बिहार : बोर्ड ने जारी किया 10th का अंकपत्र और प्रमाण पत्र - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

विजयी विश्व तिरंगा प्यारा , झंडा ऊँचा रहे हमारा। देश की आज़ादी के 75 वर्ष पूरे होने पर सभी देशवासियों को अनेकानेक शुभकामनाएं व बधाई। 'लाइव आर्यावर्त' परिवार आज़ादी के उन तमाम वीर शहीदों और सेनानियों को कृतज्ञता पूर्ण श्रद्धासुमन अर्पित करते हुए नमन करता है। आइए , मिल कर एक समृद्ध भारत के निर्माण में अपनी भूमिका निभाएं। भारत माता की जय। जय हिन्द।

गुरुवार, 9 जून 2022

बिहार : बोर्ड ने जारी किया 10th का अंकपत्र और प्रमाण पत्र

bihar-board-release-marksheet-certificate
पटना : बिहार विद्यालय परीक्षा समिति ने मैट्रिक परीक्षा 2022 का अंक पत्र, औपबंधिक प्रमाण पत्र एवं विद्यालय क्रास लिस्ट जारी कर दिया है। इसके बाद अब मैट्रिक परीक्षा पास विद्यार्थी 12 जून से अपने स्कूल जाकर इसे प्राप्त कर सकते हैं। वहीं, इधर इसको लेकर बिहार विद्यालय परीक्षा समिति द्वार बताया गया कि 9 जून ये सभी प्रमाण पत्र जिलावार उपलब्ध कराया जाएगा। इसके तहत पूर्णिया, मुंगेर, भागलपुर, कोसी एवं तिरहुत प्रमंडल के लिए नौ जून को व दरभंगा, पटना, मगध एवं सारण प्रमंडल के जिला शिक्षा पदाधिकारी कार्यालय के लिए 10 जून को सभी कागजात भेजा जाएगा। इसके बाद यह अंक पत्र, औपबंधिक प्रमाण पत्र सभी जिला शिक्षा पदाधिकारी कार्यालय में 10 एवं 11 जून से वितरण के लिए उपलब्ध रहेगा। इसके आगे परीक्षा समिति ने कहा कि अंक प्रमाण, औपबंधिक प्रमाण पत्र या क्रास लिस्ट को सबसे पहले विद्यालय के दस्तावेज से मिलान किया जाएगा, यदि इस दौरान कोई गलती पाई जाती है तो, इसके सुधार के लिए प्रमाण पत्र को साक्ष्य के साथ साथ ही विद्यालय के द्वारा अपने पत्र के साथ समिति कार्यालय के अकादमिक भवन अवस्थित संबंधित जिला के परीक्षा प्रशाखा (माध्यमिक) में 15 जून तक अनिवार्य रूप से जमा कराएंगे। वहां से सुधार कराने के बाद यह विद्यार्थियों को उपलब्ध करवा जाएगा। परीक्षा समिति द्वारा यह निर्देश दिया गया है कि ऐसा हो सकता है कि छात्रों के प्रमाण पत्र में अंक पत्र में त्रुटिपूर्ण फोटो, किसी दूसरे का फोटो मुद्रित हो अथवा फोटो मुद्रित नहीं हो तो इस स्थिति में प्रमाण पत्र छात्रों को नहीं दिया जाएगा। वहीं, बोर्ड ने मैट्रिक परीक्षा 2022 के लिए रजिस्ट्रेशन व परीक्षा शुल्क अब तक नहीं जमा कराने वाले को प्रमाण पत्र नहीं उपलब्ध कराने की बात कही है। इन विद्यालयों के प्रधान अध्यापक द्वारा 9 से 15 जून तक बकाया राशि का भुगतान करा दिया जाता है, तो उन्हें अंक प्रमाण पत्र व अन्य प्रमाण पत्र दिया जाएगा। किसी भी परिस्थिति में बकाया शुल्क जमा नहीं करने वाले विद्यालयों को अंक पत्र संबंधित जिला शिक्षा पदाधिकारी द्वारा उपलब्ध नहीं कराया जाएगा।

कोई टिप्पणी नहीं: