बिहार : जातीय जनगणना के बिना नहीं होने देंगे कोई भी जनगणना : तेजस्वी - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

बुधवार, 4 मई 2022

बिहार : जातीय जनगणना के बिना नहीं होने देंगे कोई भी जनगणना : तेजस्वी

no-cencess-wihou-cas-cencess-ejaswi-yadav
पटना : बिहार में एक बार फिर से जातीय जनगणना को लेकर सभी राजनीतिक दलों में सियासत शुरू हो गई है। दरअसल,राजद नेता तेजस्वी यादव ने एक बार फिर से जातीय जनगणना को लेकर भाजपा को घेरने की कोशिश की है। तेजस्वी यादव ने खुला चैलेंज दिया है कि यदि बिना जातीय जनगणना के राज्य में कोई भी जनगणना होती है तो यह संभव नहीं हो सकेगा। दरअसल, राजद नेता तेजस्वी यादव ने ट्वीट करते हुए भाजपा नेता नित्यानंद राय पर हमला बोलते हुए कहा कि कहा कि भाजपा घोर सामाजिक न्याय विरोधी पार्टी है। बिहार विधानसभा से जातिगत जनगणना कराने का हमारा प्रस्ताव 2 बार सर्वसम्मति से पारित हो चुका है। लेकिन भाजपा और केंद्रीय गृह राज्यमंत्री श्री राय ने लिखित में जातिगत जनगणना कराने से मना कर दिया है। अब बिना इसके बिहार में कोई जनगणना नहीं होने देंगे। गौरतलब हो कि, मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के नेतृत्व में बिहार के सभी दलों द्वारा एक संयुक्त प्रतिनिधिमंडल देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात कर चुका है। अभी तक इसको लेकर प्रधानमंत्री की तरफ से कोई सार्थक प्रतिक्रिया नहीं आई है। जबकि जातीय जनगणना को लेकर बिहार में भाजपा को छोड़कर सभी राजनीतिक दलों द्वारा इसका समर्थन किया जा रहा है। इसको लेकर बिहार के दोनों सदनों में प्रस्ताव भी पारित हो चुका है।

कोई टिप्पणी नहीं: