मधुबनी : भूमि विवाद का त्वरित निराकरण हेतु विस्तृत समीक्षा - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

विजयी विश्व तिरंगा प्यारा , झंडा ऊँचा रहे हमारा। देश की आज़ादी के 75 वर्ष पूरे होने पर सभी देशवासियों को अनेकानेक शुभकामनाएं व बधाई। 'लाइव आर्यावर्त' परिवार आज़ादी के उन तमाम वीर शहीदों और सेनानियों को कृतज्ञता पूर्ण श्रद्धासुमन अर्पित करते हुए नमन करता है। आइए , मिल कर एक समृद्ध भारत के निर्माण में अपनी भूमिका निभाएं। भारत माता की जय। जय हिन्द।

गुरुवार, 30 जून 2022

मधुबनी : भूमि विवाद का त्वरित निराकरण हेतु विस्तृत समीक्षा

madhubani-dm-meating
मधुबनी, जिलाधिकारी अरविन्द कुमार वर्मा एवम पुलिस अधीक्षक सुशील कुमार ने  भूमि विवाद का त्वरित निराकरण हेतु वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम  से बैठक कर विस्तृत समीक्षा किया। समीक्षा के क्रम में जिले के सभी थानों में आयोजित थाना दिवस के आयोजन एवं इसके दौरान विचाराधीन वादों की अद्यतन स्थिति की समीक्षा की गई। जिलाधिकारी ने जिले के सभी अनुमंडल पदाधिकारियों को निर्देश दिया कि सभी अंचल एवं थाने में लंबित मामलों की नियमित रूप से समीक्षा कर प्रतिवेदीत करें। उन्होंने स्पष्ट किया कि जिले में भूमि विवाद के अत्यधिक मामले देखे जा रहे हैं, ऐसे में जिस थाने में शून्य परिवाद आता है, तो यह माना जाएगा कि वहां थाना दिवस नहीं मनाया गया है।  जिलाधिकारी ने सभी अनुमंडल पदाधिकारियों एवम अनुमंडल पुलिस पदाधिकारियो को निर्देश देते हुए कहा कि भूमि विवाद के सभी मामलों की पाक्षिक समीक्षा करें । इसके दौरान समझौते के साथ साथ कानून इनफोर्समेंट पर भी अमल किया जाए। जिलाधिकारी ने कहा कि पूर्व से किसी घर में रह रहे व्यक्ति के आवागम को अवरूद्ध नहीं किया जा सकता। कोई भी व्यक्ति सरकारी रास्ते का अतिक्रमण करते हैं तो उनपर अतिक्रमणवाद चलाया जाए। साथ ही निजी रास्ते को अवरूद्ध करके पूर्व से रह रहे व्यक्ति के आवागमन को बंद नहीं किया सकता।  उन्होंने कड़े शब्दों में कहा कि भूमि विवाद के सभी मामलों पर गंभीरता से विचार करें और प्रताड़ित करने वाले व्यक्ति पर सख्त कार्रवाई करें। जो भी व्यक्ति बॉन्ड डाउन की अवहेलना करते हैं तो उनकी गिरफ्तारी की जाए।  उक्त बैठक में पुलिस अधीक्षक सुशील कुमार, प्रभारी विधि शाखा, विकास कुमार सहित जिले के सभी अनुमंडल पदाधिकारी, अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी सहित सभी अंचल अधिकारी और थानाध्यक्ष शामिल हुए।

कोई टिप्पणी नहीं: