झाबुआ (मध्य प्रदेश) की खबर 12 मई - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

गुरुवार, 12 मई 2022

झाबुआ (मध्य प्रदेश) की खबर 12 मई

भारत स्काउट एवं गाईड जिला एसोसिएषन का शपथ समारोह 14 मई को अम्बा पैलेस में ।

  • स्काउट गाईड ने 65 वर्षो में उत्तरोत्तर हांसील की उपलब्धिया ।

jhabua news
झाबुआ । भारत स्काउट एवं गाईड मध्यप्रदेश जिला एसोसिऐशन  द्वारा 14 मई शनिवार को सायंकाल 4 बजे  से अम्बा पैलेस झाबुआ में शपथ समारोह का आयोजन किया जावेगा । ंसंस्था के शरत शास्त्री एवं जयन्द्र बैरागी ने जानकारी देते हुए बताया कि  झाबुआ जिला संघ की नव निर्वाचित परिषद कार्यकारिणी वर्ष 2022 से 2027  के शपथ समारोह में विशिष्ट अतिथि के रूप में क्षेत्रीय सांसद रतलाम झाबुआ आलीराजपुर श्री गुमानसिंह जी डामोर , संस्था के राज्य मुख्य आयुक्त श्री पारस जैन, विधायक उज्जैन श्री सोमेश मिश्रा कलेक्टर झाबुआ, श्री रमेशचन्द्र शर्मा राज्य कोषाध्यक्ष एवं अध्यक्ष राज्य कर्मचारी कल्याण संघ , श्री प्रकाश चित्तोडा वरिष्ठ राज्य उपाध्यक्ष, श्री रमेशचन्द्र अग्रवाल राज्य उपाध्यक्ष इन्दौर संभाग प्रभारी इन्दौर तथा श्रीमती दीपिका बैरागी राज्य उपाध्यक्ष उज्जैन संभाग प्रभारी, रहेगें । जिला एसोसिएशन के जिला कमिश्नर सहायक आयुक्त प्रशान्त आर्य, अध्यक्ष ओम प्रकाश शर्मा, जिला मुख्य आयुक्त डा. के.के त्रिवेदी, तथा जिला कमिश्नर गाईड श्रीमती सूरज डामोर ने बताया कि भारत स्काउट एवं गाईड जिला एसोसिएशन झाबुआ द्वारा जिले में स्काउंटिंग आन्दोलन 65 वर्ष पूर्व 1957 में हुआ था । 1978 में प्रथम जिला स्काउट गाईड रैली पेटलावद में 1978 में हुई थी जिसमें 120 प्रतिभागियों ने सहभागिता की थी, द्वितीय स्काउंट रैली 1980 में जोबट में हुई जिसमें 140 प्रतिभागी शामील हुए,तृतीय रैली 1984 में झाबुआ में आयोजित हुई थी जिसमें 360 प्रतिभागी सहभागी हुए । शिक्षा विभाग द्वारा 1991 तक इस गतिविधि का संचालन किया जाता रहा तत्पश्चात आदिवासी किास विभाग द्वारा इसका संचालन हो रहा है। वर्ष 1980-81 से अभी तक कई स्काउड गाईडो ने विदेशो में संस्था का प्रतिनिधित्व किया  था तथा यह क्रम सतत जारी है । जिले के स्काउट गाईडो को राष्ट्रपति जी द्वारा भी पूर्व में पुरस्कृत करने का सौभाग्य मिला है। वही कई सांस्कृतिक एवं रचनात्मक कार्य भी स्काउट गाईड के माध्यम से किये गये है । अध्यक्ष ओम प्रकाश शर्मा ने बताया कि अतर्राष्ट्रीय शिविर में भारत के 24 राज्यों के सहभगी होने पर मध्यप्रदेश से इस दलका नेतृत्व जयेन्द्र बैरागी द्वारा किया जाना भी गौरव का विषय है। समय समय पर अन्तरजिला रैलियों का भी सफलता पूर्वक आयोजन हुआ है। प्रघानमंत्री शिल्ड प्रतियोगिता में भी जिले ने उल्लेखनीय स्थान प्राप्त किया । श्री शर्मा के अनुसार 25 वर्षो में जिले को 4 थैंक्स अवार्ड, 13 लांग सर्विस अवार्ड, 3 मेडल आफ मेरिट अवार्ड इस तरह कुल 20 अवार्ड प्राप्त हुए है। 14 मई को आयोजित होने वाले इस गरीमामय आयोजन में अधिक से अधिक संख्या में शपथ समारोह में शामील होने की आयोजकों ने नगरवासियों से अपील की है।


जीवन का लक्ष्य और उद्देश्य, जीवन की असीम संभावना, समस्या और समाधान समझने के लिए गहन विचार शक्ति का होना अनिवार्य है - मनोज अरोडा

  • सारा सेवा संस्थान समिति द्वारा मनोज अरोडा का किया गया सम्मान

jhabua news
झाबुआ । जीवन में  शिक्षा के साथ ही मोटीवेशनल प्रशिक्षण का हर युवा वर्ग के लिये बहुत ही महत्व होता है । सरकार भी चाहती है कि युवा वर्ग हर क्षेत्र में आगे बढे और स्वरोजगार की दिशा में स्वयं एक मुकाम हांसील करें । विभिन्न आयामों में प्रशिक्षण प्राप्त करने के बाद युवा वर्ग में स्वयं के पैरों पर खडे होने की शक्ति प्राप्त होती है। इसलिये स्वयं के हूनर को इतना अधिक परिपक्व कर लिया जावे कि हम नौकरी पाने के लिये नही नौकरी देने के लिये सक्षम बन सकें । उक्त बात सारा सेवा संस्थान समिति द्वारा स्थानीय ज्योति भवन में विभिन्न रोजगारमूलक प्रशिक्षण के लिये उपस्थित युवावर्ग को संबोधित करते हुए   मोटीवेशनल स्पीकर सुधांशु शेखर ने व्यक्त किये । श्री शेखर ने प्रशिक्षणार्थियों को जीवन कौशल के बारे मे विस्तार से जानकारी देते हुए बताया कि स्वयं यदि दक्ष बन जाये तो औरो के लिये भी अनुकरणीय उदाहरण बन सकते है । इस अवसर पर स्वयं सेवी संस्था प्रकोष्ठ के जिलाध्यक्ष मनोज अरोडा ने भी अपने विचार व्यक्त करते हुए कहा कि जीवन का लक्ष्य और उद्देश्य, जीवन की असीम संभावना, समस्या और समाधान समझने के लिए गहन विचार शक्ति का होना अनिवार्य है। यह शक्ति हमें यथार्थ शिक्षा से ही प्राप्त हो सकती है। देश के युवाओं के सामने रोजगार हासिल करना आज सबसे बड़ी चुनौती है। इसलिए एक और अहम सवाल यह भी है कि क्या आज की शिक्षा व्यवस्था, युवा प्रतिभा को पहचानने में सक्षम है या फिर किताबी ज्ञान पर आधारित डिग्रियों की लंबी फेहरिस्त के बीच देश के युवाओं में उस स्तर की प्रतिभा का अभाव है जितनी कि संबंधित नौकरियों के लिए चाहिए। यह जानना और समझना बहुत जरूरी हो जाता है कि क्यों देश का युवा उन स्वप्नों को पूरा नहीं कर पा रहा है जो कि वह अपने लिए देखता है। इसलिये सारा सेवा संस्थान समिति का यह प्रशिक्षण कार्यक्रम निश्चित ही जीवन पथ में सहज ही आगे बढने की प्रेरणा देता है। सारा सकवा संस्थान के अध्यक्ष जिम्मी निर्मल, अक्षर अभियान के जिला प्रभारी  जगदीश सिसौदिया संस्थान के निलेश हिहोर, तरूण राठौर, कुमारी परीधि चोैधरी, रूकसार कुर्रेशी, पूजा डामोर भी इस अवसर पर उपस्थित थे । स्वयं सेवी संस्थान प्रकोष्ठ के जिलाध्यक्ष मनोज अरोडा का इस अवसर पर सारा सेवा संस्था समिति की ओर से पुष्पमालाओं से स्वागत किया गया  तथा उनसे अपेक्षा की गई कि उनका सतत सहयोग एवं मार्गदर्शन संस्था को प्राप्त होता रहेगा ।


आगामी दिनांक 14 मई-2022 को आयोजित होने वाली नेशनल लोक अदालत के प्रचार-प्रसार वाहन को माननीय महोदय द्वारा हरी झंडी दिखाकर न्यायालय परिसर झाबुआ से रवाना किया


jhabua news
झाबुआ, । दिनांक 14 मई-2022 को होने वाली वर्ष की दूसरी नेशनल लोक अदालत का आयोजन जिला न्यायालय झाबुआ के साथ-साथ तहसील न्यायालय पेटलावद एवं थांदला में किया जाना है लोक अदालत के प्रचार-प्रसार के लिए दिनांक 12 मई 2022 को माननीय प्रधान जिला एवं सत्र न्यायाधीश श्रीमान मोहम्मद सैय्यदुल अबरार जी के द्वारा न्यायालय परिसर झाबुआ से हरी झण्डी दिखाकर प्रचार वाहन को रवाना किया। माननीय महोदय द्वारा बताया गया कि यह प्रचार वाहन झाबुआ जिले के सार्वजनिक स्थलों, गांवों, दूर-दराज के स्थानों पर नेशनल लोक अदालत का प्रचार-प्रसार करेगा। जिससे लोगों को लोक अदालत के आयोजन की तिथि व महत्व के बारे में जानकारी हो सके। इसके लिए अलग-अलग स्थानों पर पैरालीगल वालेंटियर्स की ओर से नेशनल लोक अदालत के पेम्पलेट्स का वितरण भी किया जाएगा। प्राधिकरण के सचिव एवं जिला न्यायाधीश श्री लीलाधर सोलंकी जी ने बताया कि यह प्रचार वाहन लोगों के बीच जागरूकता फैलाने में सहायक होगा। जरूरतमंद एवं असक्षम लोगों को जागरूक करने का विशेष कार्य करेगा। जागरूकता वाहन की रवानगी के समय विशेष न्यायाधीश श्रीमान महेन्द्र सिंह तोमर, प्राधिकरण के सचिव/जिला न्यायाधीश श्री लीलाधर सोलंकी, अपर जिला न्यायाधीश श्री संजय चैहान, श्री भरत कुमार व्यास, मुख्य न्यायिक मजिस्टेªट श्री गौतम सिंह मरकाम, न्यायिक मजिस्टेट श्री विजय पाल सिंह चैहान, श्रीमती पूनम सिंह, सुश्री साक्षी मसीह, श्री रवि तंवर तथा अधिवक्तागण उपस्थित रहें।


यूनिसेफ की राष्ट्रीय टीम द्वारा झाबुआ जिले के भ्रमण पर भगोर ग्राम मैं कोवीड टीकाकरण व कोवीड नियंत्रण के प्रयासों का किया गया अवलोकन

 

jhabua news
झाबुआ,। दिनांक 11 मई 2022 को  यूनिसेफ़ ईंडीया की चीफ ऑफ फिल्ड सर्वीसेस सुश्री जालपा रत्ना जी और मध्य प्रदेश भोपाल से स्टेट चीफ सुश्री मार्गेट जी द्वारा अपने राज्य स्तरीय दल के साथ झाबुआ जिले के ग्राम भगोर में विजिट किया गया जो कि कोवीड 19 टीकाकरण का 100 प्रतिशत उपलब्धि प्राप्त ग्राम है. इस अवसर पर ग्राम सरपंच श्री कश्मीर द्वारा अतिथियों का स्वागत ढोल मांदल एवं हार फूल के साथ सभी अतिथियों को साफा बांधकर स्वागत किया गया।ग्राम में आयोजित कार्यक्रम में यूनिसेफ के यूथ वॉलिंटियर, जन अभियान परिषद के कोरोना योद्धा युवा वालियन्टर्स, आरकेएसके कार्यक्रम के साथिया, मांडल टोली के बच्चों ने कोरोना काल के दौरान आई चुनौतियां और टीकाकरण के लिए ग्रामीणों में फैली भ्रांतियों को दूर करने के लिए किस तरह से समुदाय को  जागरूक कर टीके लगवाने हेतु प्रेरित किया इस संबंध में अपने अनुभव साझा किए। मुख्य अतिथि सीएमएचओ झाबुआ डॉक्टर ठाकुर ने कहा कि कोरोना के पहले दौर में टीकाकरण के समय हमें बहुत ज्यादा परेशानियों  का सामना करना पड़ा, कई दफ़ा बार स्वास्थ्य विभाग की टीम के साथ मारपीट की घटना भी हुई, फ़िर वॉलिंटियर के सहयोग से समुदाय को जागरूक कर  टीकाकरण का कार्य पूर्ण किया। मुख्य अतिथि मार्गेट ने कहा कि यहाँ आकर बहुत अच्छा लगा, जिस तरह से पारम्परिक तरीके से हमारा स्वागत किया गया, वो अनुभव यादगार है, कोरोना के टीकाकरण के साथ ही नियमित टीकाकरण भी जरुरी है और इस और समुदाय को निरंतर लोगों को जागरूक करना चाहिए और शत-प्रतिशत टीकाकरण प्रत्येक घर में करवाना चाहिए। कार्यक्रम की विशेष अतिथि सुश्री जालपा रत्ना जी ने कहा कि कोरोना के कारण बच्चों की शिक्षा प्रभावित हुई है,  स्कूल खुलने पर सभी बच्चे अपनी शिक्षा पुनः नियमित कर सके, इस हेतु विभाग के साथ ही समुदाय और सामजिक संस्थाओ को मिलकर प्रयास करना चाहिए. इस अवसर पर जिला टीकाकरण अधिकारी डॉक्टर गणावा ने कहा कि शत प्रतिशत टीकाकरण आंगनवाड़ी, आशा, एएनएम ,सीएचओ, सुपरवाइज़र एवं जन अभियान परिषद की युवा टीम, साथिया, कोरोनावालिटियर्स एवं स्वयंसेवी संगठनों के सहयोग से ही संभव हो पाया है ।आदिवासी बाहुल्य जिला होते हुए भी टीकाकरण का प्रतिशत ज्यादा है यह सब आपसी सहयोग से ही संभव हो पाया जिसमे यूनिसेफ का निरंतर प्रोत्साहन एवं सोशल मीडिया चैंपियन का भी टीकाकरण पर बहुत अच्छा प्रभाव रहा, यह निरंतर रहना चाहिए ।इस अवसर पर जन अभियान परिषद के क्षेत्रीय समन्वयक श्री अमित शाह ने युवा टीम को शत प्रतिशत टीकाकरण पूर्ण करने पर बधाई दी एवं निरंतर इसी तरीके से सामाजिक क्षेत्र में लगे रहने हेतु प्रेरित किया। इस अवसर पर ग्राम नौगावॉ से आई मांडल टोली की रिया सोनी ने कबाड़ से जुगाड़ हाथ धुलाई स्पेशल बनाया एवं अतिथियों को कोरोना के दौरान किस तरीके से घर घर में सभी बच्चों ने हैंडवाशिंग स्टेशन कबाड़ से जुगाड़ तकनीक से बनाया और लोगों को कोरोनावायरस से बचाव  के उपाय अपनाए गये उसके बारे में अतिथियों को जानकारी दी ।ग्राम गोपालपुरा से आई शीला डामोर ने शत-प्रतिशत शौचालय का उपयोग कराने हेतु बच्चे किस तरीके से ग्रामीणों को प्रेरित कर रहे हैं एवं टीकाकरण में प्रत्येक दीवारों पर नारा लेखन कर लोगों को जागरूक किया इसकी जानकारी दी । ग्राम भगोर के युवा वॉलिंटियर राजेश बैरागी ने घर घर जाकर समुदाय को युवा टीम के साथ प्रेरित किया और शत-प्रतिशत टीकाकरण में योगदान दिया इसकी जानकारी अतिथियों को दी। कार्यक्रम का संचालन वसुधा विकास संस्थान से डॉ गायत्री परिहार द्वारा किया गया।कार्यक्रम के अंत में न्यू विजन सोसायटी की जिला समन्वयक गरिमा जी के द्वारा सभी अतिथियो का आभार प्रदर्शन कर आदिवासी प्रतिक चिन्ह गुड़िया प्रदान किये गये। कार्यक्रम में यूनिसेफ भोपाल से संचार विशेषज्ञ श्री अनिल गुलाटी ,वॉश स्पेशलिस्ट श्री नागेश पाटीदार एवं दिल्ली यूनिवर्सिटी परमजीत के साथ न्यू विजन से सुश्री जीमली जी, ब्लॉक मेडिकल ऑफिसर डॉ डावर झाबुआ, बीईई श्री सज्जन सिंह नायक एवं एएनएम  श्रीमती शकुंतला राठौर,सीएचओ राठौर, सुपरवाइज़र, आशा,आगनवाड़ी कार्यकर्ता व ग्रामीणजन उपस्थित रहे। जिला अस्पताल के एसएनसीयु, चिल्ड्रंस वार्ड, और जिला वेक्सीन स्टोर का निरीक्षण कर किये गये कार्यो की सराहना की गई जिसकी जानकारी कलेक्टर महोदय से चर्चा कर अवगत कराया गया।


जिला विकास समन्वय एवं मूल्यांकन समिति ‘‘दिशा‘‘ की बैठक आयोजित

  • बैठक की अध्यक्षता माननीय सांसद श्री गुमानसिंह जी डामोर के द्वारा की गई
  • जिले में सभी व्यक्तियों की हेल्थ आईडी बनाई जाएगी , भारत सरकार की इस योजना का लाभ सभी ले- सांसद श्री डामोर

jhabua news
झाबुआ। जिला विकास समन्वय एवं मूल्यांकन समिति ‘‘दिशा‘‘ की बैठक माननीय श्री गुमानसिंह जी डामोर सांसद लोकसभा रतलाम की अध्यक्षता में दिनंाक 12 मई 2022 को प्रातः 11 पर कलेक्टर कार्यालय सभा कक्ष में आयोजित की गई। बैठक में माननीय सांसद महोदय का स्वागत कलेक्टर महोदय के द्वारा किया गया। बैठक मे कलेक्टर श्री सोमेश मिश्रा, पुलिस अधीक्षक श्री आशुतोष गुप्ता, मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत श्री सिद्धार्थ जैन, वमण्डलाधिकारी वनमण्डल झाबुआ श्री हरिसिंह ठाकुर, अपर कलेक्टर श्री जे.एस.बघेल, माननीय अध्यक्ष नगर पालिका श्रीमती मन्नु डोडियार, नामांकित सदस्य श्री दिनेश अमलियार, सरपंच ग्राम पंचायत छापरी रामा, नामांकित सदस्य श्रीमती अंजु मेडा, सरपंच ग्राम पंचायत भीम फलिया श्रीमती फुन्दी बाई बद्रीलाल मेडा, उपस्थित थे। माननीय सांसद महोदय के द्वारा एजेण्डा अनुसार विभागवार समीक्षा पीपीटी के माध्यम से की गई। जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री सिद्धार्थ जैन द्वारा मनरेगा के भुगतान की स्थिति से अवगत कराया। मनरेगा में 31300 कार्य प्रगतिरत है। जल अभिषेक अभियान के अंतर्गत अमृत सरोवर तालाब लिए गए है जो बारिश के पूर्व पूर्ण होगे। प्रधानमंत्री आवास योजना ग्रामीण के अंतर्गत जिले का 71165 का निर्धारित किया गया था। जिसमे से 53076 पूर्ण हो चुके हैं। शेष 18089 प्रगति पर है। आवास प्लस के अंतर्गत 20781 आवास लिए गए है। जिसमें से 16132 का पंजीयन कर लिया गया है। जिसमे 6037 हितग्राहियों को स्वीकृति आदेश प्रदान कर दिए गए है। माननीय संासद महोदय द्वारा निर्देश दिए की जिसका आवास आ गया है। उसका तत्काल निर्माण करवाए। आगामी वर्षो में शतप्रतिशत आवास सभी को मिलना तय है। स्वच्छ भारत मिशन के अंतर्गत 2018 में जिले का ओडीएफ हो चुका है। वर्ष 2021-22 में व्यक्तिगत पारिवारिक शौचालय का लक्ष्य 6333 का लक्ष्य निर्धारित था। जिसमें से 6212 पूर्ण किए गए जो 98 प्रतिशत है। वर्ष 2022-23 में यह लक्ष्य 3000 निर्धारित था। जिसमें से 20 सामुदायिक परिसरों का निर्माण कार्य पूर्ण किया गया है। इन सामुदायिक परिसरों के पाए एक दुकान भी बनाई गई है। जिससे हितग्राही को रोजगार प्राप्त हो सके। वाटरसेट में रिज टु वेली  के अंतर्गत झाबुआ जनपद के 10 ग्राम व थांदला विकास खण्ड के 18 ग्राम की स्वीकृति प्राप्त हुई है। आजीविका मिशन की समीक्षा करते हुए माननीय सांसद महोदय द्वारा निर्देश दिए कि जिले में तत्काल फुड प्रोसेसिंग प्लाट लगाए जाए स्वयं सहायता समूहों से आदिवासी झुलडी, तीर कमान, गुडिया बनाने के लिए प्रोत्साहित किया जाए एवं इनके द्वारा बनाई गई सामग्री का विपणन की व्यवस्था भी सुनिश्चित की जाए। विभिन्न आयोजनों में इन स्वयं सहायता समूह को रोजगार उपलब्ध कराया जा सकता है। इसके अतिरिक्त शादी ब्याह में लगने वाली बॉस की बोहनी भी बनाई जाए। इस व्यवसाय को प्रोत्साहित किया जाए। शहरी विकास अभिकरण से श्री एल.एस.डोडिया ने बताया कि प्रधानमंत्री शहरी आवास योजना में 4431 आवास बनाने का लक्ष्य दिया गया था। जिसमें से 1879 पूर्ण हो चुके हैं। जिला आपूति अधिकारी श्री मुकुल त्यागी द्वारा बताया कि जिले में 16536 प्रधानमंत्री उज्जवला कनेक्शन दिए गए है। जिले में अब तक 115763 कनेक्शन जारी किए जा चुके है। योजना के पार्ट 02 में 17325 कनेक्शन दिए गए है एवं अब तक 133088 कनेक्शन दिए जा चुके है। प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना में उचित मुल्य की दुकान के माध्यम से कुल परिवार 222491 परिवारों मेसे 160836 को लाभावित किया गया है। जिला उद्योग एवं व्यापार केन्द्र के महाप्रबंधक श्री विरेन्द्र सिंह इस्किया द्वारा बताया गया कि प्रधानमंत्री रोजगार सृजन में जिले में 138 हितग्राहियों को 412.22 लाख स्वीकृत किए गए है। उप संचालक कृषि द्वारा प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना राष्ट्रीय कृषि विकास, मृदा स्वास्थ्य परिक्षण, प्रधानमंत्री फसल बीमा के माध्यम से हितग्राहियों को लाभान्वित किया गया है। प्रधानमंत्री सडक योजना, लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग, मध्यप्रदेश विद्युत मण्डल, स्वास्थ्य विभाग की समीक्षा की गई जिसमे सांसद महोदय ने निर्देश दिए की जिले में सभी व्यक्तियों की हेल्थ आईडी बनाई जाए एवं भारत सरकार की इस योजना का लाभ सभी ले, लोक निर्माण विभाग, मध्यप्रदेश ग्रामीण सडक विकास निगम, जल संसाधन विभाग एवं रेल्वे विभाग की समीक्षा माननीय सांसद महोदय के द्वारा की गई। रेल्वे विभाग को निर्देश दिए कि धार से झाबुआ सरदारपुर, दाहोद से झाबुआ जो कार्य चल रहा है उसे तत्काल पूर्ण करे। जल संसाधन विभाग की समीक्षा करते हुए माननीय सांसद महोदय द्वारा निर्देश दिए गए की माही परियोजना के अंतर्गत पेटलावद क्षेत्र की बडी ग्राम पंचायते जो छुट गई है उन्हे सिचाई की सुविधा उपलब्ध करवाई जाए। कुए से पम्पिंग कर सिचाई का लाभ दिया जाए। बैठक में वनमण्डलाधिकारी वनमण्डल झाबुआ, अधीक्षण यंत्री मध्यप्रदेश राज्य विद्युत मण्डल, महाप्रबंधक प्रधानमंत्री ग्रामीण सड़क, ई.ई.पीएचई, आर.ई.एस.जल संसाधन, लोकनिर्माण विभाग, उप संचालक कृषि, पशु चिकित्सा, पंचायत एवं सामाजिक न्याय, जिला कार्यक्रम अधिकारी महिला बाल विकास, सीएमएचओ, महाप्रबंधक जिला व्यापार एवं उद्योग केन्द्र, पीओ शहरी विकास, डीआईओ एनआईसी, जिला प्रबंधक नागरिक आपूर्ति, सहायक संचालक उद्यान मत्स्य विभाग, सहायक आयुक्त आदिवासी विकास, जिला जनसंपर्क अधिकारी, पंजीयक सहकारी संस्था, पीए आईटीडीपी, डीपीओ आर्थिक एवं सांख्किीय विभाग, डीपीसी, एलडीएम, समन्वयक महाप्रबंधक स्टेट बैंक ऑफ इंडिया, नर्मदा झाबुआ ग्रामीण बैंक, सहकारी बैंक, सीएमओ आदि विभाग के अधिकारी उपस्थित थें। बैठक में आभार प्रदर्शन जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री सिद्धार्थ जैन के द्वारा व्यक्त किया गया।


थांदला अुनभाग के भ्रमण के दौरान ग्राम पंचायत हरीनगर के लोगो ने कलेक्टर से सडक सुधारने एवं पेयजल नियमित करने की शिकायत का समाधान किया गया

  • ग्राम हरीनगर की समस्या का त्वरित निराकरण सुशासन की पहल

झाबुआ। कलेक्टर श्री सोमेश मिश्रा अनुभाग थांदला के भ्रमण पर दिनांक 04 मई को गए थे। इस दौरान ग्राम हरीनगर से निकलते समय ग्रामीणो ने कलेक्टर महोदय की वाहन को रूकवा कर यहां  की समस्याआंे से अवत कराया था। जिसमें मुल रूप से अत्यंत ही खराब सडके जिससे केवल धुल ही धुल उड रहा था। ग्रामीण लोग अत्यंत परेशान थे। जिसका निराकरण कलेक्टर महोदय के निर्देश पर पूर्ण किया गया। इसके अतिरिक्त ग्रामीण पेयजल की समस्या से ग्रसीत थे। जिसका निराकरण 05 मई को किया गया। ग्रामीणों की दोनो समस्याओं का निराकरण समयावधि में किया गया।


रेत का अवैध परिवहन करते डंपर पकड़ाया

  • माही,अनास नदियों के तट खंगाले राणापुर,रामा,झाबुआ, पेटलावद,थांदला व मेघनगर तहसीलों में पूरी रात सघन जांच

झाबुआ। कलेक्टर श्री सोमेश मिश्रा के आदेश एवं खनि अधिकारी धर्मेंद्र चौहान के निर्देश व मार्गदर्शन में जिले में खनिजों के अवैध उत्खनन,परिवहन की रोकथाम हेतु खनिज विभाग के दल द्वारा मंगलवार शाम से पूरी रात बुधवार की सुबह तक जिले की समस्त तहसीलों और अनास तथा माही नदी के तट क्षेत्रों में आकस्मिक निरीक्षण कर खनिज परिवहन एवं उत्खनन व सीएम हेल्पलाइन शिकायतों की सघन जांच की गई।जांच मे अधिकांश वाहनों में खनिज परिवहन हेतु अभिवहन पारपत्र (रॉयल्टी) होना पाया गया। खनिज दल को जांच के दौरान खनिज रेत से भरा डंपर वाहन क्रमांक ळश्र 17न्न्9023 बगैर वैधानिक पारपत्र  के अवैध रूप से खनिज रेत का परिवहन करते पाए जाने पर,मौके से जप्त कर थाना प्रभारी थाना काकनवानी की अभिरक्षा में दिया गया है।इन जब्तशुदा वाहनो पर मध्य प्रदेश (अवैध खनन,परिवहन और भंडारण)  नियम 2022 के प्रावधानों के तहत कार्यवाही की जावेगी। इस कार्यवाही में खनि निरीक्षक शंकर कनेश,विवेकानन्द यादव व होमगार्ड सम्मिलित रहे।

कोई टिप्पणी नहीं: