गया : बाल श्रम पर आधारित लघु फिल्म का प्रदर्शन किया गया - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

विजयी विश्व तिरंगा प्यारा , झंडा ऊँचा रहे हमारा। देश की आज़ादी के 75 वर्ष पूरे होने पर सभी देशवासियों को अनेकानेक शुभकामनाएं व बधाई। 'लाइव आर्यावर्त' परिवार आज़ादी के उन तमाम वीर शहीदों और सेनानियों को कृतज्ञता पूर्ण श्रद्धासुमन अर्पित करते हुए नमन करता है। आइए , मिल कर एक समृद्ध भारत के निर्माण में अपनी भूमिका निभाएं। भारत माता की जय। जय हिन्द।

सोमवार, 13 जून 2022

गया : बाल श्रम पर आधारित लघु फिल्म का प्रदर्शन किया गया

chld-labour-hor-flm
गया. ’विश्व बाल श्रम निषेध दिवस के अवसर पर समाहरणालय सभाकक्ष में उप विकास आयुक्त श्री विनोद दुहन (भा०प्र०से०) की अध्यक्षता में कार्यक्रम का आयोजन किया गया.’सर्वप्रथम श्रम अधीक्षक श्रीमती स्नेहा सृजन द्वारा उप विकास आयुक्त को पुष्पगुच्छ देकर स्वागत किया गया.इसके उपरांत उप विकास आयुक्त (भा०प्र०से०)  द्वारा दीप प्रज्वलित कर कार्यक्रम का शुभारंभ किया गया.कार्यक्रम में श्रम अधीक्षक द्वारा बाल श्रम पर आधारित लघु फिल्म का प्रदर्शन किया गया. कार्यक्रम को संबोधित करते हुए श्रम अधीक्षक श्रीमती स्नेहा सृजन ने बताया की पिछले 28 मई 2022 से 09 जून 2022 तक गया जिला के विभिन्न प्रखंडों में धावा दल के माध्यम से 08 (आठ) बाल श्रमिकों को विमुक्त कराया गया तथा नियोजिको एवं अन्य व्यक्तियों से बाल श्रमिक नियोजित नहीं करने के संबंध में शपथ पत्र भी प्राप्त किया गया.साथ ही श्रम विभाग द्वारा बाल श्रम उन्मूलन के लिए प्रचार वाहनों को भी प्रखंडों में चलाया गया.उन्होंने बताया की विभागीय पदाधिकारियों तथा ख्याति प्राप्त एन०जी०ओ० के माध्यम से प्रभात फेरी का भी आयोजन किया गया. विश्व बालश्रम उन्मूलन दिवस के अवसर पर बच्चों का पेंटिंग एवं क्वीज प्रतियोगिता का आयोजन किया गया एवं पुरस्कार वितरण किया गया. उप विकास आयुक्त श्री विनोद दुहन (भा०प्र०से०) ने सभी को विश्व बाल श्रम निषेध दिवस की बधाई एवं शुभकामनाएं दिया.उन्होंने श्रम विभाग के पदाधिकारियों एवं विभिन्न एनजीओ को बाल श्रम के विरुद्ध किए जा रहे बेहतर कार्यों की प्रशंसा की. उन्होंने कहा की समय समय पर इसी प्रकार धावा दल के द्वारा छापेमारी कराया जाए ताकि बाल श्रमिकों को जल्द से जल्द इस कृति से बाहर निकालकर एक नया जीवन दिया जा सके.साथ ही उन्होंने कहा की बाल श्रम करवाने वालों के विरुद्ध सघन अभियान चलाकर दोषी नियोजकों के विरूद्ध निश्चित कारवाई करें. श्रम अधीक्षक द्वारा कार्यक्रम में जिला के विमुक्त बाल श्रमिकों में से 02 बाल श्रमिकों सुधीर कुमार एवं सत्येन्द्र कुमार को उप विकास आयुक्त द्वारा मुख्यमंत्री राहत कोष से मो०-25 हजार का सावधि जमा प्रमाण-पत्र हस्तगत कराया गया. कैमूर जिला से विमुक्त बाल श्रमिक सुभाष कुमार एवं जयपुर (राजस्थान) से राकेश कुमार ने अपनी आप बीती की घटना से सभी को रूबरू कराया. इसके उपरांत उप विकास आयुक्त द्वारा बाल श्रम से संबंधित प्रचार वाहन को समाहरणालय परिसर से हरी झंडी दिखाकर रवाना किया.कार्यक्रम में सहायक निदेशक सामाजिक सुरक्षा, श्रम प्रवर्तन पदाधिकारी, जिला समन्वयक, आईसीडीएस सहित सेन्टर डायरेक्ट, प्रयास, एक्शन एड, चाइल्ड लाइन एनजीओ तथा अन्य एनजीओ के प्रतिनिधि उपस्थित थे.

कोई टिप्पणी नहीं: