बिहार : न्याय के लिए विधानसभा के मॉनसून सत्र में उठेगा मुद्दा : माले - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

बुधवार, 8 जून 2022

बिहार : न्याय के लिए विधानसभा के मॉनसून सत्र में उठेगा मुद्दा : माले

  • माले विधायकों के नेतृत्व में पटना सिटी के कंगनघाट के बुलडोजर पीड़ितों ने किया जिलाधिकारी का घेराव, जांच कमिटी हुई गठित, 15 दिनों में आएगी रिपोर्ट

cpi-ml-will-raise-voice-for-justice
पटना/ 8जून, भाकपा माले नगर कमिटी के तातवाधान मे चिमनी घाट ,कंगनघाट,  मीतन घाट मौजा सबलपुर मकान-जमीन बचाओ संघर्ष मोर्चा के बैनर तले  जिलाधिकारी पटना के समक्ष आक्रोशपूर्ण जुलूस निकाला गया. ज्ञातव्य है कि इस घाट  किनारे के निजी जमीन पर  बनें मकान को बुलडोजर से  पिछले दिनों उजाड़ दिया गया था. उजाड़े जाने के विरूद्ध आंदोलन लगातार चल रहा है जबकि इसे सरकारी जमीन मानकर सरकार दमनकारी रवैया अपना रही है. इस जुलूस का नेतृत्व भाकपा माले  विधायक दल के नेता महबूब आलम और फुलवारी शरीफ  विधायक गोपाल रविदास द्वारा किया गया. सैकड़ों की संख्या में कार्यकर्ता सहित पिड़ीत नागरिकों ने हिस्सा लिया. जिलाधिकारी से दस सदस्यीय प्रतिनिधिमंडल ने वार्ता की.  प्रतिनिधिमंडल मे माले विधायक दल नेता महबूब आलम , माले विधायक गोपाल रविदास, माले के पटना महानगर सचिव अभ्युदय, अनय मेहता, रामनारायण सिंह, विनय कुमार, बलराम चौधरी मोहम्मद जावेद,  देवरतन प्रसाद, रविन्द्र राय , उदय राय व पन्नालाल शामिल हुए. जिलाधिकारी द्वारा मामले के निदान हेतू जांच कमिटी बनाई गई जो 15 दिनों के अन्दर  रिपोर्ट देगी.  इस जांच टीम में डीसीएलआर ,अपर समाहर्ता अंचलाधिकरी ,कर्मचारी ,अमीन के साथ ही पीड़ित पक्ष की ओर से आठ लोगों को शामिल किया गया. इस मौके पर माले विधायक दल नेता महबूब आलम व विधायक गोपाल रविदास ने कहा की सरकार बुलडोजर के दम पर न्याय की हर आवाज को दबा देना चाहती है. इसे आखिरी दम तक लड़ा जाएगा. विधानसभा के मॉनसून सत्र में इस मुद्दे पर सदन के अंदर और बाहर एक साथ आंदोलन चलेगा. जुलूस मे महेश चन्द्रवंशी, सुरेश साहनी, उमेश पासवान व उमा यादव आदि नेता  भी शामिल थे.

कोई टिप्पणी नहीं: