सच बोलना देशद्रोह नहीं : राहुल गांधी - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

बुधवार, 11 मई 2022

सच बोलना देशद्रोह नहीं : राहुल गांधी

sach-no-sadiion-rahul-gandhi
नयी दिल्ली, 11 मई, कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा है कि सच बोलना देशद्रोह नहीं है लेकिन मोदी सरकार सच बोलने वालों की आवाज दबाने का काम कर रही है। श्री गांधी ने कहा कि सरकार की आलोचना करना देश की जनता का अधिकार है लेकिन यह सरकार आलोचना करने वालों की आवाज दबाने का काम कर रही है और सच बोलने वालों पर देशद्रोह के मुकदमे चला रही है। उसे समझना चाहिए कि सच बोलना देशद्रोह नहीं है और इस बात की पुष्टि उच्चतम न्यायालय के देशद्रोह से संबंधित मामलों पर अगले आदेश तक सुनवाई नहीं करने के फैसले ने भी कर दी है। श्री गांधी ने ट्वीट किया “सच बोलना देशभक्ति है, देशद्रोह नहीं। सच कहना देश प्रेम है, देशद्रोह नहीं। सच सुनना राजधर्म है, सच कुचलना राजहठ है। डरो मत।” इसके साथ ही उन्होंने एक खबर पोस्ट की है जिसमें लिखा है कि शीर्ष अदालत ने देशद्रोह कानून पर रोक लगाई और कहा है कि अगले आदेश तक किसी मामले को नहीं सुना जाएगा। इससे पहले कांग्रेस संचार विभाग के प्रमुख रणदीपसिंह सुरजेवाला ने कहा कि सरकार की आलोचना करने वालों को जेल की सलाखों के पीछे धकेलने वाले शासकों को समझ लेना चाहिए कि अब देश की जनता जाग चुकी है और उनकी आवाज को अब कुचला नहीं जा सकता है। लोगों की आवाज उठती रहेगी और उनकी आवाज काे दबाया नहीं जा सकता है यह बात उच्चतम न्यायालय ने देशद्रोह के मामलों पर अगले आदेश तक सुनवाई नहीं करने का आदेश देकर साबित कर दिया है।

कोई टिप्पणी नहीं: