बिहार : सभी जिलों में “ग्राहक आउटरीच कार्यक्रम” का हुआ आयोजन - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

बुधवार, 8 जून 2022

बिहार : सभी जिलों में “ग्राहक आउटरीच कार्यक्रम” का हुआ आयोजन

  • वित्त मंत्रालय भारत सरकार द्वारा आजादी के अमृत महोत्सव के तहत आईकॉनिक वीक समारोह 

cusomer-ou-reach-bihar
पटना,8 जून, वित्त मंत्रालय एवं कॉरपोरेट कार्य मंत्रालय के तत्वाधान में आजादी के अमृत महोत्सव के अंतर्गत अखिल भारतीय स्तर पर आईकॉनिक वीक समारोह (6-12 जून) पूरे देश में मनाया जा रहा है।  इसी क्रम में बिहार के सभी 38 जिलों में आज  8 जून 2022  को बैंकों द्वारा “ग्राहक आउटरीच कार्यक्रम” का आयोजन किया  गया।  पटना में बैंकों द्वारा 'ग्राहक आऊटरीच कार्यक्रम' के दौरान ऋणियों को स्वीकृति पत्र मुख्य अतिथि मंगल पांडेय,  स्वास्थ्य मंत्री,बिहार सरकार ने प्रदान किया। मौके पर मनोज कुमार गुप्ता, महाप्रबंधक एवं संयोजक, राज्यस्तरीय बैंकर्स समिति, बिहार के अलावे आला अधिकारीगण मौजूद थे। इस अवसर पर बैंकों द्वारा जिला मुख्यालयों में “ग्राहक आउटरीच कार्यक्रम” के तहत केंद्र सरकार द्वारा बैंकों के माध्यम से परिचालित महत्वाकांक्षी सामाजिक सुरक्षा योजनाओं मुख्यत: प्रधानमंत्री जीवन ज्योति बीमा योजना, प्रधानमंत्री जीवन सुरक्षा बीमा योजना और अटल पेंशन योजना, मुद्रा योजना और अन्य योजनाओं से सम्बंधित विभिन्न जानकारियां,आवश्यकताओं तथा लाभों से ग्राहकों तथा आमजन को अवगत कराया गया। इसके साथ ही आम जनों को इन योजनाओं के अंतर्गत सुविधानुसार पंजीकरण भी कराया गया  ।  आईकॉनिक वीक समारोह के अवसर पर आयोजित ग्राहक आउटरीच कार्यक्रम का मुख्य उद्देश्य वित्तीय समावेशन को और अधिक सर्व-सुलभ एवं सुदृढ़ करने हेतु बैंक की विभिन्न ऋण योजनाओं की जानकारी एवं  लाभ को लक्षित जन-समूह तक पहुँचाना था। इस अवसर पर वित्तीय साक्षरता के प्रचार-प्रसार और वित्तीय उत्पादों के प्रति जागरूकता हेतु जिलों में अग्रणी बैंकों द्वारा संचालित वित्तीय साक्षरता केन्द्रों और बैंकों की ग्रामीण शाखाओं द्वारा वित्तीय साक्षरता कैंपों का आयोजन भी किया गया।

कोई टिप्पणी नहीं: