मधुबनी : संभावित बाढ़ पूर्व तैयारियों का समीक्षा। - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

रविवार, 26 जून 2022

मधुबनी : संभावित बाढ़ पूर्व तैयारियों का समीक्षा।

  • सभी संबधित पदाधिकारी पूरी तरह से अलर्ट मोड में रहे : जिलाधिकारी।
  • तटबन्धों की 24 घण्टे निगरानी करने का दिया निर्देश। लंबित डीसी बिल का निष्पादन नही करने वाले पदाधिकारियो पर होगी करवाई।

madhubani-flood-relief
मधुबनी, जिलाधिकारी अरविन्द कुमार वर्मा ने  जिले में संभावित बाढ़ की पूर्व तैयारियों को लेकर सभी जिला स्तरीय ,अनुमंडल एवम प्रखंड स्तरीय पदाधिकारियो के साथ वर्चुअल माध्यम से बैठक कर विस्तृत समीक्षा किया। जिलाधिकारी ने सभी पदाधिकारियों को  सतर्कता बरतने का निर्देश देते हुए कहा कि मानसून की वर्षा कभी भी जिले को प्रभावित कर सकती है,इसलिये सभी संबधित पदाधिकारी पूरी तरह से अलर्ट मोड में रहे। उन्होंने कहा की केवल जिले में होने वाली बारिश से ही प्रभाव नहीं पड़ता बल्कि नेपाल के भू भाग में होने वाली वर्षा से जिले में बाढ़ की संभावना बनी रहती है। अतः हमें नेपाल स्थित पड़ोसी जिले  की भी वर्षापात पर भी पैनी नज़र बनाये रखना है।।  उन्होंने बाढ़ आश्रय स्थल की तैयारी के क्रम में जिला शिक्षा पदाधिकारी को निर्देश दिया कि जिले के सभी विद्यालयों में चापाकलों की तत्काल मरम्मती की जाए। उन्होंने स्पष्ट किया कि बाढ़ प्रभावित क्षेत्र में स्वच्छ पेय जल की आपूर्ति जिला प्रशासन की प्राथमिकता में है। उन्होंने कहा कि बाढ़ के समय में प्रभावित लोग अन्य सुरक्षित जगहों की ओर गमन करते हैं। ऐसे में जिले के सभी विद्यालयों में स्वच्छ पेय जल की आपूर्ति सहित सभी मूलभूत सुविधाएं सुनिश्चित करे।  उन्होंने सिविल सर्जन से चिकित्सा संबंधी सभी तैयारियों की जानकारी ली और कहा कि सर्पदंश सहित सभी आवश्यक  दवाइयों की कमी न होने पाए।  उन्होंने पूर्व में बाढ़ के दौरान निजी नाव संचालकों के द्वारा दी गई सेवा के बदले लंबित भुगतान की समीक्षा की और कहा कि किसी भी सूरत में इस प्रकार का कोई भी भुगतान लंबित नहीं रहना चाहिए। ताकि, समय आने पर उनसे पुनः आवश्यकतानुसार सेवा ली जा सके। फीस बिल की समीक्षा के क्रम में कहा कि लंबित डीसी बिल का निष्पादन नही करने वाले पदाधिकारियो पर जबाबदेही कर करवाई की जाएगी। उन्होंने इस बैठक के दौरान उपस्थित अधिकारियों को कम्युनिटी किचन के संचालकों के लंबित भुगतान की समीक्षा भी की और सभी संवेदकों के बकाया राशि के भुगतान को सुनिश्चित किए जाने का निर्देश दिया। जिलाधिकारी द्वारा सभी प्रखंड विकास पदाधिकारियों और अंचल अधिकारियों सहित अनुमंडल अधिकारियों को बांध की अद्यतन स्थिति पर पैनी नजर बनाए रखने,तटबंधों की नियमित निगरानी करने के साथ साथ   संवेदनशील स्थलों की जानकारी तुरंत जिले को प्रेषित करने के निर्देश दिए गए हैं। उक्त बैठक में अपर समाहर्ता अवधेश राम, उप विकास आयुक्त विशाल राज, सिविल सर्जन, सुनील कुमार झा, जिला शिक्षा पदाधिकारी, नसीम अहमद सहित जिले के सभी वरीय पदाधिकारी कार्यालय कक्ष से और जिले के सभी प्रखंडों के प्रखंड विकास पदाधिकारी व अंचल अधिकारी ऑनलाइन मोड में शामिल हुए।

कोई टिप्पणी नहीं: