उद्योग अकादमिक सम्मेलन का 18 जून को पटना में आयोजन - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शुक्रवार, 17 जून 2022

उद्योग अकादमिक सम्मेलन का 18 जून को पटना में आयोजन

  • भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान पटना द्वारा "नई शिक्षा नीति के माध्यम से शिक्षा प्रणाली को फिर से परिभाषित करना" विषय पर उद्योग अकादमिक सम्मेलन

iit-patna-seminar
पटना, 16 जून, भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान पटना, के द्वारा "नई शिक्षा नीति के माध्यम से शिक्षा प्रणाली को फिर से परिभाषित करना" विषय पर उद्योग अकादमिक सम्मेलन (इंडस्ट्री एकेडमिया सम्मिट) का आयोजन 18 जून 2022 को सीनेट हॉल आईआईटी पटना में होने जा रहा है। पटना में आज एक संवाददाता सम्मेलन में आई आई टी पटना के  निदेशक प्रोफेसर टी.एन. सिंह  ने दी। प्रो. सिंह ने बताया कि उद्योग अकादमिक सम्मेलन कौशल वृद्धि, अनुसंधान एवं विकास परियोजनाओं, परामर्श, नवाचार प्रयोगशालाओं की स्थापना, उत्कृष्टता केंद्र के विकास और युवा प्रतिभाओं का पोषण करने के लिए उद्योग और शिक्षा जगत के विशेषज्ञों और विचारकों को वैश्विक मांगों की आवश्यकता के अनुरूप एक साथ लाने का एक मंच है। उन्होंने कहा कि उद्योग और शिक्षा जगत हमारी अर्थव्यवस्था के दो महत्वपूर्ण स्तंभ हैं। दोनों के बीच एक मजबूत सहयोग और सिंबायोटिक भागीदारी विकासशील अर्थव्यवस्था की गति को बढ़ावा देगी और नवाचार की ऊंचाइयों तक पहुंचने और सस्टेनेबल वर्कफोर्स के निर्माण में अहम भूमिका अदा करेगी। प्रो. सिंह ने कहा कि कार्यक्रम का उद्देश्य, वर्तमान सामाजिक आवश्यकता के आधार पर उद्योग और शिक्षा से संबंधित प्रमुख मुद्दों पर चर्चा करने के लिए उद्योग और शिक्षा जगत के विशेषज्ञों को एक साथ लाना तथा आईआईटी पटना के इनक्यूबेशन सेंटर (MeitY), टेक्नोलॉजी बिजनेस इनक्यूबेशन (DST), और टेक्नोलॉजी इनोवेशन हब (ICPS-DST) सहित कई इकाइयों के साथ साझेदारी करने में रुचि व्यक्त करने के लिए उद्योगों को आमंत्रित करना है। सम्मेलन के एजेंडा की चर्चा करते हुए उन्होंने कहा कि शिखर सम्मेलन मौजूदा संबंधों को और मजबूत करने और विभिन्न उद्योगों के बीच नए संबंध बनाने के लिए प्रोत्साहित करना है। इस एक दिवसीय सम्मिट का उद्घाटन पर्यावरण संरक्षण को ध्यान में रखते हुए अतिथियों के द्वारा वृक्षारोपण के साथ होगा।  आईआईटी पटना के निदेशक प्रोफेसर टी.एन. सिंह ने कहा कि वे अतिथियों का स्वागत करते हुए स्वागत भाषण देंगे। गेस्ट ऑफ ऑनर के रुप में श्री संजीव कुमार (आइ. ए. एस.) डायरेक्टर, इंडस्ट्रीज, बिहार सरकार भी उपस्थित रहेंगे तथा अन्य गेस्ट ऑफ ऑनर के रूप में श्री असंगबा चूबा ओ (आइ. ए. एस.), सेक्रेट्री एजुकेशन, बिहार सरकार रहेंगे। उन्होंने बताया कि प्रथम सत्र की अध्यक्षता श्री लोकेश कुमार सिंह (आइ. ए. एस.), सेक्रेट्री साइंस एंड टेक्नोलॉजी, बिहार सरकार होंगे तथा इस एक दिवसीय सम्मिट के मुख्य अतिथि के रुप में श्री आशीष श्रीवास्तव, मैनेजिंग डायरेक्टर एंड चीफ एग्जीक्यूटिव ऑफीसर पीएनबी मेटलाइफ इंश्योरेंस होंगे। प्रो सिंह ने कहा कि इस एक दिवसीय समिट में दो पैनल डिस्कशन होंगे। प्रथम पैनल डिस्कशन का टॉपिक है "चैलेंजिग एन अपॉर्चुनिटी इन इंडस्ट्री-अकैडमी कोलैबोरेशनस" और इस सत्र की अध्यक्षता श्री असंगबा चूबा ओ (आइ. ए. एस.), सेक्रेट्री एजुकेशन, बिहार सरकार होंगे। इस पैनल डिस्कशन में एनटीपीसी, वेदांता ग्रुप, डाइकिन एयर कंडीशनिंग, मारुति सुजुकी, हिंदुस्तान कंस्ट्रक्शन कंपनी, केपीएमजी, ऐक्स आई एस एस तथा आईआईटी दिल्ली के प्रतिनिधि शामिल होंगे। दूसरे पैनल डिस्कशन का विषय है "टैलेंट एक्विजिशन स्ट्रेटजी" जिसमें आर जे ग्रुप, सैमसंग इलेक्ट्रॉनिक्स, पीएनबी हाउसिंग फाइनेंस, टाटा पावर, यूनाइटेड कलर्स आफ बेनेटन, मेक माय ट्रिप, आई. आई. टी. बीएचयू, आईएमटी गाजियाबाद के प्रतिनिधि शामिल होंगे तथा डॉ आसिफ इकबाल, आई. आई. टी. पटना के प्रोफेसर इस कार्यक्रम का मॉडरेट करेंगे। उन्होंने बताया कि इस एक दिवसीय समिट के आखिरी सत्र की अध्यक्षता आई. आई. टी. पटना के डायरेक्टर प्रोफेसर टी.  एन. सिंह करेंगे तथा इसमें इंडस्ट्री और एकेडमीआ से आए हुए सभी डेलिगेट्स का कंक्लूजन बदलते हुए इंडस्ट्री के स्वरूप पर लिया जाएगा तथा एमओयू साइन अप एवं ज्वाइंट प्रोजेक्ट एंड रिसर्च के विषय पर मजबूत संबंध बनाने की दिशा में पहल की जाएगी।

कोई टिप्पणी नहीं: