मीनाक्षी लेखी ने केनरा बैंक के ऋण मेले का उद्घाटन किया - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

बुधवार, 15 जून 2022

मीनाक्षी लेखी ने केनरा बैंक के ऋण मेले का उद्घाटन किया

meenakshi-lekhi-canara-bank
नई दिल्ली (अशोक कुमार निर्भय)। भारत सरकार के वित्त  मंत्रालय के वित्तीय सेवा विभाग के निर्देशानुसार बीते दिनों जिला अग्रणी बैंक केनरा बैंक, नई दिल्‍ली  व सम्बंधित जिले में स्थित अन्य राष्ट्रीय बैंकों के सहयोग से  केनरा बैंक के मुख्य कार्यालय तमिल संगम भवन, आर. के पुरम में ग्राहकों  हेतु "ऋण संपर्क कार्यक्रम" का आयोजन किया गया । इस कार्यक्रम की शुरुआत दीप प्रज्ज्वलन के साथ हुई, इसके बाद सभी अतिथियों का पुष्प गुच्छ भेंट करके अभिनंदन किया गया। इस मौके पर केंद्रीय विदेश एवं संस्कृति राज्यमंत्री श्रीमती मीनाक्षी लेखी, श्री बाबू लाल मीना एडीएम नई दिल्‍ली,श्री एम परमशिवम, मुख्य महाप्रबंधक,केनरा बैंक, श्री आर .पी सिंह महाप्रबंधक रिज़र्व बैंक,अनिल बंसल, महाप्रबंधक, पंजाब नेशनल बैंक और एसएलबीसी, दिल्ली राज्य के संयोजक  और श्री अरूण कुमार उपमहाप्रबंधक,नई दिल्ली क्षेत्रीय कार्यालय  ने इस ऋण मेले का संयुक्त रूप से उद्घाटन किया। सभी ऋण धारकों और उपस्थित जनसमूह को संबोधित करते हुए केंद्रीय विदेश एवं संस्कृति राज्य मंत्री भारत सरकार श्रीमती मीनाक्षी लेखी ने उपस्थित सभी लोगों को सरकार की विभिन्न ऋण योजनाओं और उनके कार्यान्वयन के बारे में विस्तार से बताया, उन्होंने केनरा बैंक के प्रयासों की सराहना करते हुए बैंकों से जरूरतमंदों नागरिकों को ऋण देने के लिए कहा। श्रीमती लेखी ने एम.एस.एम.ई  ऋण के माध्यम से चल रही योजनाओं की जानकारी उपस्थित जनसमूह को दी। उन्होंने कहा की देश के बैंकिंग सेक्टर को मजबूत करने की दिशा में केंद्र सरकार काम कर रही है।  इस ऋण मेले में केनरा बैंक के  मुख्य महाप्रबंधक,केनरा बैंक  श्री एम परमशिवम ने बैंक की विभिन्न योजनाओं की  जानकारी दी और सदस्य बैंकों से देश के विकास के लिए ऋण प्रवाह बढ़ाने के लिए कहा और ग्राहकों से समय पर ऋण चुकाने का अनुरोध किया। स्वीकृति पत्रों के वितरण के साथ कार्यक्रम का समापन हुआ। आज के ऋण संपर्क  कार्यक्रम में 22 बैंकों ने भाग लिया और 272 करोड़ रुपये वाले कुल 2356 खातों को मंजूरी दी गई। इस मौके पर ऋण लेने वाली फार्म्स के मालिक और बैंक प्रबंधन से जुड़े गणमान्य लोग उपस्थित रहे।

कोई टिप्पणी नहीं: