नोबेल विजेता लेखक ने रूस को ‘आजाद दुनिया’ के लिए खतरा कहा - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

सोमवार, 16 मई 2022

नोबेल विजेता लेखक ने रूस को ‘आजाद दुनिया’ के लिए खतरा कहा

russia-dangerous-for-world-novel-writer
यरुशलम, 16 मई, पोलैंड की नोबेल विजेता लेखिका ओल्गा टोकार्जुक ने रविवार को रूस को ‘आजाद दुनिया’ के लिए बड़ा खतरा करार दिया। उन्होंने कहा कि पड़ोसी यूक्रेन पर रूस के हमले में द्वितीय विश्व युद्ध की गूंज महसूस की जा सकती है। मानवतावादी विषयों पर अपने लेखन कार्य के लिए प्रसिद्ध टोकार्जुक ने यरुशलम में आयोजित एक साहित्य उत्सव के दौरान यह टिप्पणी की। उन्होंने कहा, "यूक्रेन पर रूसी सेना की कार्रवाई से पता चलता है कि वह ‘आजाद दुनिया’ के लिए कितना बड़ा खतरा है।" टोकार्जुक ने कहा कि पोलैंड की सरकार पिछले कई वर्षों से दुनिया को रूसी आक्रमण के खतरे को लेकर आगाह करती आ रही थी। यूक्रेन पर फरवरी में रूसी आक्रमण की शुरुआत के बाद से अब तक 30 लाख से अधिक यूक्रेनी शरणार्थी पोलैंड में शरण ले चुके हैं। पोलैंड ने रूस पर कड़े अंतरराष्ट्रीय प्रतिबंध लगाने की मांग की है। टोकार्जुक ने कहा, "कोई भी कल्पना नहीं कर सकता था कि यूक्रेन युद्ध इतना क्रूर और कालानुक्रमिक होगा। यह युद्ध द्वितीय विश्व युद्ध के भयावह दृश्यों की याद दिलाता है।" टोकार्जुक को 18वीं शताब्दी के यहूदी नेता जैकब फ्रैंक के जीवन पर लिखे गए महाकाव्य "द बुक्स ऑफ जैकब" के लिए साल 2018 में साहित्य के नोबेल पुरस्कार से सम्मानित किया गया था।

कोई टिप्पणी नहीं: