विदिशा (मध्य प्रदेश) की खबर 28 अप्रैल - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

विजयी विश्व तिरंगा प्यारा , झंडा ऊँचा रहे हमारा। देश की आज़ादी के 75 वर्ष पूरे होने पर सभी देशवासियों को अनेकानेक शुभकामनाएं व बधाई। 'लाइव आर्यावर्त' परिवार आज़ादी के उन तमाम वीर शहीदों और सेनानियों को कृतज्ञता पूर्ण श्रद्धासुमन अर्पित करते हुए नमन करता है। आइए , मिल कर एक समृद्ध भारत के निर्माण में अपनी भूमिका निभाएं। भारत माता की जय। जय हिन्द।

गुरुवार, 28 अप्रैल 2022

विदिशा (मध्य प्रदेश) की खबर 28 अप्रैल

मुख्यमंत्री आज नवीन एम्बुलेंस वाहनों को हरी झंडी दिखाकर रवाना करेंगे


एकीकृत रेफरल ट्रांसपोर्ट प्रणाली के अंतर्गत प्रदेश में नवीन एम्बुलेंस वाहनों के संचालन का शुभांरभ कार्यक्रम 29 अपै्रल को आयोजित किया गया है। मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान शुक्रवार 29 अपै्रल की प्रातः 11.15 बजे भोपाल के लाल परेड ग्राउण्ड पर एम्बुलेंस वाहनों का हरी झंडी दिखाकर रवाना करेंगे। प्रदेश स्तरीय उपरोक्त शुंभारभ कार्यक्रम का सीधा प्रसारण दूरदर्शन तथा बेवकास्ट के माध्यम से सम्पूर्ण मध्यप्रदेश में किया जाएगा। कलेक्टर श्री उमाशंकर भार्गव ने बताया कि विदिशा जिले में एनआईसी के व्हीसी कक्ष में उपरोक्त कार्यक्रम में सम्मिलित होने हेतु जिले के सभी सम्माननीय विधायकगणों  को आमंत्रण पत्र प्रेषित कर उन्हें उपरोक्त कार्यक्रम में सम्मिलित होने हेतु आमंत्रित किया गया है। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ अखण्ड प्रताप सिंह ने बताया कि एकीकृत रेफरल ट्रांसपोर्ट प्रणाली के अंतर्गत विदिशा जिले के लिए 12 नवीन एम्बुलेंस 108 तथा 15 जननी वाहन प्राप्त होंगे।


छात्रावासों में प्रवेश प्रक्रिया हेतु प्रोफाइल पंजीयन अनिवार्य


शैक्षणिक सत्र 2022-23 के लिए जिले में संचालित अनुसूचित जाति एवं जनजाति छात्रावासों का संचालन एमपीटॉस्क के द्वारा किया जाएगा कि जानकारी देते हुए आदिम जाति एवं अनुसूचितज जाति विकास विभाग के जिला संयोजक श्री नरेन्द्र अवस्थी के द्वारा उपलब्ध कराई गई जानकारी के  अनुसार जिले के ऐसे छात्र जो आदिम जाति एवं अनुसूचित जाति विकास के द्वारा संचालित छात्रावासों में प्रवेश लेना चाहते है इसके लिए उन्हें प्रोफाइल पंजीयन कराना अनिवार्य किया गया है। जिले के सभी छात्रावासों में प्रवेश प्रक्रिया हेतु प्रोफाइल पंजीयन की अनिवार्यतः को स्पष्ट करते हुए विभाग के जिला संयोजक ने बताया कि प्रवेश हेतु इच्छुक छात्र-छात्राएं अपनी प्रोफाइल पंजीयन कार्य अभी से पूर्ण कर लें ताकि प्रवेश प्रक्रिया में किसी भी प्रकार की बाधा ना आने पाएं। छात्रावास में प्रवेश और प्रोफाइल पंजीयन के कार्य में किसी भी प्रकार की समस्या होती है तो निराकरण के लिए संबंधित क्षेत्र के छात्रावास अधीक्षक एवं विभागीय मण्डल संयोजक से संपर्क कर प्राप्त की जा सकती है। 


वन अधिकार धारको को शार्ट टर्न लोन बिना गारंटी के उपलब्ध होगा


अनुसूचित जाति, जनजाति एवं अन्य परम्परागत वनवासी को वन अधिकारों की मान्यता अधिनियम 2006 के तहत वन अधिकार पत्रधारक प्रदाय किए गए है। ऐसे सभी वन अधिकार धारको को पचास हजार रूपए तक का शार्ट टर्म लोन बिना गारंटी के उपलब्ध कराया जाएगा। कलेक्टर श्री उमाशंकर भार्गव ने बताया कि जिले के ऐसे सभी वन अधिकार धारक जिनको अब तक शार्ट टर्म लोन उपलब्ध नहीं कराया गया है। उन सबको शीघ्रतिशीघ्र नियमानुसार लोन बिना गारंटी के मुहैया कराए जाने के प्रबंध सुनिश्चित करने के निर्देश लीड़ बैंक आफीसर को दिए है। कलेक्टर श्री भार्गव ने बताया कि वन अधिकारों की मान्यता के नियम अंतर्गत गठित राज्य स्तरीय निगरानी समिति की बैठक में लिए गए निर्णय अनुसार पचास हजार रूपए तक का शार्ट टर्म लोन बिना गारंटी के सुलभ उपलब्धता कराने हेतु बैंको से प्रभावी समन्वय स्थापित कर शीघ्र क्रियान्वयन कराने के निर्देश प्रसारित किए गए है। ततसंबंध में भारतीय रिजर्व बैंक के द्वारा भी दिशा निर्देश बैंकों को जारी किए गए है।


आठवीं तक के विद्यार्थियों को निःशुल्क मूंग का वितरण किया जायेगा


मध्यान्ह भोजन योजना अंतर्गत प्रधानमंत्री पोषण शक्ति निर्माण के तहत प्राथमिक एवं माध्यमिक शालाओं के छात्र-छात्राओं को समारोह पूर्वक निःशुल्क मूंग का वितरण किया जायेगा। योजना अंतर्गत प्राथमिक एवं माध्यमिक शालाओं के छात्रों को निःशुल्क मूंग वितरण कार्यक्रम शुभारंभ राज्य शासन द्वारा जारी कार्यक्रम के अनुसार किया जायेगा। योजनांतर्गत प्राथमिक शाला के छात्रों के लिये 10 किलोग्राम प्रति छात्र एवं माध्यमिक शाला के छात्रों के लिये 15 किलोग्राम मूंग प्रति छात्र के मान से आवंटन जारी कर दिया गया है। मूंग प्राप्त करने के लिये विभाग द्वारा ऑफलाईन टोकन जारी किए जायेंगे। छात्रों या उनके अभिभावकों पहचान स्वरुप समग्र आईडी या आधार कार्ड लेकर टोकन को उचित मूल्य दुकानदार के पास जाना होगा। तभी उन्हें निःशुल्क मूंग का वितरण किया जा सकेगा। राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम अंतर्गत सम्मिलित परिवारों के छात्र-छात्राओं या उनके परिवार के सदस्यों को पीओएस मशीन के माध्यम से बायोमेट्रिक सत्यापन के आधार पर मूंग का वितरण किया जायेगा।


कलेक्टर की पहल पर उद्योगपति की मदद से नेत्रहीन छात्र को मिला लैपटॉप


vidisha news
कलेक्टर श्री उमाशंकर भार्गव की पहल पर नेशनल कैप्सूल प्रायवेट लिमिटेड के डायरेक्टर श्री राकेश शर्मा के सौजन्य से आज नटेरन ग्राम पंचायत के नरखेड़ा घाट के एलएलबी में अध्ययनरत नेत्रहीन छात्र श्री सीताराम रघुवंशी को अस्सी हजार रुपये की राशि का वॉइस टच लैपटॉप कलेक्टर चेम्बर में प्रदाय किया गया है। नटेरन तहसील में ग्राम नरखेड़ा के रहने वाले श्री सीताराम रघुवंशी नेत्रहीन हैं, वह दो दिन पहले मंगलवार 26 अप्रैल को जन सुनवाई मैं लैपटॉप के लिए आवेदन दिया गया था। कलेक्टर श्री भार्गव को आवेदन देकर उन्होंने एलएलबी की पढ़ाई के साथ-साथ प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी करने हेतु लैपटॉप दिलाए जाने की मंशा जाहिर की थी। जिस पर कलेक्टर श्री भार्गव ने आवेदक श्री रघुवंशी को अगली जनसुनवाई के पहले लैपटॉप प्रदाय किए जाने का आश्वासन दिया था। कलेक्टर की पहल पर जिले के उद्योगपति श्री राकेश शर्मा नहीं इस पहल को पूरा किया है। आज गुरुवार को श्री सीताराम रघुवंशी को 80 हजार रुपये की राशि का लैपटॉप कलेक्ट्रेट में प्रदाय किया गया है अब सीताराम लैपटॉप की सहायता से प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी कर अपने भविष्य की ओर अग्रसर होंगे और अपना सपना पूया करेंगे। कलेक्टर श्री उमाशंकर भार्गव ने बताया कि जब सीताराम रघुवंशी पहली बार कलेक्ट्रेट पहुंचे तो वे सीताराम के बातचीत करने के तरीके से काफी प्रभावित हुए। कलेक्टर श्री भार्गव ने सीताराम रघुवंशी के उज्जवल भविष्य की कामना की है।


मजिस्ट्रेट बनना चाहते हैं सीताराम

ग्राम पंचायत नटेरन के ग्राम नरखेड़ा के रहने वाले श्री सीताराम रघुवंशी ने बताया कि वह वर्तमान में एलएलबी के छात्र हैं और प्रतियोगी परीक्षा उत्तीर्ण कर भविष्य में मजिस्ट्रेट बनने की चाह रखते हैं। इसके लिए उन्हें लैपटॉप की आवश्यकता थी जो जिला प्रशासन की मदद से समाजसेवी एवं नेशनल केप्सूल के डायरेक्टर श्री राकेश शर्मा के सहयोग से पूरी हुई है।


ग्यारसपुर में स्वास्थ्य मेला आयोजित हुआ


vidisha news
आजादी का अमृत महोत्सव अंतर्गत आज गुरुवार को ग्यारसपुर में खंड स्तरीय स्वास्थ्य मेला का आयोजन किया गया स्वास्थ्य मेले में आमजनों ने पंजीयन कराने के उपरांत स्वास्थ्य मेला में दी जाने वाली सुविधाओं का लाभ प्राप्त किया है स्वास्थ्य विभाग द्वारा आमजनों की सुविधा हेतु स्वास्थ्य मेले में पुख्ता प्रबंध सुनिश्चित किए गए थे। ग्यारसपुर में आयोजित खंड स्तरीय स्वास्थ्य मेला का शुभारंभ स्थानीय जनप्रतिनिधिगण श्री राजेश यादव, श्री प्रताप सिंह रघुवंशी, श्री शुभम मिश्रा, श्री मुकेश सोनी, श्री बाबूलाल कुशवाह, श्री सरदार सिंह लोधी, श्री रमेश कुशवाहा के अलावा मुख्य चिकित्सा स्वास्थ्य अधिकारी डॉ एपी सिंह, ग्यारसपुर एसडीएम श्री तन्मय वर्मा सहित अन्य ने मां सरस्वती जी की पूजन अर्चना कर दीप प्रज्वलन एवं कन्या पूजन कर किया गया। कार्यक्रम के शुभारंभ अवसर पर मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ एपी सिंह ने स्वास्थ्य मेला आयोजन के उद्देश्य, मेले में दी जाने वाली स्वास्थ्य सुविधाएं एवं जांच तथा स्वास्थ्य विभाग द्वारा संचालित की जाने वाली शासकीय योजनाओं जिससे आम जनों को लाभान्वित किया जा रहा है एवं किया जाना है की विस्तृत जानकारी दी। कार्यक्रम में होमगार्ड के जिला कमांडो द्वारा आपदा प्रबंधन के बारे में रोल प्ले करके समझाया गया कि यदि प्राकृतिक एवं मानव द्वारा निर्मित कोई विपत्ति आती है तो उसका समाधान कैसे किया जा सकता है। स्थानीय जनप्रतिनिधि ने स्वास्थ्य मेले में दी जा रही स्वास्थ्य सेवाओं की सराहना करते हुए कहा कि इस तरह के कार्यक्रम आयोजित होते रहें। कार्यक्रम के अंत में प्रभारी जिला मीडिया अधिकारी श्री बीएस दांगी द्वारा आभार व्यक्त किया गया। 


सफलता की कहानी : कृत्रिम पैर लग जाने से आने जाने में सहूलियते हुई दिव्यांगजनों को


vidisha news
विदिशा जिले के चार दिव्यांगजन अब कृत्रिम पैर लग जाने से कहीं भी स्वेच्छा से आ जा सकेंगे। इन दिव्यांगजनों को श्री भगवान महावीर विकलांग सहायता समिति अरिहंत विहार अस्पताल एवं रिसर्च सेंटर इंदौर में कृत्रिम पैर लगाए गए हैं। जिला दिव्यांग पुनर्वास केंद्र विदिशा के श्री ओम प्रकाश पटेल विदिशा जिले के चार दिव्यांगजनों को श्री भगवान महावीर विकलांग सहायता समिति अरिहंत विहार अस्पताल एवं रिसर्च सेंटर इंदौर ले गए थे। जहां इन दिव्यांगजनों को कृत्रिम पैर लगाए गए हैं अब वह बिना किसी सहारा के आसानी से कहीं भी आने-जाने में सक्षम हो गए हैं और काफी प्रसन्न भी हैं। विदिशा जिले के जिन चार दिव्यांगजनों को कृत्रिम पैर लगाए गए हैं उनमें कुरवाई निवासी 55 वर्षीय श्रीमती मुन्नी बाई, कानपुर कनारी निवासी 56 वर्षीय श्री भूरे सिंह रघुवंशी, सुमेर निवासी 30 वर्षीय श्री पूरनसिंह लोधी और नगतला बगीचा के निवासी 28 वर्षीय श्री कपिल विश्वकर्मा शामिल हैं। विदिशा जिले के लाभान्वित इन चार दिव्यांगजनों का कहना है कि वह दिव्यांग होने के चलते काफी परेशानियों का सामना करते थे। बिना किसी सहारे के कहीं भी आ जा नहीं सकते थे। लेकिन उन्हें जिला दिव्यांग पुनर्वास केंद्र विदिशा की मदद से इंदौर स्थित विकलांग सहायता समिति में कृत्रिम पैर लगाकर आत्मनिर्भर बना दिया गया है और अब वह बिना किसी सहारे के कहीं भी आ जा सकते हैं।

कोई टिप्पणी नहीं: