एनएचएआई के बनाए गए नए गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड की घोषणा - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

बुधवार, 8 जून 2022

एनएचएआई के बनाए गए नए गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड की घोषणा

  • नितिन गडकरी ने 105 घंटे और 33 मिनट में एनएच53 पर एक ही लेन में 75 किलोमीटर बिटुमिनस कंक्रीट बिछाने में एनएचएआई के बनाए गए नए गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड की घोषणा की

nhia-world-record
नई दिल्ली, केंद्रीय सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्री श्री नितिन गडकरी ने 105 घंटे और 33 मिनट में एनएच53 पर एक ही लेन में 75 किलोमीटर बिटुमिनस कंक्रीट बिछाने में भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण (एनएचएआई) के बनाए गए नए गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड की आज घोषणा की। एक वीडियो संदेश में श्री गडकरी ने कहा कि भारत की आजादी के 75 साल पूरे होने पर और प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के घोषित आजादी का अमृत महोत्सव के तहत एनएचएआई ने एक विश्व रिकॉर्ड बनाया है जिसे गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड्स ने प्रमाणित किया है। उन्होंने बताया कि महाराष्ट्र के अमरावती से अकोला जिलों के बीच एनएच 53 पर एक ही लेन में 105 घंटे 33 मिनट में 75 किमी बिटुमिनस कंक्रीट बिछाने का रिकॉर्ड बनाया गया है। 75 किलोमीटर सिंगल लेन निरंतर बिटुमिनस कंक्रीट रोड की कुल लंबाई, 37.5 किमी टू-लेन पक्की शोल्डर रोड के बराबर है। उन्होंने बताया कि यह काम 3 जून 2022 को सुबह 7:27 बजे शुरू हुआ और 7 जून 2022 को शाम 5 बजे पूरा हुआ। केंद्रीय मंत्री ने कहा कि इसमें 2,070 मीट्रिक टन बिटुमेन से युक्त 36,634 मीट्रिक टन बिटुमिनस मिश्रण का उपयोग किया गया है। उन्होंने बताया कि इस परियोजना को पूरा करने के लिए स्वतंत्र सलाहकारों की एक टीम सहित 720 श्रमिकों ने दिन-रात काम किया। श्री गडकरी ने कहा कि इससे पहले, सबसे लंबे 25.275 किलोमीटर सड़क के लिए लगातार बिटुमिनस बिछाने का गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड था जिसे फरवरी 2019 में दोहा, कतर में हासिल किया गया था। इस कार्य को पूरा होने में 10 दिन लगे थे। केंद्रीय मंत्री श्री गडकरी ने कहा कि अमरावती से अकोला खंड एनएच 53 का हिस्सा है,  यह एक महत्वपूर्ण गलियारा है जो कोलकाता, रायपुर, नागपुर और सूरत जैसे प्रमुख शहरों को जोड़ता है। उन्होंने कहा कि जब यह पूरा हो जाएगा तो यह खंड इस मार्ग पर यातायात और माल की आवाजाही को आसान बनाने में एक प्रमुख भूमिका निभाएगा। श्री गडकरी ने एनएचएआई और राजपथ इंफ्राकॉन प्राइवेट लिमिटेड के सभी इंजीनियरों, ठेकेदारों, सलाहकारों, और कामगारों को परियोजना के कुशल कार्यान्वयन के लिए, जिन्होंने इस विश्व रिकॉर्ड को सफलतापूर्वक हासिल करने मदद की है, उन्हें बधाई दी।

कोई टिप्पणी नहीं: