स्वाभिमान पर आधारित शोषण मुक्त समाज की रचना जरूरी : रामधीरज भाई - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

सोमवार, 11 अप्रैल 2022

स्वाभिमान पर आधारित शोषण मुक्त समाज की रचना जरूरी : रामधीरज भाई

surrender-golden-jublee
जौरा, (मुरैना) चम्बल में हुए आत्मसमर्पण से सामाजिक सम्मान की प्राप्ति और शोषण मुक्त समाज की रचना का संदेश पूरी दुनिया में गया था और 654 बागीयों ने अच्छी दुनिया को बनाने के लिए अपनी बंदुकें गांधी की प्रतिमा के समक्ष समर्पित कर दिये. उक्त उद्गार जौरा में बागी आत्मसमर्पण की स्वर्ण जयंती समारोह में आये सर्वोदय मण्डल उत्तरप्रदेश के अध्यक्ष और प्रख्यात गांधीवादी रामधीरज भाई ने व्यक्त किया. श्री रामधीरज भाई ने कहा कि खेती-किसानी को प्राथमिक सेक्टर बनाना चाहिए किंतु दुर्भाग्य से पूंजीवादी अर्थव्यवस्था के अंतर्गत उद्योग धंधो को प्राथमिकता दी जा रही है. उन्होने कहा कि खेती किसानी ही एक ऐसा उद्यम है जहां पर एक बीज से सैकड़ो अनाज या फल उगते है अन्यथा उद्योग धंधों में जितना कच्चा माल होता है उतना ही अथवा उससे कम उत्पादन होता है. खेती किसानी से देश की बहुसंख्यक आबादी जुड़ी हुई है. ज्ञात हो कि 14 अप्रैल 1972 को जौरा में हुए बागी आत्मसमर्पण की स्वर्ण जयंती समारोह महात्मा गांधी सेवा आश्रम जौरा में 14 अप्रैल को मनाया जा रहा है. इस समारोह में राष्ट्रीय युवा सम्मेलन भी आयोजित किया जा रहा है.राष्ट्रीय युवा सम्मेलन में भागीदारी के लिए देशभर से नवजवानों का पहुंचना प्रारंभ हो चुका है. सिक्किम, हिमाचल प्रदेश, मध्यप्रदेश, बिहार, केरल, उत्तरप्रदेश, राजस्थान, महाराष्ट्र, तेलगांना और उड़ीसा के प्रतिभागी पहुंच चुके हैं. राष्ट्रीय युवा एकता शिविर का उद्घाटन कल सर्वोदय मण्डल उत्तरप्रदेश के अध्यक्ष श्री रामधीरज भाई एकता परिषद के संस्थापक और गांधी आश्रम के अध्यक्ष श्री राजगोपाल पी व्ही करेंगे. आश्रम के प्रबंधक प्रफुल्ल श्रीवास्तव ने बताया कि समारोह में भाग लेने के लिए बिहार के सामाजिक कार्यकर्ता श्री प्रदीप प्रियदर्षी, उत्तरप्रदेश से अरविंद कुशवाहा, अनिल भाई, दिल्ली से धर्मेन्द्र केरल से अनिल, सुकुमारन उड़ीसा के मधु भाई और तेलगांना से के यादव राजू महाराष्ट्र के नरेन्द्र बडगांवकर व एकता परिषद के संतोष सिंह, अनीश कुमार के.के, डोंगर शर्मा तथा छत्तीसगढ के रमेश शर्मा  पहुंच चुके हैं.सम्मेलन में भागीदार बनने के लिए पूर्व बागी आत्मसमर्पित अजमेर सिंह, बहादुर सिंह और सोनेराम गौड भी आश्रम में आ चुके हैं. ज्ञात हो कि अजमेर सिंह चम्बल के दुर्दांत बागी मोहर सिंह व सोनेराम गौंड बागी माधो सिंह तथा बहादुर सिंह बागी हरबिलास सिंह के गिरोह के सदस्य रहे.

कोई टिप्पणी नहीं: