती है। 


जिले में विकास खण्ड थांदला में स्वास्थ्य मेला आयोजित

  • अतिथियों के द्वारा दीप प्रज्जवलन कर शुभारंभ किया
  • स्वास्थ्य मेले में दिव्यांगजनों के लिए कार्ड जनरेट की व्यवस्था, ब्लड डोनेशन के लिए वाहन की व्यवस्था सुनिश्चित की गई-कलेक्टर
  • स्वास्थ्य मेले में एसडीएम थांदला, एसडीओपी, तहसीलदार, टीआई थांदला द्वारा रक्तदान किया रक्तदान के लिए जागरूकता का संदेश दिया

jhabua news
झाबुआ। आजादी के 75 वर्ष पूर्ण होने के उपलक्ष्य में आजादी का अमृत महोत्सव के तहत जिले में विकासखण्ड थांदला मंे आज स्वास्थ्य मेले का आयोजन किया गया। आयोजन में अतिथि जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री सिद्धार्थ जैन, अजजा प्रदेश अध्यक्ष श्री कलसिंह भाभर, भाजपा जिलाध्यक्ष श्री लक्ष्मणसिंह नायक, नगरपालिका अध्यक्ष श्री बन्टी डामोर, बीजेपी मण्डल अध्यक्ष श्री सर्मथ उपाध्याय, भाजपा पदाधिकारी श्री विश्वास सोनी, श्रीमती सुनिता पंवार, श्री राजू धानक गौरक्षा समिति के जिलाध्यक्ष, श्री दिलीप कटारा, श्री अजय डामोर, श्री श्यामा ताहेड, श्री राजेश वसुनिया, श्री अनिल बंसाली व्यापारी प्रकोष्ठ के अध्यक्ष, श्री प्रशांत उपाध्याय के द्वारा आयोजन स्थल पर मॉ सरस्वती के चित्र पर दीप प्रज्जवलन कर माल्यार्पण किया। इस अवसर पर अजजा प्रदेश अध्यक्ष श्री कलसिंह भाभर, भाजपा जिलाध्यक्ष श्री लक्ष्मणसिंह नायक, नगरपालिका अध्यक्ष श्री बन्टी डामोर, बीजेपी मण्डल अध्यक्ष श्री सर्मथ उपाध्याय, भाजपा पदाधिकारी श्री विश्वास सोनी के द्वारा अपना उद्बोधन दिया। जिसमें स्वास्थ्य सेवाएं जो यहां उपलब्ध करवाई गई है। आमजन अधिक से अधिक उसका लाभ ले। विभिन्न प्रकार की बीमारियों के डॉक्टर्स यहां पर उपस्थित है। जिसका लाभ ग्रामीण क्षेत्र के लोग अधिक से अधिक लेवे। इसके अतिरिक्त यहां पर आयुष्मान कार्ड बनाने की सुविधा उपलब्ध करवाई गई है। जिसमें आपको 5 लाख रूपए का इलाज की सुविधा शासन के द्वारा उपलब्ध करवाई गई है। इसके अतिरिक्त यहां पर सिकलसेल और फ्लोरोसिस की जांच निःशुल्क उपलब्ध है, टेली कम्यूनिकेशन की सुविधा भी उपलब्ध करवाई गई है उसका भी लाभ ले। अतिथियों के द्वारा समारोह स्थल पर लगी सभी स्टालों का अवलोकन किया। शिविर स्थल पर ब्लड डोनेशन के लिए व्यवस्था सुनिश्चित की गई थी। इसके अतिरिक्त दिव्यांगजनों के लिए कार्ड की व्यवस्था सुनिश्चित की गई। स्वास्थ्य मेले में एसडीएम थांदला श्री अनिल भाना, एसडीओपी श्री राठी, तहसीलदार श्री शक्तिसिंह चौहान, टी आई सुश्री कौेशल्या चौहान द्वारा रक्तदान किया। रक्तदान के लिए जागरूकता का संदेश दिया कि मानव जीवन को बचाने के लिए अधिक से अधिक निर्भिक होकर अपना रक्तदान करें। किसी का जीवन बचाने में अपना सर्वोच्य दे। स्वास्थ्य के प्रति सजग रहे। स्वास्थ्य मेले का लाभ लें। सीईओ जिला पंचायत श्री सिद्धार्थ जैन एवं अतिथियों के द्वारा स्वास्थ्य मेले में स्वास्थ्य विभाग द्वारा जो स्टॉल लगाए गए थे उनका अवलोकन किया एवं व्यवस्था का जायजा लिया। आयोजन स्थल पर विभिन्न प्रकार के बीमारियों से संबंधित स्टाल लगाए गए हैं एवं यहां पर डॉक्टर्स एवं स्टाफ उपस्थित थे। ब्लाक मेडिकल आफिसर डॉ. श्री अनिल राठौर द्वारा समारोह स्थल पर पर्याप्त व्यवस्था सुनिश्चित कर ली गई थी। जिला मुख्‍य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. जेपीएस ठाकुर द्वारा समारोह स्थल पर कार्यक्रम की रूपरेखा को बताया एवं आज दिनांक 23 अप्रैल, 2022 शनिवार को सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र थांदला में आयोजित था। स्वास्थ्य शिविर में सर्जिकल, मेडिकल, स्त्री रोग, शिशु रोग, नैत्र रोग, दंत रोग, क्षय रोग, चर्म रोग, हड्डी रोग, कुष्ठ रोग, किशोर-किशोरियो हेतु परामर्श एवं मानसिक रोग के विशेषज्ञ चिकित्सकों द्वारा निःशुल्क जाँच, परामर्श, उपचार, सभी परीक्षण, लेबोरेटरी जाँच, सभी आवश्यक दवाईयों का निःशुल्क वितरण किया जायेगा। इन शिविरों में पोषण आहार, परिवार कल्याण, बिना चीरा-टांका के नसबंदी एवं एड्स संबंधी जानकारी व परामर्श भी दिया जायेगा। शिविर के दौरान डिजिटल हेल्थ कार्ड भी बनाया जायेगा। डिजिटल हेल्थ कार्ड बनाने के लिए आधार कार्ड एवं आधार कार्ड से लिंक मोबाईल नंबर लेकर आना होगा। इस अवसर पर सामाजिक, आर्थिक, जातिगत जनगणना में सम्मिलित पात्र परिवारों के आयुष्मान कार्ड भी बनाए जायेंगे। आयुष्मान कार्ड बनाने के लिए आवेदक परिवार समग्र आईडी, राशन कार्ड, संबल कार्ड, खाद्यान्न पर्ची, फोटो आईडी जैसे आधार कार्ड, वोटर कार्ड, ड्राईविंग लायसेंस, पासपोर्ट एवं सरकार द्वारा मान्य पहचान पत्र, आधार कार्ड आदि आवश्यक दस्तावेज लेकर आएं। शिविर में नियमित टीकाकरण एवं कोविड टीकाकरण, प्रिकॉशन डोज भी लगाया जायेगा। प्रिकॉशन डोज के लिए 60 वर्ष से अधिक आयुवर्ग के ऐसे नागरिक जिन्होंने 18 जुलाई 2021 के पूर्व कोविड-19 का द्वितीय डोज लगवाया था, वह 9 माह उपरांत पात्र हैं। कोविड-19 प्रिकॉशन डोज लगवाने के लिए अपना आधार कार्ड तथा मोबाईल नम्बर साथ लेकर आए। स्वास्थ्य शिविर को सफल बनाने के लिए समस्त अनुविभागीय अधिकारी राजस्व , सिविल सर्जन, महिला एवं बाल विकास विभाग ,सामाजिक न्याय विभाग ,आयुष विभाग ,समस्त खंड चिकित्सा अधिकारी ,समस्त मुख्य कार्यपालन अधिकारी जनपद पंचायत, जिला स्तरीय स्वास्थ्य विभाग सतत उपस्थित रहकर कलेक्टर श्री सोमेश मिश्रा के द्वारा दिए गए निर्देशों के अनुसार दायित्व का पालन करेंगे। स्वास्थ्य मेले में अनुविभागीय अधिकारी राजस्व श्री अनिल भाना, तहसीलदार श्री शक्तिसिंह चौहान, बीएमओ डॉ. अनिल राठौर, मुख्य कार्यपालन अधिकारी जनपद पंचायत थांदला श्री आर.सी.हालू ,सीएमओ श्री भरत सिह टॉक, जिला कार्यक्रम अधिकारी श्री राजाराम खन्ना, जिला आयुष अधिकारी श्रीमती प्रमिला चौहान, सहायक संचालक महिला बाल विकास श्रीमती वर्षा डावर एवं कार्यक्रम स्थल पर बडी संख्या में ग्रामीणजन, वरिष्ठ नागरिक, हितग्राही एवं प्रिन्ट एवं इलेक्ट्रानिक मीडिया के प्रतिनिधि उपस्थित थे। कार्यक्रम का संचालन श्री हरिश कुण्डल के द्वारा किया गया।


अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति (अत्याचार निवारण) अधिनियम अंतर्गत आकस्मिकता योजनांतर्गत कुल राहत राशि रूपयें 4,87,500 स्वीकृति


झाबुआ, । कलेक्टर श्री सोमेश मिश्रा के आदेशानुसार दिनांक 21 अप्रेल 2022 को जारी किया गया जिसमें मध्यप्रदेश शासन अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति (अत्याचार निवारण) अधिनियम 1989 के संशोधित नियम 2016 में दिये गये प्रावधान अंतर्गत भिन्न-भिन्न अपराधों एवं धाराओं में पंजीबद्ध 03 प्रकरणों में जिला स्तरीय अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति अत्याचार निवारण अधिनियम समिति द्वारा आकस्मिकता राहत योजना अंतर्गत में कुल राहत राशि रूपयें 4,87,500/- (अक्षरी रूपयें चार लाख सितयासी हजार पाँच सौ मात्र) तालिका में अंकित विवरणानुसार राहत राशि स्वीकृत की गई हैं, जिसमें श्री कान्तिलाल गरवाल पिता तेरसिंह गरवाल, अजजा. वर्ग, उम्र 27 वर्ष, निवासी ग्राम उम्मेदपुरा, विकास खण्ड व तहसील पेटलावद, जिला झाबुआ राशि रू. 1ए00ए000ध्. का निम्नानुसार देय राशि ;पद्ध थ्प्त्ण् पर 25ः स्वीकृत प्रथम किश्त राहत राशि रूपयें 25ए000ध्. (अक्षरी रूपयें पच्चीस हजार मात्र) । कु. सेवन्ती पिता टेटू सिंगार, अजजा. वर्ग, उम्र 19 वर्ष, निवासी ग्राम कुन्दनपुर, विकास खण्ड व तहसील रानापुर, जिला झाबुआ राशि रू. 2ए00ए000ध्. का निम्नानुसार देय राशि ;पपद्ध माननीय न्यायालय में आरोप पत्र (चालान) भेज दिये जान पर 25ः देय द्वितीय किश्त राहत राशि रूपयें 50ए000ध्. (अक्षरी रू. पचास हजार मात्र) । मृतक विनोद मेडा पिता मीठु मेडा, अनु.जनजाति वर्ग, उम्र 25 वर्ष, निवासी ग्राम कालिया बडा चौकी पिटोल, तहसील व जिला झाबुआ के 04 आश्रितजन- राशि रू. 8ए25ए000ध्.ए मृतक के प्रथम आश्रित पिता श्री सुकमा पिता मुलिया मेडा, अजजा. वर्ग, उम्र 49 वर्ष राशि राशि रू. 8ए25ए000ध्. का निम्नानुसार देय राशि ;पपद्ध माननीय न्यायालय में आरोप पत्र (चालान) भेज दिए जाने के उपरांत द्वितीय/अंतिम किश्त 50ः राशि रूपयें 4ए12ए500ध्. का  निम्नांकित 04 आश्रितजनों को समान भागों में राशि रूपयें 4ए12ए500ध्. का 25ः  राशि रूपयें 1ए03ए125ध्. (अक्षरी रूपयें एक लाख तीन हजार एक सौ पच्चीस मात्र) स्वीकृत रूपयें 4ए12ए500ध्.ए मृतक के द्वितीय आश्रित माता श्रीमती कसाबाई पति मीठु मेड़ा, अजजा. वर्ग, उम्र 47 वर्ष राशि रूपयें 4ए12ए500ध्. का  25ः   राशि रूपयें 1ए03ए125ध्. (अक्षरी रूपयें एक लाख तीन हजार एक सौ पच्चीस मात्र) स्वीकृत मृतक के तृतीय आश्रित पत्नि श्रीमती सुकमा पति स्व.श्री विनोद मेड़ा, अजजा. वर्ग, उम्र 24 वर्ष राशि रूपयें 4ए12ए500ध्. का  का 25ः  राशि रूपयें 1ए03ए125ध्. (अक्षरी रूपयें एक लाख तीन हजार एक सौ पच्चीस मात्र) स्वीकृत मृतक के चतुर्थ आश्रित पुत्र श्री संस्कार पति स्व.श्री विनोद मेड़ा, अजजा. वर्ग,उम्र 03 वर्ष निवासी ग्राम कालिया बडा चौकी पिटोल, तहसील व जिला झाबुआ राशि रूपयें 4ए12ए500ध्. का  25ः राशि रूपयें 1ए03ए125ध्. (अक्षरी रूपयें एक लाख तीन हजार एक सौ पच्चीस मात्र)। स्वीकृत किए गए। उक्त योजना से संबंधित अधिक जानकारी हेतु कार्यालय सहायक आयुक्त जनजातीय कार्य विभाग झाबुआ में कार्यालय दिवसों में प्रातः 10.30बजें से सायं 5.00बजें तक एवं शासकीय अवकाश दिवसों को छोडकर संपर्क कर सकते हैं। इस हेतु संबंधित हितग्राही को निम्नाकित आवश्यक डिजिटल दस्तावेज जिला कार्यालय एवं उप पुलिस अधीक्षक अजाक. थाना झाबुआ/संबंधित थाना क्षेत्र में उपलब्ध कराना अनिवार्य हैं।

कोई टिप्पणी नहीं: