जहांगीरपुरी हिंसा मामले में तीन गिरफ्तार - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

सोमवार, 9 मई 2022

जहांगीरपुरी हिंसा मामले में तीन गिरफ्तार

3-arres-in-jahangirpuri-violance
नयी दिल्ली 8 मई, दिल्ली पुलिस ने पिछले महीने हनुमान जयंती के मौके पर जुलूस के दौरान जहांगीरपुरी हुई हिंसा के सिलसिले में तीन लोगों को गिरफ्तार किया है। पकड़े गए आरोपियों में एक आरोपी जहांगीरपुरी इलाके की अमन समिति का सदस्य है। उत्तर- पश्चिम दिल्ली की पुलिस उपायुक्त उषा रंगनानी ने बताया कि मीडिया में एक खबर प्रसारित की जा रही थी कि दिल्ली पुलिस की अपराध शाखा ने जहांगीरपुरी थाना क्षेत्र में 14 अप्रैल हुए दंगा मामले में तबरेज़ आलम नामके एक व्यक्ति को गिरफ्तार किया है। उन्होंने बताया कि मीडिया में बताया जा रहा था कि तबरेज़ जहांगीरपुरी थाना क्षेत्र के अमन समिति के सदस्य और सांप्रदायिक सद्भाव एवं शांति का संदेश देने के लिए 20 अप्रैल को जहांगीरपुरी इलाके में निकाली गई तिरंगा यात्रा के आयोजकों में से एक है। इस संबंध में उन्होंने स्पष्ट किया कि जहांगीरपुरी में दंगों के बाद पुलिस की क्षेत्र में शांति और व्यवस्था स्थापित करने की एक प्रमुख और बहुत ही केंद्रित भूमिका थी। इस दौरान बड़ी संख्या में सभी समुदायों के लोगों को शांति और सांप्रदायिक सद्भाव बनाए रखने की अपील की गयी थी। उन्होंने बताया कि क्षेत्र का कोई भी व्यक्ति जो इस विचार के साथ स्थानीय पुलिस से संपर्क करता था, वह समुदाय के साथ लोगों में विश्वास निर्माण के लिए गठित अमन समिति से जुड़ा था। उन्होंने बताया कि जांच कानून और व्यवस्था से स्वतंत्र है और यदि जांच के दौरान किसी की भूमिका स्थापित होती है, तो उसे कानून के अनुसार दंडित किया जाता है। भले ही उसने क्षेत्र में दंगों के बाद शांति और सद्भाव स्थापित करने में स्थानीय पुलिस को मदद की हो। 

कोई टिप्पणी नहीं: