IPL : पारी की शुरुआत में धैर्य से खेलने का फायदा हुआ: धवन - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

मंगलवार, 26 अप्रैल 2022

IPL : पारी की शुरुआत में धैर्य से खेलने का फायदा हुआ: धवन

shikhar-dhawan-ipl
मुंबई, 26 अप्रैल, चेन्नई सुपर किंग्स के खिलाफ इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) मैच में 59 गेंद में नाबाद 88 रन की शानदार पारी खेलकर पंजाब किंग्स को 11 रन से जीत दिलाने वाले सलामी बल्लेबाज शिखर धवन ने कहा कि पारी की शुरुआत में धैर्य से बल्लेबाजी करने का उन्हें फायदा हुआ। पंजाब ने पहले बल्लेबाजी करते हुए चार विकेट पर 187 रन बनाने के बाद चेन्नई को 176 रन पर रोककर सत्र की चौथी जीत दर्ज की  आईपीएल की वेबसाइट पर जारी वीडियो में धवन ने टीम के अपने साथी अर्शदीप सिंह से बातचीत में कहा, ‘‘ गेंद शुरुआत में थोड़ी रुक कर आ रही थी इसलिए शॉट खेलने में परेशानी हो रही थी। ऐसे में मैं  धैर्य से खेल रहा था। एक बार जब सामंजस्य बन गया तब एक-दो ओवर ऐसे आये जिसमें हमने ज्यादा रन बनाये। ’’ किसी एक गेंद को निशाना बनाने के बारे में पूछे जाने पर धवन ने कहा, ‘‘ किसी खास गेंदबाज के खिलाफ आक्रामक रूख अख्तियार करने की सोच नहीं थी। हां मेरे ध्यान में छोटी बाउंड्री थी , मैं उस ओर ज्यादा रन बनाने की कोशिश कर रह था लेकिन मैदान में समय बिताने के बाद बड़ी बाउंड्री की ओर भी रन बनाये। ’’ उन्होंने कहा, ‘‘ मैं सीएसके (चेन्नई) के खिलाफ बहुत बार खेला हूं तो उनकी योजना के बारे में अंदाजा लग जाता है। उनकी टीम में श्रीलंका का नया गेंदबाज (महीश तीक्षणा) था, उसको मैं ध्यान से खेलना चाहता था, जब समय आया तो उसके खिलाफ भी आक्रामक होकर रन बटोरे। मुझे  उनकी योजना के बारे में पता था कि वे वाइड यॉर्कर डालेंगे, ऐसी गेंदों पर भी रन बनाये।’’ उन्होंने मैच में वापसी के लिए अर्शदीप को श्रेय देते हुए कहा, ‘‘आप ने अच्छी गेंदबाजी की और मैच में हमें वापस लेकर आये। हमारे लिये यह जीत बहुत जरूरी थी।’’ चेन्नई को आखिरी चार ओवर में जीत के लिए 47 रन चाहिए थे  तब अर्शदीप ने 17वें ओवर में छह और 19वें ओवर में आठ रन देकर मैच का रूख अपनी टीम की ओर मोड़ने में अहम भूमिका निभाई।

कोई टिप्पणी नहीं: