विदिशा (मध्य प्रदेश) की खबर 03 जून - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

विजयी विश्व तिरंगा प्यारा , झंडा ऊँचा रहे हमारा। देश की आज़ादी के 75 वर्ष पूरे होने पर सभी देशवासियों को अनेकानेक शुभकामनाएं व बधाई। 'लाइव आर्यावर्त' परिवार आज़ादी के उन तमाम वीर शहीदों और सेनानियों को कृतज्ञता पूर्ण श्रद्धासुमन अर्पित करते हुए नमन करता है। आइए , मिल कर एक समृद्ध भारत के निर्माण में अपनी भूमिका निभाएं। भारत माता की जय। जय हिन्द।

शुक्रवार, 3 जून 2022

विदिशा (मध्य प्रदेश) की खबर 03 जून

असली कातिलो का गिरफ्तार किया जाए -विधायक शशांक भार्गव 


vidisha news
विदिशाः- गुरूबार को दिन दहाड़े हुई हत्या से पूरे शहर से भय का माहौल व्याप्त है। हत्याकांड को लेकर शहर भर में चर्चाओ का दौर चलता रहा। आज ब्लॉक कांग्रेस विदिशा, शहर कांग्रेस, सूचना का अधिकार प्रकोष्ठ के संयुक्त तत्वाधान में विधायक शशांक भार्गव के नेत्तृव में राष्ट्रपति के नाम ज्ञापन पुलिस अधीक्षक को सौपते हुए हत्याकांड की साजिश रचने वाले असली कातिलो की गिरफ्तार करने की मांग की। विधायक शशांक भार्गव ने कहा कि घटना स्थल के नजदीक ही जिला न्यायालय, उपखंड अधिकारी कार्यालय, सिविल लाइन थाना, जनपद पंचायत कार्यालय भी है लेकिन इसके बाबजूद अपराधियों ने बैखोफ होकर हत्याकांड कों अंजाम दिया है जो प्रदेश की कानून व्यवस्था पर सवालिया निशान खड़े करता है । आर.टी.आई. कार्यकर्ता एवं पत्रकार की खुलेआम हत्या होना इस बात का संकेत है कि मृतक रंजीत सोनी किसी बड़े भृष्टाचार के मामले को उजागर करना चाहते थे लेकिन भृष्टाचार के मामले में लिप्त बड़े भाजपा नेताओ, अधिकारियो एवं रसूखदार लोगो के द्वारा भाडे के हत्यारो के माध्यम से हत्या करवाई है ।

कांग्रेस ने ज्ञापन के माध्यम से मांग की है -

रंजीत सोनी हत्याकांड के अपराधियों को तत्काल गिरफतार किया जावे ।  रंजीत सोनी के परिजनों को सुरक्षा उपलब्ध कराई जावे । मृतक रंजीत सोनी ने पिछले 5 वर्षाें में जिन कार्यालयों में सूचना के अधिकार के तहत जो जानकारी मांगी गई है या प्राप्त की गई है, उन सभी दस्तावेजों को मुझे उपलब्ध कराते हुए सार्वजनिक कर जॉच की जावे ।  इस हत्याकांड के पीछे निश्चित ही बड़े भाजपा नेताओ, अधिकारियो एवं रसूखदार लोग शामिल है इस हत्याकांड की उच्च स्तरीय जॉच की जाये जिससे वास्तविक अपराधियों को सजा मिल सके  हमे यह संदेह है कि इस घटना को भाडे के हत्यारो द्वारा अंजाम दिया गया है। कही ऐसा ना हो कि उत्तरप्रदेश की तर्ज पर भाडे के अपराधियो का आरोपी बनाकर उनका एनकांटर कर दिया जाये जिससे वास्तविक अपराधी बच जाये, इस लिए घटना में लिप्त हत्यारो को जिंदा भी न्यायालय के समक्ष प्रस्तुत किया जाये। मृतक के परिवार को 50 लाख की आर्थिक सहायता एवं परिवार के एक सदस्य को शासकीय नौकरी दी जावे । इस तरह की आपराधिक घटनाओं को रोकने के लिए उचित पुलिस बंदोबस्त की जावे ।  सभी शासकीय कार्यालय एवं प्रमुख चौराहों पर सी.सी.टी.व्ही. केमरे लगाए जाकर उनकी उचित देखरेख की जावे । इस अवसर पर नंदकिशोर शर्मा, ब्लॉक कांग्रेस अध्यक्ष अजय कटारे, डॉ. शैलेन्द्र कटारिया, गोविंद राजपूत मेहमूद कामिल, मलखान मीणा, नवनीत कुशवाह, अरूण अवस्थी, डालचंद अहिरवार, विजयकांत रैकवार, जितेन्द्र तिवारी, संतोष कुशवाह, आर.टी.आई प्रकोष्ठ जिला अध्यक्ष शोभित अग्रवाल, लईक पठान, ओ.पी. सोनी, अमित सोनी, अनुराग जैंन, अन्नु, धर्मेन्द्र यादव, प्रदीप वेद, नवीन कोठारी, माधोसिंह अहिरवार, राजकुमार डीडोत जवहार कुशवाह, सुमित मोतयानी गनेश कुशवाह, मुलायम कुशवाह, मुआज कामिल, यश शर्मा, अभिषेक कुशवाह, प्रहलाद गर्ग, विपिन यादव, दुलारे आदि उपस्थित रहे।  


आर.एस.एस. को चुनौती देगी बाल कांग्रेस 


vidisha news
विदिशाः- बाल कांग्रेस के प्रदेश कैप्टन लक्ष्य गुप्ता आज संगठन की बैठक लेने विदिशा आए। विधायक शशांक भार्गव के कार्यालय में विदिशा विधानसभा बाल कांग्रेस की बैठक अयोजित की गई। बैठक की विधायक शशांक भार्गव प्रदेश कैप्टन लक्ष्य गुप्ता, प्रदेश समन्वयक राजकुमार सिंह ब्लॉक कांग्रेस अध्यक्ष अजय कटारे ने संबोधित करते हुए बाल कांग्रेस कार्यकर्ताओ का मार्गदर्शन किया। इस अवसर पर आयोजित प्रेस कांप्रेस में लक्ष्य गुप्ता ने कहा कि चाचा नेहरू के जन्मदिवस पर बाल कांग्रेस का गठन प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ जी ने किया है। जिसमें 14-20 वर्ष के युवाओ को पार्टी की विचारधारा से जोडा जाएगा। आर एस एस कम उम्र से ही बच्चो का ब्रेनवॉश कर नफरत फैलाती है। बाल कांग्रेस के माध्यम से आर.एस.एस. की नफरत की विचारधारा की चुनौती दी जायेगी। विधायक शशांक भार्गव ने कहा कि विदिशा विधायनसभा ने बाल कांग्रेस कैप्टन सोमू रघुवंशी को नियुक्त किया गया है। शीघ्र ही ब्लॉक एवं मतदान केन्द्र स्तर तक बाल कांग्रेस का गठन किया जाएगा। इस अवसर पर बाल कांग्रेस विधानसभा कैप्टन सोमू रघुवंशी, अभिराज शर्मा, मुआज कामिल, हरिओम किरार, यश शर्मा,  मिक्की भावसार, मुलायम कुशवाह, अभिषेक कुशवाह, अनुज रघुवंशी, राज रघुवंशी, सत्यपाल राजपूत, बलवीर लोधी आदि उपस्थित रहे।   


पीठासीन व दल के सदस्य प्रशिक्षित हुए


vidisha news
त्रि-स्तरीय पंचायत आम निर्वाचन वर्ष 2022 को जिले में सुव्यवस्थित रूप से राज्य निर्वाचन आयोग के दिशा-निर्देशों के अनुरूप सम्पन्न कराने हेतु जिले के सातों विकासखण्डों में नियुक्त पीठासीन अधिकारी और मतदान दल अधिकारी क्रमांक एक को संयुक्त रूप से प्रशिक्षण शुक्रवार को आयोजित किया गया था। जिला मुख्यालय पर विदिशा विकासखण्ड के पूर्व उल्लेखितों को आयोजित प्रशिक्षण में निर्वाचन संबंधी तमाम कार्यों को समयावधि में निर्विघ्न रूप से सम्पन्न हो इसके लिए प्रायोगिक जानकारियां प्रशिक्षण के दौरान प्रदाय की गईं। वहीं प्रशिक्षणार्थियों की निर्वाचन संबंधी कार्यों से जुड़ी जिज्ञासाओं का समाधान मौके पर त्वरित कराया गया है। अपर कलेक्टर श्री वृन्दावनसिंह ने प्रशिक्षणार्थियों को संबोधित करते हुए कहा कि सम्पूर्ण निर्वाचन प्रक्रिया अर्थात मतदान सामग्री प्राप्ति से लेकर मतगणना कार्य तक बिना किसी दबाव में समय सीमा में सभी पीठासीन अधिकारी और दल के अन्य सदस्य संयुक्त रूप से संपादित करेंगे। उन्होंने कहा कि निर्वाचन कार्यों के दौरान किसी भी प्रकार के मानसिक दबाव में कदापि ना आएं। जहां कहीं कोई डाउट हो उसका समाधान प्राप्त कर प्रशिक्षण हाल छोड़ें। उन्होंने राज्य निर्वाचन आयोग द्वारा निर्वाचन प्रक्रियाओं के संबंध में जो गाईडलाइन जारी की गई है। उन पुस्तिकाओं के साथ-साथ संशोधित आदेशों का बारिकी से अध्ययन कर निर्वाचन कार्य को सम्पन्न कराएं। उन्होंने कहा कि पूरी निर्वाचन प्रक्रिया के दौरान स्वयं तटस्थ रहें और कार्यप्रणाली से ऐसा प्रतीत भी हो। अपर कलेक्टर श्री सिंह ने कहा कि मतदान सामग्री प्राप्ती के उपरांत उसका मिलान कैसे करना है। त्रि-स्तरीय पंचायतों के पंच, सरपंच तथ जनपद एवं जिला पंचायत सदस्य का निर्वाचन मतपत्रों के माध्यम से होगा। अतः मतपेटी को अच्छे से लॉक, अनलॉक करने की प्रक्रिया आवश्यक रूप से समझ लें ताकि मतदान केन्द्र पर इस कार्य में किसी भी प्रकार की असुविधा ना हो। उन्होंने प्रशिक्षण केन्द्र में रखी मतपेटी को हरेक प्रशिक्षणार्थी से लॉक, अनलॉक करने के कार्य रेंडम प्रणाली से कराए हैं। अपर कलेक्टर श्री सिंह ने मतदान दल के सभी सदस्य अपने-अपने निर्वाचन दायित्वों से भलि-भांति अवगत रहें ताकि आवश्यकता पड़ने पर दल के अन्य सदस्य के कार्य को भी संपादन कराने में सहयोगप्रद कर सकें। उन्होंने मतदान केन्द्र पर पहुंचकर मतदान के पूर्व केन्द्र पर की जाने वाली व्यवस्थाएं, मतदान दिवस को क्रियान्वित व्यवस्थाएं, मतपेटी पर नजर रखना, एक व्यक्ति चार मत देगा अर्थात पंच, सरपंच और जनपद व जिला पंचायत सदस्य के लिए मत देगा। अतः इस बात का विशेष ध्यान रखा जाए कि कोई भी मतदाता मतपत्रों को लेकर मतदान केन्द्र के बाहर ना निकल पाए। मतदान के उपरांत मतगणना के दौरान बरती जानी वाली सावधानियों पर उन्होंने गहन प्रकाश डालते हुए उन्होंने बताया कि मतदाता द्वारा मतपत्र पर सील लगाकर अपना मत दिया जाएगा और उसे फोल्ड पर मतपेटी में डाला जाएगा। कभी-कभी सील की स्याही सूख नही पाती है और वह दूसरे अभ्यर्थी के क्षेत्र में भी उभर आती है ऐसी स्थिति में शंकाप्रद मतपत्रों की गणना सबसे पहले की जाए ताकि किसी को किसी भी प्रकार की आपत्ति लगानी है तो उसका समाधान उसी मौके पर किया जाए। इसके पश्चात अन्य मतो की गणना का कार्य किया जाएगा। अपर कलेक्टर श्री सिंह ने कहा कि जब पंच पद के मतो की गणना कार्य जारी रहे उस दौरान केवल पंच पद के गणना अभिकर्ता ही बैठे उसके पश्चात् सरपंच पद की गणना करें इसी प्रकार फिर जनपद सदस्य व जिला पंचायत सदस्य के मतो की गणना कार्य किया जाए प्रत्येक गणना चक्र के उपरांत गणना पत्रक मे प्राप्त मतो की जानकारी अभ्यर्थियों को प्रदाय की जाए। इस दौरान अनेक प्रशिक्षणार्थियों के द्वारा पुनः मतगणना के संबंध में अपनी शंकाओं का समाधान प्राप्त किया है। उप जिला निर्वाचन अधिकारी श्रीमती अमृता गर्ग ने कहा कि निर्वाचन कार्य निर्विघ्न रूप से संपन्न हो इसके लिए हमें जागरूक होकर सुव्यवस्थित रूप से समय सीमा में सभी निर्वाचन कार्य पूरे करने होंगे। उन्होंने कहा कि ऐसी मानसिकता दिलो दिमाग में कदापि ना लाए कि चुनावी ड्यूटी से नाम हटवा लेंगे। उन्होंने कहा कि निर्वाचन संबंधी ऐसा कार्य जिसमें कोई परेशानी समझ में आ रही हो तो उस कार्य का बार-बार अभ्यास कर उस परेशानी का हल प्राप्त करें। विदिशा एसडीएम श्री गोपाल सिंह वर्मा ने प्रशिक्षणार्थियों से कहा कि लगातार दो दिन दो पालियों में आयोजित होने वाले इस प्रशिक्षण का मुख्य उद्धेश्य नवीनतम निर्वाचन संबंधी कार्यो से अवगत होकर मतदान प्रक्रिया गणना तक सुव्यवस्थित रूप से सम्पन्न कराना है। एसएटीआई के नाथूसभागार में आयोजित उक्त प्रशिक्षण का मास्टर ट्रेनर्सो द्वारा प्रशिक्षित किया गया। छह कक्षों में एक साथ आयोजित प्रशिक्षण में दो-दो मास्टर ट्रेनर्स प्रत्येक कक्ष में उपस्थित रहकर पीठासीन अधिकारी और मतदान दल अधिकारी क्रमांक एक को राज्य निर्वाचन आयोग द्वारा जारी दिशा निर्देशो की बखूवी जानकारी देकर विभिन्न स्तरों पर प्रायोगिक जानकारी दी गई वहीं प्रशिक्षणार्थियों के भी प्रायोगिक जानकारियां देते हुए उनके द्वारा सहभागिता निभाई गई ।


जनसभा एवं जुलूसों के प्रवेश पर रोक


कलेक्टर एवं जिला मजिस्ट्रेट के द्वारा आदेश जारी कर विदिशा जिले की नगरीय निकायों के आम निर्वाचन 2022 को दृष्टिगत रखते हुए नगरीय क्षेत्र विदिशा, बासौदा, कुरवाई, सिरोंज, लटेरी एवं शमशाबाद में निर्वाचन अवधि में कानून एवं शांति व्यवस्था बनाए रखने व आदर्श आचरण संहिता के अनुपालन की दृष्टि से दंड संहिता 1973 की धारा 144 (3) में प्रदत्त शक्तियों का प्रयोग करते हुए आदेश जारी होने की दिनांक से नगरीय निकायों के निर्वाचन प्रक्रिया की समाप्ति तक की अवधि के लिए कंपोजिट भवन परिसर विदिशा तथा उपखंड या तहसील कार्यालय परिसर विदिशा, बासौदा, कुरवाई, सिरोंज, लटेरी, नटेरन, शमशाबाद तथा ग्यारसपुर में जनसभा एवं जुलूसों के प्रवेश पर रोक लगाने का आदेश जारी किया है। उक्त परिसरों को धारा 144 (3) के अंतर्गत दिनांक 1 जून 2022 से नगरीय निकायों के निर्वाचन की प्रक्रिया समाप्ति तक की अवधि के लिए प्रतिबंधित क्षेत्र घोषित किया गया है।


धर्मशाला, होटल, लॉज या सराय में ठहरने वालों की देना होगी जानकारी


विदिशा जिले में नगरीय निकायों के आम निर्वाचन 2022 अंतर्गत नगरीय क्षेत्र विदिशा, बासौदा, कुरवाई, सिरोंज, लटेरी एवं शमशाबाद में नगरीय निकाय निर्वाचन 2022 के दौरान बाहर से आने वाले व्यक्तियों के साथ असामाजिक तत्व भी जिले में घुसपैठ कर सकते हैं। जिससे शांति व्यवस्था को खतरा उत्पन्न हो सकता है। अतः जिले में शांति व्यवस्था बनाए रखने के उद्देश्य से कलेक्टर एवं जिला मजिस्ट्रेट ने सराय अधिनियम 1967 की धारा 8 के अंतर्गत नगरीय निकाय निर्वाचन 2022 हेतु नगर पालिका, परिषद विदिशा, बासौदा, कुरवाई, सिरोंज, लटेरी एवं शमशाबाद की नगरीय सीमा क्षेत्र के भीतर स्थित समस्त सराय, धर्मशाला, होटल तथा लॉज के मालिकों एवं प्रबंधकों को निर्देश जारी किए हैं कि वह अपने होटल, लॉज, धर्मशाला, सराय में ठहरने वाले व्यक्ति की दैनिक जानकारी संबंधित क्षेत्र के थाना प्रभारी एवं निकटतम कार्यपालिक दंडाधिकारी को लिखित रूप में प्रस्तुत करें। उक्त आदेश 1 जून 2022 से प्रभावशील होकर निकाय निर्वाचन प्रक्रिया समाप्ति तक लागू रहेगा।


निकाय क्षेत्रों में साइलेंस जोन घोषित, बिना अनुमति या निर्दिष्ट अवधि के पश्चात लाउडस्पीकर के उपयोग पर होगी दंडात्मक कार्यवाही


कलेक्टर एवं जिला मजिस्ट्रेट ने विदिशा जिले में नगरीय निकायों के आम निर्वाचन 2022 हेतु नगर पालिका, परिषद विदिशा, बासौदा, कुरवाई, सिरोंज, लटेरी एवं शमशाबाद में नगरीय निकायों के निर्वाचन 2022 को दृष्टिगत रखते हुए निर्वाचन प्रचार प्रसार कार्य में लाउडस्पीकर के अनियंत्रित उपयोग से होने वाली जन परेशानी, ध्वनि प्रदूषण व शांति व्यवस्था के हित में मध्यप्रदेश कोलाहल नियंत्रण अधिनियम 1985 की धारा 18 के अंतर्गत 1 जून 2022 से नगरीय निकाय निर्वाचन कार्य समाप्ति तक की अवधि के लिए विदिशा जिले की नगर पालिका, परिषद विदिशा, बासौदा, कुरवाई, सिरोंज, लटेरी एवं शमशाबाद में नगरीय निकाय निर्वाचन 2022 की परिधि में सम्मिलित क्षेत्र को कोलाहल नियंत्रण क्षेत्र (साइलेंस जोन) घोषित किया गया है। इस दौरान प्राधिकारी की लिखित अनुज्ञा के बिना ध्वनि विस्तारक यंत्रों के उपयोग पर पूर्णतः प्रतिबंध रहेगा। कलेक्टर एवं जिला मजिस्ट्रेट द्वारा जारी आदेश में उल्लेख है कि आमसभा, जुलूस एवं प्रचार कार्य हेतु लाउडस्पीकर या ध्वनि विस्तारक यंत्रों के उपयोग की अनुमति पंचायत क्षेत्र में प्रातः 6 बजे से रात्रि 10 बजे तक दी जा सकती है। उक्त अनुमति मतदान दिनांक के 48 घंटे पूर्व तक की ही प्रदान की जा सकती है। ट्रक, जीप, टेंपो, ऑटो रिक्शा, तांगा आदि वाहनों से चुनाव प्रचार-प्रसार की अनुमति आवेदन करने पर ही दी जा सकेगी। आवेदन पत्र में वाहन के पंजीयन क्रमांक का उपयोग अनिवार्य होगा। बिना अनुमति लाउडस्पीकर या ध्वनि विस्तारक यंत्र द्वारा प्रसारण एवं प्रचार-प्रसार करने पर या अनुमति में निर्दिष्ट अवधि के पश्चात लाउडस्पीकर या संबंधित उपकरण के उपयोग की दशा में जप्त कर नियमानुसार दंडात्मक कार्यवाही संपादित की जाएगी। यह आदेश तत्काल प्रभाव से प्रभावशील रहेगा।


लोक संपत्ति सुरक्षा दस्ता तत्काल प्रभाव से पदस्थ करने के निर्देश


कलेक्टर एवं जिला मजिस्ट्रेट के द्वारा जारी आदेश में उल्लेख है कि विदिशा जिले के नगरीय क्षेत्र विदिशा, बासौदा, कुरवाई, सिरोंज, लटेरी एवं शमशाबाद में नगरीय निकाय निर्वाचन 2022 के दौरान अभ्यर्थियों द्वारा चुनाव प्रचार करने के लिए शासकीय, अशासकीय भवनों पर नारे लिखे जाते हैं, बैनर लगाए जाते हैं, पोस्टर चिपकाए जाते हैं तथा विद्युत टेलीफोन के खंभों पर चुनाव प्रचार से संबंधित इंडिया लगाई जाती हैं। जिसके कारण शासकीय संपत्ति का स्वरूप विकृत हो जाता है। इस संबंध में शासन द्वारा मध्यप्रदेश संपत्ति विरूपण निवारण अधिनियम 1994 पारित किया गया है। इस नियम की धारा 3 में यह स्पष्ट उल्लेख है कि कोई भी व्यक्ति जो संपत्ति के स्वामी की लिखित अनुज्ञा के बिना सार्वजनिक दृष्टि में आने वाली किसी संपत्ति को स्याही, खड़िया, रंग या किसी अन्य पदार्थ से लिखकर या चिन्हित करके उसे विरूपित करेगा, वह जुर्माने से जो एक हजार रुपये तक का हो सकेगा, दंडनीय होगा। पोस्टर बैनर लगाकर शासकीय संपत्ति को विकृत किया जाता है तो ऐसे पोस्टर एवं बैनर हटाने के लिए तथा चुनावी नारे मिटाने के लिए उक्त नगर पालिका या परिषद के प्रत्येक थाने में लोक संपत्ति सुरक्षा दस्ता तत्काल प्रभाव से पदस्थ करने के निर्देश दिए हैं। इस दस्ते में लोक निर्माण विभाग और नगरीय निकाय के पर्याप्त संख्या के कर्मचारी पदस्थ रहेंगे। यह लोक संपत्ति सुरक्षा दस्ता थाना प्रभारी या टीआई के सीधे देखरेख में कार्य करेगा। इस दस्ते को सहयोग देने के लिए और स्थल पर जाकर कार्यवाही सुनिश्चित करने के लिए संबंधित थाने का एक सहायक उप निरीक्षक पुलिस, मुख्यालय पटवारी एवं स्थानीय निकायों के कर्मचारियों की ड्यूटी लगाई जाने के निर्देश दिए गए हैं। इस दस्ते को एक वाहन भी उपलब्ध कराया जाएगा। जिस पर लोक संपत्ति सुरक्षा दस्ता का बैनर लगा होगा। लोक निर्माण विभाग से संबंधित निकाय द्वारा इस दस्ते को लोक संपत्ति को विरूपण से बचाने के लिए सभी आवश्यक सामग्री जैसे गेरू, चुना, कूची, बांस एवं सीढ़ी आदि उपलब्ध कराई जाएगी। यह लोक संपत्ति सुरक्षा दस्ता निर्वाचन संपत्ति तक टीआई या थाना प्रभारी के सीधे देखरेख में अपने अपने कार्य क्षेत्र में प्रतिदिन भ्रमण करते हुए लोग संपत्तियों को ग्रुप होने से रोकेगा। यदि किसी चुनाव लड़ने वाले अभ्यर्थी द्वारा किसी निजी संपत्ति को बिना उसके स्वामी की लिखित सहमति के विरुपित किया जाता है तो निजी संपत्ति के स्वामी द्वारा संबंधित थाने में प्रथम सूचना रिपोर्ट दर्ज कराने के बाद लोक संपत्ति सुरक्षा दस्ता निजी संपत्ति को विरूपित होने से बचाने की कार्यवाही करेगा एवं थाना प्रभारी संबंधित प्रथम सूचना रिपोर्ट के आधार पर विधिवत जांच कर सक्षम न्यायालय में चालान प्रस्तुत करेंगे। थाना प्रभारी लोक संपत्ति विरूपण से संबंधित प्राप्त शिकायतों को एक पंजी पंजीबद्ध करेगा तथा शिकायत की जांच कर तथ्य सही पाए जाने पर लोक संपत्ति सुरक्षा दस्ता को आवश्यक कार्यवाही करने हेतु निर्देशित करेंगे। थाना प्रभारी उपरोक्त के संबंध में की गई कार्यवाही से संबंधित सप्ताहिक प्रतिवेदन रिटर्निंग अधिकारी नगर पालिका या परिषद, अनुविभागीय दंडाधिकारी एवं जिला निर्वाचन कार्यालय विदिशा भेजेंगे।


मतदान एवं मतगणना दिनांक को विद्युत निर्वाध प्रदाय करने के निर्देश


कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी द्वारा त्रि-स्तरीय पंचायतों के आम निर्वाचन वर्ष 2022 हेतु विद्युत का निर्वाध प्रदाय हेतु मप्र मध्य क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी के महाप्रबंधक को निर्देश जारी किए गए हैं। कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी द्वारा जारी पत्र में उल्लेख है कि त्रि-स्तरीय पंचायतों के आम निर्वाचन वर्ष 2022 का कार्यक्रम जारी किया जा चुका है। जारी कार्यक्रम अनुसार शनिवार 25 जून 2022, शुक्रवार 01 जुलाई 2022 तथा शुक्रवार आठ जुलाई 2022 को मतदान होना है एवं मतगणना, सारणीकरण तथा निर्वाचन परिणाम की घोषणा क्रमशः 25 जून, 28 जून, एक जुलाई, चार जुलाई, आठ जुलाई, 11 जुलाई, 14 जुलाई एवं 15 जुलाई को की जावेगी। इस संबंध में राज्य निर्वाचन अयोग द्वारा दिए गए निर्देशों के अनुरूप त्रि-स्तरीय पंचायतों के आम निर्वाचन वर्ष 2022 हेतु उपरोक्त मतदान दिनांकों को विद्युत निर्वाध प्रदाय कराये जाने के निर्देश दिए गए हैं। 

मतदान केन्द्रों पर स्वास्थ्य सुविधाओं के प्रबंध सुनिश्चित किए जाएं


कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी द्वारा त्रि-स्तरीय पंचायतों के आम निर्वाचन वर्ष 2022 हेतु चिकित्सा संबंधी विशेष व्यवस्था प्रदाय करने हेतु मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ एपी सिंह को निर्देश जारी किए गए हैं। कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी द्वारा जारी पत्र में उल्लेख है कि त्रि-स्तरीय पंचायतों के आम निर्वाचन वर्ष 2022 कार्यक्रम अनुसार शनिवार 25 जून 2022, शुक्रवार एक जुलाई 2022 तथा शुक्रवार आठ जुलाई 2022 को मतदान होना है। त्रि-स्तरीय पंचायतों के आम निर्वाचन हेतु जहां निर्वाचन सम्पन्न होना है, चुनाव ड्यूटी में लगे अधिकारियों, कर्मचारियों के बीमारियों से पीड़ित हो जाने की संभावना से इंकार नहीं किया जा सकता है। ऐसी स्थिति में किसी मतदानकर्मी के अस्वस्थ हो जाने पर उसे तत्काल प्रारंभिक चिकित्सा उपलब्ध कराई जाए।

कोई टिप्पणी नहीं: