विदिशा (मध्य प्रदेश) की खबर 12 मई - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

गुरुवार, 12 मई 2022

विदिशा (मध्य प्रदेश) की खबर 12 मई

ग्रीष्मकाल में पेयजल आपूर्ति प्रभावित ना हो-कलेक्टर श्री भार्गव


vidisha news
कलेक्टर श्री उमाशंकर भार्गव ने आज लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग के माध्यम से संपादित किए जाने वाले कार्यो की गहन समीक्षा की। उन्होंने विभागों के अधिकारियों के साथ-साथ संबंधित ठेकेदारों को सचेत करते हुए स्पष्ट निर्देश दिए है कि ग्रीष्मकाल में किसी भी ग्रामीण क्षेत्र में पेयजल आपूर्ति प्रभावित ना हो। उन्होंने कहा कि हेण्डपंप बिगडने अथवा अक्रियाशील होने की जो शिकायते प्राप्त होती है उन पर भी अविलम्ब कार्यवाही करें। कलेक्टर श्री भार्गव ने विकासखण्डवार स्वीकृत नल-जल योजनाओं की अद्यतन स्थिति का जायजा लिया। उन्होंने कहा कि बिजली आपूर्ति के कारण एक भी नल-जल योजना बंद नहीं होना चाहिए। ततसंबंध में जल मिशन के द्वारा किए गए कार्यो में बिजली आपूर्ति के कारण होने वाली दिक्कतों के निदान हेतु आवश्यक निर्देश दिए गए है। कलेक्टर श्री भार्गव ने बैठक में मौजूद समस्त ठेकेदारों से कहा कि स्थानीय स्तर पर पेयजल की पूर्ति सुनिश्चित कराने में में विभाग के साथ-साथ संबंधित ठेकेदार की नैतिक जबावदेंही है। अनावश्यक रूप से कोई भी  ठेकेदार परेशान ना हो। उनके द्वारा कराए गए कार्यो का समय सीमा में मूल्यांकन कर भुगतान की कार्यवाही त्वरित की जाए। कलेक्टर श्री भार्गव ने कहा अधिकांश ठेकेदार विदिशा जिले के ही है जिनके द्वारा ग्रामीण क्षेत्रों में नल-जल योजनाओं के कार्यो को मूर्तरूप दिया जा रहा है। उन्होंने ठेकेदारों से कहा कि वे कार्यक्षेत्रों में अपनी ख्याति स्थापित करें ताकि गांव के लोग उदाहरण देकर बताएं। बैठक में लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग के कार्यपालन यंत्री श्री संतोष साल्वे ने बताया कि जिले में कुल 10968 हेण्डपंप है जिसमें से 10531 क्रियाशील है। 437 बंद है जिसमें से 305 का जल स्तर गिरने से, 54 पूरने से, 78 साधारण खराबी के कारण बंद है। उन्होंने बताया कि विदिशा जिले की कुल 2114 शालाओं में पेयजल आपूर्ति की व्यवस्था सुनिश्चित कराई गई है जिसमें से 1260 कार्य पूर्ण हो चुके है जबकि 1248 स्कूलों में पेयजल नल-जल से उपलब्ध कराया गया है। इसी प्रकार 593 आंगनबाडी केन्द्रों में भी नल से जल की उपलब्धता सुनिश्चित कराई गई है। कार्यपालन यंत्री ने विभाग के सहायक यंत्रीवार नल-जल योजनाओे का ब्यौरा प्रस्तुत किया गया। जिसमें बताया गया कि चार सहायक यंत्री के कार्यक्षेत्रों में कुल 342 नल-जल योजनाएं स्वीकृत है जिसमें से 288 क्रियाशील है और विभिन्न कारणो से 54 बंद है। कार्यपालन यंत्री के द्वारा सीएम हेल्पलाइन में पेयजल से संबंधित प्राप्त शिकायतों के निराकरण हेतु की गई पहल की भी जानकारी प्रस्तुत की गई। अंर्तविभागीय समन्वय के तहत प्रधानमंत्री ग्रामीण सड़क योजना के तहत निर्माण सड़कों के सोल्डर पाइप लाइन बिछाने के कार्य उपरांत मरम्मत के संबंध में आवश्यक दिशा निर्देश दिए गए है ताकि बारिश के दौरान उपरोक्त सड़के किसी भी प्रकार से आवागमन में अवरूद्व ना हो पाएं। बैठक में ठेकेदारों ने कार्यो संबंधी समस्याओं के निदान संबंध में ध्यान आकर्षित कराया। जिनके निराकरण के संबंध में निर्देश दिए गए है। पीएमजीएसवाय सड़कों की मरम्मत संबंधी कार्य दस जून के पहले पूर्व निर्माण अनुसार कराया जाना सुनिश्चित करें के निर्देश नल-जल योजना को मूर्तरूप देने वाले ठेकेदारों को दिए गए है। नवीन कलेक्ट्रेट के बेतवा सभागार कक्ष में सम्पन्न हुई इस बैठक में लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग के कार्यपालन यंत्री श्री संतोष साल्वे के द्वारा विभाग के सहायक यंत्री, उपयंत्री तथा जल मिशन, पीएमजीएसवाय के कार्यपालन यंत्री तथा नल जल योजनाओं के कार्यो को मूर्तरूप देने वाले ठेकेदार मौजूद थे। 


स्वास्थ्य मेला आयोजन की तैयारियों का जायजा


vidisha news
कलेक्टर श्री उमाशंकर भार्गव ने गुरूवार को शासकीय जिला चिकित्सालय में पहुंचकर जिला स्तरीय स्वास्थ्य मेला आयोजन के परिपेक्ष्य में किए जाने वाले प्रबंधों का भ्रमण कर स्थलीय जायजा लिया है। गौरतलब हो कि विदिशा जिला मुख्यालय पर 18 एवं 19 मई को दो दिवसीय वृहद स्वास्थ्य मेला का आयोजन किया जा रहा हैं जिसमें विभिन्न रोगो के उपचार हेतु विषय विशेषज्ञ चिकित्सक अपनी सेवाएं देगे ताकि मरीजो के स्वास्थ्य परीक्षण उपरांत उन्हें आवश्यक दवाईयां प्राप्त हो सकें। जिला स्तरीय स्वास्थ्य मेला में विभिन्न प्रकार की जांच भी निःशुल्क की जाएगी साथ ही दिव्यांगजनों के लिए विशेष तौर पर उपकरण वितरण का कार्य किया जाएगा वहीं ऐसे दिव्यांग जिन्हें निःशक्तता प्रमाण पत्र की आवश्यकता है वह भी मौके पर मेडिकल बोर्ड के द्वारा परीक्षण कर त्वरित प्रदाय करते हुए उसे पोर्टल पर अपडेट किया जाएगा। कलेक्टर श्री भार्गव ने मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ अखण्ड प्रताप सिंह, सिविल सर्जन सह अधीक्षक डॉ संजय खरे को संयुक्त रूप से निर्देश दिए है कि जिला स्तरीय स्वास्थ्य मेला में आने वाले मरीजो का बेहतर इलाज कराया जाना सुनिश्चित किया जाए। वहीं विभिन्न प्रकार के प्रमाण पत्रों की उपलब्धता शिविर में पूरी हो। उन्होंने शासकीय एवं भोपाल के निजी चिकित्सालयों से आने वाले चिकित्सा विशेषज्ञों की जानकारी संकलित कर व्यापक प्रचार-प्रसार कराया जाए ताकि मरीज उनसे इसी शिविर में अपना इलाज करा सकें ताकि उनका भोपाल आना-जाना बचें वहीं विभिन्न प्रकार की फीस से भी बचत हो। कलेक्टर श्री भार्गव ने जिला चिकित्सालय परिसर में जिन स्थलों पर टेंट लगाकर काउंटर बनाए जाएंगे, साथ ही मरीजो की सुविधा के लिए किए जाने वाले अन्य प्रबंधों का भी अवलोकन किया है ततसंबंध में कलेक्टर द्वारा आवश्यक दिशा निर्देश दिए गए है। स्थलीय जायजा के दौरान जिला चिकित्सालय के आरएमओ डॉ प्रमोद मिश्रा, बीएचओ क्रमांक एक डॉ भूपेन्द्र सिंह चौहान, डॉ धर्मेन्द्र रघुवंशी, डीपीएम श्री आशुतोष घुटे, डीसीएम डॉ राकेश कुमार पंथी, जिला डाटा मैनेजर श्री हेमंत कुलश्रेष्ठ, श्री हरिओम वर्मा तथा मीडिया आफीसर श्री बीएस दांगी भी साथ मौजूद रहें।


निर्वाचन तैयारियों संबंधी बैठक आज


नगरीय निकायों एवं त्रि-स्तरीय पंचायतों के आम निर्वाचन 2022 की जिले में तैयारियों के परिपेक्ष्य में कलेक्टर श्री उमाशंकर भार्गव की अध्यक्षता में शुक्रवार 13 मई को बैठक आयोजित की गई है। यह बैठक नवीन कलेक्ट्रेट के बेतवा सभागार कक्ष में दोपहर 12.30 बजे से प्रांरभ होगी। उपरोक्त बैठक में समस्त अनुविभागीय राजस्व अधिकारी, तहसीलदार, जनपदों के सीईओ तथा जिला स्तरीय मास्टर ट्रेनर्स पंचायत निर्वाचन को उपस्थित होने के निर्देश अपर कलेक्टर श्री वृदांवन सिंह के द्वारा प्रेषित किए गए है।


अंतर्राष्ट्रीय नर्सेज डे का आयोजन हुआ


sehore news
जिला मुख्यालय पर स्थित जनरल नर्सिंग ट्रेनिंग सेन्टर में आज गुरूवार को आज अंतर्राष्ट्रीय नर्सेज डे का आयोजन किया गया था जिसे सम्बोधित करते हुए मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ अखण्ड प्रताप सिंह ने स्वास्थ्य सुविधाओं के क्षेत्र में नर्सो की भूमिका को अतिमहत्वपूर्ण बताते हुए कहा कि उनका सेवा भाव ही उनकी ख्याति का प्रमुख सूत्र है। मरीजो की जिंदगी बदलने में नर्सो द्वारा कोई कोर कसर नही छोड़ी जाती है समय पर उपचार देकर पूर्ण स्वस्थ होने वाले मरीज जिंदगी भर उनके कार्यो को विस्मित नही कर पाते है। सिविल सर्जन सह अधीक्षक डॉ संजय खरे ने कहा कि चिकित्सकगण तो मरीजो को इतना समय नहीं दे पाते है जितना नर्से देती है। उनका मरीजो से जीवंत सम्पर्क संस्था की ख्याति को बढाता है। इससे पहले अतिथियों द्वारा मां सरस्वती के चित्र पर माल्यार्पण व दीप प्रज्जवलन कर कार्यक्रम का विधिवत रूप से शुभारंभ किया गया। उपरोक्त कार्यक्रम में शामिल नर्सो के द्वारा भी अपने संस्मरणों को सांझा किया गया है। जीएनएमटीसी की प्रिसिंपल एम लता भटनागर ने भी कार्यक्रम को सम्बोधित किया। इस अवसर पर उमा पटवा, प्रमिला भल्ला, राजू नायर, शारदा नागवंशी, सोनम रघुवंशी के अलावा अन्य नर्सो ने भी कार्यक्रम को सम्बोधित किया गया है। 


इक्यावन हजार से अधिक की आर्थिक मदद जारी


विदिशा उपखण्ड अधिकारी श्री गोपाल सिंह वर्मा ने ग्राम काफ में राजाराम पुत्र मौजीलाल का कच्चा मकान 85 प्रतिशत क्षतिग्रस्त हो जाने के कारण तहसीलदार के पालन प्रतिवेदन पर पीड़ित हितग्राही को इक्यावन हजार दो सौ रूपए की आर्थिक सहायता स्वीकृत की है जिसमें मकान क्षति होने पर 45 हजार रूपए, खाद्यान्न सामग्री का नुकसान होने पर छह हजार दो सौ रूपए इस प्रकार कुल इक्यावन हजार दो सौ रूपए की आर्थिक मदद जारी की गई है। 


नेशनल लोक अदालत का आयोजन 14 को


प्रधान जिला न्यायाधीश एवं अध्यक्ष श्री अचल कुमार पालीवाल के निर्देशानुसार 14 मई 2022 शनिवार को जिला न्यायालय विदिशा एवं तहसील न्यायालय गंजबासौदा, सिरोंज, कुरवाई और लटेरी में नेशनल लोक अदालत का आयोजन किया जाएगा। इसके अतिरिक्त राजस्व न्यायालय, एमपीईबी, नगर पालिका परिषद में भी नेशनल लोक अदालत का आयोजन होगा। नेशनल लोक अदालत में न्यायालयों में लंबित समस्त समझौता योग्य सिविल एवं आपराधिक प्रकरण तथा बैंकों के ऋण वसूली प्रकरण, बीएसएनल, संपत्तिकर एवं जलकर के प्रीलिटिगेशन प्रकरणों के निराकरण हेतु विदिशा मुख्यालय में 11, गंजबासौदा में 8, सिरोंज में चार, कुरवाई में दो एवं लटेरी में दो इस प्रकार कुल 27 खंड पीठों का गठन कर पीठासीन अधिकारी एवं सदस्यों को नामांकित किया गया है। नेशनल लोक अदालत के व्यापक प्रचार-प्रसार हेतु जिले के विभिन्न स्थानों पर बैनर लगाए गए हैं तथा विधिक साक्षरता शिविरों के माध्यम से भी जानकारी आम जनों को दी जा रही है। 14 मई 2022 शनिवार को आयोजित नेशनल लोक अदालत में न्यायालय में लंबित समझौता योग्य लगभग 2372 प्रकरण तथा लगभग 9000 प्रीलिटिगेशन प्रकरण निराकरण हेतु प्रस्तुत किए जा रहे हैं। लोक अदालत में मोटर दुर्घटना, क्षतिपूर्ति दावा, धारा 138 एनआई एक्ट, पारिवारिक मामले, समझौता योग्य आपराधिक एवं सिविल मामलों को निराकरण हेतु प्रस्तुत किया जा रहा है। 


नगरीय निकायों के चुनाव ईव्हीएम और पंचायतों के मतपत्र से होंगे, राज्य निर्वाचन आयुक्त श्री सिंह ने की चुनाव तैयारियों की समीक्षा


vidisha news
नगरीय निकायों के चुनाव में ईव्हीएम और त्रि-स्तरीय पंचायतों के चुनाव में मतपत्र और मतपेटियों का उपयोग किया जाएगा। पंचायतों का चुनाव भी ईव्हीएम से करवाने पर 3 माह से अधिक समय लगेगा, क्योंकि ईव्हीएम की संख्या सीमित है। इसलिए मतपेटियों के माध्यम से पंचायतों का चुनाव कराने का निर्णय लिया गया है। राज्य निर्वाचन आयुक्त श्री बसंत प्रताप सिंह ने यह बात कलेक्टर्स के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से निर्वाचन तैयारियों की समीक्षा के दौरान कही। राज्य निर्वाचन आयुक्त श्री सिंह ने कहा कि नगरीय निकायों के चुनाव 2 चरणों में और पंचायतों के चुनाव 3 चरणों में करवाये जायेंगे। उन्होंने कहा कि दोनों चुनाव साथ में कराना है, इसलिए ऐसी तैयारी करें कि किसी भी प्रकार की कठिनाई नहीं हो। श्री सिंह ने कहा कि कोई भी समस्या हो, तो मुझे अथवा सचिव राज्य निर्वाचन आयोग को तुरंत बताएँ। उन्होंने कहा कि संवेदनशील और अति-संवेदनशील मतदान केन्द्रों की समीक्षा कर जानकारी जल्द आयोग को उपलब्ध कराएँ। निर्वाचन प्रक्रिया में सूचना प्रोद्योगिकी का समूचित उपयोग करें। नगरीय निकाय निर्वाचन के लिये चुनाव मोबाइल एप का व्यापक प्रचार-प्रसार करें। श्री सिंह ने कहा कि नवीन प्रावधानों के अनुरूप पार्षदों के निर्वाचन व्यय का लेखा संधारण व्यवस्थित रूप से करवाएँ। उन्होंने कहा कि रिजर्व ईव्हीएम सुरक्षित तरीके से निर्धारित स्थानों पर ही रखवाएँ। सभी कलेक्टर्स चुनाव सामग्री की उपलब्धता की समीक्षा कर लें। मतदान पेटी का मेंटेनेंस करवा लें। मतपत्र मुद्रण के लिये सभी तैयारियाँ पहले से कर लें। सचिव राज्य निर्वाचन आयोग श्री राकेश सिंह ने कहा कि रिटर्निंग और सहायक रिटर्निंग अधिकारी की नियुक्ति कर आयोग को सूचित करें। जिम्मेदार अधिकारियों से मतदान केन्द्रों का सत्यापन कराएँ और आवश्यकता अनुसार उनकी मरम्मत करवा लें। राजनैतिक दलों के साथ समय-समय पर बैठक आयोजित करें। मतगणना स्थल का निर्धारण कर आवश्यक व्यवस्थाएँ सुनिश्चित करें। जिला, नगरीय निकाय एवं ब्लाक स्तर पर ट्रेनिंग के लिये मास्टर ट्रेनर्स का चयन कर लें। व्हीसी के दौरान विदिशा एनआईसी कक्ष में कलेक्टर श्री उमाशंकर भार्गव, अपर कलेक्टर श्री वृदांवन सिंह, डिप्टी कलेक्टर श्री हर्षल चौधरी, एनआईओ श्री एमएल अहिरवार के अलावा अन्य विभागों के अधिकारी उपस्थित रहें।

कोई टिप्पणी नहीं: