मधुबनी : जनता के दरबार मे जिलाधिकारी - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

विजयी विश्व तिरंगा प्यारा , झंडा ऊँचा रहे हमारा। देश की आज़ादी के 75 वर्ष पूरे होने पर सभी देशवासियों को अनेकानेक शुभकामनाएं व बधाई। 'लाइव आर्यावर्त' परिवार आज़ादी के उन तमाम वीर शहीदों और सेनानियों को कृतज्ञता पूर्ण श्रद्धासुमन अर्पित करते हुए नमन करता है। आइए , मिल कर एक समृद्ध भारत के निर्माण में अपनी भूमिका निभाएं। भारत माता की जय। जय हिन्द।

शुक्रवार, 10 जून 2022

मधुबनी : जनता के दरबार मे जिलाधिकारी

  • 150 से अधिक शिकायत प्राप्त हुए, कई मामलों का हुआ ऑन  स्पॉट निष्पादन।

madhuban-dm
मधुबनी : जिलाधिकारी ने समाहरणालय स्थित अपने कार्यालय कक्ष में जिले के विभिन्न क्षेत्रों से आए लोगों से मुलाकात की और उनकी समस्याओं को सुना। प्राप्त जनशिकायतों के आलोक में जिलाधिकारी संबंधित अधिकारियों को  उसी समय फोन करकेआवश्यक निर्देश देते रहे।इतना ही नही जिलाधिकारी ने त्वरित करवाई करने हेतु प्राप्त आवेदनों को संबधित अधिकारी । को व्हाट्सअप भी करते रहे।  जनशिकायतों के सुनवाई के क्रम* में कई जनप्रतिनिधियों ने भी जिलाधिकारी से मिलकर जनसमस्याओं को रखा। इसी क्रम में श्रीमती बिंदु गुलाब यादव, अध्यक्ष, जिला परिषद, मधुबनी भी जिले की समस्याओं को लेकर जिलाधिकारी से मिलने पंहुची। उन्होंने झंझारपुर प्रखंड अवस्थित स्टेडियम के जीर्णोद्वार , वॉटसन स्कूल के प्रांगण में रनिंग ट्रैक व ओपन जिम , झंझारपुर प्रखंड के कोठिया पंचायत के भराम उच्च विद्यालय के पास मिनी स्टेडियम सहित नगर निगम, मधुबनी क्षेत्र अंतर्गत चिल्ड्रन पार्क के निर्माण  आदि विषयों पर पर चर्चा किया। जिलाधिकारी द्वारा जिले के विकास के लिए पूर्ण तत्परता से कार्य करने और जनहित में सभी निर्णय लिए जाने की बात कही गई। आज जिलाधिकारी से मिलने 150 से अधिक लोग पंहुचे थे। उनके द्वारा विभिन्न प्रकार के मामले रखे गए जिनमें जनवितरण प्रणाली में अनियमितता, नल जल योजना में गड़बड़ी, स्टूडेंट्स क्रेडिट कार्ड, सहायिका व सेविका के चयन में गड़बड़ी, प्रधान मंत्री आवास योजना आदि के मामले प्रमुख थे। परंतु इन सभी आवेदनों में अतिक्रमण के सबसे अधिक मामले प्राप्त हुए हैं। कुछ आवेदन समाज में आपसी तनाव के भी आए जिनमें मोहनपाली खजौली की गीता देवी ने अपने पट्टीदारों के द्वारा जमीन हड़पने का आरोप लगाती हैं। बथने पंडौल के मुकेश द्वारा आरोप लगाया गया कि वे अपने पंचायत के वार्ड संख्या 11 के वार्ड सदस्य हैं और उनपर वार्ड सचिव थोपने का प्रयास किया जा रहा है। इस प्रकार के सभी मामलों पर जिलाधिकारी द्वारा संबंधित विभाग के वरीय पदाधिकारी को आवश्यक व विधि सम्मत कार्रवाई करने के निर्देश दिए गए हैं।

कोई टिप्पणी नहीं: