विदिशा (मध्य प्रदेश) की खबर 02 अप्रैल - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शनिवार, 2 अप्रैल 2022

विदिशा (मध्य प्रदेश) की खबर 02 अप्रैल

जल अभिषेक अभियान को जन आंदोलन बनाएं- कलेक्टर

  • जल अभिषेक अभियान में सभी सीईओ एवं जन अभियान परिषद के ब्लॉक समन्वयक निभाए सहभागिता- कलेक्टर

कलेक्टर श्री उमाशंकर भार्गव ने  जल अभिषेक अभियान के क्रियान्वयन हेतु जिले के सभी जनप्रतिनिधियों गणमान्य नागरिकों से आह्वान किया है। जनपदों के मुख्य कार्यपालन अधिकारी एवं जन अभियान ब्लॉक समन्वयक तथा जन अभियान परिषद की प्रस्फुटन समितियों एवं स्वैच्छिक संगठनों की महत्वपूर्ण भूमिका होती है। सभी लोग आपस में समन्वय स्थापित करते हुए जल अभिषेक अभियान को सफल बनाएं। जल अभिषेक अभियान के आयोजन और क्रियान्वयन के लिए जिला, जनपद तथा ग्राम स्तर पर प्रशिक्षण कार्यक्रमों का आयोजन किया जाए। स्थानीय विद्यालय में जन संरक्षण विषय पर शिक्षकों और विद्यार्थियों का उन्मुखीकरण तथा जल की दक्षता पूर्ण उपयोग तथा संरक्षण हेतु संकल्प दिलाया जाए। कलेक्टर ने अधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि ग्राम पंचायतों एवं विभिन्न ग्राम स्तरीय संगठन जैसे स्व-सहायता समूह, क्लस्टर लेवल, फेडरेशन इत्यादि के पदाधिकारियों तथा सदस्यों का उन्मुखीकरण एवं उन्हें जल के दक्षतापूर्ण उपयोग तथा संरक्षण हेतु जन-जागरूकता लाया जाए। जल अभिषेक कार्यक्रम अभियान की कार्यनीति शासकीय योजनाओं अभिसरण के साथ समाज जन-समुदाय को प्रोत्साहन कर जन सहभागिता द्वारा वर्षा जल के संरक्षण और संवर्धन कार्यों के क्रियान्वयन पर आधारित है। उन्होंने  जल अभिषेक अभियान में ग्रामीणों में पानी की कमी व संरक्षण के प्रति एहसास जागृत करने पर बल देते हुए उनको अभियान से जोड़ना भी महत्वपूर्ण होगा ताकि ग्रामीण जन अपने स्तर पर स्वयं भी पहल करें और वर्षा जल के संरक्षण और भू-जल संवर्धन कार्यों की अगुवाई कर जल अभिषेक अभियान को ही सही मायनों में जन जन अभियान बना सके। कलेक्टर श्री उमाशंकर भार्गव ने बताया कि आगामी 3 अप्रैल को मुख्यमंत्री द्वारा वर्चुअल माध्यम से मध्य प्रदेश के सभी जिलों से जुड़कर जल अभिषेक अभियान के तहत संबोधित करेंगे। उन्होंने कहा कि जल अभिषेक अभियान एक जन आंदोलन बनाने में जन अभियान परिषद की महत्वपूर्ण और अहम भूमिका है। जन अभियान परिषद का लक्ष्य मध्यप्रदेश शासन के द्वारा चलाए जा रहे प्रदेश के सामाजिक एवं आर्थिक विकास के कल्याणकारी कार्यक्रमों और गतिविधियों में जन भागीदारी सुनिश्चित करने का है, इस लक्ष्य की प्राप्ति हेतु जन अभियान परिषद के द्वारा ग्राम पंचायतों एवं ग्रामों में ग्राम विकास प्रस्फुटन समिति को का निर्माण किया गया है। उक्त समिति इस संबंध में कार्य करें। कलेक्टर श्री भार्गव ने सभी जनपदों की मुख्य कार्यपालन अधिकारी एवं जन अभियान परिषद के समन्वयक तथा ब्लॉक समन्वयक को निर्देशित किया कि ग्राम स्तर पर दीवार लेखन, रैली, जन चौपाल के माध्यम से जन जागरण किया जाए। ग्राम पंचायत स्तरीय जन यात्राओं का आयोजन एवं ग्रामीण समुदाय में जन जागरूकता पैदा करने तथा अन्य इस प्रकार के कार्यक्रम किए जाएं। जन जागरण की गतिविधियां जैसे- जल संसद का आयोजन, जनपद स्तरीय जल सम्मेलनों के आयोजन ग्राम पंचायत स्तरीय जल यात्राओं के आयोजन किया जाए। ग्राम स्तर पर ग्रामीणों की आवश्यकता के अनुरूप उपयुक्त स्थल पर जल संग्रहण संरचनाओं जैसे तालाब एवं चेक डैम स्थल का निर्धारण हेतु सलाह देना। कलेक्टर श्री भार्गव ने निर्देशित किया कि पुष्कर धरोहर और समृद्धि अभियान के अंतर्गत ऐसी पुरानी जल संग्रहण संरचनाओं का चिन्हांकन कर सूचीबद्ध करना जिसका जीर्णोद्धार अथवा नवीनीकरण कर सिंचाई, मत्स्य उत्पादन एवं सिंघाड़ा उत्पादन हेतु पुनः उपयोग में लाया जा सकता है। संबंधित संरचनाओं के लिए लाभ लेने वाले ग्रामीणों के जल उपयोगकर्ता समूह का गठन करना है। उन्होंने  ग्रामों में वृक्षारोपण करना, नदियों में समुदाय की सहभागिता से श्रमदान कर स्वच्छता एवं गहरीकरण कार्य करना, हैंडपंपों की साफ-सफाई तथा उनके निकट रिचार्ज पीट एवं सोख्ता गड्ढों का निर्माण करना, स्थानीय हाट बाजार के दौरान ध्वनि विस्तारक यंत्रों के माध्यम से पानी की दक्षता पूर्ण उपयोग तथा जल संरक्षण विषय पर संदेशों का  व्यापक प्रचार प्रसार प्रसारण  इत्यादि कार्य करने हेतु कलेक्टर ने निर्देशित किया है। कलेक्टर श्री भार्गव ने कहा कि जल अभिषेक अभियान के तहत किए जा रहे कार्यो तथा इसके प्रभावों और समाज की सहभागिता के उल्लेखनीय प्रकरणों का दस्तावेजीकरण तथा अन्य कार्य जो भी जिला स्तर पर जल अभिषेक अभियान की तय की गई रणनीति के अनुसार जन अभियान परिषद के सहयोग से निष्पादित किए जाएं। गौरतलब हो कि कलेक्टर द्वारा दिए गए निर्देशों से निर्देशों के परिपालन में जिला पंचायत सीईओ डॉक्टर योगेश भरसट द्वारा शुक्रवार को संबंधित ओं की  बैठक आयोजित कर उन्हें जलाभिषेक अभियान की मूल अवधारणा से अवगत कराया है। 


युवाओं हेतु स्थापित पुरस्कारों हेतु प्रस्ताव भेजने संबंधी दिशा निर्देश जारी


उपसचिव सामान्य प्रशासन विभाग ने आदेश जारी कर कहा है कि युवाओं के लिए स्थापित पुरस्कारों यथा कबीर, शंकराचार्य, गुरु नानक, गौतम बुद्ध, रहीम राज्य सम्मान के प्रस्ताव 10 मई  2022 तक आमंत्रित किए गए हैं, तत्संबंधी प्रमुख समाचार पत्रों में 26 मार्च 2022 को विज्ञापन भी प्रकाशित कराया गया है। जिला स्तर पर प्राप्त होने वाले आवेदन पत्रों के संबंध में पुरस्कार नियमों का उल्लेख किया गया है। उन्होंने कहा है कि शासन के स्पष्ट निर्देशों की ओर समुचित ध्यान ना देकर यह देखा गया है कि पुरस्कार नियमों के तहत प्रस्तावों की जानकारी पूर्ण नहीं भेजी जाती। उन्होंने निर्देशित किया है कि पुरस्कार नियम के पैरा-10 की कंडिका 1-2 के अनुसार 10 मई 2022 तक प्राप्त आवेदनों को रजिस्टर में तिथिवार पंजीकृत कर अंकित किया जाए। उक्तावधि के पश्चात प्राप्त आवेदन को स्वीकार नहीं किया जाए। इसी प्रकार आवेदनों की जांच के लिए कलेक्टर की अध्यक्षता में चार सदस्यीय एक  जिला स्तरीय समिति गठित की जाएं। जिसमें जिले के प्रसिद्ध सामाजिक कार्यकर्ता शिक्षाविद एवं न्यायविद को तथा महाविद्यालय के प्राचार्य को भी समिति में रखा जाए। आवेदन पत्रों में दर्शाई गई घटना कार्य उनकी जांच कराई जाए तथा पात्रतानुसार समिति द्वारा बैठक में जांच रिपोर्ट विचारार्थ रखे जाकर समिति की अनुशंसा की कार्यवाही सुनिश्चित की जाए। उक्त कार्यवाही के उपरांत समिति की बैठक के कार्यवाही विवरण के साथ आवश्यक प्रस्ताव स्पष्ट अभिमत सहित 30 जून 2022 तक अपर मुख्य सचिव सामान्य प्रशासन विभाग मंत्रालय भोपाल को अनिवार्य रूप से भेजने की व्यवस्था की जाए। यह भी सुनिश्चित किया जाए कि जिन नामों का प्रस्ताव अनुशंसा की जाए उनकी प्रतिभा कार्यों की पहचान कम से कम जिले स्तर पर होनी चाहिए। 30 जून 2022 के पश्चात प्राप्त होने वाले प्रस्तावों पर विचार किया जाना संभव नहीं होगा।  पत्र के परिपालन में कलेक्टर श्री उमाशंकर भार्गव ने संबंधित अधिकारियों को निर्देशों का पालन करने तथा निर्धारित समयावधि में आवेदन प्राप्त करने, समिति गठित कर समिति के समक्ष रखने के निर्देश देते हुए कहा कि तैयारियों की समीक्षा  बैठक प्रथक से आयोजित की जाएगी। 


द्वितीय डोज लगने के उपरांत 9 माह पूर्ण हो गये है, वे सभी लोग प्रिकॉसन (बुस्टर) डोज लगवायें - सीएमएचओ


मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉक्टर एके उपाध्याय ने कहा है कि जिले में 60 वर्ष से अधिक आयु वर्ग के लोगों को कोविड-19 के द्वितीय डोज लगने के उपरांत 9 माह पूर्ण हो गये है, उन सभी लोगों को प्रिकॉसन (बुस्टर) डोज लगाने का कार्य जारी है। सीएमएचओ ने समस्त नागरिकों से अपील की है कि अपने नजदीकी स्वास्थ्य संस्था पर जाकर प्रिकॉसन (बुस्टर) लगवायें। 


जिले में 12 से 14 आयु वर्ग के 59 प्रतिशत बच्चों का टीकाकरण हुआ


vidisha news
कोविड-19 टीकाकरण के तहत जिले में 12 से 14 वर्ष के बच्चों को 59 प्रतिशत की उपलब्धि प्राप्त की जा चुकी है। जिला टीकाकरण अधिकारी डॉ डीके शर्मा ने सभी आम जनों से आह्वान किया कि उनके घरों परिवार में 12 से 14 वर्ष के बच्चे हैं तो नजदीक के टीकाकरण केंद्र पर अवश्य लाएं ताकि निर्धारित आयु वर्ग के बच्चे कोविड-19  टीकाकरण कार्यक्रम से वंचित न रह सके। जिला टीकाकरण अधिकारी डीके शर्मा ने बताया कि 12 से 14 वर्ष तक के अब तक विकासखण्डवार हुए टीकाकरण अनुसार बासौदा में 5119, ग्यारसपुर में 2269, कुरवाई में 2858, लटेरी में 2335, नटेरन में 4289, सिरोंज में 3001 तथा विदिशा में 6975 पूर्व उल्लेखित आयु वर्ग के बच्चो का टीकाकरण कार्य किया जा चुका है। जिले में 31 मार्च तक के लिए 38 हजार आठ बच्चों का टीकाकरण करने का लक्ष्य निर्धारित किया गया था जिसमें से उल्लेखित अवधि तक 26 हजार 836 निर्धारित आयु वर्ग के बच्चों का टीकाकरण कार्य किया गया है। गौरतलब हो कि संबंधित शैक्षणिक संस्थानों में कोविड वैक्सीन टीकाकरण का कार्य सप्ताह के दिन सोमवार, बुधवार, गुरूवार एवं शनिवार को होता है। 


मुख्यमंत्री श्री चौहान 5 अप्रैल को करेंगे मुख्यमंत्री उद्यम क्रान्ति योजना लाँच


मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान 5 अप्रैल को मुख्यमंत्री उद्यम क्रान्ति योजना लाँच करेंगे। युवाओं को रोजगार सम्पन्न बनाने वाली इस महत्वाकांक्षी योजना का शुभारंभ अपरान्ह 4 बजे कुशाभाऊ ठाकरे इंटरनेशनल कन्वेंशन सेंटर, भोपाल में होगा। आयुक्त उद्योग और एमएसएमई सचिव श्री पी. नरहरि ने बताया है कि मुख्यमंत्री श्री चौहान की मंशानुरूप योजना को स्व-रोजगार फ्रेंडली बनाया गया है। इसमें युवाओं को स्वयं के रोजगार के लिए एक लाख से 50 लाख तक का ऋण उपलब्ध करवाया जाएगा। योजना की विशेषता यह है कि इसमें राज्य सरकार बैंक गारंटी के साथ 3 प्रतिशत ब्याज अनुदान भी देगी।


आमजन लू से बचाव के उपाय करें - सीएमएचओ डॉ उपाध्याय


वर्तमान समय में तापमान में तेजी से वृद्धि हुई है। प्रातः 10 बजे से ही गर्म हवाएं चलने लगती हैं, जिसके कारण लू लगने की आशंका बढ़ गई है। लू से बचने के लिए जन सामान्य को ज्यादा समय तक घर में रहने की सलाह दी जाती है। इस संबंध में मुख्य चिकित्सा स्वास्थ्य अधिकारी डॉ एके उपाध्याय ने बताया कि मार्च माह के अंतिम सप्ताह से ही तापमान में तेजी से वृद्धि हो रही है। दिन में 10 बजे के बाद गर्म हवाओं का प्रकोप हो जाता है। आमजन अतिआवश्यक कार्य होने पर ही घर से बाहर निकले। जरूरी होने पर ही घर से बाहर निकलते समय पर्याप्त मात्रा में पानी पिएं। खाली पेट घर से बाहर न जायें। इससे लू लगने का खतरा बढ़ जाता है। दिन में कम से कम 12 से 15 गिलास पानी जरूर पियें। लू से बचाव के लिए देशी घरेलू उपाय अपनाएं। बाहर निकलते समय सूती कपड़े से चेहरा और सर ढ़ककर रखें तथा पानी साथ में जरूर रखें। पहनने के लिए सूती कपड़ों का अधिक उपयोग करें। अगर लू के लक्षण जैसे मिचली आने, गला सूखने तथा बुखार का प्रकोप होने पर तत्काल डॉक्टर से संपर्क करके उचित उपचार करायें। 


मुख्यमंत्री जन-कल्याण शिक्षा प्रोत्साहन योजना में पंजीकृत श्रमिकों के बच्चों को निःशुल्क शिक्षा

  • योजना में शामिल शैक्षणिक संस्थानों को पोर्टल पर शीघ्र आवेदन कराने के निर्देश

मध्यप्रदेश भवन एवं संनिर्माण कर्मकार कल्याण मंडल में पंजीकृत श्रमिकों के बच्चों को निःशुल्क शिक्षा का लाभ दिया जायेगा। निःशुल्क शिक्षा प्राप्त करने के लिए स्टेट स्कॉलरशिप पोर्टली scholarsipportal.mp.nic.in पर शीघ्र आवेदन कर योजना का लाभ प्राप्त कर सकते हैं। मध्यप्रदेश भवन एवं संनिर्माण कर्मकार कल्याण मंडल द्वारा योजना में शामिल शैक्षणिक संस्थानों को पात्र छात्र, छात्राओं को शीघ्र लाभ देने के लिए स्कॉलरशिप पोर्टल पर शीघ्र आवेदन कराने के निर्देश जारी किये गये हैं। 


कलेक्टर्स, कमिश्नर्स वीडियो कॉन्फ्रेस मुख्यमंत्री की अध्यक्षता में 8 अप्रैल को


मुख्यमंत्री की अध्यक्षता में कलेक्टर्स, कमिश्नर्स वीडियो कॉन्फ्रेस 8 अप्रैल को आयोजित की गई है। कलेक्टर्स, कमिश्नर्स कॉन्फ्रेस के लिये अधिकारी एजेण्डानुसार संबंधित विभागों के अधिकारीयों को जानकारी प्रेषित करने के निर्देश दिए गए हैं।


मूंग वितरण कार्यक्रम का शुभारंभ 11 को मिडिल एवं प्रायमरी स्कूल के बच्चों को पीडीएस दुकानों से वितरित होंगी


रबी विपणन वर्ष 2021-22 में उपार्जित मूंग का मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान के मुख्य आतिथ्य में संभावित प्रस्तावित मूंग दाल वितरण कार्यक्रम 11 या 12 अप्रैल 2022 को समारोह पूर्वक आयोजित करने के लिए पृथक से दिशा निर्देश जारी किए गए है। जिले के शासकीय मिडिल एवं प्रायमरी स्कूलों में अध्ययनरत रहें विद्यार्थी जिन्हें नवम्बर 2020 से अगस्त 2021 तक अवधि अर्थात 176 दिवसों के लिए खड़ी मूंग का वितरण किया जाना है इसके लिए जिले के एक लाख 39 हजार का लक्ष्य प्राप्त हुआ है। बच्चों को उचित मूल्य दुकानों के माध्यम से प्रदाय की जाएगी। संबंधित शैक्षणिक संस्था के गुरूजन पूर्व उल्लेखित स्कूलों के बच्चों को अपने साथ लाएंगे और उचित मूल्य दुकानों से निर्धारित मात्रा मिडिल क्लास के हरेक बच्चे के लिए 15 किलो ग्राम तथा प्रायमरी स्कूलों के प्रत्येक बच्चें को दस किलोग्राम खडी मूंग दाल निर्धारित थैलों में भरी हुई प्रदाय की जाएगी। उक्त वितरण कार्यक्रम के पूर्व खड़ी मूंगदाल एवं थैले सभी उचित मूल्य दुकानों पर 09 अप्रैल 2022 पूर्व पहुंचाना सुनिश्चित करने निर्देश संबंधित विभागों के अधिकारियों को प्रेषित किए गए है। इस संबंध में मुख्य सचिव के निर्देशानुसार  निर्धारित  दायित्वों का समयावधि में आवंटित कार्य पूर्ण करने हेतु कहा गया है। कृषि उत्पादन आयुक्त द्वारा जारी पत्र का हवाला देते हुए कलेक्टर श्री उमाशंकर भार्गव ने बताया कि खड़ी मूंग वितरण कार्य हेतु जिन विभागों को आवश्यक जबावदेंही सौंपी गई है वे समय सीमा में उसका क्रियान्वयन कराना सुनिश्चित करें। जारी पत्र अनुसार विपणन संघ के लिए जो जबाबदेंही सौंपी गई है उनमें तीन अपै्रल तक आवंटन अनुसार प्रदाय केन्द्रों को खड़ी मूंग का परिवहन करना एवं पांच अपै्रल तक योजना अनुसार प्रदाय केन्द्र स्थल पर थैलो का प्रदाय किया जाना सुनिश्चित किया जाना है। इसके अलावा जिले के जिले के एमपीएससीएससी के प्रबंधकों एवं सहायक आपूर्ति के लिए जो जिम्मेदारी सौंपी गई है तदानुसार नौ अपै्रल तक प्रदाय केन्द्रों से उचित मूल्य दुकानों को मूंग का प्रदाय करना एवं प्रदाय केन्द्रों से उचित मूल्य दुकानों के संचालकों को बुलाकर थैले प्रदाय करने का कार्य किया जाएगा। जबकि स्कूल शिक्षा विभाग द्वारा पांच अपै्रल तक जिले के लाभार्थी छात्र-छात्राओं को आधार, समग्र आईडी से लिंक नहीं किया जा सका है तो उनको उचित मूल्य दुकान से मूंग की प्राप्ति हेतु पर्ची का प्रारूप एवं ऐसे लाभार्थियों को मूंग के वितरण हेतु नोडल अधिकारी का नामांकन कार्य संपादित किया जाएगा। वहीं खाद्य विभाग, एसडीएम व एनआईसी के द्वारा तीन अपै्रल तक पोर्टल पर लाभार्थी विद्यार्थियों के आधार कार्ड, समग्र आईडी लिंक करने के कार्य पूरे किए जाएं ताकि विद्यार्थियों को साबुत मूंग का प्रदाय कार्य सुव्यवस्थित रूप से सम्पन्न हो सकें। आयोजन पूर्व जिला स्तर पर योजना के क्रियान्वयन की समीक्षा बैठके पांच तक आयोजित करने के भी दिशा निर्देश प्रसारित किए गए हैं। 


भूसे के परिवहन एवं नरवाई जलाने पर प्रतिबंध


कलेक्टर एवं जिला दंडाधिकारी श्री उमाशंकर भार्गव ने जिले में भूसे के परिवहन पर पूर्णतया प्रतिबंध लगाने का आदेश जारी कर दिया है। कलेक्टर श्री भार्गव के द्वारा जारी आदेश में उल्लेख है कि फसल कटाई उपरांत फसल अवशेषों में आग लगाई जाकर नष्ट कर दिया जाता है। उक्त कारण से जिले में नरवाई को जलाया जाना प्रतिबंधित किया गया है। प्रतिबंध उपरांत फसल कटाई के अवशेषो (नरवाई) से जानवरो (गोवंश) के उपयोग हेतु भूसा बनाया जाकर संधारित किया जाना आवश्यक है। वर्तमान में ग्रीष्ण ऋतु प्रारंभ हो गई है, तथा जिले में जानवरों के खाने के लिए हरे घास की कमी हो जावेगी। जिले में फसल कटाई हेतु कम्बाईन हॉर्वेस्टर के साथ स्ट्रा रीपर के उपयोग यानि स्ट्रॉ मेनेजमेन्ट सिस्टम (एस.एम.एस) को भी अनिवार्य किया गया है। जिससे फसल अवशेषो (नरवाई) से भूसे का निर्माण हो सके। जिले में गत वर्ष अनुसार ग्रीष्म ऋतु में हरे चारे (घास ) की कमी को दृष्टिगत रखते हुए गोवंश के उपयोग हेतु एवं जिले में संचालित गौशालाओ में भूसे की आपूर्ति के लिए  कलेक्टर एवं जिला मजिस्ट्रेट श्री उमाशंकर भार्गव ने दण्ड प्रक्रिया 1973 की धारा 144 (1) के अन्तर्गत प्रदत्त शक्तियों का उपयोग करते हुए जिले से बाहर जाने वाले भूसे के परिवहन को तत्काल प्रभाव से प्रतिबंधित किया है। कलेक्टर श्री भार्गव द्वारा जारी यह आदेश विदिशा जिले की सम्पूर्ण राजस्व सीमा में दो माह तक के लिए तत्काल प्रभावशील हो गया है। आदेश का उल्लंघन की दशा में धारा 188 के अंतर्गत संबंधितो के विरुद्ध कार्यवाही संपादित की जावेगी । आदेश की सूचना सर्वसंबंधितो को दैनिक समाचार पत्रों ध् ध्वनि विस्तारक यंत्रों के माध्यम से एवं शासकीय विज्ञप्ति से आदेश संसूचित किया जा रहा है। आदेश की एक प्रति एसडीएम, तहसीलदार, जनपद पंचायत, थानो तथा नगरपालिका कार्यालय के सहज दृष्टिगोचर स्थलो पर भी चस्पा की जावे। जिले के समस्त उपखण्ड मजिस्ट्रेट, कार्यपालिक मजिस्ट्रेट तथा पुलिस अधिकारी आदेश का क्रियान्वयन करते हुए सुनिश्चित करें कि जिले से बाहर भूसे का परिवहन न हो। 


राशनकार्ड की जानकारी उपलब्ध कराने के निर्देश


आगामी कलेक्टर कान्फेन्स में शामिल एजेंडा बिंदु अनुसार विमुक्त जाति वर्ग के परिवारों को जारी किये गये राशन कार्ड की समीक्षा की जाना है। कलेक्टर श्री उमाशंकर भार्गव ने जिले में  जिन विमुक्त जाति वर्ग के परिवारों को राशन कार्ड जारी किये गये है।उनकी सूची एक्सल फार्मेट में  कार्यालय के ई-मेल adbmwvid@mp.gov.in  पर आज ही उपलब्ध कराने के निर्देश संबंधित विभागों के अधिकारियों को प्रेषित किए  गए हैं।


विमुक्त जातियों के मजदूरों के पहचान पत्र की जानकारी शीघ्र उपलब्ध कराएं


आगामी कलेक्टर कान्फ्रेन्स में विमुक्त जाति वर्ग के मजदूरों को जारी किये पहचान पत्र की समीक्षा की जाना है। कलेक्टर श्री उमाशंकर भार्गव ने जिले में  जिन विमक्त जाति वर्ग के मजदूरों को पहचान पत्र जारी किये गये है, उनकी सूची एक्सल फार्मेट में कार्यालय के ई-मेल adbmwvid@mp.gov.in  पर आज ही उपलब्ध कराने के निर्देश जिला पंचायत सीईओ के साथ-साथ समस्त जनपदों के सीईओ को प्रसारित किए गए हैं।


सभी स्वास्थ्य संस्थानों में स्वच्छता पखवाड़ा का आयोजन


भारत सरकार के संयुक्त सचिव द्वारा जारी पत्र का हवाला देते हुए मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉक्टर एके उपाध्याय ने बताया कि विदिशा जिले की सभी स्वास्थ संस्थाओं में भी  15 अप्रैल 2022 तक स्वच्छता पखवाडा का आयोजन किया जाएगा। सीएमएचओ डॉ उपाध्याय ने जिले की अतः समस्त स्वास्थ्य संस्थाओं जिला चिकित्सालय, सिविल अस्पताल, CHC, PHC एवं HWC  में स्वच्छता पखवाडा का आयोजन 1 अप्रैल से 15 अप्रैल 2022 तक निम्नानुसार गतिविधिया आयोजित की जानी है के संदर्भ में भी आवश्यक मार्गदर्शन प्रदाय किया है। स्वच्छता पखवाडा का आरंभ जिला, ब्लॉक एंव  प्रत्येक संस्था स्तर पर प्राप्तरू 11 बजे संस्था के समस्त स्टॉफ मरीजों, हितग्राहियों, परिजनों द्वारा स्वच्छता शपथ ग्रहण जिसमें स्थानीय एनजीओ स्वंयसेवी संस्था के प्रतिनिधी, स्थानीय नेता, विधायक आदि को सम्मिलित किया जाए एवं शपथ उपरांत संस्था परिसर एवं उसके आस-पास सफाई हेतु श्रम दान किया जाए सभी संस्थाओ द्वारा सभी गतिविधियों के हाई रिसोल्यूशन फोटो, एचडी वीडियों बनाकर समेकित करके सप्ताहवार रिर्पोट संबधित जिले के मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी, कार्यालय को प्रेषित किया जाए (पीडीएफ एवं वर्ड फार्मेट दोनों में रिर्पोट प्रेषित की जाएं मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी कार्यालय द्वारा सभी संस्थाओं की सप्ताहवार रिर्पोट पीडीएफ एवं वर्ड फार्मेट समेकित कर राज्य क्वालिटी  एश्योरेन्स शाखा को ई-मेल (quality-nhm@mp.gov.in )  पर प्रेषित की जाए ।

कोई टिप्पणी नहीं: