सीहोर (मध्य प्रदेश) की खबर 27 मई - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शुक्रवार, 27 मई 2022

सीहोर (मध्य प्रदेश) की खबर 27 मई

जिले में पंचायत चुनाव तीन चरण में सम्पन्न होगा

  • प्रथम चरण में सीहोर द्वितीय चरण में नसरूल्लागंज, इछावर एवं तृतीय चरण में आष्टा, बुधनी में पंचायत चुनाव सम्पन्न होगा
  • प्रथम चरण का मतदान 25 जून, द्वितीय चरण 01 जुलाई तथा तृतीय चरण का मतदान 08 जुलाई को होगा, बैलेट पेपर से होंगे पंचायत चुनाव  

sehore news
राज्य निर्वाचन आयोग द्वारा पंचायत चुनाव की अधिसूचना जारी करने के साथ ही आदर्श आचार संहिता लागू हो गई है। कलेक्टर तथा जिला निर्वाचन अधिकारी श्री श्री चन्द्र मोहन ठाकुर ने बताया कि जिले की 05 जनपदों की 542 ग्राम पंचायतों के 1424 मतदान केन्द्रों में तीन चरणों में चुनाव सम्पन्न होगा। कलेक्टर श्री ठाकुर ने बताया कि जिले के कुल 7,69,658 मतदाता अपने मताधिकार का उपयोग करेंगे। कलेक्टर श्री ठाकुर ने सभी से आदर्श आचार संहिता का पालन करने की अपील की है। कलेक्टर श्री ठाकुर ने बताया कि प्रथम चरण में सीहोर जनपद की 154 ग्राम पंचायतों के चुनाव के लिए 411 मतदान केन्द्र बनाए गए है। द्वितीय चरण में इछावर जनपद की 77 ग्राम पंचायतों के चुनाव के लिए 194 मतदान केन्द्र तथा नसरूल्लागंज की 101 ग्राम पंचायतों के चुनाव के लिए 260 मतदान केन्द्र बनाए गए है। इसी प्रकार तृतीय चरण में चुनाव के लिए आष्टा जनपद की 144 ग्राम पंचायतों के चुनाव के लिए 398 मतदान केन्द्र तथा बुदनी जनपद की 66 ग्राम पंचायतों के चुनाव के लिए 161 मतदान केन्द्र बनाए गए है।


नाम निर्देशन पत्र एवं नाम वापसी की कार्यवाही

कलेक्टर श्री ठाकुर ने बताया कि 30 मई 2022 को निर्वाचन की सूचना का प्रकाशन किया जाएगा तथा 30 मई 2022 को प्रात: 10.30 बजे से नाम निर्देशन पत्र प्राप्त किए जाएंगे एवं 6 जून 2022 को प्रात: 10.30 बजे से 3 बजे तक नाम निर्देशन पत्र प्राप्त करने की अंतिम तिथि है। 07 जून 2022 को प्रात: 10.30 बजे से नाम निर्देशन पत्रों की संवीक्षा की जाएगी। नाम वापस लेने की अंतिम तिथि 10 जून 2022 को अपरान्ह 03 बजे तक है। अभ्यर्थियों से नाम वापसी के ठीक पश्चात 10 जून 2022 को ही निर्वाचन लड़ने वाले उम्मीदवारों की सूची तैयार कर चुनाव प्रतिकों का आबंटन किया जाएगा।  


जनपदवार मतदाताओं की संख्या

जनपदवार पंचायतों में कुल मतदाताओं की संख्या 7,69,658 है। जिसमें सीहोर जनपद में  1,18,713 पुरूष, 1,10,535 महिला तथा 7 अन्य मतदाता अपने मताधिकार का उपयोग करेंगे। आष्टा में 1,10,883 पुरूष तथा 1,01452 महिला, इछावर में 55,744 पुरूष तथा 50,982 महिला, बुदनी में 43,628 पुरूष तथा 33946 महिला, नसरूल्लागंज में 71,478 पुरूष, 66,283 महिला तथा अन्य 7 मतदाता अपने मताधिकार का उपयोग करेंगे। प्रेसवार्ता में पुलिस अधीक्षक श्री मयंक अवस्थी, जिला पंचायत सीईओ श्री हर्ष सिंह, अपर कलेक्टर श्रीमती गुंचा सनोबर, संयुक्त कलेक्टर श्री बृजेश सक्सेना एवं अनेक मीडिया संस्थानों के पत्रकार उपस्थित थे।


प्रधानमंत्री आवास योजना (ग्रामीण) संबंधी कार्यक्रम निरस्त


मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान द्वारा 28 मई को प्रधानमंत्री आवास योजना (ग्रामीण) में आवास प्लस के हितग्राहियों को स्वीकृति पत्र एवं प्रथम किस्त की राशि जारी करने के लिए आयोजित होने वाला कार्यक्रम अपरिहार्य कारणों से निरस्त कर दिया गया है।


अल्हादाखेड़ी में आयोजित कन्या विवाह, निकाह कार्यक्रम स्थगित


मुख्यमंत्री कन्या विवाह, निकाह योजना के तहत 28 मई को अल्हादाखेड़ी में आयोजित होने वाला समारोह अपरिहार्य कारणो से स्थगित कर दिया गया है।


स्टेंडिंग कमेटी की बैठक सम्पन्न


sehore news
चायत चुनाव स्वतंत्र, निष्पक्ष एवं शांतिपूर्ण कराने के लिए कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी श्री चन्द्र मोहन ठाकुर की अध्यक्षता में स्टेडिंग समिति की बैठक आयोजित की गई। बैठक में राजनीतिक दलों के प्रतिनिधि उपस्थित हुए। बैठक में कलेक्टर श्री ठाकुर ने बताया कि राज्य निर्वाचन आयोग द्वारा पंचायत चुनाव की अधिसूचना जारी कर दी है तथा आदर्श आचार संहिता प्रभावशील हो गई है। उन्होंने सभी उम्मीदवारों से चुनाव आचार संहिता का पालन करने की अपील की है। बैठक में एसपी श्री मयंक अवस्थी, जिला पंचायत सीईओ श्री हर्ष सिंह, अपर कलेकटर श्रीमती गुंचा सनोबर, संयुक्त कलेक्टर श्री बृजेश सक्सेना एवं भाजपा के श्री राजकुमार गुप्ता, कांग्रेस के श्री पंकज शर्मा, बहुजन समाज पार्टी के अनोखीलाल मालवीय सहित अन्य प्रतिनिधि उपस्थित थे।


प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना प्रीति और उसके बच्चे के लिए मददगार साबित हुई


sehore news
एक मां की जिम्मेदारी अपने बच्चे के जन्म के साथ ही शुरू हो जाती है। बच्चे के पोषण, विकास के साथ उसका स्वास्थ्य भी माता के साथ जुड़ा होता है। ऐसे में प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना से कई गर्भवती माताओं को अपने बच्चे की समुचित देखभाल के लिए सहारा मिला है। योजना से एक ओर जहां जच्चा बच्चा की मृत्यु दर में कमी आई है वहीं दूसरी ओर महिलाओं को पूरे पोषण के लिए सहायता भी मिलती है। प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना के तहत बच्चे के जन्म पर 5 हजार रूपये की सहायता राशि दी जाती है। सीहोर नगर की श्रीराम कॉलोनी निवासी श्रीमती प्रीति भिलाला प्रधानमंत्री मातृत्व वंदना योजना से लाभान्वित हुई है। प्रीति ने बताया कि इस योजना से जो राशि प्राप्त हुई है उससे मुझे और मेरे बच्चे को पोषण आहार में काफी सहायता मिली है। सहायता राशि प्रदान करने के लिए प्रीति ने प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चैहान को धन्यवाद दिया है। उल्लेखनीय है कि प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना का उद्देश्य गर्भवती महिलाओं और धात्री माताओं के स्वास्थ्य में सुधार लाना है। प्रधानमंत्री मातृ योजना में पहले बच्चे के जन्म पर सुरक्षित मातृत्व के लिए 5 हजार रूपये की सहायता तीन किश्तों में दी जाती है। एक हजार रूपये की पहली किश्त आंगनबाड़ी केंद्र पर गर्भावस्था का पंजीयन कराने पर, दो हजार रूपये की दूसरी किश्त गर्भावस्था के 6 माह पूर्ण होने पर तथा दो हजार रूपये की तीसरी किश्त बच्चे के जन्म के पंजीकरण और बच्चे के प्रथम चक्र के टीकाकरण पूर्ण होने पर दी जाती है।


प्रधानमंत्री आवास योजना से बने पक्के मकान में रहकर खुश है अनीता का परिवार


sehore news
हर व्यक्ति का सपना होता है कि उसका अपना एक पक्का मकान हो, जिसमें वह अपने परिजनों सहित आराम का जीवन व्यतीत कर सके। लेकिन कई बार आर्थिक स्थिति ठीक नही होने के कारण यह सपना साकार नही हो पाता। ऐसे गरीब परिवारों के स्वयं के पक्के मकान के सपने को साकार करने के लिए शासन द्वारा प्रधानमंत्री आवास योजना चलाई जा रही है। अब तक लाखों लोगों को प्रधानमंत्री आवास योजना का लाभ दिया जा चुका है और दिया जा रहा है। प्रधानमंत्री आवास योजना (शहरी) से सीहोर नगर के वार्ड क्रमांक 25 निवासी श्रीमती अनीता उपाध्याय ने भी अपना पक्का मकान बनाया है। अनीता ने बताया कि वह वर्षो से कच्चे मकान में गुजारा कर रही थी। उनका घर कच्चा होने कारण अनेक समस्याएं बनी रहती है। अनीता बताती है कि बारिश के मौसम मे बारिश का पानी घर मे आने, आंधी तूफान में घर के गिरने आदि जैसी समस्याओं से डर हमेशा बना रहता था। अनीता बताती है कि पक्का मकान बन जाने से अब कोई समस्या नहीं है। पक्के मकान के लिए अनीता ने प्रधानमंत्री श्री मोदी एवं मुख्यमंत्री श्री चौहान को धन्यवाद दिया।


अनंत जोशी ने जीती शतरंज की बाजी, लगातार चार मैचों में विजय हासिल की


sehore news
सीहोर। शहर के सैकड़ाखेड़ी संकल्प नशा मुक्ति केन्द्र के तत्वाधान में जारी संकल्प महोत्सव में ब्लाक स्तरीय शतरंज प्रतियोगिता का आयोजन किया गया था, एक दर्जन से अधिक शहर सहित आस-पास के खिलाड़ियों ने प्रतियोगिता में बेहतर प्रदर्शन करने वाले प्रतिभागियों को पुरस्कृत किया गया। खेले गए मुकाबले में लगातार चार मुकाबले में जीत हासिल कर फाइनल के एक तरफा मुकाबले में अनंत जोशी पुत्र संजय जोशी प्रथम स्थान हासिल किया। करीब 30 मिनिट चले इस मुकाबले में अनंत ने अंकित दांगी को हराकर खिताब जीता है। इससे पहले शहर में चार शतरंज के मुकाबले हो चुके है। उसमें भी अनंत ने जीत हासिल की थी। उनके पिता संजय जोशी और कोच महेन्द्र शर्मा ने बताया कि मात्र दस साल की उम्र से ही शतरंज का शौक रखने वाले अनंत ने पिछले वर्ष ही राज्य स्तरीय प्रतियोगिता में बेहतर प्रदर्शन किया है। शतरंज के मुकाबले में दूसरा स्थान अंकित दांगी और तीसरा स्थान निश्चय बेलानी ने हासिल किया। कार्यक्रम का शुभारंभ जिला शतरंज एसोसिएशन के अध्यक्ष राजेन्द्र सिसौदिया, केन्द्र के संचालक राहुल सिंह, एसोसिएशन के सचिव महेन्द्र व्यास, शतरंज के कोच महेन्द्र शर्मा, शैलेन्द्र सिंह चंदेल, नटवर कुशवाहा, राकेश शर्मा, संजय जोशी सहित अन्य मौजूद थे। शतरंज प्रतियोगिता में कई राज्य स्तरीय और संभाग स्तरीय शतरंज खिलाड़ियों ने प्रदर्शन किया। कार्यक्रम का शुभारंभ शतरंज एसोसिएशन के अध्यक्ष श्री सिसौदिया ने मां सरस्वती के चित्र के समक्ष दीप प्रज्जवलित कर प्रतियोगिता का शुभारंभ किया था। उन्होंने बताया कि पिछले दो सालों से कोरोना महामारी के कारण कोई भी बड़ी प्रतियोगिता नहीं हो पाई थी, लेकिन केन्द्र के द्वारा खिलाड़ियों को मंच देने के लिए संकल्प खेल महोत्सव का जो आरंभ किया है। जिसके कारण खिलाड़ियों में उत्साह है। इस तरह की प्रतियोगिताओं से खिलाड़ियों को अपनी प्रतिभा साबित करने का मौका मिलता है।


सुसनेर और बोड़ा में संविधान निर्माता डॉ भीमराव, अम्बेडकर की प्रतिमा तोड़े जाने के विरोध में धरना

  • खंगराले के नेतृत्व में दलितों ने किया कड़ा आक्रोश व्यक्त

sehore news
सीहोर। भारतीय जनता पार्टी की सरकार में आगर मालवा जिले के सुसनेर और राजगढ़ जिले के बोड़ा में असामजिक तत्वों के द्वारा दो स्थानों पर संविधान निर्माता डॉ भीमराव अम्बेडकर की प्रतिमा तोड़े जाने के विरोध में शुक्रवार को सीहेार के इंदिरा नगर बायपास रोड जागड़ा समाज धर्मशाला के समीप एकत्रित होकर मध्य प्रदेश अनुसुचित जाति जनजाति पिछड़ा वर्ग अल्पसंख्यक कल्याण परिषद के प्रदेश महांमत्री नरेंद्र खंगराले के नेतृत्व में प्रतिमा तोड़ ने से आक्रोशित दलित समाज के नागरिकों ने धरना देकर मध्य प्रदेश के राज्यपाल से तत्काल दोषी असामाजिक तत्वों को गिरफतार कर दोनों स्थानों पर बाबा साहेब की नवीन प्रतिमा लगाकर सुरक्षा के लिए सीसीटीवी केमरे लगाने एवं मध्य प्रदेश में भारतीय जनता पार्टी की सरकार में बड़ते दलित पिछड़े वर्गो पर अन्याय अत्याचार करने वालो के विरूध कठौर से कठौर कार्यवाहीं किए जाने की मांग की गई है। प्रदर्शन में प्रमुख रूप से डॉ अनीस खान, दयाराम गबाटिया कमल सुर्यवंशी मांगीलाल टिमरई, भंबरलाल सूर्यवंशी, निशांत वर्मा, पर्वत सिंह खेलवाल, राजू बोयत, डीवी खेलवाल, हरि सिंह सुर्यवंशी, हेमराज सूर्यवंशी, बदरी दसबंत, विजय वर्कें, मून्नालाल मालवीय, मदन मालवीय, रमेश मालवीय, पंकज दंगोलिया, बालकिशन गिनोरिया, राजेश कटारिया आदि शामिल रहे। 


किसान खरीफ फसल की बुवाई के पूर्व बीज का अंकुरण कर परीक्षण करे


खरीफ फसल की बुवाई के पूर्व किसान भाई बीज का अंकुरण कर परीक्षण करे, सोयाबीन के 100 दानों का अंकुरण करें, जिसमें 75 से अधिक दाने का अंकुरण होने पर बीज बुवाई के योग्य है। किसान कल्याएा तथा कृषि विकास विभाग के उप संचालक श्री रामशंकर जाट ने जिले के किसान भाई से आग्रही किया है कि खरीफ बुआई के पूर्व बीज का अंकुरण आवश्य करें तथा फसल के लिए उर्वरक व्यवस्था समिति या निजी व्यापारी से अपनी आवश्यकता अनुसार क्रय कर भंडारित करें, जिससे बुवाई के समय पर कृषकों को किसी भी प्रकार की असुविधा न हो। किसान भाइयों आपके गांव में ग्रामीण कृषि विस्तार अधिकारी द्वारा प्राकृतिक खेती विषय पर खरीफ किसान खेत पाठशाला का आयोजन किया जा रहा है, जिसमें आप उपस्थित होवे एवं प्रायोगिक तौर पर प्राकृतिक खेती के घटक को सोयाबीन फसल पर प्रयोगकर परिणाम ले। आगामी फसलों के अधिक रकबे पर प्राकृतिक खेती करें। बीज उर्वरक एवं कीटनाशक क्रय से संबंधित संस्थाओं से पक्के बिल लेवे। फसल विविधीकरण अपनाकर एक से अधिक फसल लेवे ताकि अल्प, अधिक वर्षा होने वाले नुकसान की भरपाई हो सके। साथ ही बीज का चयन करते हुए नवीन किस्म (10 वर्ष के अन्दर) का चयन करें।"


ई-उपार्जन पोर्टल पर किसान भाई शीघ्र स्लॉट बुकिंग कराये समर्थन मूल्य पर गेहूं की खरीदी 31 मई तक


समर्थन मूल्य पर गेहूं उपार्जन की अवधि 31 मई कर दी गई है। प्रमुख सचिव खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति विभाग श्री फ़ैज़ अहमद किदवई ने इस संबंध में प्रदेश के सभी जिलों के अधिकारियों को निर्देश जारी कर दिए हैं। जारी निर्देशों में कहा गया है कि जो किसान गेहूं उपार्जन से वंचित रह गए हैं उन्हें गेहूं विक्रय के लिए ई उपार्जन पोर्टल पर स्लॉट बुकिंग के लिए एक और अवसर दिया जाएगा। किसान भाई समर्थन मूल्य पर गेहूं विक्रय करने से शेष रहे गये हो वो समस्त किसान ई उपार्जन पोर्टल पर शीघ्र ही स्लॉट बुकिंग कराये और निर्धारित तिथि से पूर्व अपनी उपज का विक्रय करें। स्लॉट बुकिंग कराने वाले किसानों से 31 मई तक समर्थन मूल्य पर गेंहू की खरीदी की जाएगी।


विशाल स्वैच्छिक रक्तदान शिविर 30-31 मई को


आजादी के अमृत महोत्सव के अंतर्गत 30 एवं 31 मई को आयोजित दो दिवसीय जिला स्तरीय स्वास्थ्य मेले में स्वैच्छिक रक्तदान शिविर आयोजित किया जाएगा। जिला चिकित्सालय में आयोजित रक्तदान शिविर में मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. सुधीर कुमार डेहरिया ने आमजनों तथा सामाजिक संस्थाओं, अशासकीय संगठनों से स्वैच्छिक रक्तदान की अपील की है। किसी का एक यूनिट रक्तदान जरूरतमंद को नया जीवन दे सकता है।


पाँचवें वेतनमान, छटवें वेतनमान में पुनरीक्षण के लिए पेंशन प्रकरण शीघ्र भेजा जाए


जिले के शासकीय अधिकारियों एवं कर्मचारियों का पाँचवें वेतनमान से छटवें वेतनमान में पुनरीक्षण के लिए पुनरीक्षित पेंशन प्रकरण का प्रस्ताव शीघ्र ही पेंशन कार्यालय में उपलब्ध कराया जाए। जिला पेंशन अधिकारी सीहोर ने इस आशय का पत्र समस्त कार्यालय प्रमुखों को भेकर कहा है कि सभी कार्यालय प्रमुख अपने-अपने कार्यालय में एक जनवरी 2006 से 31 दिसम्बर 2009 के मध्य सेवा निवृत्त, मृत्यु हुए ऐसे अधिकारियों, कर्मचारियों जिनके पेंशन प्रकरण छटवे वेतनमान में पुनरीक्षित नही हो पाऐ है। उनके संबंध में अपने स्तर पर उपलब्ध आकड़ों के आधार पर पुष्टी करें यदि प्रकरण पुनरीक्षण के लिए शेष हो तो प्रस्ताव पेंशन कार्यालय को शीघ्र ही भेजने का कष्ट करे जिससे उनका छटवें वेतनमान में पुनरीक्षित पेंशन अदायगी आदेश जारी किया जा सके।


सातवें वेतनमान में पुनरीक्षण के लिए प्रकरण शीघ्र भेजा जाए


जिले के जिन शासकीय अधिकारियों एवं कर्मचारियों का सातवें वेतनमान में पुनरीक्षित पेंशन अदायगी आदेश जारी नही किए गये है। उनके प्रकरण शीघ्र ही पेंशन कार्यालय को भेजा जाए। जिला पेंशन अधिकारी सीहोर ने इस आशय का पत्र समस्त कार्यालय प्रमुखों को भेकर कहा है कि कार्यालय प्रमुख अपने-अपने कार्यालय में ऐसे अधिकारी एवं कर्मचारी हो जिन का सातवें वेतनमान में पुनरीक्षण होना शेष है। उन अधिकारी एवं कर्मचारी का प्रकरण शीघ्र ही तीन दिवस के अन्दर पेंशन कार्यालय में भेजने का कष्ट करे जिससे उनका पुनरीक्षण किया सके।


अब मैनुअल चालान व्यवस्था बंद, ऑन-लाइन चालान की नई सुविधा शुरू होगी


वित्त विभाग द्वारा एक जून 2022 से मैनुअल चालान को पूर्णता बंद कर दिया जाएगा। अब चालान जमा करने की ओटीसी सुविधा दी जाएगी। इस संबंध में विस्तृत दिशा-निर्देश एवं मार्गदर्शिका जारी कर दी गई है। दरअसल साइबर ट्रेजरी के माध्यम से ऑनलाइन चालान जमा किए जाने के दौरान ऑनलाइन पेमेंट में आने वाली समस्याओं को दूर करने के लिए मध्यप्रदेश शासन वित्त विभाग द्वारा ओवर दी काउंटर- ओटीसी की सुविधा विकसित की है। वित्त विभाग के संचालनालय कोष एवं लेखा मध्यप्रदेश के वेबपोर्टल -www.mptreasury.gov.in पर चालान ऑनलाइन भरने के बाद जमाकर्ता चालान का प्रिंट निकालकर बैंक में नगद या चैक के माध्यम से जमा कर सकेगा। जमाकर्ता द्वारा भरे गए चालान की संपूर्ण जानकारी बैंक को भी ट्रांसफर की जाएगी। बैंक काउंटर पर केवल ऑनलाइन चालान द्वारा जनरेट यू आर एन क्रमांक की प्रविष्टि करने पर राशि जमा की जाएगी। ओटीसी की प्रक्रिया द्वारा कर एवं शुल्क जमाकर्ता राज्य के विभागों के चालान ऑनलाइन जमा किए जा सकते हैं। सभी चालान जमाकर्ता इस संबंध में जानकारी संबंधित कोषालय एवं बैंक से प्राप्त कर सकते हैं।


किसानों को खरीफ सीजन में खाद-बीज की कमी नहीं आने दी जाएगी


अमानक खाद-बीज विक्रय की जानकारी दें, तत्काल कार्रवाई होगी, प्रदेश में प्राकृतिक खेती को बढ़ावा दिया जाएगा। खरीफ सीजन में खाद एवं बीज की पर्याप्त उपलब्धता सुनिश्चित की जाएगी। किसानों को खाद-बीज की उपलब्धता में कमी नहीं आने दी जाएगी। उन्होंने कहा कि अमानक खाद-बीज अथवा कीटनाशक विक्रय होता है तो उसकी जानकारी उनको उपलब्ध कराएं, तत्काल कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने कृषि विभाग को निर्देशित किया कि अमानक खाद-बीज एवं कीटनाशक बिक्री के मामलों में तत्परता से कड़ी कार्रवाई की जाए। रासायनिक खाद एवं कीटनाशकों के दुष्परिणामों को देखते हुए प्रदेश में प्राकृतिक खेती को बढ़ावा दिया जाएगा एवं शीघ्र ही बड़े पैमाने पर प्राकृतिक खेती की शुरुआत की जाएगी। बरसात से कृषि उपज मंडियों में रखे अनाज को नुकसान न पहुंचे, इस बात के दृष्टिगत समूचे प्रदेश की मंडियों में शेड्स की संख्या बढ़ाई जाएगी। गरीब एवं किसान के हित में हर कदम उठाए जाएंगे। उन्होंने कहा कि किसानों की फसल के वाजिब दाम मिले, इसके लिए सरकार फसलों की समर्थन मूल्य पर खरीदी कर रही है। प्रदेश के किसानों के हित में सिंचाईं का रकबा भी निरंतर बढ़ाया जा रहा है। किसानों को वाजिब मूल्य पर खाद एवं बीज उपलब्ध हो, इसके लिए भी सरकार द्वारा पूरी गंभीरता से प्रयास किए गए हैं।


पंचायत निर्वाचन के लिए मतपत्रों के रंग निर्धारित


त्रि-स्तरीय पंचायत निर्वाचन के लिए मतपत्रों के रंग निर्धारित हैं। आयुक्त राज्य निर्वाचन आयोग श्री बसंत प्रताप सिंह ने जानकारी दी है कि पंच पद के लिए सफेद, सरपंच के लिए नीला, जनपद पंचायत सदस्य के लिए पीला और जिला पंचायत सदस्य के लिए गुलाबी रंग का मतपत्र होगा। गौरतलब है कि पंचायत निर्वाचन-2022 मतपत्र और मतपेटी के द्वारा करवाया जाएगा। पंचायत निर्वाचन 3 चरणों में संपन्न होगा।


किसान भू-अधिकार ऋण पुस्तिका ऑनलाइन प्राप्त करें, किसान भाई ई-तकनीक का फायदा उठाएँ किसान


किसानों और आम जनता को भू-अधिकार ऋण पुस्तिका प्राप्त करने के लिए अब पटवारी के पास जाने की जरूरत नहीं है। आम जनता की सुविधा के लिये भू-अधिकार ऋण पुस्तिका को ऑनलाइन कर दिया गया है। कोई भी व्यक्ति अपनी भू-अधिकार ऋण पुस्तिका को नजदीकी कियोस्क सेंटर अथवा कॉमन सर्विस सेंटर या स्वयं के एन्ड्रायड मोबाइल से निर्धारित शुल्क 10 रूपये अदा कर ले सकता है। राजस्व मंत्री श्री राजपूत ने कहा कि प्रदेश की जनता की सुविधा को ध्यान में रखते हुए राजस्व विभाग ई-तकनीक को बढ़ावा दे रहा है, ताकि किसानों एवं आमजन को तहसील एवं पटवारी के चक्कर न लगाने पड़े। उन्होंने कहा कि वर्षों पूर्व आमजन और किसानों को अपने खाते की नकल पाना कठिन कार्य था। जन-मानस की परेशानी को ध्यान में रखते हुए आजादी के 70 साल बाद राजस्व विभाग के नियमों में बदलाव कर जन-सुविधा से जुड़े अभिनव प्रयोग किए जा रहे हैं। राजस्व महकमे द्वारा सुविधाजनक रूप से किए गए बदलाव का ई-तकनीक के माध्यम से लाभ उठाएँ और परेशानी से बचें। उन्होंने कहा कि सरकार द्वारा किसानों या आमजन को उनके खाते की खसरा, वी-1 एवं ऋृण-पुस्तिका की प्रति वाट्सएप पर उपलब्ध कराने का निर्णय लिया है।


सभी जिलों का भूमि रिकॉर्ड ऑनलाइन

राजस्व विभाग द्वारा प्रदेश के सभी जिलों के भूमि रिकॉर्ड को ऑनलाइन कर दिया गया है। अब मध्यप्रदेश के किसी भी जिले से संबंधित भूमि रिकॉर्ड को जनता ऑनलाइन घर बैठे देख सकती है। अब जन-मानस को सरकारी कार्यालयों में छोटी-छोटी सूचनाओं को प्राप्त करने के लिए बार-बार नहीं जाना पड़ेगा। मध्यप्रदेश भू-अभिलेख पोर्टल के माध्यम से खसरा-खतौनी की नकल, भू-अभिलेख का रिकॉर्ड, आबादी सर्वे का रिकॉर्ड, बंधक भूमि की स्थिति, बंदोबस्त अधिकार अभिलेख, बंदोबस्त निस्तार पत्रक की स्केन प्रति, जमा बंधी नकल, खेत का नक्शा, विवादित भूमि का विवरण ऑनलाइन प्राप्त कर सकते हैं।


मलेरिया के लक्ष्ण होने पर तुरन्त नजदीकी चिकित्सक को दिखाये


मलेरिया जैसी घातक बीमारियों से लोगो को जागरूक करना एवं मलेरिया के लक्षण दिखने पर तुरंत जांच कराकर नजदीकी चिकित्सक को दिखकर उपचार कराएं। जिला मलेरिया अधिकारी श्रीमती क्षमा बर्वें ने आम नागरिकों से कहा है कि किसी भी व्यक्ति को बुखार के साथ सर्दी, कपकपी, बदन दर्द, सरदर्द, उल्टी आदि लक्षण दिखाई देने पर तत्काल निकटतम स्वास्थ्य केन्द्र में चिकित्सक को दिखाए और अपना उपचार काराएं। मच्छरों के काटने से बचे एवं मच्छरों के प्रजनन स्थलों कूलर, पानी की टंकी, गमले के नीचे की प्लेट, प्लास्टिक के कंटेनर, घर की छत एवं जहॉ भी पानी भरा हो उसे नियमित 7 दिवस के भीतर साफ करें। विश्व स्वास्थ्य दिवस के प्रचार-प्रसार के लिए कचरा वाहन के माध्यम से एवं सभी स्वास्थ्य केन्द्रो में संचालित टेलीविजन में मलेरिया से बचाव संबंधित वीडियो मैसेज चलाये जाएंगे।


उच्चदाब उपभोक्ताओं को बिल जमा करने की विशेष सुविधा


मध्य क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी ने कंपनी कार्यक्षेत्र के 16 जिलों के अंतर्गत समस्त उच्चदाब उपभोक्ताओं को प्रदत्त सेवाओं का विस्तार करते हुए बिल भुगतान की व्यवस्था को और अधिक सरल एवं सुलभ बनाते हुए वर्चुअल एकाउन्ट नंबर की विशेष सुविधा प्रदान की है। कंपनी द्वारा समस्त उच्चदाब उपभोक्ताओं को बिजली बिलों के भुगतान के लिए पृथक-पृथक वर्चुअल एकाउन्ट नंबर (VAN) मई माह के देयक के साथ जारी किये गये हैं। अब उच्चदाब उपभोक्ता किसी भी बैंक अकाउंट के माध्यम से इन वर्चुअल एकाउन्ट नंबर के जरिए आरटीजीएस/एनईएफटी अथवा ट्रांसफर के द्वारा अपने बिजली बिलों का आसानी से घर बैठे ही भुगतान कर सकते हैं। उपभोक्ताओं को वर्चुअल एकाउन्ट नंबर पर भुगतान करने पर बिल जमा करने की रसीद तुरंत प्राप्त होगी एवं भुगतान राशि ए.पी.आई. के माध्यम से उपभोक्ता के देयक के विरूद्ध खातों में रियल टाईम आधार पर जमा हो जाएगी। उपभोक्ताओं को प्रदाय भुगतान सूचना के लिंक के माध्यम से उपभोक्ता द्वारा इनवाइस भी जनरेट किया जा सकेगा। मध्य क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी के प्रबंध संचालक श्री गणेश शंकर मिश्रा ने कहा है कि सभी श्रेणी के उपभोक्ताओं को सतत् विद्युत आपूर्ति एवं उपभोक्ता सेवाओं में विस्तार कंपनी की पहली प्राथमिकता है। कंपनी के राजस्व में उच्चदाब उपभोक्ताओं का महत्वपूर्ण स्थान है और इसी के तहत उच्चदाब उपभोक्ताओं को बिल जमा करने की सुविधा का विस्तार कर वर्चुअल एकाउन्ट नंबर की सुविधा प्रदान की गई है। अब उच्चदाब उपभोक्ताओं को बिल जमा करने के लिए कंपनी कार्यालय आने की आवश्यकता नहीं होगी, वे कहीं से भी किसी भी समय बैंक खाते के माध्यम से वर्चुअल एकाउन्ट नंबर में अपने बिजली बिलों का भुगतान आसानी से कर सकेंगे जो कि उनके खातों में रियल टाईम आधार पर जमा होंगे और कंपनी द्वारा उपभोक्ताओं के लेखे व्यक्तिगत रूप से संधारित किये जाएंगे।

कोई टिप्पणी नहीं: