बिहार : निरंकुश सत्ता को लोकतंत्र का पाठ पढ़ाएगी कांग्रेस : मदन मोहन - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

विजयी विश्व तिरंगा प्यारा , झंडा ऊँचा रहे हमारा। देश की आज़ादी के 75 वर्ष पूरे होने पर सभी देशवासियों को अनेकानेक शुभकामनाएं व बधाई। 'लाइव आर्यावर्त' परिवार आज़ादी के उन तमाम वीर शहीदों और सेनानियों को कृतज्ञता पूर्ण श्रद्धासुमन अर्पित करते हुए नमन करता है। आइए , मिल कर एक समृद्ध भारत के निर्माण में अपनी भूमिका निभाएं। भारत माता की जय। जय हिन्द।

गुरुवार, 16 जून 2022

बिहार : निरंकुश सत्ता को लोकतंत्र का पाठ पढ़ाएगी कांग्रेस : मदन मोहन

  • * राहुल गांधी के समर्थन में बिहार कांग्रेस ने राज्यपाल को सौंपा मेमोरेंडम
  • * कांग्रेस नेताओं ने ईडी के खिलाफ राज्यपाल को दिया मांगपत्र
  • * धरना, सत्याग्रह, प्रदर्शन के बाद राज्यपाल को बिहार कांग्रेस ने सौंपा मांग पत्र

madan-mohan-jha-congress
पटना. ईडी द्वारा कांग्रेस के शीर्ष नेतृत्व राहुल गांधी के खिलाफ  लगातार पूछताछ कर परेशान किये जाने से पार्टी कार्यकर्ताओं में केंद्रीय सत्ता के खिलाफ जबरदस्त रोष है.चरणबद्ध तरीके से लगातार बिहार कांग्रेस अपना विरोध दर्ज करा रही है. इसी के तहत आज  राजभवन के सामने बड़ी संख्या में जुटकर कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने केंद्र सरकार और ईडी के रवैय्ये के खिलाफ विरोध प्रदर्शन किया। इसके बाद राज्यपाल से मिलकर मांग पत्र भी सौंपा गया. विरोध प्रदर्शन का नेतृत्व बिहार कांग्रेस के प्रभारी भक्तचरण दास व प्रदेश अध्यक्ष डॉ मदन मोहन झा कर रहे थे.बड़ी संख्या में जुटे कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने अपने शीर्ष नेता राहुल गांधी के खिलाफ केंद्र सरकार की साजिश बताते हुए हालिया घटनाक्रम को लोकतंत्र का गला घोंटना बताया. विरोध प्रदर्शन के बाद राज्यपाल को मांग पत्र सौंप बाहर निकले बिहार कांग्रेस के प्रभारी भक्त चरण दास ने कहा कि केंद्र की सरकार ने लोकतांत्रिक मूल्यों का गला घोंट दिया है और केवल राजनीतिक द्वेष में रोज नए प्रपंच रचकर कांग्रेस पार्टी और उसके सर्वोच्च नेताओं को परेशान कर रही है. केंद्र सरकार देश के नियामक एजेंसियों को राजनीतिक हथियार के रूप में इस्तेमाल कर रही है.भारतीय राजनीति के इस काले अध्याय को भाजपा राष्ट्रभक्ति का चोला ओढ़ाकर कुकर्म को छिपाना चाह रही है. प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष डॉ मदन मोहन झा ने कहा कि यह देश गांधी का देश है। हम कांग्रेसजन अहिंसात्मक तरीके से अपनी बातों को रख रहे हैं और लगातार केंद्रीय सत्ता का हमारे नेताओं को लक्षित करके किए जा रहे दमनकारी कार्रवाइयों से हम डरने वाले नहीं है. आजादी के लड़ाई में अहम योगदान देने वाले अखबार के संचालक कम्पनी को लेकर कांग्रेस को बदनाम करने की लगातार साजिशें चल रही है और देश में कांग्रेस की साख को गिराने में भाजपा और केंद्र की सरकार दिन रात फिजूल मुद्दों को उछालकर कांग्रेस के शीर्ष नेताओं की छवि धूमिल करने का कुत्सित प्रयास कर रही है. जरूरत पड़ेगी तो कांग्रेस का कार्यकर्ता प्रधानमंत्री आवास का घेराव करेगा और केंद्र सरकार को लोकतांत्रिक मूल्यों का बोध कराएगा. राज्यपाल से मिलकर मेमोरेंडम देने वाले प्रमुख लोगों में बिहार प्रभारी भक्त चरण दास, प्रदेश अध्यक्ष डॉ मदन मोहन झा, विधानमंडल दल के नेता अजीत शर्मा, राज्यसभा सांसद डॉ अखिलेश प्रसाद सिंह, कार्यकारी अध्यक्ष  कौकब कादरी ,श्याम सुंदर सिंह धीरज,  महिला कांग्रेस अध्यक्ष अमिता भूषण और पूर्व मंत्री डॉ ज्योति रहीं. राजभवन मार्च में बिहार कांग्रेस के प्रभारी भक्त चरण दास, प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष डॉ. मदन मोहन झा, विधायक दल के नेता अजित शर्मा, कार्यकारी अध्यक्ष कौकब कादरी, डॉ. समीर कुमार सिंह, श्याम सुन्दर सिंह धीरज, मीडिया विभाग के चेयरमैन राजेश राठौड़, विधायक राजेश कुमार, अफाक आलम, प्रतिमा कुमारी दास, सिद्धार्थ सौरभ विजेंद्र चौधरी ,नीतू सिंह, आनंद शंकर, सदस्यता प्रभारी ब्रजेश प्रसाद मुनन, प्रदेश महिला अध्यक्ष, अमिता भूषण, ब्रजेश पाण्डेय, पूर्व मंत्री श्रीमती ज्योति, रविन्द्र नाथ मिश्रा, पूर्व विधायक गजानंद शाही, मनोज कुमार सिंह, डॉ. अजय कुमार सिंह, बंटी चौधरी, सरबत जहाँ फातमा, नागेन्द्र कुमार विकल, चन्द्र प्रकाश सिंह, गुंजन पटेल, राजेश कुमार सिन्हा, सकिलुर रहमान, डॉ. आशुतोष शर्मा, शशि रंजन, संजीव कर्मवीर, रामायण प्रसाद यादव, कमल देव नारायण शुक्ला, शशि कान्त तिवारी, अरबिंद लाल रजक, सिद्धार्थ क्षत्रिय, मृणाल अनामय, वेंकटेश रमण, सुधा मिश्रा, किशोर कुमार झा, अभिषेक सिंह, विनोद पाठक, असफर अहमद, ब्रज किशोर कुशवाहा, अखिलेश्वर सिंह, सिसिल शाह, मनोज सिन्हा, राजेंद्र चौधरी, सूर्यमणि सिंह, उदय शंकर पटेल, अजय सिंह, धनंजय शर्मा, संतोष श्रीवास्तव, मोहम्मद सोएब, निधि पाण्डेय, अश्विनी कुमार, सौरभ सिन्हा, मंजीत आनंद साहू, रेनू देवी कुशवाहा, प्रद्युमन यादव, अरविन्द कुमार मुकुल, आयुष भगत सहित सैंकड़ों अन्य नेतागण मौजूद रहें.

कोई टिप्पणी नहीं: