ब्रिक्स देशों में सहयोग से लोगों के जीवन में बदलाव आया : मोदी - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

विजयी विश्व तिरंगा प्यारा , झंडा ऊँचा रहे हमारा। देश की आज़ादी के 75 वर्ष पूरे होने पर सभी देशवासियों को अनेकानेक शुभकामनाएं व बधाई। 'लाइव आर्यावर्त' परिवार आज़ादी के उन तमाम वीर शहीदों और सेनानियों को कृतज्ञता पूर्ण श्रद्धासुमन अर्पित करते हुए नमन करता है। आइए , मिल कर एक समृद्ध भारत के निर्माण में अपनी भूमिका निभाएं। भारत माता की जय। जय हिन्द।

गुरुवार, 23 जून 2022

ब्रिक्स देशों में सहयोग से लोगों के जीवन में बदलाव आया : मोदी

brics-countries-has-changed-lives-of-people-modi
नयी दिल्ली 23 जून, प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा है कि ब्रिक्स देशों के बीच परस्पर सहयोग से इन देशों के नागरिकों के जीवन में बदलाव आया है तथा यह सहयोग दुनिया को कोविड के कारण उत्पन्न स्थिति से उबारने में भी महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकता है। श्री मोदी ने गुरूवार को चौदहवें ब्रिक्स शिखर सम्मेलन को वर्चुअल माध्यम से संबोधित करते हुए कहा , “ वैश्विक अर्थव्यवस्था की गर्वनेंस के बारे में हम ब्रिक्स सदस्य देशों का नज़रिया काफ़ी समान रहा है। और इसलिए हमारा आपसी सहयोग वैश्विक कोविड पश्चात रिकवरी में उपयोगी योगदान दे सकता है।” ब्रिक्स के निरंतर बढते हुए प्रभाव का उल्लेख करते हुए उन्होंने कहा , “ पिछले वर्षों में हमने ब्रिक्स में कई संस्थागत सुधार किये हैं, जिनसे इस संगठन की प्रभावशीलता बढ़ी है। यह भी प्रसन्नता का विषय है कि हमारे नये विकासशील बैंक की सदस्यता में भी वृद्धि हुई है। ऐसे कई क्षेत्र हैं जहाँ हमारे आपसी सहयोग से हमारे नागरिकों के जीवन को सीधे लाभ मिल रहा है। जैसे वैक्सी अनुसंधान एवं विकास की स्थापना, कस्टम विभागों के बीच समन्वय, साझा उपग्रह की स्थापना,फार्मा उत्पादों की पारस्परिक पहचान आदि।” उन्होंने कहा कि इस तरह के व्यावहारिक कदम ब्रिक्स को एक अनौखा अंतर्राष्ट्रीय संगठन बनाते हैं, जिसका फोकस सिर्फ बातचीत तक सीमित नहीं है। श्री मोदी ने अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के मौके पर सभी ब्रिक्स देशों में हुए शानदार आयोजनों के लिए सदस्य देशों का अभिनंदन भी किया। उन्होंने कहा कि वैश्विक स्तर पर कोविड महामारी का प्रकोप पहले की तुलना में कम हुआ है, लेकिन इसके अनेक दुष्प्रभाव अभी भी वैश्विक अर्थव्यवस्था में दिखाई दे रहे हैं। उन्होंने कहा कि ब्रिक्स देशों ने खेल आयोजनों तथा युवा सम्मेलन का आयोजन लोगों के बीच संपर्क को मजबूत बनाने का काम किया है। उन्होंने कहा , “ मुझे विश्वास है कि आज की चर्चा से हमारे ब्रिक्स संबंधों को और मजबूत करने के कई सुझाव निकलेंगे।” 

कोई टिप्पणी नहीं: