प्रतापगढ़ : मोबाईल वेन द्वारा जिला मुख्यालय पर प्रचार-प्रसार जारी - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शनिवार, 28 मई 2022

प्रतापगढ़ : मोबाईल वेन द्वारा जिला मुख्यालय पर प्रचार-प्रसार जारी

legal-awareness-pratapgarh
प्रतापगढ़ : राजस्थान राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण जयपुर के द्वारा जारी एक्शन प्लान में वर्णित निर्देशानुसार मोबाईल वेन के माध्यम से प्रचार-प्रसार किया जा रहा है।  इसी अभियान के तहत मोबाईल वेन के माध्यम से आज प्राधिकरण स्टॉफ द्वारा जिला मुचख्यालय पर स्थित धरियावद नाका, बगवास कच्ची बस्ती, हनुमान घाटी, नीमच नाका, जिला अस्पताल के बाहर, कॉलेज परिसर के बाहर आदि जगहों पर विधिक जागरूकता शिविर का आयोजन किया गया। उक्त स्थानों पर उपस्थित लोगों, श्रमिकों एवं आम जन को प्राधिकरण द्वारा संचालित जनकल्याणकारी योजनाओं के बो में अवगत कराया। साथ ही आगामी राष्ट्रीय लोक अदालत हेतु जागरूक किया गया। उपस्थित लोगों को बाल विवाह निषेध कानून, मृत्यु भोज निषेध कानून, मोटर वाहन अधिनियम आदि कानूनों के बारे में सामान्य जानकारी देते हुए जागरूकता से संबंधित पेम्पलेट्स का वितरण किया गया। आज ही के दिवस प्राधिकरण सचिव शिव प्रसाद तम्बोली ने जिला चिकित्सालय परिसर में स्थित वन स्टॉप सेन्टर का भी निरीक्षण किया। जहां कोई महिला आश्रित उपस्थित नहीं पाई गई। काउंसलर दिव्या उच्छाना, हेल्पर सरोज गंधर्व एवं गार्ड उपस्थित मिले जिन्हें आवश्यक निर्देश प्रदान किये तथा वन स्टॉप सेन्टर द्वारा प्रदत्त सेवाओं को जांचा गया। साथ ही बिल्डींग द नेशन ब्रीक बॉय ब्रीक अभियान के तहत अधोहस्ताक्षरकर्ता द्वारा बांसवाडा रोड स्थित टीमरवा गांव में एक ईंट भट्टे का निरीक्षण किया गया। दौराने निरीक्षण यह पाया गया कि उक्त ईंट भट्टे पर अधिकांश मजदूरों के पास श्रम कार्ड नहीं है। जिनको श्रम कार्ड की अनिवार्यता एवं उसके फायदों के बारे में बताया गया और साथ ही जिला श्रम कल्याण अधिकारी को भी इस संबंध में लिखा गया। ताकि श्रमिकों को प्रदत्त अधिकारों का लाभ उन्हें सुलभ रूप से मिल सके। दौराने निरीक्षण कार्यरत एक मजदूर की बेटी का स्कूल में दाखिला नहीं होना बताया गया। इस संबंध में प्राधिकरण सचिव द्वारा जिला शिक्षा अधिकारी को लिखा जा रहा है। 

कोई टिप्पणी नहीं: