उत्तर प्रदेश फतह तक जारी रहेगी कांग्रेस की लड़ाई : प्रियंका गाँधी - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

बुधवार, 1 जून 2022

उत्तर प्रदेश फतह तक जारी रहेगी कांग्रेस की लड़ाई : प्रियंका गाँधी

congress-will-fight-in-up-priyanka-gandhi
लखनऊ, 01 जून, हाल ही में संपन्न विधानसभा चुनाव में पार्टी के निराशाजनक प्रदर्शन को दरकिनार कर कार्यकर्ताओं में जोश भरते हुये कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने बुधवार को ऐलान किया कि उत्तर प्रदेश में जीत हासिल करने तक उनकी पार्टी अपनी लड़ाई जारी रखेगी। पार्टी की नव संकल्प रैली में प्रदेश भर से शामिल होने आये पार्टी पदाधिकारियों और नेताओं को संबोधित करते हुये श्रीमती वाड्रा ने कहा “ हम दोगुनी मेहनत करेंगे और तब तक लड़ेंगे जब तक जीतेंगे नहीं। जी-जान से लड़ने के बावजूद पार्टी को हार मिली लेकिन मायूस होने का वक्त नहीं है, बल्कि दोगुनी ऊर्जा से लड़ाई लड़नी पड़ेगी।” विधानसभा चुनाव के बाद पहली बार लखनऊ आयी श्रीमती वाड्रा का इस्तकबाल स्थानीय इकाई ने गर्मजोशी से किया। इस मौके पर उन्होंने कहा “ पार्टी की हार हुई, ये एक सच्चाई है, जबकि पार्टी कार्यकर्ताओं की मेहनत ने पूरे देश के कार्यकर्ताओं को प्रेरित किया था। हमें और गहराई से काम करने की ज़रूरत है। जनता से जुड़ने के लिए हमें और प्रयास करना होगा। सिर्फ़ राजनीतिक नहीं सामाजिक मसलों पर भी जनता से जुड़ाव बनाना होगा। इस समय भाजपा जिस तरफ देश के ले जा रही है यह वह देश नहीं है जिसके लिए महात्मा गाँधी, सरदार पटेल और डॉ.आंबेडकर ने लड़ाई लड़ी थी। हमें घर-घर जाकर लोगों को हक़ीक़त बतानी होगी।” उन्होने कहा “ 2014 तक देश की अर्थव्यवस्था आगे बढ़ रही थी, लेकिन आज देश की बुरी हालत पूरी दुनिया देख रही है। युवाओं को जीत-धर्म के नाम पर बांटकर उनका भविष्य बर्बाद किया जा रहा है। कांग्रेस कार्यकर्ताओं को हालात बदलने के लिए नई ऊर्जा से जुटना होगा, मैं उनके साथ दोगुनी ताकत से मेहनत करूंगी। हमें उदयपुर चिंतन शिविर में पारित हुए घोषणापत्र की भावना को समझकर आगे बढ़ना होगा।” कांग्रेस के निवर्तमान प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू की तारीफ़ करते हुए उन्होने कहा कि लल्लू ने जी-जान से संघर्ष किया। सिर्फ चुनाव के समय नहीं बल्कि कोविड काल में भी उनके नेतृत्व में पार्टी कार्यकर्ताओं ने जमकर काम किया। सड़क पर उतरकर लाठियां खाईं, संघर्ष किया। पार्टी के प्रदेश मुख्यालय पर आज दो दिवसीय ‘‘नव संकल्प कार्यशाला’’ में पार्टी के डिजिटल मेंबरशिप अभियान, नगर निकाय चुनाव और सोशल मीडिया के महत्व को लेकर विशेष सत्र हुए। इसमें शामिल होने के लिए पूरे प्रदेश से पार्टी पदाधिकारी, पूर्व सांसद और विधायक शामिल हुए। पार्टी संगठन, राजनीति, अर्थव्यवस्था, कृषि, सामाजिक न्याय और युवाओं के मुद्दों पर उदयपुर घोषणापत्र में पारित प्रस्तावों पर चर्चा हुई। कांग्रेस विधानमंडल दल की नेता आराधना मिश्र मोना और पूर्व मंत्री नकुल दुबे ने भी कार्यशाला को संबोधित किया। कार्यशाला में मीडिया विभाग के चेयरमैन और पूर्व मंत्री नसीमुद्दीन सिद्दीकी, एमएलसी दीपक सिंह, पूर्व केंद्रीय मंत्री प्रदीप जैन आदित्य, पूर्व सांसद ज़फर अली नकवी, पूर्व विधायक अजय राय, पूर्व सांसद कमल किशोर कमांडो, पूर्व मंत्री सुरेंद्र सिंह, पूर्व विधायक संजीव दरियाबादी, पूर्व विधायक संजय कपूर, पूर्व विधायक श्याम किशोर शुक्ला, पूर्व विधायक सतीश आजमानी आदि पार्टी के तमाम वरिष्ठ नेता मौजूद रहे।

कोई टिप्पणी नहीं: