झारखंड की खान सचिव पूजा सिंघल जेल भेजी गयीं - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

गुरुवार, 12 मई 2022

झारखंड की खान सचिव पूजा सिंघल जेल भेजी गयीं

puja-singhal-in-jail
रांची, झारखंड की खान सचिव पूजा सिंघल को आज प्रवर्तन निदेशालय ने करोड़ों रुपये के भ्रष्टाचार के मामले में तीन दिनों की लंबी पूछताछ के बाद देर शाम गिरफ्तार कर विशेष अदालत में पेश किया जिसने उन्हें चौदह दिनों की न्यायिक हिरासत में बिरसा मुंडा जेल भेज दिया गया है । झारखंड की खान सचिव एवं 2000 बैच की भारतीय प्रशासनिक सेवा की अधिकारी पूजा सिंघल को प्रवर्तन निदेशालय ने तीन दिनों तक चली लंबी पूछताछ के बाद करोड़ों रुपये के भ्रष्टाचार के मामले में आज शाम लगभग पांच बजे गिरफ्तार कर लिया । इसके बाद सिंघल को प्रवर्तन निदेशालय के न्यायाधीश प्रभात कुमार की विशेष अदालत में पेश किया जहां से उन्हें चौदह दिनों की न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया । ईडी के अनुरोध पर मामले की जांच के लिए सिंघल की पांच दिनों की रिमांड लेने की भी जांच एजेंसी को अनुमति दे दी। प्रवर्तन निदेशालय के विशेष लोक अभियोजक बीएमपी सिंह ने ‘पीटीआई भाषा’ को बताया कि विशेष अदालत ने इस मामले की सुनवाई अपने निवास पर रात्रि लगभग नौ बजे की और ईडी की मांग पर उसे पांच दिनो के लिए पूजा सिंघल को हिरासत में लेकर पूछताछ की अनुमति दे दी है। उन्होंने बताया कि अदालत ने पूजा सिंघल को चौदह दिनों की न्यायिक हिरासत में भेज दिया है जिसके चलते आज रात उन्हें रांची में होतवार स्थित बिरसामुंडा जेल भेज दिया गया जहां से बृहस्पतिवार को ईडी उसे पांच दिनों की रिमांड पर लेगी और भ्रष्टाचार के मामलों में आगे की पूछताछ और जांच करेगी।


प्रवर्तन निदेशालय ने पूजा के खिलाफ जिस मामले में कार्रवाई की है, वह खूंटी जिले में उनके उपायुक्त रहने के दौरान मनरेगा में किये गये कथित भ्रष्टाचार से जुड़ा है। प्रवर्तन निदेशालय के सूत्रों ने बताया कि सिंघल एवं उनके दूसरे पति अभिषेक झा अपने चार्टर्ड एकाउंटेंट सुमन सिंह के यहां से बरामद 17 करोड़ रुपये से अधिक की नकदी के बारे में कोई संतोषजनक जवाब नहीं दे सके, जबकि ऐसा माना जाता है कि सिंघल की अवैध कमाई का धन उनके सीए सुमन सिंह ही शेल कंपनियों के माध्यम से जगह-जगह निवेश किया करते थे। छह मई को देश के विभिन्न राज्यों में दो दर्जन स्थानों पर की गयी छापेमारी और लंबी पूछताछ के बाद ईडी ने सात मई को पूजा सिंघल के चार्टर्ड एकाउंटेंट सुमन सिंह को गिरफ्तार कर लिया था। उसके पास से ईडी ने 17 करोड़ रुपये से अधिक की नकदी बरामद की थी जिसका उनके पास कोई हिसाब नहीं था। सुमन को अदालत में पेश कर ईडी पहले ही रिमांड पर ले चुकी है। ईडी के सूत्रों का कहना है कि अब इस मामले में पूजा सिंघल के पति अभिषेक झा और सिंघल के व्यापारिक हिस्सेदार एजेंसी के राडार पर हैं और शीघ्र ही उनके खिलाफ भी कार्रवाई हो सकती है। सिंघल के दूसरे पति अभिषेक झा का रांची के बरियातू इलाके में पल्स अस्पताल है। इस बीच झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने आज करोड़ों रुपये के भ्रष्टाचार के मामले में अपनी खनन सचिव वरिष्ठ प्राशासनिक अधिकारी पूजा सिंघल की गिरफ्तारी के बाद अपनी पहली प्रतिक्रिया में केन्द्र सरकार पर हमलावर अंदाज में दो टूक कहा, ‘चोर मचाये शोर।’ मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने आज शाम यहां मीडिया से बातचीत में कहा, ‘‘भाजपा और केन्द्र सरकार की स्थिति ऐसी है जिसे हमारे यहां कहा जाता है, ‘‘चोर मचाये शोर।’’ मुख्यमंत्री और राज्य के खान मंत्री रहते अपने नाम स्वयं रांची में खनन पट्टा आवंटित करवाने के चलते ‘लाभ के पद’ मामले में चुनाव आयोग की नोटिस का सामना कर रहे मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने बड़े तल्ख स्वर में कहा, ‘‘राज्य की पिछली सरकारों के समय के भ्रष्टाचार के मामलों में ऐसा शोर मचाया जा रहा है जैसे यह उनके कार्यकाल से जुड़ा हो। वास्तव में इसे कहा जाता है, ‘चोर मचाये शोर।’’ हेमंत सोरेन ने राज्य की खान सचिव पूजा सिघल की गिरफ्तारी के बारे में पूछे जाने पर अपनी पूर्ववर्ती रघुवर दास की सरकार पर हमला बोलते हुए कहा, ‘‘पिछली सरकारों में जिन लोगों को क्लीन चिट दी गयी आज उन्हीं के खिलाफ भ्रष्टाचार के आरोप लगाये जा रहे हैं और उन्हें गिरफ्तार किया जा रहा है। वास्तव में भाजपा राज्य में विकास के कार्य रुकवाने के लिए गड़े मुर्दे उखाड़ रही है।’’

कोई टिप्पणी नहीं: